Connect with us

TRENDING

दुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्क ईनाम में देंगे 730 करोड़ रुपये, लेकिन करना होगा ये काम

Muzaffarpur Now

Published

on

दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति एलन मस्क ने कार्बन डाई ऑक्साइड उत्सर्जन को कम करने वाली कार्बन कैप्चर टेक्नोलॉजी के बारे में जानकारी देने वाले को 10 करोड़ डॉलर यानी भारतीय करेंसी के मुताबिक 730 करोड़ रुपये बतौर ईनाम देने का ऐलान किया है. बता दें कि एलन दुनिया की सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक कार निर्माता कंपनी Tesla Inc. और Space X के सीईओ हैं.

ट्विटर पर की इनाम की घोषणा

इस इनाम को लेकर एलन मस्क ने अपने ऑफिशियल ट्विट हैंडल पर भी लिखा है कि, ‘ बेस्ट कार्बन कैप्चर टेक्नोलॉजी के लिए मैं 100 मिलियन डॉलर के इनाम की घोषणा करता हूं,’ अपने दूसरे ट्वीट में एलन ने लिखा है, ‘ डिटेल्स अगले हफ्ते.”

बता दें कि एलन मस्क के द्वारा इतनी बड़ी इनामराशि का ऐलान किए जाने के बाद सोशल मीडिया पर हड़कंप मचा हुआ है. उनके इस ट्वीट को अब तक 3 लाख से ज्यादा लाइक और कमेंट्स मिल चुके हैं.

प्लेनेट-वार्मिंग उत्सर्जन को कम करने पर किया जा रहा ध्यान केंद्रित

वहीं रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, जलवायु परिवर्तन को रोकने के लिए अब प्लेनेट-वार्मिंग उत्सर्जन को कम करना कई प्लानिंग का एक अहम पार्ट बन रहा है. वही तकनीक ने इतनी ज्यादा प्रगति अभी नहीं की है जिससे कि हवा से कार्बन निकालने के बजाय उत्सर्जन में कटौती करने पर फोकस किया जा सके.

क्यों एलन ने की है ईनाम देने की घोषणा

 

अब सवाल ये उठता है कि आखिर क्यों कार्बन कैप्चर टेक्नोलॉजी के लिए एलन ने इतनी बड़ी ईनाम राशि की घोषणा की है. तो आपको बता दें कि एलन मस्क द्वारा किया गया यह ऐलान उनके कई तरह के बिजनेस से संबंधित है. दरअसल एलन का इंटरेस्ट पर्यावरण समस्याओं के टेक्नोलॉजिकल सॉल्यूशंस में है. वहीं कार्बन कैप्चर और स्टोरेज कई तकनीक से मिलकर बना है जिसका एकमात्र मकसद ग्रीन हाउस गैस कार्बन डाई ऑक्साइड को ट्रैप करना और उसे वातावरण में जाने से बाधित करना है.

 

गौरतलब है कि यही गैस पृथ्वी के बढ़ते तापमान के लिए जिम्मेदार है. ऐसे में इस टेक्नोलॉजी के प्रयोग से पावर प्लांट्स, उद्योग या सीधे हवा से भी उत्सर्जन को कैप्चर किया जा पाएगा. बता दें कि वर्तमान में दुनिया में करीब दो दर्जन बड़े प्लांट मौजूद हैं जिनसे हर साल करीब 4 करोड़ मीट्रिक टन कार्बन डाई ऑक्साइड को कैप्चर किया जा सकता है. यह दुनिया के सालाना उत्सर्जन का करीब 0.1 प्रतिशत है.

हाल ही में दुनिया के नंबर 1 रईस बने हैं एलन

हाल ही में ब्लूमबर्ग की और से जारी की जाने वाली अरबपतियों की लिस्ट में एलन ने अमेजन के जेफ बेजोस को पीछे छोड़ दिया है. एलन मस्क की नेटवर्थ 188.5 बिलियन डॉलर हो गई है,  जो बेजोस की तुलना में $ 1.5 बिलियन अधिक है.

