Connect with us

INDIA

दुश्मनों को NSA अजित डोवल का कड़ा संदेश, बोले- जहां से खतरा होगा, वहीं प्रहार करेंगे

Muzaffarpur Now

Published

on

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवल (NSA Ajit Doval) ने ऋषिकेश से भारत के साथ दुश्मनी रखने वालों को कड़ा संदेश दिया है. डोवल ने कहा कि ‘इतिहास गवाह है कि भारत ने कभी किसी पर हमला नहीं किया’ लेकिन ये तय है कि जहां से खतरा होगा, वहीं प्रहार किया जाएगा’.

एनएसए ने कहा है कि भारत एक ‘सभ्य’ देश है, जिसका वजूद अनादिकाल से मौजूद है. उन्होंने प्रकाश डाला कि भारत, भले ही 1947 में अस्तित्व में आया हो लेकिन प्राचीन भारतीय ज्ञान-विज्ञान की कायल पूरी दुनिया रही है.

धर्म और भाषा से परे भारत
NSA ने ये भी कहा कि हमारा देश इतना महान है कि भारत अपनी समृद्ध संस्कृति और सभ्यता की वजह से किसी धर्म या भाषा के दायरे में नहीं बंधा. बल्कि इस धरती से वसुधैव कुटुंबकम और हर मनुष्य में ईश्वर का अंश मौजूद है के भाव का प्रचार प्रसार हुआ.

संतो ने किया राष्ट्र निर्माण
सुरक्षा सलाहकार के मुताबिक भारत की एक देश के तौर पर पहचान मजबूत करने और उसे संस्कारी बनाने में यहां के संत और महात्माओं का बड़ा योगदान रहा. इन संतों ने अपने अपने समय काल में भारत का राष्ट्र निर्माण करने में अपनी अहम भूमिका निभाई.

‘हस्ती मिटती नहीं हमारी’
डोवल ने उदाहरण दिया कि यहूदी सभ्यता दो हजार साल पहले अस्तित्व में आई लेकिन दुनिया के पहले यहूदी देश का निर्माण 1947 में हु्आ. वहीं मिस्र जैसी समृद्ध सभ्यता का अस्तित्व मिट गया.

एनएसए डोभाल अपनी पत्नी के साथ पुस्तैनी घर देखने पहुंचे थे. घर के अवशेष देखकर उन्होंने गांव में पैतृक घर बनाने की बात कही. इसके बाद वो परमार्थ निकेतन पहुंचे और मां गंगा के दर्शन किए. आज विजयादशमी (Vijayadashami) यानी दशहरे के पावन अवसर पर वो परमार्थ निकेतन (Parmarth Niketan) भी पहुंचे और वहां के सर्वेसर्वा स्वामी चिदानन्द सरस्वती (Swami Chidanand Saraswati) के मिशन की आध्यात्मिक गतिविधियों में अपनी भागीदारी निभाई.

उन्होंने यहां मौजूद सभी लोगों को दुनिया में भारत की आध्यात्मिकता के संदेश का प्रसार करने को भी कहा. गौरतलब है कि NSA का पद संभालने के बाद से डोभाल का अपने गांव का यह तीसरा दौरा है.

Source : Zee News

INDIA

पीएम मोदी की समीक्षा के तुरंत बाद SII प्रमुख ने दी खुशखबरी

Muzaffarpur Now

Published

on

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पुणे में कोरोना वायरस की वैक्सीन की समीक्षा किए जाने के बाद सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) के प्रमुख अदार पूनावाला ने कहा कि जुलाई तक केंद्र सरकार 30-40 करोड़ डोज खरीद सकती है। पूनावाला ने बताया कि पीएम मोदी को पहले से ही वैक्सीन की काफी जानकारी थी। उन्होंने कोरोना वैक्सीन को खुशखबरी देते हुए कहा कि सबसे पहले यह भारत के लिए उपलब्ध करवाई जाएगी।

