Connect with us

MUZAFFARPUR

प्रधानमंत्री समेत अन्य गण्यमान्यों को लीची भेजने की परेशानी खत्म, उद्यान रत्न किसान ने की व्यवस्था

Muzaffarpur Now

Published

on

प्रधानमंत्री समेत अन्य गण्यमान्यों को भेजने के लिए शाही लीची भेजने की परेशानी कुछ हद तक कम हो गई है। शाही लीची की तलाश में जुटे प्रशासनिक तंत्र की परेशानी को समाप्त किया है उद्यान रत्न से सम्मानित इलाके के चर्चित किसान भोलानाथ झा ने। भोलानाथ झा ने अच्छी गुणवत्ता वाली शाही लीची प्रशासन को उपलब्ध कराई है।

Litchi business in the red in Lucknow after Bihar government ...

किसान श्री झा के बाग से पूर्व में भी पीएम समेत गण्यमान्यों को शाही लीची भेजी जा चुकी है। एसकेएमसीएच के पास स्थित लीची बगान में गुरुवार को आयोजित प्रेस वार्ता ने उद्यान रत्न ने इसकी जानकारी दी। हालांकि, इस दौरान उन्होंने प्रशासनिक व्यवस्था पर सवाल भी उठाए। अनुसंधान केंद्र, कृषि विभाग, उद्यान विभाग और प्रशासन को घेरा। उन्होंने कहा कि इस बार बेमौसम बारिश और लॉकडाउन के चलते लीची किसानों और कारोबारियों को भारी नुकसान उठाना पड़ा है। वैज्ञानिकों ने भी सही मार्गदर्शन नही दिया। इसके चलते देश-विदेश में मुजफ्फरपुर की पहचान बनी शाही लीची की गुणवत्ता प्रभावित हुई।

इस बार आकार छोटा और मिठास कम रही। लीची में मौजूद ग्लुकोज सूुक्रोज में नही बदल सका। इस पर शोध करने की जरूरत है। शाही लीची इस बार समय के पहले ही बिक गई। हालांकि, इसका दाम नही मिल सका। कहा कि किसानों को हुई इस क्षति का अध्ययन करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि वे पहले भी लीची टास्क फोर्स की बैठक में क्षति का सर्वे कराने की मांग कर चुके हैं।

Shahi litchi grown in Bihar's Muzaffarpur areas gets GI tag ...

उन्होंने केंद्र और बिहार सरकार से आपदा मद से किसानों की क्षति की भरपाई व बीमा की व्यवस्था कराने की भी मांग की। कहा कि किसान सालोभर लीची की देखभाल करते हैं। इस पर मोटी रकम खर्च होती है। उन्होंने कहा कि वैज्ञानिक लीची को खट्टा बताने के तीन दिन बाद ही पूरी तरह तैयार बताते है। और एक दिन में ही लीची का जीवन समाप्त हो जाता है। यह कैसा शोध है। उन्होंने वैज्ञानिकों से जलवायु परिवर्तन के मद्देनजर फसल को बचाने के लिए उपाय बताने की मांग की तो केंद्र व राज्य सरकार से एक्शन लेने की अपील की।

उन्होंने पीएम समेत अन्य गण्यमान्योंं को लीची नही भेजे जाने को लेकर प्रशासन और विभाग पर सवाल खड़े किए। कहा कि जब सारे बागों की लीची टूट गई तो सरकारी स्तर पर शाही लीची की तलाश शुरू हुई। जबकि, 28 मई को ही जब शाही लीची भेज दी जानी चाहिए थी।

Input : Dainik Jagran

MUZAFFARPUR

चुनाव पुर्व तैयारी के तहत जिलाधिकारी ने किया राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि के साथ बैठक