Input: Abp News

rama-hardware-muzaffarpur

rama-hardware-muzaffarpur

TRENDING

गुलाम नबी आजाद ने की मोदी की तारीफ, कहा- पीएम बनने के बावजूद नहीं भूले अपनी जड़ें

Muzaffarpur Now

Published

on

कांग्रेस पार्टी से नाराज बताए जा रहे ‘ग्रुप-23’ के नेताओं में शामिल और हाल ही में राज्यसभा से रिटायर हुए गुलाम नबी आजाद ने पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ की है। उन्होंने पीएम मोदी को जमीन से जुड़ा हुआ नेता बताते हुए कहा है कि लोगों को उनसे सीखना चाहिए कि कामयाबी की बुलंदियों पर जाकर भी कैसे अपनी जड़ों को याद रखा जाता है। उन्होंने पीएम मोदी के बचपन में चाय बेचने की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने अपनी असलियत नहीं छिपाई।

गुलाम नबी आजाद ने जम्मू-कश्मीर में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा, ”बहुत से लीडरों की बहुत सी बातें अच्छी लगती हैं। मैं खुद गांव का हूं और बहुत फक्र होता है। हमारे पीएम मोदी भी कहते हैं गांव से हैं, कहते हैं कि बर्तन मांजता था, चाय बेचता था, निजी तौर पर हम उनके खिलाफ हैं, लेकिन जो अपनी असलियत नहीं छिपाते, यदि आपने अपनी असलियत छिपाई तो आप मशीनरी दुनिया में जी रहे होते हैं।”

गौरतलब है कि गुलाम नबी आजाद के रिटायरमेंट पर राज्यसभा में पीएम मोदी ने उनकी जमकर तारीफ की थी और यहां तक की उनसे जुड़ी एक घटना को याद करके भावुक भी हो गए थे। पीएम मोदी ने आजाद को सैल्यूट किया था। बाद में गुलाम नबी आजाद भी भावुक हो गए थे। गुलाम नबी आजाद पार्टी के उन 23 नेताओं में प्रमुख चेहरा हैं जो संगठन चुनाव की मांग को लेकर मोर्चा खोल चुके हैं। एक दिन पहले ही इन नेताओं ने जम्मू में सभा की थी और कहा था कि वे कांग्रेस को मजबूत करना चाहते हैं।

Input: Live Hindustan

Continue Reading

TRENDING

ये हैं भारत के 5 सुपर रिच भिखारी, करोड़ों में है संपत्ति, फ्लैट और कैश

Muzaffarpur Now

Published

on

दुनिया में हर आदमी अपना और परिवार का पेट भरने के लिए कोई ना कोई काम या नौकरी करता है और उससे पैसे कमाता है. अगर आप से पूछा जाए कि आप एक साल में कितना कमाते हैं और कितना बचाते हैं? तो आपका जवाब होगा कि यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप दुनिया में कहां रहते हैं, और आपकी जीवनशैली कैसी है? लेकिन अगर हम बताएं कि कुछ भिखारी आपसे ज्यादा पैसे कमाते हैं तो आप यह सुनकर हैरान हो जाएंगे. लेकिन यह बिल्कुल सच है.

आज हम आपको भारत के ऐसे ही सबसे अमीर 5 भिखारियों के बारे में बताएंगे. भारत के इन सुपर-रिच भिखारियों के पास अपार्टमेंट में फ्लैट हैं, बहुत सारी संपत्तियां हैं और बड़ा बैंक बैलेंस है. लेकिन फिर भी, वे सड़कों पर भीख मांगते हैं.

पत्रिका में छपी रिपोर्ट के मुताबिक देश में सबसे अमीर भिखारियों की लिस्ट में जो सबसे पहला नाम है वो भरत जैन का है. वो ज्यादातर मुंबई के परेल क्षेत्र में भीख मांगते हैं. रिपोर्ट के अनुसार उनके पास अपार्टमेंट में दो फ्लैट हैं जिनकी कीमत 70 लाख रुपये प्रति फ्लैट है. मतलब ये कि उनके पास एक करोड़ 40 लाख की तो यही संपत्ति हैं. वह प्रति माह लगभग 75,000 रुपये भीख मांगकर कमाते हैं जो भारत में औसतन एक नौकरीपेशा की कमाई से कई गुना ज्यादा है.

