Connect with us

INDIA

नवाजुद्दीन सिद्दिकी की भतीजी ने लगाए गंभीर आरोप, बोलीं- ‘चाचा ने मेरे साथ किया गंदा काम’

Muzaffarpur Now

Published

on

मुंंबई. बॉलीवुड एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दीकी (Nawazuddin Siddiqui) और उनके परिवार की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. नवाज की पत्नी ने तलाक के लिए नोटिस दिया हुआ है, वहीं अब नवाजुद्दीन सिद्दीकी की भतीजी (Nawazuddin Siddiqui Niece) ने एक्टर के भाई और अपने चाचा पर यौन उत्‍पीड़न (Sexual Harassment) का गंभीर आरोप लगाया है. जानकारी के मुताबिक, पीड़िता ने दिल्ली के जामिया नगर पुलिस स्‍टेशन में शिकायत दर्ज कराई है. मामला उस वक्त का है, जब वो 9 साल की थीं. इस खबर के बाद एक बार फिर से नवाजुद्दीन और उनके परिवार के चर्चे तेज हो चले हैं.

Nawazuddin Siddiqui's Estranged Wife Aaliya Siddiqui Makes Cryptic ...

ईटाइम्‍स की रिपोर्ट के मुताबिक, एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दीकी (Nawazuddin Siddiqui) की भतीजी ने बताया, ‘ये मामला सालों पुराना है. उस वक्‍त मैं 9 साल की थी. मैं जब दो साल की थी, तब मेरे पैरंट्स का तलाक हो गया. पापा ने दूसरी शादी की और मैं अपने सौतेली मां के साथ रहने लगी. तब मैं बच्ची थी, मुझे कोई समझ नहीं थी. मेरे साथ हिंसा भी हुई, लेकिन जब बड़ी हुई तो एहसास हुआ कि मेरे अंकल (चाचा) ने मेरे साथ गलत किया, उनका हर टच गलत था.’

Exclusive! Aaliya Siddiqui on her relationship with Nawazuddin ...

नवाजुद्दीन की भतीजी ने बताया कि मैंने कोर्ट मैरेज की, लेकिन शादी के बाद भी मुझे और मेरे ससुरालवालों को परेशान किया जा रहा है. इसमें मेरे पापा और बड़े पापा (नवाजुद्दीन) शामिल हैं, उन्‍होंने मेरे ससुरालवालों पर झूठे केस किए हैं. अगर वे उस समय सख्‍ती दिखाते तो यह सबकुछ न होता.

उन्‍होंने कहा कि तब मुझ पर किसी ने विश्‍वास नहीं किया. अब भी हर 6 महीने पर मेरे पिता केस फाइल करते हैं. लेकिन मुझे यकीन है कि मेरी शिकायत के बाद भी वह कुछ न कुछ करेंगे.

हालांकि, इसके लिए मुझे अपने पति का अब काफी सपॉर्ट मिला है. शारीरिक हिंसा के सभी सबूत मेरे पास हैं जो मैंने अपने पति को भेजे थे.

इस बातचीत में नवाज की भतीजी ने बताया कि नवाजुद्दीन सिद्दीकी से उन्‍हें कभी सपॉर्ट नहीं मिला. उन्होंने बताया कि नवाज (बड़े पापा) ने एक बार मुझसे पूछा कि मैं लाइफ में क्‍या करना चाहती हूं. इस पर मैंने उन्‍होंने बताया कि मेरे साथ क्‍या-क्‍या हुआ था और मैं मेंटली डिस्‍टर्ब महसूस कर रही हूं. इस पर उन्‍होंने कहा कि ऐसा कुछ नहीं है. मुझे लगा कि कम से कम बड़े पापा समझेंगे, वह दूसरे समाज में रहते हैं और उनकी दूसरी सोच होगी लेकिन उनका कहना था- चाचा हैं, ऐसा कभी नहीं कर सकते.