Muzaffarpur Now

Published

on

समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर डॉ०चंद्रशेखर सिंह ने आज जिले के विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की। राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी- सह- जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि कोरोना संकट को देखते हुए भारतीय निर्वाचन आयोग का सबसे अधिक जोर मतदान केंद्रों पर शारीरिक दूरी का अनुपालन कराने पर है। इसलिए भारतीय निर्वाचन आयोग द्वारा एक हजार से अधिक मतदाता वाले मतदान केंद्रों पर सहायक मतदान केंद्र बनाने के निर्देश दिए गए हैं।

जिला में ऐसे 1469 मतदान केंद्र हैं। डीएम ने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को जानकारी देते हुए कहा कि गायघाट विधानसभा क्षेत्र में 136, औराई विधानसभा में 125, मीनापुर में 120, बोचहां में 130 ,सकरा में 115, कुढ़नी में 149, मुजफ्फरपुर में 161, कांटी में 147 बरुराज में 110, पारू में 134 और साहेबगंज में 142 .

इस तरह कुल 1469 ऐसे मतदान केंद्र है जहां कुल निर्वाचकों की संख्या 1000 से अधिक है। जांचोपरांत इनमे से 1369 सहायक मतदान केंद्र उसी भवन /प्रीमेसेज में बनाये गए है जबकिं 100 मतदान केंद्र उनके निकट के भवन में टैग किया गया है। इसमे से 88 निकट के सरकारी बिल्डिंग में टैग किये गए हैं। जबकि शेष बचे 12 को निकट के निजी भवन में टैग करने का प्रस्ताव है।

विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों द्वारा इस पर सहमति व्यक्त की गई साथ ही उनके तरफ से कुछ सुझाव भी प्राप्त हुए। जिला उप निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि उनके द्वारा दिए गए सुझावों का आयोग के दिशा निर्देश के आलोक में निष्पादन कर और तदनुसार उस पर निर्णय लेते हुए सूची आयोग को भेज दी जाएगी। सूची विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को उपलब्ध करा दी गई है। बैठक में उप विकास आयुक्त उज्जवल कुमार सिंह, सहायक समाहर्ता खुशबू गुप्ता, अपर समाहर्ता आपदा अतुल कुमार वर्मा, जिला उप निर्वाचन पदाधिकारी संजय कुमार मिश्र , अनुमंडल पदाधिकारी पूर्वी कुंदन कुमार,अनुमंडल पदाधिकारी पश्चिमी अनिल कुमार दास,विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि एवं अन्य जिला स्तरीय पदाधिकारी उपस्थित थे।

Continue Reading

MUZAFFARPUR

जिले में आगामी विधानसभा चुनाव कि तैयारी तेज ईवीएम और वीवीपैट का दिया गया हैंड्स ऑन ट्रेनिंग

Muzaffarpur Now

Published

on

“मजबूत लोकतंत्र, सबकी भागीदारी” – ” मास्क पहनिए बूथ पर चलिए” उक्त स्लोगनों को अमलीजामा पहनाने के मद्देनजर आज समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में जिला स्तरीय स्वीप कार्ययोजना एवं स्वीप मोटो का अनावरण जिलाधिकारी डॉ० चंद्रशेखर सिंह द्वारा किया गया. जिसका उद्देश्य आगामी बिहार विधानसभा आम निर्वाचन -2020 में मतदाताओं को जागरूक करना है तथा उस दिशा में उक्त कार्य योजना के आलोक में जिला स्तरीय स्वीप कोषांग द्वारा प्रभावशाली अभियान चलाते हुए निर्वाचकों को मत देने हेतु प्रेरित करना है.

जिलाधिकारी डॉ० चंद्रशेखर सिंह ने उपस्थित पदाधिकारियों और राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा कि आने वाले दिनों में मतदाताओं को जागरूक करने हेतु सघन अभियान छेड़ा जाएगा. उक्त कार्य विभिन्न माध्यमों के जरिये किए जाएंगे. उन्होंने बताया कि इस बार चुनाव में मतदाताओं को जागरूक करने के निमित्त सोशल मीडिया की महत्वपूर्ण भूमिका होगी. उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया, प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से तथा प्रचार प्रसार के परंपरागत माध्यमों यथा- होडिंग/ फ्लेक्स , दीवाल लेखन , पोस्टर, बैनर, पेंटिंग प्रतियोगिताएं, रंगोली, मेहंदी प्रतियोगिता तथा अन्य विभिन्न माध्यमों का प्रयोग करते हुए आम निर्वाचको को प्रेरित करने की कवायद की जाएगी.

