प्रदूषण पर कविता : 'मैंने कभी चिड़िया नहीं देखी'
Connect with us
leaderboard image

TRENDING

प्रदूषण पर कविता : ‘मैंने कभी चिड़िया नहीं देखी’

Santosh Chaudhary

Published

on

मैंने कभी चिड़िया नहीं देखी

अबकी बार जो आंख की पलक का बाल टूटे
उल्टी मुठ्ठी पर रख
माँगना विश कि
तुम्हारे मोबाइल की स्क्रीन से
दो हरी पत्तियाँ आजाद होकर
किसी अनाथ ज़मीन  पर टीन  की गुमटी आबाद करे

जिसके आगे तुम एक आंख वाला पानी का दीया बालना
उसे महाआरती की कोई जरूरत नहीं है

देखना ये आग गर्भवती हो
जनेगी ढेर हरे -हरे बच्चे

फिर हरे बच्चों के स्कूल फॉर्म में
तुम पिता का नाम वाले कॉलम में “जंगल” लिखना

जैसे तुम्हारा स्पर्श भी तुम्हारा व्यक्तित्व है
वैसे ही छूना
जंगल से चिड़िया के संवाद को
जो रोज़ छोटी प्रार्थनाएं कर
ईश्वर उगाने में व्यस्त है

कई बरस-बरस बाद जब  तुम्हारा बच्चा

विज्ञान की किताब में
तितली को पकड़ने की बेचैनी जिएगा

पेड़ की कहानी सुन
हिंदी की कक्षा में रोएगा

और एक दिन
चिड़िया के चित्र में मोम कलर भरते हुए चीखेगा

मैंने कभी चिड़िया नहीं देखी
तब तुम बिना बाल काढ़े घर की चप्पलों में ही
उसे काँधे पर चढ़ा
कंकरीट के शहर से
दौड़ना इन्हीं जंगलों की ओर
क्योंकि बच्चे की इस चीख से डरावना कुछ भी नहीं

गांधारी की बंधी आंखें होकर
अपने भविष्य को चबाने से अच्छा है
हमें हरी कमीज़ें पहन लेनी चाहिए

खुद को मिट्टी की किन्हीं गहरी दरारों के बीच बोकर
अब हमें पेड़ हो जाना चाहिए

 – डॉ उषा दशोरा, जयपुर

Input : Hindustan

TRENDING

मिलिए दुनिया के सबसे अमीर गांव से, जहां हर शख्स करता है हेलीकॉप्टर से सफर

Md Sameer Hussain

Published

on

नई दिल्ली Richest Village: आज भी गांव का नाम सुनते ही कच्ची सड़कें, कच्चे-पक्के मकान, बिजली की समस्या जैसी बातें दिमाग में कौंधती हैं। ज्यादातर गांवों में आज भी इस तरह की तमाम समस्याएं हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि दुनिया में एक ऐसा भी गांव है, जहां के लोग इतने रईस हैं कि कहीं भी आने-जाने के लिए हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल करते हैं। ये जानकर आपको भले ही अटपटा लग रहा हो लेकिन हकीक़त यही है। यहां तक कि ये लोग न केवल आलीशान घरों में रहते हैं बल्कि कहीं भी आने जाने के लिए हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल करते हैं। आइए जानते हैं इस गांव के बारे में।

दुनिया के सबसे अमीर इस गांव का नाम है वाक्शी। ये चीन के जियांगसू प्रांत में स्थित है। दुनिया भर में इस गांव को ‘सुपर विलेज’ के नाम से जाना जाता है। इस गांव में लगभग 2000 लोग रहते हैं। इन लोगों की कमाई का ज़रिया खेती है। ये लोग खेती से साल भर में लगभग एक लाख यूरो यानी कि 80 लाख से ज्यादा कमाते हैं। इसके अलावा यहां के लोगों के पास आलीशान घर और चमचमाती गाड़ियां हैं। इतना ही नहीं, यहां के लोग कहीं आने-जाने के लिए हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल करते हैं।