Input : News18

INDIA

Apps पर प्रतिबंध के बाद अब हाईवे प्रोजेक्ट्स में भी चीनी कंपनियों की एंट्री होगी बंद, गडकरी का एलान

Muzaffarpur Now

Published

on

चीन के साथ सीमा विवाद के बीच केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बुधवार को कहा कि भारत देश की राजमार्ग परियोजनाओं में भी चीन की कंपनियों को हिस्सा लेने की इजाजत नहीं देगा। उन्होंने कहा कि चीनी कंपनियों को संयुक्त उद्यम के जरिए भी ऐसा करने की इजाजत नहीं दी जाएगी। गडकरी ने कहा कि सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग (MSMEs) जैसे सेक्टर्स में भी चीन के निवेशकों को एंटरटेन नहीं किया जाए। केंद्र सरकार के वरिष्ठ मंत्री का यह बयान काफी महत्व रखता है क्योंकि भारत ने सोमवार को ही सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए 59 एप्स को प्रतिबंधित कर दिया।

Sacrifice Nitin Gadkari To Stop Modi': Why Nagpur's Favourite ...

ज्वाइंट वेंचर्स को भी नहीं मिलेगी इजाजत

गडकरी ने समाचार एजेंसी पीटीआई को एक साक्षात्कार में बताया, ”चीन के साथ पार्टनरशिप करने वाले संयुक्त उद्यमों को हम सड़क निर्माण के लिए इजाजत नहीं देंगे। हमने यह ठोस कदम उठाया है कि अगर वे (चीनी कंपनियां) संयुक्त उद्यम के जरिए हमारे देश में आती हैं तो हम उन्हें अनुमति नहीं देंगे।”

जल्द आएगी नीति

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री ने कहा कि हाईवे प्रोजेक्ट्स में चीन की कंपनियों को हिस्सा लेने से प्रतिबंधित करने वाली नीति जल्द आएगी। साथ ही भारतीय कंपनियों के लिए नियमों में ढील दी जाएगी ताकि हाईवे प्रोजेक्ट्स में हिस्सा लेने को लेकर उनकी पात्रता बढ़ जाए।

गडकरी से जब मौजूदा निविदाओं और भविष्य की बोलियों के बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि अगर किसी प्रोजेक्ट में कोई चीनी संयुक्त उद्यम है तो बोली की प्रक्रिया फिर से की जाएगी।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading

INDIA

भारत सरकार के TikTok बैन के फैसले पर बोलीं TMC सांसद नुसरत जहां- उनका क्या जो बेरोजगार होंगे

Muzaffarpur Now

Published

on

आशिका सिंह/मुंबईः भारत-चीन सीमा विवाद के बीच भारत सरकार ने डाटा सुरक्षा का हवाला देते हुए चीन को बड़ा झटका दिया है और 59 चाइनीज ऐप्स (TikTok Ban in India) पर पाबंदी लगा दी. बैन किए गए ऐप्स में टिकटॉक, स्नैपचैट और हेलो जैसे कई मशहूर ऐप भी शामिल हैं. भारत सरकार के इस फैसले की जहां हर तरफ तारीफ हो रही है तो वहीं टीएमसी सांसद और बंगाली सिनेमा की फेमस एक्ट्रेस नुसरत जहां (Nusrat Jahan) ने कुछ ऐसा कह दिया है, जिससे उनकी आलोचना शुरू हो गई है. नुसरत जहां कोलकाता (Kolkata) के इसकॉन की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम में पहुंची थीं, जहां उन्होंने टिकटॉक बैन (TikTok Ban) पर अपनी प्रतिक्रिया दी है.