मालूम हो कि स्वीप कोषांग मुजफ्फरपुर के द्वारा इस बार मास्क पहनिए , बूथ पर चलिए अभियान का आगाज किया गया है. स्वीप कोषांग के द्वारा विभिन्न माध्यमों से किए जा रहे प्रचार- प्रसार के क्रम में सोशल डिस्टेंसिंग को न केवल मेंटेन किया जाएगा बल्कि आम निर्वाचकों से भी अपील की जाएगी कि वे मास्क पहने एवं सोशल डिस्टेंसिंग को मेंटेन करें.

आज अनावरण कार्यक्रम के बाद उपस्थित विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों, मीडिया कर्मियों और अन्य पदाधिकारियों को ईवीएम और वीवीपैट मशीन का हैंडस ऑन ट्रेनिंग/ प्रशिक्षण भी दिया गया. आज के कार्यक्रम में स्वीप कोषांग के वरीय पदाधिकारी- सह-उप विकास आयुक्त उज्जवल कुमार सिंह, सहायक समाहर्ता खुशबू गुप्ता, अपर समाहर्ता आपदा अतुल कुमार वर्मा, दोनों अनुमंडल पदाधिकारी, नोडल पदाधिकारी स्वीप कोषांग-सह- जिला जन संपर्क पदाधिकारी कमल सिंह ,सहायक नोडल अधिकारी उदय कुमार झा एवं सहयोगी पदाधिकारी डीपीओ ललिता कुमारी तथा सीडीपीओ मंजू सिंह के साथ विभिन्न कोषांगों के नोडल अधिकारी, जिला स्तरीय अधिकारी एवं विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि उपस्थित थे.

Continue Reading

MUZAFFARPUR

रामदयालुनगर से मधौल तक एनएच लेती है धैर्य की परीक्षा

Muzaffarpur Now

Published

on

मुजफ्फरपुर से हाजीपुर या पटना जाना हो या पटना हाजीपुर से उत्तर बिहार के किसी जिले में जाना हो। रामदयालुनगर से लेकर मधौल तक आपको जाम व दुर्घटना का सामना करना पड़ेगा। यह स्थिति पिछले कई वर्षों से बनी है। नगर विकास व पथ निर्माण विभाग की पहल से इस एनएच को दुरुस्त करने की पहल तो हुई, लेकिन दो साल बाद भी बात बनी नहीं है।

रामदयालुनगर से मधौल तक एनएच लेती है धैर्य की परीक्षा

रामदयालुनगर से मधौल तक एनएच इतनी जर्जर हो चुकी है कि हर दूसरे दिन बड़े वाहन भी दुर्घटनाग्रस्त हो जाते हैं। जर्जर सड़क के कारण बड़े वाहनों की धूरी व पत्ती ऐसे टूटती है, मानों ताश के पत्ते भहराते हों। एक बार एक वाहन गड्ढे में फंसा नहीं कि मुजफ्फरपुर से पटना की दूरी एक से चार घंटे तक बढ़ जाती है। रामदयालुनगर में जाम लगने से एनएच 77 से गुजरने वाले वाहनों का पहिया पूरी तरह से थम जाता है। फिर चाहे एनएच 28 से एनएच 77 पर जाने वाले वाहन हों या फिर अघोरिया बाजार से रामदयालुनगर होते हुए एनएच 77 पर पहुंचने वाले वाहन। सभी रोड में वाहनों की लम्बी कतार लग जाती है। इस कतार में गंभीर मरीजों को पटना लेकर जाने वाली एम्बुलेंस भी होती हैं और स्कूली बच्चों को घर व स्कूल पहुंचाने वाले बस भी। इसके अलावा सैकड़ों सरकारी व गैर सरकारी कर्मचारी भी इस जाम में फंसे होते हैं।

