Connect with us

BIHAR

पुलिस की इस हमदर्दी से हैरान हैं लोग, ना चालान ना जुर्माना

Muzaffarpur Now

Published

on

बिहार के मोतिहारी शहर में बिना हेलमेट या बीमा नवीनीकरण के चलने वाले मोटरसाइकिल सवारों के साथ पुलिस की हमदर्दी वाला व्यवहार सबको हैरान कर रहा है। दरअसल बिना हेलमेट चलने वालों या जिनका बीमा खत्म हो चुका है, उनका चालान काटने की जगह पुलिस उन्हें अपनी गलती सुधारने का मौका दे रही है।

जिले में इसके लिए पुलिस ने जांच चौकियों पर ही व्यवस्था की है, ताकि सवारी तुरंत हेलमेट खरीद सकें और वाहन बीमा का नवीनीकरण करा सकें। इस अच्छे और अनोखे अभियान की शुरुआत पूर्वी चंपारण जिले के मोतिहारी में छतौनी थाने के एसएचओ मुकेश चंद्र कुंवर ने की है।

पुलिस का मानना है कि इस पहल से लोग जागरूक होंगे और सुरक्षा के प्रति संवेदनशीलता बढ़ेगी। पुलिस का मानना है कि ऐसा भी नहीं है कि लोगों के साथ सख्ती नहीं बरती जाएगी। कागजात की कमी होने पर दंडित भी किया जा रहा है।

एसएचओ मुकेश चंद्र कुंवर ने पीटीआई को बताया, ‘मैंने कुछ हेलमेट विक्रेताओं और बीमा एजेंटों से बात की है, जिन्होंने जांच चौकियों के पास स्टॉल लगाए हैं। सवारियों पर जुर्माना नहीं लगाया जा रहा है, क्योंकि इससे उन्हें महसूस होता है कि वे अपराधी हैं। इसके बजाय, वे अच्छी गुणवत्ता वाले हेलमेट खरीदने और अपने बीमा को नवीकृत कराने के लिए प्रोत्साहित होते हैं।’

उन्होंने कहा कि उन्होंने जिला परिवहन विभाग से एक अधिकारी को तैनात करने का भी अनुरोध किया है, जो बिना लाइसेंस के गाड़ी चला रहे लोगों को मौके पर ही लर्नर लाइसेंस जारी कर दें।

उन्होंने कहा, ‘जनता के बीच इस बात की भी धारणा बढ़ रही है कि संशोधित मोटर वाहन अधिनियम ने पुलिस को जबरन पैसा निकलवाने के लिए खुली छूट दे दी है और इस तरह का अविश्वास पुलिस व्यवस्था के लिए हानिकारक है।’ एसएचओ ने कहा कि मोतिहारी का ऐतिहासिक महत्व उस भूमि के रूप में है जहां महात्मा गांधी ने 1917 में चंपारण सत्याग्रह का शुभारंभ किया था।

 

उन्होंने कहा, ‘मैंने शहर की ऐतिहासिक विरासत से प्रेरणा ली और इस योजना को लेकर आया, जो हमें संशोधित एमवी एक्ट के उद्देश्य को प्रभावी तरीके से हासिल करने में मदद कर सकता है। कुँवर ने हालांकि कहा कि सद्भावना के आधार पर सभी अपराधों को माफ नहीं किया जा सकता है।

उन्होंने कहा, ‘अगर कोई व्यक्ति शराब के नशे में या शराब के प्रभाव में पाया जाता है, जिसकी बिक्री और खपत बिहार में प्रतिबंधित है, तो हमारे पास कानून के मुताबिक कार्रवाई करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचता है।’

हेलमेट व सीट बेल्ट लगाने के साथ अगर वाहन चालकों के साथ आवश्यक चार कागजात ड्राइविंग लाइसेंस, वाहन निबंधन कार्ड, इंश्योरेंस व प्रदूषण के कागजात हैं तो उन्हें चालान नहीं भरना पड़ेगा। इसलिए सड़क पर निकलने से पहले यह जांचकर चलें।

Input : Dainik Jagran

BIHAR

बिहार: बाढ़ पीड़ितों के लिए वरदान बनी बोट एंबुलेंस, टॉल फ्री नंबर से तत्काल पहुंचेगी मदद