एसआईआई के सीईओ अदार पूनावाला ने कहा, ”अब तक, हमारे पास भारत सरकार की ओर से लिखित में कुछ भी नहीं है कि वे कितनी खुराक खरीदेंगे लेकिन संकेत मिल रहे हैं कि जुलाई, 2021 तक सरकार 30-40 करोड़ डोज खरीद सकती है।” पूनावाला ने कहा कि सीरम इंस्टीट्यूट आने वाले दो हफ्तों में कोविशील्ड के इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया में है।

पीएम मोदी के दौरे के बाद अदार पूनावाला ने कहा, ”वैक्सीन सबसे पहले भारत में उपलब्ध करवाई जाएगी। इसके बाद, कोवैक्स देश जोकि मुख्य तौर पर अफ्रीका में हैं, वहां दी जाएगी। ब्रिटेन और यूरोपीय बाजार की देख-रेख एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड करेगा। हमारी प्राथमिकता भारत और कोवैक्स देश हैं।” उन्होंने आगे कहा कि हमने पुणे में महामारी स्तर की सबसे बड़ी सुविधा केंद्र और मांडरी में अपने नए परिसर का निर्माण किया है। पीएम को इस यात्रा के दौरान इस बारे में भी जानकारी दी गई और विस्तृत रूप से चर्चाएं हुईं।

मालूम हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के टीके के विकास कार्य की समीक्षा के लिए शनिवार को अहमदाबाद, हैदराबाद और पुणे का दौरा किया है। सबसे आखिरी में पीएम मोदी ने एसआईआई का दौरा किया। एक अधिकारी ने बताया कि मोदी के एसआईआई दौरे का उद्देश्य कोरोना वायरस के लिए टीके की प्रगति की समीक्षा करना है और इसके लॉन्च के समय, प्रोडक्शन और वितरण व्यवस्था का जायजा लेना था।


पीएम के दौरे के बाद क्या बोला PMO?

प्रधानमंत्री मोदी के दौरे के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने कहा कि दिन भर के दौरे का उद्देश्य नागरिकों के टीकाकरण में भारत के प्रयासों में आने वाली चुनौतियों, तैयारियों और रोडमैप जैसे पहलुओं की जानकारी हासिल करना था। वहीं, पीएम मोदी ने जाइडस पार्क का दौरा करने के बाद ट्वीट किया, ”अहमदाबाद में जाइडस बायोटेक पार्क का दौरा किया और जाइडस कैडिला द्वारा विकसित किए जा रहे डीएनए आधारित स्वदेशी टीके के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त की। मैंने इस कार्य में लगी टीम के प्रयासों के लिए उसकी सराहना की। भारत सरकार इस यात्रा में उनका सहयोग करने के लिए उनके साथ सक्रियता से काम कर रही है।”

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के साथ SII ने की पार्टनरशिप

कोरोना वैक्सीन के लिए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने वैश्विक दवा कंपनी एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के साथ पार्टनरशिप की है। कोविड-19 महामारी के टीके के तीसरे चरण के परीक्षण के अंतरिम परिणाम हाल ही में जारी किए गए हैं। शुरुआती संकेतों से लगता है कि यह टीका बिना लक्षण वाले संक्रमण के मामलों में वायरस के प्रसार को कम कर सकता है। दो ट्रायल के संयुक्त विश्लेषण के आधार पर टीका औसतन 70 फीसदी प्रभावी रहा है। भारत में इस टीके को कोविशील्ड नाम दिया गया है।

Source : Hindustan

Continue Reading

INDIA

किसान आंदोलन पर बोले गृह मंत्री अमित शाह- ‘सरकार हर मांग पर विचार को तैयार’

Muzaffarpur Now

Published

on

कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों को गृह मंत्री अमित शाह ने संदेश दिया है. उन्होंने कहा कि किसानों की हर समस्या और मांग पर विचार करने के लिए केंद्र सरकार तैयार है. कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने 3 दिसंबर को चर्चा करने के लिए बुलाया है.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (फाइल फोटो)

अमित शाह ने कहा कि पंजाब की सीमा से लेकर दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पर रोड पर अलग-अलग किसान यूनियन की अपील पर आज जो किसान भाई अपना आंदोलन कर रहे हैं, उन सभी से मैं अपील करना चाहता हूं कि भारत सरकार आपसे चर्चा के लिए तैयार है.