सप्ताह में तीन से चार दुर्घटना इस छोटे से दायरे में आम बात है। दुर्घटना में कई लोगों की जान भी जा चुकी है। करीब डेढ़ किलोमीटर में एनएच का यह हाल है कि गांव की सड़क भी इससे अच्छी दिखती है।

Input : Hindustan

 

Continue Reading
BIHAR8 hours ago

चुनाव आयोग का बड़ा फैसला- 65 साल से अधिक उम्र और कोविड पॉजिटिव कर सकेंगे पोस्टल बैलेट का इस्तेमाल

MUZAFFARPUR8 hours ago

चुनाव पुर्व तैयारी के तहत जिलाधिकारी ने किया राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि के साथ बैठक

MUZAFFARPUR8 hours ago

जिले में आगामी विधानसभा चुनाव कि तैयारी तेज ईवीएम और वीवीपैट का दिया गया हैंड्स ऑन ट्रेनिंग

TECH9 hours ago

सैमसंग: एक TV खरीदने पर 2 फोन फ्री, ₹15,000 का कैशबैक

BIHAR9 hours ago

पर्दे पर जल्द ही दिखेगी ज्योति की कहानी, खुद नज़र आएंगी बिहारी गर्ल

INDIA9 hours ago

क्या है स्पाइस 2000 किट, जिसे चीन से निपटने के लिए इजरायल से खरीद रहा है भारत

BIHAR11 hours ago

कुदरत ने बिहार में फिर बरपाया कहर, आकाशीय बिजली गिरने से 25 लोगों की मौत

INDIA11 hours ago

भूलकर भी आंख न उठाए चीन, भारत रूस से खरीद रहा 33 लड़ाकू विमान

BIHAR11 hours ago

साली करिश्मा की एंट्री से कन्फ्यूजन में तेजप्रताप, तेजस्वी के फैसले का विरोध जता पलटी मारी

INDIA11 hours ago

सावन के साेमवार में भगवान शिव पर जलाभिषेक के लिए घर बैठे मिल जाएगा गंगा जल

INDIA4 weeks ago

धोनी ने खरीदा स्‍वराज ट्रैक्‍टर तो आनंद महिंद्रा ने दिया बड़ा बयान, वायरल हुआ ट्वीट

BIHAR2 weeks ago

सुशांत के परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़, सदमा नहीं झेल पाईं भाभी, तोड़ा दम

BIHAR2 weeks ago

प्रिय सुशांत – एक ख़त तुम्हारे नाम, पढ़ना और सहेज कर रखना

INDIA3 weeks ago

सुशांत स‍िंह राजपूत की सुसाइड पर बोले मुकेश भट्ट, ‘मुझे पता था ऐसा होने वाला है…’

BIHAR3 weeks ago

लालू के बेटे तेजस्वी यादव की कप्तानी में खेलते हुए बदली विराट कोहली की किस्मत!

MUZAFFARPUR2 weeks ago

सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर एकता कपूर ने तोड़ी चुप्पी, कहा- मेरे खिलाफ मुकदमा करने के लिए शुक्रिया

BIHAR7 days ago

बिहार में नहीं चलेंगी सलमान खान, आलिया भट्ट, करण जौहर की फिल्में

INDIA1 week ago

सुशांत के व्हॉट्सऐप चैट आये सामने, उनको फिल्म करने में हो रही थी परेशानी

INDIA3 weeks ago

चांद पर प्लॉट खरीदने वाले पहले एक्टर थे सुशांत सिंह राजपूत!

INDIA2 weeks ago

मरने से पहले सुशांत सिंह राजपूत ने किया था ट्वीट, ‘मैं इस जिंदगी से तंग आ गया हूं, गुड बाय’

Trending