Muzaffarpur Now

Published

on

खगड़िया. जिले में बाढ़ (Flood) से एक लाख से ज्यादा  लोग प्रभावित हैं. ऐसे में बीमार लोगों के इलाज में सबसे अधिक परेशानी हो रही है. हालांकि अब जिला प्रशासन ने इसका हल खोज लिया है. अगर किसी भी बाढ़  पीड़ित को अचानक तबीयत बिगड़ती  है तो उनको बोट एंबुलेंस (Boat ambulance) की सुविधा  दी जाएगी और उनका तत्काल ही इलाज शुरू किया जाएगा. डीएम आलोक रंजन घोष ने बताया कि बोट एंबुलेंस पर ऑक्सीजन सिलिंडर (oxygen cylinder) के साथ डाॅक्टर और ट्रेंड  एएनएम मौजूद  रहती हैं. साथ ही साथ फर्स्ट एड  किट भी रहने के कारण  तत्काल  इलाज करने में  आसानी होती है.

डीएम ने बताया कि जल्दी ही जिले के सभी बाढ़  प्रभावित इलाकों में  बोट एंबुलेंस की  शुरुआत  की जाएगी.अभी अलौली  प्रखंड में  बाढ़  प्रभावित इलाकों में इसकी शुरुआत की गई  है.  जो लोग  बाढ़  के पानी से घिरे हैं, या जो लोग  बांध पर रह रहे हैं उन तक स्वास्थ्य सुविधा पहूंचाना जिला  प्रशासन की प्राथमिकता में है. उन्होंने कहा कि हालांकि बाढ़ ग्रस्त इलाकों में मेडिकल टीम पहले से काम कर रही है, लेकिन बोट एंबुलेंस के आ जाने से तत्काल चिकित्सा मुहैया कराने में आसानी हो जाएगी.

मरीजों के लिए टॉल फ्री नंबर जारी

बाढ़ प्रभावित इलाकों में  नदी में  घुूम रहे बोट  एंबुलेंस की जानकारी ट्राॅल फ्री नंबर 18003456620 पर डायल कर ली जा सकती है. किसी भी बाढ़  पीड़ित की तबीयत खराब  होने पर वह इस नंबर के सहारे बोट एंबुलेंस को बुला सकते हैं. इसके लिए  सभी जगहों पर इस नंबर का प्रचार-प्रसार किया गया है.

विशेष परिस्थिति में होगा रात में परिचालन

अलौली के पीएचसी  प्रभारी डाॅक्टर मनीष कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि बाढ़ के समय सबसे ज्यादा  परेशानी गर्भभवती महिला को होती है. विशेष कर रात में प्रसव पीड़ शुरू होती है, ऐसे में उसको अस्पताल  तक पहुंचाने में काफी परेशानी उठानी पड़ती है. ऐसे लोगों के लिए विशेष व्यवस्था की गई है  कि उन तक रात में यह बोट एंबुलेंस पहुंच पाए.

एक लाख से अधिक लोग बाढ़ प्रभावित

खगड़िया  में सात प्रखंड अलौली, गोगरी परबता चौथम, बेलदौर, खगड़िया, मानसी के 119 गांव के एक लाख से अधिक लोग बाढ़़ से  प्रभावित हैं. जिले मेें  कोसी, बूढ़ी गंडक और बागमती नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. वहीं गंगा  के जलस्तर में लगातार वृद्धि हो रही है. ऐसे में बाढ़  पीड़ितों  के लिए जिला प्रशासन के द्वारा  118 नाव की  व्यवस्था  की गई  है.

Input : News18

Continue Reading

BIHAR

पुलवामा हमले में शहीद के परिवार को शख्स ने पटना में दिया 40 लाख का फ्लैट

Muzaffarpur Now

Published

on

पटना. जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले (Pulwama Attack) में बिहार के जवान संजय कुमार सिन्हा ने भी अपनी शहादत दी थी. संजय की शहादत (Pulwama Martyr) के बाद उनके परिवार की मदद को लगातार हाथ उठे. इस कड़ी में पटना के एक शख्स ने शहीद के परिवार को 40 लाख रुपए का फ्लैट गिफ्ट किया है. ये फ्लैट पटना से सटे दानापुर इलाके में है.

