Connect with us

BIHAR

दुनियाभर में फेमस है नालंदा का शीतला माता मंदिर, चीनी यात्री फाह्यान ने की थी पूजा

Published

on

बिहार में नालंदा जिले के मघड़ा गांव स्थित शीतला माता मंदिर में पूजा करने को लेकर मान्यता है कि श्रद्धालुओं को निरोगी काया की प्राप्ति है। नालंदा जिले में बिहारशरीफ से कुछ किलोमीटर की दूरी पर परवलपुर-एकंगर सराय मार्ग पर स्थित है एक छोटा सा गांव है मघड़ा।

इस गांव की पहचान सिद्धपीठ के रूप में की जाती है। शीतला माता मंदिर के प्रति लोगों की आस्था जुड़ी है। यह मंदिर प्राचीनकाल से ही आस्था का केन्द्र रहा है। यहां कभी गुप्तकाल के शासक चन्द्रगुप्त द्वितीय के समय चीनी चात्री फाह्यान ने पूजा की थी। उन्होंने अपनी रचना में शीतला माता मंदिर की चर्चा की है।

शीतला माता मंदिर में माथा टेकने के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं। मां शीतला महारानी अपने भक्तों की खाली झोली जरूर भरती हैं। माता की कृपा जिस पर बनी रहती है, उनपर कोई विपत्ति नहीं आती। माता अपने भक्तों को निरोगी काया देती हैं। खासकर चेचक से पीड़ित लोग माता शीतला के दरबार में आकर कंचन काया पाते हैं। यहां सभी धर्मों के लोग चेचक के निवारण के लिए माथा टेकते हैं। मां की कृपा से नि:संतान को संतान और निर्धनों को धन की प्राप्ति होती है।

माता शीतला मंदिर के पास ही एक बड़ा सा तालाब है। माता के दर्शन को आने वाले श्रद्धालु तालाब में स्नान करने के बाद ही पूजा-अर्चना करते हैं। मान्यता के मुताबिक तालाब में स्नान करने से चेचक रोग से मुक्ति मिल जाती है। शरीर में जलन की शिकायत है तो उससे भी राहत मिलती है।

शीतला माता मंदिर से जुड़ी कथा-

माता शीतला का वर्णन स्कंद पुराण में मिलता है। पौराणिक मान्यता के अनुसार, भगवान शंकर जब अपनी पत्नी सती के मृत शरीर को लेकर तीनों लोकों में घूम रहे थे तब संपूर्ण सृष्टि भयाकूल हो गयी थी। तभी देवताओं के अनुरोध पर भगवान विष्णु ने सुदर्शन चक्र से सती के शरीर को खंडित किया था। जहां-जहां सती के शरीर का खंड गिरा उसे शक्तिपीठ माना गया। कहा जाता है कि भगवान शंकर ने अपने कंधे पर सती के शरीर के चिपके हुए अवशेष को एक घड़े में रख बिहारशरीफ से पंचाने नदी के पश्चिमी तट पर धरती में छुपाकर अंतध्यार्न हो गए। बाद के दिनों में गांव के एक राजा वृक्षकेतु के स्वप्न में माता आईं।

माता ने स्वप्न में पंचाने नदी किनारे की जमीन में दबे होने की बात बताई। माता के आदेश के बाद राजा ने उक्त जमीन की खुदाई कराई तो वहां से मां की प्रतिमा मिली, जिसे बाद में पास में मंदिर बनाकर उन्हें स्थापित कर दिया गया, जो आज मघड़ा गांव के शीतला मंदिर के नाम से प्रसिद्ध है। जिस दिन मां शीतला की मूर्ति मिली थी उस दिन चैत्र कृष्ण पक्ष की सप्तमी थी तथा अष्टमी के दिन मां की प्रतिमा की स्थापना हुई थी। उसी समय से मघड़ा में मेला की शुरुआत हुई, जो अबतक जारी है। जहां पर खुदाई की गई थी उस स्थान ने कुएं का रूप ले लिया, जो आज मिठ्ठी कुआं के रूप में जाना जाता है। स्थानीय लोगों के अनुसार इस कुएं का पानी आज तक नहीं सुखा है। श्रद्धालु इस कुएं की पूजा जरूर करते हैं।

MUZAFFARPUR

लॉक डाउन के कारण मधुपालक को भारी नुक्सान, पुलिस रोककर मांगती है जुर्माना

Published

on

लॉक डाउन के चलते इस बार मधुपालक बेहद गंभीर हालत से गुजर रहे हैं. एक तरफ तो उनकी आजीविका ठप है तो दूसरी तरफ मधुमक्खियां मरने से उनको भारी नुकसान हो रहा है. वहीं मधु पालकों का कहना है कि अगर हम लोग गाड़ी से मधुमक्खियां ले जाते हैं तो पुलिस रोककर उन्हें जाने नहीं देती और जुर्माना और मारपीट भी की जाती है.