गांव में बसने पर मिलता है विला और कार 

इस गांव में बसने वाले लोगों को अथॉरिटी की तरफ से एक कार और विला भी दिया जाता है। हालांकि अगर आप गांव छोड़ देते हैं तो फिर आपको कार और विला वापस करना होता है।

होटल जैसे दिखते हैं घर 

इस गांव के घर इतने आलीशान हैं कि बाहर से ये किसी होटल जैसे मालूम पड़ते हैं। वहीं गांव में टैक्सी और थीम पार्क भी मौजूद हैं। यहां की सड़कें भी चमचमाती हैं।

1960 में बसा था ये गांव 

आज दुनिया में बतौर अमीर गांव शुमार होने वाले इस गांव को 1960 में वू रेनबाओं के एक नेता ने बसाया था। हालांकि आज ये गांव भले ही बेहद अमीर हैं लेकिन एक वक्त ऐसा भी था, जब यहां के लोग काफी गरीब हुआ करते थे।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading

TRENDING

दीपिका पादुकोण की तारीफ करते ही ट्रोल हुआ पाकिस्तान, जल्दबाजी में ट्वीट करना पड़ा डिलीट

Santosh Chaudhary

Published

on

जवाहरलाल नेहरु यूनिवर्सिटी (जेएनयू) कैंपस में हुए वि’वाद के बाद छात्रों के समर्थन में आई फिल्म अभिनेत्री दीपिका पादुकोण को लेकर अब राजनीति शुरू हो गई है। पाकिस्तान आर्मी के प्रवक्ता आसिफ गफूर ने बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की जवाहर लाल नेहरु विश्वविद्यालय में छात्रों के खि’लाफ हिं’सा व मा’रपी’ट को लेकर धरना में हिस्सा लेने के लिए तारीफ की। हालांकि, गफूर ने जल्द ही ट्वीट डिलीट कर दिया। इस ट्वीट में दीपिका के नाम की स्पेलिंग भी गलत लिखी हुई थी जिसे लेकर यूजर्स ने उन्हें ट्रोल भी किया।

गफूर ने इस ट्वीट में दीपिका की ‘युवाओं और सच के साथ खड़े होने’ के लिए सराहना की थी। डिलीट किए हुए ट्वीट में गफूर ने लिखा था, आपको सम्मान हासिल करने के लिए मुश्किल हालात में भी खुद को बहादुर साबित करना पड़ता है। मानवता सबसे ऊपर है।

गफूर के ट्वीट डिलीट करने को लेकर पाकिस्तान की ही पत्रकार नायला इनायत ने तंज कसा। उन्होंने ट्वीट किया, शाबाश दीपिका, अब मुझे ट्वीट डिलीट करने दो और सरेंडर कर लेने दो। नायला ने गफूर के ट्वीट का स्क्रीनशॉट भी शेयर किया।

बता दें कि जवाहरलाल नेहरु यूनिवर्सिटी (जेएनयू) कैंपस में रविवार को हुई हिंसक घटना के विरोध में छात्रों की तरफ से आयोजित सभा में मंगलवार देर शाम बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण पहुंचीं थी। वह जेएनयू छात्रसंघ की अध्यक्ष आइशी घोष से भी मिलीं। हमले में आइशी के सिर में चोट आई थी। दीपिका के साथ पहुंचे सीपीआइ नेता डी. राजा, जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने छात्रों को संबोधित किया। दीपिका ने छात्रों को संबोधित नहीं किया।

 