सबसे अमीर भिखारियों की लिस्ट में कोलकाता की लक्ष्मी दूसरे नंबर पर हैं. लक्ष्मी ने 1964 से कोलकाता में सिर्फ 16 साल की उम्र से भीख मांगना शुरू कर दिया और 50 से अधिक वर्षों के अपने जीवन में इन्होंने भीख मांग-मांग कर लाखों रुपये जुटाए. इनके सभी पैसे बैंकों में जमा हैं. लक्ष्मी आज भी 1 हजार रुपये हर दिन भीख मांगकर कमाती है. अगर महीने के हिसाब से देखें तो वो हर महीने कम से कम 30 हजार रुपये कमाती हैं.

मुंबई की रहने वाली गीता अमीर भिखारियों की लिस्ट में तीसरे नंबर पर हैं. गीता मुंबई के चरनी रोड के पास भीख मांगती है और कथित तौर पर उन पैसे से उसने एक फ्लैट खरीद ली है जिसमें वो अपने भाई के साथ रहती हैं. वह प्रति दिन भीख मांगकर लगभग 1,500 रुपये कमाती है. महीने में करीब 45 हजार रुपये उनकी आमदनी है.

पत्रिका की रिपोर्ट के मुताबिक कथित तौर पर भीख मांग कर अपना गुजारा करने वाले चंद्र आजाद के पास गोवंडी में घर, 8.77 लाख रुपये खाते में जमा और लगभग 1.5 लाख रुपये नकद हैं. 2019 में रेल दुर्घटना में अपनी जान गंवाने के बाद उनकी सारी संपत्ति मुंबई पुलिस ने ढूंढ कर निकाली थी.

रिपोर्ट के अनुसार बिहार के पटना में रेल प्लेटफॉर्म पर भीख मांगने वाले पप्पू भी अमीर भिखारियों की लिस्ट में शामिल हैं. एक दुर्घटना में पैर फ्रैक्चर हो जाने के बाद पप्पू ने पटना के रेलवे स्टेशनों पर भीख मांगने का काम शुरू किया था. कुछ रिपोर्टों के अनुसार पप्पू कुमार के पास लगभग 1.25 करोड़ रुपये की संपत्ति है.

Input: Aaj Tak

Continue Reading

TRENDING

जानिए कौन हैं 12 साल की पालनी जो ट्विटर पर कर रही ट्रेंड, CM से लेकर अडानी ने बढ़ाया मदद का हाथ

Muzaffarpur Now

Published

on

सिमडेगा में सब्जी और बुटझनगरी बेचकर गुजर बसर करने वाली 12 साल की पालिनी कुमार शुक्रवार दिन भर ट्विटर पर ट्रेंड करती रही. जानकारी के अनुसार, पालनी पढ़-लिख कर नर्स बनकर लोगों की सेवा करना चाहती है. लेकिन आर्थिक तंगी के कारण इसके सपने दम तोड़ रहे हैं. यह कहानी सामने आते ही एक साथ मदद को कई हाथ बढ़े.

Image

हेमंत सोरेन-गौतम अडानी ने बढ़ाया मदद का हाथ

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से लेकर देश के दूसरे बड़े कॉरपोरेट घराने अडानी ग्रुप के प्रमुख गौतम अडानी ने के अलावा रुंगटा ग्रुप और अन्य संस्थान ने मदद के लिए हाथ बढ़ाया है, यानी झारखंड की बेटी अब अपने सपनों को उड़ान दे पाएगी. अदानी ग्रुप में पालिनी कुमारी को प्रतिमाह ₹25 हजार देने की बातें कही है.

पिता के निधन के बाद से संघर्ष कर रही पालिनी

वहीं, जिले के उपायुक्त सुशांत गौरव ने अधिकारियों की टीम भेजकर पालिनी के पूरे परिवार की स्थिति का जायजा लेते हुए हर स्तर पर मदद करने का आदेश दिया है. पालिनी कुमारी को लेकर हेमंत सोरेन से लेकर अडानी तक ने मदद के लिए हाथ बढ़ाए हैं. 12 साल की पालिनी कुमारी लाइन कॉन्वेंट शामटोली में 7वीं क्लास में पढ़ती हैं. ढाई साल की उम्र में उसके पिता का निधन हो गया. उसके बाद मां और पालिनी स्वयं जीवन के लिए संघर्ष कर रही हैं.