भारत सरकार के TikTok बैन के फैसले पर बोलीं TMC सांसद नुसरत जहां- उनका क्या जो बेरोजगार होंगे

नुसरत जहां ने भारत सरकार के टिकटॉक बैन के निर्णय को ‘जल्दबाजी में लिया निर्णय (impulsive decision)’ बताया है. उन्होंने कहा- ‘टिकटॉक मेरे लिए दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स की तरह है. मेरा सवाल है कि अचानक ये निर्णय लेने से क्या होगा. सिर्फ ऐप बंद करने से क्या होगा.’ यही नहीं एक्ट्रेस ने ऐप बैन करने की तुलना नोटबंदी से की और कहा कि सरकार के इस फैसले के बाद कई लोगों की नौकरी चली जाएगी.

उन्होंने कहा ‘सरकार के इस फैसले के बाद कई लोगों को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ जाएगा. उनका क्या होगा. देश की सुरक्षा के हित के लिए मैं सरकार के साथ हूं, लेकिन सेना के लिए इस्तेमाल किये जा रहे बुलेट प्रूफ जैकेट चीन से आते हैं. सोकर उठकर नोट बंद कर दिया. अचानक ऐप बंद कर दिया. इससे क्या होगा. इसका जवाब कौन देगा. हमें अभी इनफ्लेशन नहीं चाहिए. बता दें कि नुसरत जहां भी टिकटॉक पर काफी एक्टिव थीं. वह टिकटॉक पर आए दिन अपने वीडियोज पोस्ट करती थीं और बड़ी संख्या में उनके फॉलोअर्स भी थे.

Input : News18

Continue Reading

INDIA

कोरोनिल पर बोले रामदेव- पतंजलि ने मंसूबों पर फेरा पानी तो आतंकियों की तरह FIR करा दी

Muzaffarpur Now

Published

on

हरिद्वार. पतंजलि योगपीठ की ‘कोरोना दवा’ पर बाबा रामदेव (Baba Ramdev) ने अपने आलोचकों को आज जवाब दिया है. योगपीठ का कहना है कि आयुष मंत्रालय ने पतंजलि रिसर्च फ़ाउंडेशन की दवा को हरी झंडी दे दी है और मंत्रालय के निर्देश के अनुरूप अब इसे पूरे भारत में बेचा जा सकता है. पतंजलि (Patanjali Ayurveda) की ओर से यह भी कहा है कि बाबा रामदेव और पतंजलि योगपीठ भारत को विश्वगुरु बनाने के अभियान में जुटे हुए हैं, लेकिन कुछ लोग उन्हें बेवजह गाली दे रहे हैं.

बाबा रामदेव ने बुधवार को हरिद्वार में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि कोरोनिल के लॉन्च होने के बाद कुछ लोगों ने बवंडर मचा रखा है. पतंजलि ने पलटी मारी, पतंजलि फेल, ऐसा कह-कहकर कुछ लोग स्वामी रामदेव की जाति और धर्म को लेकर गंदा माहौल बना रहे हैं. जैसे कि योग, आयुर्वेद का काम करना गुनाह हो. पतंजलि के काम से विरोधियों के मंसूबे पूरे नहीं हुए तो हमारे खिलाफ देशद्रोही और आतंकवादी की तरह FIR करानी शुरू कर दी गई. आपको बता दें कि आयुष मंत्रालय (AYUSH Ministry) की ओर से मंगलवार को पतंजलि योगपीठ की कोरोना किट (Corona Kit) में शामिल दवाओं के इम्युनिटी बूस्टर के रूप में इस्तेमाल को हरी झंडी मिलने के बाद आज पतंजलि ने अपना पक्ष रखा.

अब कोई असहमति नहीं

पतंजलि रिसर्च फ़ाउंडेशन ने एक प्रेस रिलीज़ में कहा कि उन्होंने केंद्र सरकार के आयुष मंत्रालय को अपने क्लीनिकल ट्रायल से संबंधित सभी दस्तावेज़ उपलब्ध करवाए थे. इसके बाद आयुष मंत्रालय ने ‘स्वीकार किया कि पतंजलि रिसर्च फ़ाउंडेशन ने कोविड-19 मैनेजमेंट के लिए आवश्यक कार्यवाही सुचारु रूप से संचालित की है. आयुष मंत्रालय तथा पतंजलि में अब इस विषय में कोई असहमति नहीं है.’