मदद की जरूत थी तो पुलवामा हमले में शहीद के परिवार को गिफ्ट में मिला 40 लाख का फ्लैट

दरियापुर-भेलवाड़ा पंचायत के एकतापुरम भोगीपुर में निर्माणाधीन छत्रपति शिवाजी ग्रीस अपार्टमेंट के मालिक नागेश्वर सिंह स्वराज के परिवार द्वारा 2 बीएचके के एक फ्लैट की रजिस्ट्री करने के बाद इसे शहीद के परिवार को समर्पित किया गया है. यह अपार्टमेंट और फ्लैट नागेश्वर सिंह की पुश्तैनी जमीन पर बना है. फ्लैट शहीद की वीरांगना पत्नी बेबी देवी को दिया गया. इलाके के सामाजिक कार्यकर्ता और फ्लैट देने वाले नागेश्वर सिंह स्वराज ने कहा कि यह देश के लिए खेलने वाली हमारी बेटी शालिनी सिंह की सोच है, जिसे हमारे परिवार के सदस्यों ने राय मशवरा करने के बाद साकार किया और शहीद परिवार को फ्लैट रजिस्ट्री कर एक छोटी सी मदद देने की कोशिश की है.

पूरा किया शहीद के परिवार से किया वादा

फ्लैट गिफ्ट करने वाले शख्स ने कहा कि इससे उनके परिवार और उनके बेटा-बेटी को पढ़ाई करने के साथ ही पटना में रहने का जगह मिल गया जिससे उन सभी को काफी सहूलियत होगी. नागेश्वर ने कहा कि शहीद के परिवार की छोटी सी मदद कर के मैं और मेरा परिवार गर्व महसूस कर रहा है. शालिनी सिंह ने कहा कि हमारी सुरक्षा के लिए संजय सिन्हा पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद हो गए थे. ऐसे में देश के लोगों की जिम्मेवारी है कि उनके परिवार का ख्याल रखें. मैं शहीद के परिवार को मदद पहुंचाकर काफी खुश हूं और यह छोटी सी भेंट उनके प्रति एक श्रद्धांजलि मात्र है. शहीद संजय सिन्हा के बेटे सोनू ने कहा कि नागेश्वर सिंह ने पिता की शहादत पर फ्लैट दान देने की घोषणा की थी, जिसे उन्होंने पूरा कर दिया है. हमें इससे खुशी महसूस हो रही है.

Input : News18

Continue Reading

BIHAR

बिहार पुलिस के अधिकारियों पर केस को लेकर मुंबई पुलिस कमिश्नर ने स्थिति स्पष्ट की, DGP गुप्तेश्वर पांडे बोले- कोई केस नहीं हुआ

Muzaffarpur Now

Published

on

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के भले ही सीबीआई को ट्रांसफर कर दिया गया हो लेकिन बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे इस मामले में पल-पल का अपडेट दे रहे हैं. गुप्तेश्वर पांडे ट्विटर पर लगातार सुशांत केस को लेकर एक्टिव हैं. डीजीपी हर छोटा-बड़ा अपडेट करते हैं और शिवसेना के नेता संजय राउत को शायरी भरे अंदाज में जवाब भी दे चुके हैं.

Bihar liquor sale: 'Bina thane ki jankari ke patta bhi nahi hilta ...

डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने मुंबई में बिहार पुलिस के अधिकारियों पर केस दर्ज किए जाने के मामले में नई जानकारी साझा की है. गुप्तेश्वर पांडे ने कहा है कि मुंबई के पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने मुझे फोन कर बताया है कि मुंबई में बिहार के किसी पुलिस पदाधिकारी पर कोई मुकदमा दर्ज नहीं किया गया है, यह मात्र अफवाह है.

डीजीपी ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने बहुत सम्मान के साथ उनसे बात की है. सुशांत केस की छानबीन करने गई बिहार पुलिस की टीम के साथ मुंबई पुलिस ने जो सलूक किया उसके बाद डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे भड़के हुए थे. वह लगातार मुंबई पुलिस और वहां के कमिश्नर पर निशाना साध रहे थे लेकिन अब इस मामले के सामने आने के बाद उन्होंने मुंबई पुलिस कमिश्नर की तरफ से की गई बातचीत को सम्मानित तरीके से बताया है.