कोई भी राय व्यक्त करने के लिए कहीं भी जा सकता है

केंद्रीय मत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि केवल कलाकार ही क्यों, कोई भी आम आदमी राय व्यक्त करने के लिए कहीं भी जा सकता है, इस पर आपत्ति नहीं हो सकती। वहीं मुख्तार अब्बास नकवी ने न्‍यूज एजेंसी एएनआई से कहा कि कि कौन कहां जाता है इसमें कोई किसी को रोक तो नहीं सकता है। यह एक लोकतांत्रिक देश है और हमें इसमें कोई आपत्ति नहीं है। कोई फिल्म की प्रमोशन के लिए जाता है और कोई फिल्म की प्रमोशन के लिए इवेंट तैयार करता है।

इनपुट  : दैनिक जागरण

Continue Reading

TRENDING

आ’ग की त’बाही झेल रहा ऑस्ट्रेलिया 10 हजार ऊंटों को मारे’गा; वजह- ये ज्यादा पानी पी रहे हैं

Santosh Chaudhary

Published

on

कैनबरा.  आ’ग की त’बाही से जू’झ रहा ऑस्ट्रेलिया अब 10 हजार ऊंटों को मा’रने जा रहा है। कारण ये ऊंट साल भर में एक टन मीथेन उत्सर्जित करते हैं, जो इतनी ही कार्बन डाईऑक्साइड के बराबर है। ऊंटों की बढ़ती जनसंख्या भी देश के लिए स’मस्या बन रही है, क्योंकि यह सूखे वाले इलाके में ज्यादा पानी पी जाते हैं। यही नहीं, यह सड़कों पर अतिरिक्त 4 लाख कारों के बराबर भी है।

स्थानीय संगठन एपीवाई का कहना है कि ऊंटों को मारे जाने का एक कारण दक्षिणी ऑस्ट्रेलिया में पानी की कमी होना भी है। स्थानीय लोगों का कहना है कि हम पानी की किल्लत की वजह से एसी का पानी भी स्टोर कर रखते हैं। ये ऊंट इस पानी को पीने आ जाते हैं। ये घर के आसपास घूमते हैं। फेंसिंग को भी नुकसान पहुंचाते हैं। बुधवार से हेलिकॉप्टर से पेशेवर शूटर ऊंटों को मारना शुरू करेंगे। ऑस्ट्रेलिया में इनकी आबादी 12 लाख से अधिक है।

जंगली ऊंट की आबादी हर 9 साल में दोगुनी हो जाती है

स्थानीय प्रशासन का दावा है कि जंगली ऊंट की आबादी हर नौ साल में दोगुनी हो जाती है। यहां वर्ष 2009 से 2013 तक भी 1.60 लाख ऊंटों को मारा गया था। इसके अलावा, रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि ऊंट ग्लोबल वार्मिंग को बढ़ा रहे हैं। ऊंट साल भर में एक टन मीथेन उत्सर्जित करते हैं, जो इतनी ही कार्बन डाईऑक्साइड के बराबर है।

दक्षिण ऑस्ट्रेलिया में सूखा 

दक्षिण ऑस्ट्रेलिया सूखे की वजह से पानी की किल्लत है। सबसे खराब हालात न्यू साउथ वेल्स में हैं। जमीन में नमी तक नहीं है। घास तक नहीं बची है। पशु भूख और पानी से मर रहे हैं। लोग शहरों की ओर रुख कर रहे हैं। यहां के 57 फीसदी हिस्से को सूखाग्रस्त घोषित किया गया है। इवांस प्लेन में स्थित बाथर्स्ट पुलिस डिपार्टमेंट का कहना है कि इस वक्त शहर में मौजूद बांध में पानी का स्तर 37% पहुंच गया है। यह बांध बनने के बाद से उसमें पानी का सबसे कम स्तर है। गर्मी की वजह से हर हफ्ते पानी का 1.1% की दर से वाष्पीकरण हो रहा है। फिलहाल बारिश के भी कोई आसार नहीं दिख रहे।