प्रेस रिलीज़ में आगे कहा गया है, ‘आयुष मंत्रालय के निर्देश के अनुसार दिव्य कोरोनिल टैबलेट, दिव्य श्वासारि वटी एवं दिव्य अणु तेल, जैसा कि स्टेट लाइसेंस अथॉरिटी, आयुर्वेद-यूनानी सर्विसिस, उत्तराखंड सरकार से निर्माण एवं वितरण करने की जो अनुमति पतंचलि को मिली हुई है, उसके अनुरूप अब हम इसे सुचारु रूप से संपूर्ण भारत में निष्पादित कर सकते हैं.’

press note of patanjali, पतंजलि का प्रेस नोट

अब मल्टीसेंट्रिक क्लीनिकल ट्रायल 

प्रेस रिलीज़ में कोविड-19 के मरीज़ों पर क्लीनिकल ट्रायल के बारे में जानकारी दी गई है (देखें तस्वीर) और कहा गया है, ‘यह आयुर्वेदिक औषधियों का कोविड-19 पॉज़िटिव रोगियों पर किया गया पहला सफल क्लीनिकल कंट्रोल ट्रायल था. अब हम इन औषधियों के मल्टीसेंट्रिक क्लीनिकल ट्रायल की दिशा में अग्रसर हैं.’

प्रेस रिलीज़ में कोविड-19 के मरीज़ों पर क्लीनिकल ट्रायल के बारे में जानकारी दी गई है (देखें तस्वीर) और कहा गया है, ‘यह आयुर्वेदिक औषधियों का कोविड-19 पॉज़िटिव रोगियों पर किया गया पहला सफल क्लीनिकल कंट्रोल ट्रायल था. अब हम इन औषधियों के मल्टीसेंट्रिक क्लीनिकल ट्रायल की दिशा में अग्रसर हैं.’

कभी झूठा प्रोपेगंडा नहीं किया

प्रेस रिलीज़ में कहा गया है, ‘आयुर्वेद को एविडेंस बेस्ड मेडिसनल सिस्टम के तौर पर स्थापित करने के लिए हम पतंजलि में व्यापक अनुसंधान कार्य कर रहे हैं…. यह आयुर्वेद एवं भारतीय ज्ञान परंपरा के लिए बहुत बड़े गौरव की बात है.’ ‘पतंजलि के लगभग 500 से अधिक सीनियर साइंटिस्ट पतंजलि रिसर्च सेंटर योग एवं आयुर्वेद के विकास के अनुसंधान में संलग्न हैं. पतंजलि ने इस सेवा में  10 हज़ार करोड़ से ज़्यादा की सेवा राष्ट्र के नाम समर्पित की है.’

‘हम भारत की सनातन वेद परंपरा और ऋषि परंपरा के प्रतिनिधि हैं. हमने कभी न झूठा प्रोपेगंडा किया है, न करेंगे. यह हम कोरोड़ों लोगों को विश्वास दिलाना चाहते हैं. कुछ  दवा माफ़िया और स्वदेशी व भारतीयता विरोधी ताकतें चाहें लाख हमें बदनाम करने की नाकाम कोशिश करें, कितने ही हम पर पत्थर फेंकें, हम दृढ़ संकल्पित हैं कि इन्हीं पत्थरों की सीढ़ियां बनाकर अपनी मंज़िलें पाएंगे.’