वहीं कोरोना के डर से वहां के लोग भी पुलिस को सूचना दे देते हैं और भगाने का प्रयास करते हैं. आपको बता दे कि जिले में लीची के बगान में हजारों मधु उत्पादक अपनी मधुमक्खियों के साथ बागों में अपना व्यापार करते हैं लेकिन लॉक डाउन के कारण उनका व्यापार ठप पड़ चुका है.

एक मधु पालक लगभग ढाई सौ से 300 पेटी का व्यापार करता है लेकिन उसका इस बार 100 पेटी तो बर्बाद हो चुका है और अगर अभी भी उनका व्यापार नहीं हुआ तो पूरा बर्बाद हो जाएगा. जिस कारण उनका कहना है कि इस बार हम कंगाल होने की कगार पर हैं.

वहीं मधुपलकों ने सरकार से मांग की है की जल्द से जल्द उनकी समस्याओं पर निर्णय लिया जाए.

Input : Live Cities (Abhishek)

Continue Reading

MUZAFFARPUR

डर गए हैं मेयर साहब, ऑफिस नहीं आना चाहते, घर से ही कर रहे हैं काम!

Published

on

महापौर सुरेश कुमार शुक्रवार से निगम कार्यालय नहीं आए. वह अपने आवासीय कार्यालय से काम कर रहे हैं. उनका कहना है कि उनको अपनी जान का खतरा है क्योंकि कार्यालय कक्ष की छत जर्जर है. वह कभी गिर सकती हैं.

मेयर ने बताया कि निर्देशों के बाद भी कक्ष की मरम्मत नहीं की जा रही है. पिछले दिनों नगर निगम सभागार की छत गिर गई थी. जिसमे बाल-बाल बच गए थे. उनका कार्यालय कक्ष भी जर्जर है, कभी भी गिर सकता है. ऐसे में जान जोखिम में डाल कर वहां कैसे बैठ सकते हैं ?

muzaffarpur-asks-campaign-by-muzaffarpur-now

इसलिए वह शुक्रवार को निगम कार्यालय नहीं आए. उन्होंने दुख जताया कि कई बार कहने पर भी ध्यान नहीं दिया गया.

 

महापौर ने कहा कि निगम के कई अंचल कार्यालय, पंप हाउस का भवन भी जर्जर है. उनकी मरम्मत को भी कहा था, लेकिन वहां भी काम नहीं किया गया.

Input : Abhishek (LiveCities)

Continue Reading

MUZAFFARPUR

कोरोना का मुजफ्फरपुर में महाविस्फोट, आज पाये गये 8 नये कोरोना मरीज़, पॉजिटिव लोगो मे गैर प्रवासी समेत लोकल लोग

Published

on

आज मुजफ्फरपुर में कोरोना का महाविस्फोट हुआ और यह अब तक का सबसे खतरनाक मंजर है आज पाये गये कोरोना पॉजिटिव लोगो मे ऐसे लोग भी है जो मुजफ्फरपुर से बाहर नहीं गए जो यही थे.

कोरोना के इस आंकड़े के सामने आते ही यह साफ हो गया की मुजफ्फरपुर कोरोना से बुरी तरह चपेट मे आ चुका है.

जिला प्रशासन के जानकारी के अनुसार :

जिले में आज कोरोना पॉजिटिव कुल 8 केस पॉजिटिव पाए गए हैं. इनमें से तीन व्यक्ति मुरौल से संबंधित हैं, इसे अतरिक्त एक रसूलपुर ,एक बीनू नगर, एक झपहां, एक टीएमसी और एक रेल थाना से सम्बंधित हैं.

पॉजिटिव पाए गए मरीजों को मेडिकल टीम द्वारा कोविड केयर सेंटर में आइसोलेट किया जा रहा है जहां निर्धारित प्रोटोकॉल के तहत उनका इलाज किया जाएगा, उनके क्लोज कांटेक्ट की तहकीकात की जा रही है,इस तरह मुजफ्फरपुर जिले में अभी तक कूल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 54 हो चुकी है,इसमें से 27 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं.