पालिनी की मां को मिलता है विधवा पेंशन

दोनों कभी सब्जी तो कभी बूटझंगरी बेच कर अपना पेट भर रही हैं. खेलने कूदने की उम्र में पालिनी कुमारी हाड़-तोड़ मेहनत कर रही हैं. सुबह स्कूल जाने से पहले वह सब्जी बेचती थी और स्कूल से आने के बाद भी सब्जी बेचती थी. वर्तमान समय में पालिनी और उसकी मां नगर भवन के सामने मुख्य पथ पर बैठकर बूटझंगरी बेच रही हैं. सरकारी सुविधा के नाम पर पालिनी की मां को विधवा पेंशन मिलता है. लेकिन ना तो उसके पास लाल कार्ड है और ना ही प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ.

Continue Reading
BIHAR10 mins ago

इंडिया टॉय फेयर-2021 में शामिल हुई मधुबनी की सिक्की कला, रैयाम गांव की सुधीरा देवी का हुआ चयन

TECH21 mins ago

क्या है फेसबुक का $650 मिलियन का केस जिसके तहत 16 लाख यूज़र्स को मिल सक’ते हैं $345?

BIHAR3 hours ago

दरभंगा: एयरपोर्ट का स्वरूप बदलने के ल‍िए 78 एकड़ जमीन की खोज शुरू

TRENDING3 hours ago

गुलाम नबी आजाद ने की मोदी की तारीफ, कहा- पीएम बनने के बावजूद नहीं भूले अपनी जड़ें

BIHAR4 hours ago

BJP नेता ने की फायरिंग, 5 जख्मी, वीडियो वायरल, एक महीने बाद भी कोई कार्रवाई नहीं

VIRAL5 hours ago

तस्वीरों में देखे जा रहे राहुल गांधी के ऐब्स और बाइसेप्स, इन नेताओं ने शेयर की तस्वीर

BIHAR5 hours ago

विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार का पोस्टमार्टम करने बैठे चिराग पासवान

BIHAR5 hours ago

पश्चिम बंगाल में ममता की ही चलेगी मर्जी, तेजस्‍वी ने कहा- जितनी भी सीटें दें दीदी, लड़ेंगे जरूर

TRENDING5 hours ago

ये हैं भारत के 5 सुपर रिच भिखारी, करोड़ों में है संपत्ति, फ्लैट और कैश

BIHAR6 hours ago

नालंदा में माघी पूर्णिमा के मौके पर विषाक्त प्रसाद खाने से 400 से अधिक लोग बीमार

INDIA3 days ago

सरकारी नौकरी के चयन में योग्यता को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया अहम आदेश

MUZAFFARPUR2 weeks ago

मुजफ्फरपुर के गायघाट का युवक उत्तराखंड के चमोली त्रासदी में लापता

MUZAFFARPUR4 weeks ago

सरकारी जमीन पर कब्जा : मुजफ्फरपुर में नहर को बंदकर उसकी जमीन पर बना दिया पक्का मकान

INDIA3 days ago

कल भारत बंद, इन मांगों को लेकर 8 करोड़ व्यापारी करेंगे हड़ताल

BIHAR2 weeks ago

हजार रुपये बकाया होगा तो भी बिजली कटेगी, बकाएदारों पर बड़ी कार्रवाई शुरू

BIHAR4 weeks ago

सुविधाओं में बदलाव : आय, जाति व आवास प्रमाण पत्र राजस्व कर्मचारी जारी करेंगे

MUZAFFARPUR3 weeks ago

मुजफ्फरपुर में मिला सात फीट का अजगर, भेजा जाएगा पटना चिडिय़ाघर

TRENDING4 weeks ago

ईमानदारी की पेश की नयी मिसाल, ऑटोड्राइवर ने लौटाए सवारी के 20 लाख के सोने के गहने

BIHAR4 days ago

बिहार पुलिस में नौकरी का सुनहरा मौका, 69 हजार तक की सैलरी पाने के लिए 24 फरवरी से करें आवेदन

INDIA2 weeks ago

50-200 रुपए के नकली नोट फैले हैं मार्केट में, RBI ने किया अलर्ट

Trending