Mumbai Police Commissioner: Sushant Singh Rajput searched for ...

इसके पहले डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने आज ही मीडिया से बातचीत करते हुए इस बात पर नाराजगी जताई थी कि सुप्रीम कोर्ट में रिया चक्रवर्ती बिहार पुलिस और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर आरोप लगा रही हैं. डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने कहा था कि बिहार पुलिस या मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की छवि खराब करने का अधिकार किसी को नहीं है.

Input : First Bihar

Continue Reading
BIHAR5 hours ago

बिहार: बाढ़ पीड़ितों के लिए वरदान बनी बोट एंबुलेंस, टॉल फ्री नंबर से तत्काल पहुंचेगी मदद

BIHAR5 hours ago

पुलवामा हमले में शहीद के परिवार को शख्स ने पटना में दिया 40 लाख का फ्लैट

INDIA5 hours ago

कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी का निधन, दिल का दौड़ा पड़ने से हुई मौत

BIHAR6 hours ago

बिहार पुलिस के अधिकारियों पर केस को लेकर मुंबई पुलिस कमिश्नर ने स्थिति स्पष्ट की, DGP गुप्तेश्वर पांडे बोले- कोई केस नहीं हुआ

BIHAR7 hours ago

बिहार : नंबर प्लेट को लेकर सख्त हुए नियम, अब वाहन मालिक के साथ डिलर पर भी होगा एक्शन…

INDIA7 hours ago

सुशांत केस: शरद पवार बोले- CBI जांच पर आपत्ति नहीं, लेकिन हमें मुंबई पुलिस पर भरोसा

BIHAR9 hours ago

चुनाव रोकने के लिए हाईकोर्ट जाएंगे पप्पू यादव, आयोग को 10 लाख पोस्टकार्ड भेजकर जताएंगे विरोध

INDIA9 hours ago

पूर्व राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत अब भी गंभीर, अस्पताल ने जारी किया हेल्थ अपडेट

MUZAFFARPUR12 hours ago

मुज़फ़्फ़रपुर : अपहरण के शक पर लोगो ने किया सड़क जाम ; जमकर काटा बवाल

INDIA14 hours ago

सुशांत की मौत के बाद रिया ने आमिर खान को किया था कॉल, तीन एसएमएस के जरिये मिला था जवाब

BIHAR6 days ago

भोजपुरी एक्ट्रेस अनुपमा पाठक ने की खुदकुशी, मरने से पहले किया फेसबुक लाइव

INDIA4 weeks ago

सलमान खान ने शेयर की किसानी करने की ऐसी तस्वीर, लोगों ने जमकर सुनाई खरीखोटी

INDIA1 day ago

बाइक पर पत्नी के अलावा अन्य को बैठाया तो कार्रवाई: हाई कोर्ट

INDIA3 weeks ago

वाहनों में अतिरिक्त टायर या स्टेपनी रखने की जरूरत नहीं: सरकार

BIHAR1 week ago

UPSC में छाए बिहार के लाल, जानिए कितने बच्चों का हुआ चयन

INDIA2 days ago

सुप्रीम कोर्ट का फैसला – पिता की प्रॉपर्टी में बेटी का हर हाल में आधा हिस्सा होगा

BIHAR4 weeks ago

बिहार लॉकडाउन: इमरजेंसी हो तभी निकलें घर से बाहर, नहीं तो जब्त हो जाएगी गाड़ी

MUZAFFARPUR1 week ago

उत्तर बिहार में भीषण बिजली संकट, कांटी थर्मल पावर ठप्प

BIHAR2 weeks ago

पप्पू यादव का खतरनाक स्टंट: नियमों की धज्जियां उड़ा रेल पुल पर ट्रैक के बीच चलाई बुलेट, देखें VIDEO

MUZAFFARPUR5 days ago

बिहार के प्रमुख शक्तिपीठों में प्रशिद्ध राज-राजेश्वरी देवी मंदिर की स्थापना 1941 में हुई थी

Trending