मुजफ्फरपुर के लिये यह अबतक की सबसे विकराल स्तिथी है, कोरोना का यह महाविस्फोट है पहले सिर्फ़ कोरेन्टीन सेंटर से मरीज़ मिल रहे थे आज के रिपोर्ट के बाद साधारण लोगो मे भी संक्रमण की स्थिति स्पस्ट हो गयी है जो बेहद खतरनाक है.

मुजफ्फरपुर में लॉकडाउन का नागरिक जबरदस्त माखौल उड़ा रहे जो आने वाले कल के लिये मुजफ्फरपुर के लिए बेहद जानलेवा होने वाला है.

इसे भी पढ़ें :- मुजफ्फरपुर रहें हैं सोनू सूद, कहा साइकिल से घूमेंगे पुरा मुजफ्फरपुर

Continue Reading
INDIA2 hours ago

सोनू सूद ने अब केरल में फंसीं 177 लड़कियों को कराया एयरलिफ्ट, पहुंचाया घर!

INDIA2 hours ago

दिल्‍ली-एनसीआर में भूकंप के झटके महसूस किए गए

EDUCATION3 hours ago

जुलाई में होंगे फाइनल ईयर के एग्जाम्स, पिछले सेमेस्टर के रिजल्ट के आधार पर पास होंगे फर्स्ट और सेकंड ईयर के स्टूडेंट्स

MUZAFFARPUR3 hours ago

लॉक डाउन के कारण मधुपालक को भारी नुक्सान, पुलिस रोककर मांगती है जुर्माना

MUZAFFARPUR3 hours ago

डर गए हैं मेयर साहब, ऑफिस नहीं आना चाहते, घर से ही कर रहे हैं काम!

MUZAFFARPUR4 hours ago

कोरोना का मुजफ्फरपुर में महाविस्फोट, आज पाये गये 8 नये कोरोना मरीज़, पॉजिटिव लोगो मे गैर प्रवासी समेत लोकल लोग

INDIA4 hours ago

देश का अंग्रेजी नाम ‘इंडिया’ से ‘भारत’ करने की मांग, सुप्रीम कोर्ट में दो जून को सुनवाई

INDIA4 hours ago

BSNL का धांसू ऑफर, चार महीने तक इंटरनेट सर्विस फ्री

INDIA4 hours ago

मशहूर ज्योतिषाचार्य बेजान दारूवाला का निधन, कोरोना संक्रमण के बाद अस्पताल में थे भर्ती

muzaffarpur-corona
MUZAFFARPUR5 hours ago

जिले में मिले आठ कोरोना संक्रमित मरीज़ अबतक एक दिन में सबसे अधिक मरीज़ मिले आज

BIHAR2 weeks ago

जानिए- बिहार के एक मजदूर ने ऐसा क्या कहा कि दिल्ली के अफसर की आंखों में आ गए आंसू

INDIA4 weeks ago

लॉकडाउन में राशन खरीदने निकला बेटा दुल्हन लेकर लौटा, भड़की मां पहुंची थाने

BIHAR4 weeks ago

ऋषि कपूर ने उठाए थे नीतीश सरकार के फैसले पर सवाल, कहा था- कभी नहीं जाऊंगा बिहार

WORLD3 weeks ago

इंडोनेशिया में घर के साथ पत्नी मुफ्त, एड ऑनलाइन हुआ वायरल

BIHAR4 weeks ago

बिहार के किस जिले में आज से क्या-क्या होगा शुरू, देंखे-पूरी लिस्ट

INDIA4 weeks ago

Lockdown Part 3- 17 मई तक जानिए क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद

BIHAR3 weeks ago

बिहार के लिए हरियाणा से खुलेंगी 11 ट्रेनें, यहां देखिये गाड़ियों की पूरी लिस्ट

Uncategorized4 weeks ago

50 फीसद यात्रियों के साथ बसों का संचालन, बढ़ सकता किराया

INDIA4 weeks ago

पंचतत्व में विलीन हुए ऋषि कपूर, परिवार की मौजूदगी में बेटे रनबीर ने दी मुखाग्नि

BIHAR4 weeks ago

सबके दावे धरे रह गए और पप्पू ने मार ली बाजी, कोटा से बिहारी बच्चों को लाने के लिए 30 बसें लगवा दी

Trending