बता दें कि किसान सरकार से कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं. वे सड़क पर उतरे हैं. पंजाब की सीमा से लेकर दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पर उनका आंदोलन जारी है. किसानों की मांग है कि उन्हें जंतर मंतर पर प्रदर्शन करने की इजाजत दी जाए. लेकिन सरकार उन्हें दिल्ली के बुराड़ी स्थित निरंकारी ग्राउंड पर प्रदर्शन करने की इजाजत दी है. किसान इसपर राजी नहीं हैं. वे सिंधु बॉर्डर पर डटे हैं.

Continue Reading

INDIA

तृणमूल में लगातार तेज हो रहे बगावती स्वर, प्रशांत किशोर के खिलाफ नाराजगी

Muzaffarpur Now

Published

on

बंगाल में कुछ माह बाद ही विधानसभा चुनाव होना है, लेकिन तृणमूल के भीतर बगावती स्वर तेज होता जा रहा है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस में जिस तरह से एक बाद एक विधायक व मंत्री अपनी नाराजगी जता रहे हैं यह शुभ संकेत नहीं है। तृणमूल के वरिष्ठ नेता और मंत्री धीरे-धीरे बगावत पर उतर रहे हैं, लेकिन ममता के लिए सबसे तगड़ा झटका उनके भरोसेमंद और आंदोलन के दिनों के सहयोगी शुभेंदु अधिकारी का इस्तीफा है। सिर्फ अधिकारी ही नहीं उनके अलावे कई और ऐसे नेता व विधायक हैं जो चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (पीके) के पार्टी के भीतर हस्तक्षेप को लेकर मुखर हो रहे हैं। यही नहीं सत्तारूढ़ दल में मची उठापटक के पीछे सिर्फ पीके ही नहीं बल्कि तृणमूल प्रमुख ममता बनर्जी के सांसद भतीजे अभिषेक बनर्जी को वजह माना जा रहा है।

पीके के खिलाफ खुलेआम बोल रहे हैं तृणमूल के कई नेता

तृणमूल के कई नेता पीके के खिलाफ खुलेआम बोल रहे हैं। बता दें कि दिल्ली विधानसभा और आंध्र प्रदेश समेत कई चुनाव में जीत के पीछे अहम भूमिका निभाने वाले पीके को ममता व अभिषेक ने पिछले साल ही बंगाल चुनाव में तृणमूल का कामकाज देखने के लिए हायर किया है। प्रशांत किशोर की एजेंसी आई-पैक पिछले वर्ष जुलाई से तृणमूल के लिए काम कर रही है लेकिन अब जो खबरें आ रही हैं उससे पीके ममता की उम्मीदों को ठेस पहुंचने की आशंका है। क्योंकि, पीके की रणनीति के तहत इस वर्ष जुलाई में ममता ने संगठन में भारी फेरबदल किया था। इसके बाद से ही नाराजगी बढ़ती जा रही है।

कई विधायक जता चुके हैं अपनी नाराजगी

पिछले दिनों मुर्शिदाबाद से तृणमूल विधायक नियामत शेख ने एक जनसभा में प्रशांत किशोर का खुलेआम विरोध करते हुए कहा था, क्या हमें उनसे (पीके) राजनीति समझने की जरूरत है? कौन है वह? अगर बंगाल में तृणमूल को नुकसान पहुंचा तो पीके उसकी वजह होंगे। यही नहीं कूचबिहार से तृणमूल विधायक मिहिर गोस्वामी ने भी प्रशांत किशोर पर आपत्ति जताते हुए फेसबुक पर कई पोस्ट किए। उन्होंने पीके पर निशाना साधते हुए लिखा, क्या तृणमूल अभी भी वाकई ममता बनर्जी की पार्टी है? ऐसा लगता है कि पार्टी को किसी ठेकेदार को दे दिया गया है। शुक्रवार को एक महत्वपूर्ण घटनाक्रम के तहत उन्होंने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया तथा नई दिल्ली जाकर भाजपा का दामन थाम लिया।