आग से अब तक 24 की मौत

ऑस्ट्रेलिया का 90 फीसदी हिस्सा जंगलों में लगी आग से प्रभावित है। अब तक 24 लोगों की मौत हो गई है और हजारों घर तबाह हो गए हैं। आग का सबसे बुरा वन जीवन पर पड़ा है। यहां अब तक 50 करोड़ से ज्यादा जानवर और जीव-जंतू मारे जा चुके हैं। इनमें ज़्यादातर कोआला और कंगारू हैं, जो कि मुख्य रूप से ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में पाए जाते हैं।

Continue Reading
Advertisement
BIHAR27 mins ago

जिला प्रशासन ने जनवरी नहीं, 19 फरवरी को बताया मानव श्रृंखला की तारीख

BIHAR2 hours ago

स्मार्ट क्लास के पेन ड्राइव में मिला पोर्न साइट का फोल्डर, स्कूल में मचा हड़कंप

INDIA2 hours ago

SBI का करोड़ों ग्राहकों को झटका! बैंक ने FD के बाद अब इस खाते पर घटाई ब्याज दरें, यहां चेक करें

MUZAFFARPUR2 hours ago

मुजफ्फरपुर में युवक की गोली मारकर हत्या, फेसबुक लाइव होकर बिहार पुलिस से मांगी थी सुरक्षा

MUZAFFARPUR5 hours ago

बच्चों ने मानव आकृति से बनाया बिहार का नक्शा

MUZAFFARPUR5 hours ago

अहियापुर में पेशकार के पुत्र की गोली मारकर हत्या, अपराधियों ने इस तरह दिया घटना को अंजाम

MUZAFFARPUR6 hours ago

मुजफ्फरपुर में जज को पत्र भेज मांगी 10 लाख की रंगदारी, लिखा- कोर्ट में घुसकर मार देंगे गोली

BIHAR13 hours ago

28 जनवरी को होगी STET की परीक्षा, आज से डाउनलोड कर लें Admit Card

BIHAR13 hours ago

ICSE, ISC Examination 2020: डेटशीट जारी, इस साल तीन फरवरी से शुरू होगी परीक्षा

BIHAR16 hours ago

मानव श्रृंखला के खिलाफ जनहित याचिका खारिज, कोर्ट ने कहा- इसमें शामिल होना अनिवार्य नहीं है

BIHAR2 weeks ago

लंबे समय बाद नए लुक में नजर आए तेज प्रताप, पत्‍नी ऐश्‍वर्या के मायके जाने के बाद कटवाए बाल

INDIA7 days ago

बिहार के लोगों ने दीपिका पादुकोन को नकारा, पटना में छपाक देखने पहुंचे मात्र तीन लोग

INDIA2 weeks ago

निर्भया के चारों दो’षियों को 22 जनवरी की सुबह दी जाएगी फां’सी, डे’थ वा’रंट जारी

MUZAFFARPUR2 weeks ago

मुजफ्फरपुर के एक साधारण किसान का पुत्र बना Air Force में Flying Officer, ग्रामीण युवाओं के सपनों को लगे पंख

MUZAFFARPUR2 weeks ago

गाय ने दो मुंह व चार आंख वाली बछिया को जन्म दिया

MUZAFFARPUR4 weeks ago

ठंड को लेकर मुजफ्फरपुर डीएम ने जिले के सभी स्कूल के लिए जारी किया आदेश

BIHAR1 week ago

BPSC Civil Services की परीक्षा देनी है तो ध्‍यान दें, अब पहले से कठिन हो जाएगा पाठ्यक्रम

BIHAR1 week ago

दुखद : वर्ष 2019 की इंटर स्टेट टाॅपर रोहिणी की दिल्ली में ट्रेन से क’ट कर मौ’त

MUZAFFARPUR5 days ago

मुजफ्फरपुर में दम्पति की ह’त्या मामला, साहेबगंज थाना इलाके से पकड़ा गया ह’त्यारा

BIHAR3 weeks ago

दरभंगा, मधुबनी, बेतिया के ऐसे नाम, जिन्होंने इस साल बड़ी उपलब्धि अपने नाम की

Trending

0Shares