‘एक तरफ़ हम भारत को विश्व गुरु या विश्व की महाशक्ति बनाने का सपना देखते हैं, लोकल को ग्लोबल और उसके लिए वोकल होकर आत्मनिर्भर भारत बनाना चाहते हैं. इन्हीं बड़े उद्देश्यों के लिए जब पतंजलि, स्वामी रामदेव, आचार्य बालकृष्ण और पतंचलि के वरिष्ठ वैज्ञानिक अहर्निश निस्वार्थ पुरषार्थ कर रहे हैं तो कुछ लोग गाली देने में लगे हैं, तो कुछ एफ़आईआर करके जेल भिजवाने के झूठे मंसूबे पाल रहे हैं, तो कुछ अज्ञान, आग्रह, ईर्ष्या के शिकार द्वेष-अग्नि में जल रहे हैं. एक सभ्य देश के लिए यह अशोभनीय बात है.’

Input : News18

Continue Reading
BIHAR9 hours ago

चिराग पासवान के स्टैंड से NDA में भारी खलबली

BIHAR9 hours ago

समस्तीपुर की धरती पर होगी ताइवानी पपीते की खेती, जानिए इसको लेकर की जा रही तैयारी के बारे में

Uncategorized11 hours ago

मुजफ्फरपुर में 4694 मतदान केंद्रों पर डाले जाएंगे वोट, जानिए पूरा विवरण

INDIA11 hours ago

Apps पर प्रतिबंध के बाद अब हाईवे प्रोजेक्ट्स में भी चीनी कंपनियों की एंट्री होगी बंद, गडकरी का एलान

INDIA11 hours ago

भारत सरकार के TikTok बैन के फैसले पर बोलीं TMC सांसद नुसरत जहां- उनका क्या जो बेरोजगार होंगे

INDIA13 hours ago

कोरोनिल पर बोले रामदेव- पतंजलि ने मंसूबों पर फेरा पानी तो आतंकियों की तरह FIR करा दी

BIHAR13 hours ago

सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड मामले में सलमान खान पर केस दर्ज, करण जौहर और एकता कपूर का भी नाम शामिल

BIHAR14 hours ago

बिहार राइस मिल घोटाला में ईडी की बड़ी कार्रवाई, मामले का मुख्य आरोपी गिरफ्तार

BIHAR15 hours ago

बिहार में शिक्षकों की बहाली पर रोक, हाईकोर्ट ने दिया निर्देश

INDIA15 hours ago

आचार्य बालकृष्ण बोले पतंजलि ने कभी नहीं किया कोरोना की दवा बनाने का दावा

INDIA3 weeks ago

धोनी ने खरीदा स्‍वराज ट्रैक्‍टर तो आनंद महिंद्रा ने दिया बड़ा बयान, वायरल हुआ ट्वीट

BIHAR2 weeks ago

सुशांत के परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़, सदमा नहीं झेल पाईं भाभी, तोड़ा दम

BIHAR2 weeks ago

प्रिय सुशांत – एक ख़त तुम्हारे नाम, पढ़ना और सहेज कर रखना

INDIA2 weeks ago

सुशांत स‍िंह राजपूत की सुसाइड पर बोले मुकेश भट्ट, ‘मुझे पता था ऐसा होने वाला है…’

BIHAR3 weeks ago

लालू के बेटे तेजस्वी यादव की कप्तानी में खेलते हुए बदली विराट कोहली की किस्मत!

MUZAFFARPUR2 weeks ago

सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर एकता कपूर ने तोड़ी चुप्पी, कहा- मेरे खिलाफ मुकदमा करने के लिए शुक्रिया

BIHAR6 days ago

बिहार में नहीं चलेंगी सलमान खान, आलिया भट्ट, करण जौहर की फिल्में

INDIA1 week ago

सुशांत के व्हॉट्सऐप चैट आये सामने, उनको फिल्म करने में हो रही थी परेशानी

INDIA2 weeks ago

चांद पर प्लॉट खरीदने वाले पहले एक्टर थे सुशांत सिंह राजपूत!

INDIA2 weeks ago

मरने से पहले सुशांत सिंह राजपूत ने किया था ट्वीट, ‘मैं इस जिंदगी से तंग आ गया हूं, गुड बाय’

Trending