पीके के खिलाफ खुलेआम बोल रहे हैं तृणमूल के कई नेता

बैरकपुर विधानसभा से तृणमूल विधायक शीलभद्र दत्त ने पीके की एजेंसी पर हमला बोलते हुए चुनाव न लड़ने की घोषणा कर दी है। दत्ता ने कहा है कि एक बाहरी एजेंसी उन्हें सिखा रही है कि राजनीति कैसे करें। यही नहीं मंत्री रबींद्रनाथ भट्टाचार्य ने हुगली के सिंगुर के विधायक बेचाराम मन्ना से नाराज होकर इस्तीफा देने की बात कह दी थी। वहीं मंत्री सिद्दीकुल्ला चौधरी भी तृणमूल नेता अनुव्रत मंडल से नाराज हैंं।

Source : Dainik Jagran

Continue Reading
MUZAFFARPUR43 mins ago

मुजफ्फरपुर में तेजस्वी के बयान पर हुआ विरोध प्रदर्शन, किया गया पुतला दहन

BIHAR3 hours ago

बिहार: शादी समारोह में अब 100 से अधिक लोग होंगे शामिल, सड़कों पर भी बजेगा बैंड-बाजा

MUZAFFARPUR11 hours ago

पूर्व मेयर हत्याकांड के शूटर का शागिर्द गिरफ्तार

MUZAFFARPUR11 hours ago

सांसद व एमएलसी के नाम पर सीमेंट गबन में दो गिरफ्तार

MUZAFFARPUR11 hours ago

दस साल में 18 आवेदन, फिर भी नहीं बनी सड़क-नाली

MUZAFFARPUR11 hours ago

गायब मैट्रिक छात्रा की बूढ़ी गंडक में मिली लाश

MUZAFFARPUR11 hours ago

पताही कोविड केयर का बिजली बिल 40 लाख, सकते में स्वास्थ्य अमला

BIHAR11 hours ago

बिहार में मोटी रकम वसूल कर कई देशों के बनाए जा रहे फर्जी वीजा

SMART-CITY-MUZAFFARP
MUZAFFARPUR11 hours ago

मुजफ्फरपुर स्मार्ट सिटी की ओर कदम : लोगों काे जागरूक करने पर खर्च होंगे 89.20 लाख, दिल्ली से आएगी एजेंसी

MUZAFFARPUR11 hours ago

मुजफ्फरपुर : प्रदूषण से बचाव के लिए सुबह और रात में होने लगा पानी का छिड़काव

BIHAR1 week ago

सात समंदर पार रूस से छठ करने पहुंची विदेशी बहू

WORLD2 weeks ago

संयुक्त राष्ट्र की शाखा ने चेताया- 2020 से भी ज्यादा खराब होगा साल 2021, दुनिया भर में पड़ेगा भीषण अकाल

BIHAR6 days ago

खाक से फलक तक : 18 साल की उम्र में घर से भागे, मजदूरी की, और अब हैं बिहार के मंत्री

TRENDING7 days ago

यात्री नहीं मिलने से पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्‍सप्रेस हो जाएगी बंद

INDIA4 days ago

राजस्थान छोड़कर जम्मू-कश्मीर जाना चाहते हैं IAS टीना डाबी के पति अतहर, लगाई तबादले की अर्जी

BIHAR1 week ago

एम्स से दीघा तक एलिवेटेड रोड पर आज से परिचालन शुरू, कोइलवर पुल पर आज ट्रायल रन

INDIA2 weeks ago

मिट्टी से भरी ट्रॉली खाली करते वक्त अचानक गिरने लगे सोने-चांदी के सिक्के, लूटकर भागे लोग

TRENDING2 weeks ago

ठंड से ठिठुर रहा था भिखारी, DSP ने गाड़ी रोकी तो निकला उन्हीं के बैच का ऑफिसर

BIHAR3 weeks ago

जीत की खुशी में पटाखा जलाने पर BJP नेता के बेटे की पीट-पीटकर हत्या, शव पेड़ पर लटकाया

BIHAR3 weeks ago

बड़ा ऐलान : नीतीश ने कर दिया राजनीति से संन्यास का एलान

Trending