Connect with us

BIHAR

बजट राशि का 50% भी खर्च नहीं कर पाई बिहार सरकार

Santosh Chaudhary

Published

on

पटना. बिहार सरकार बजट के आकार को लेकर भले ही अपनी पीठ थपथपाए, लेकिन इसे खर्च करने में सरकार फिसड्डी साबित हो रही है. दरअसल पिछले वर्षों की तरह इस बार भी बिहार सरकार खर्च के मामले में काफी पीछे है. वित्तीय वर्ष पूरा होने को है, लेकिन सरकार जनवरी तक अपने बजट का मात्र 40.48 प्रतिशत ही खर्च कर पाई है. कई विभाग तो खर्च के मामले में दोहरे आंकड़े तक भी नहीं पहुंचा है. योजना विभाग की एक रिपोर्ट के मुताबिक राज्य के गिने-चुने विभागों को छोड़ दें तो अधिकांश विभाग खर्च के मामले में फिसड्डी हैं.

6 जनवरी 2020 तक जिन विभागों ने 20 प्रतिशत से कम राशि खर्च की है.

इसके अलावा अगर वित्त, गन्ना उद्योग, समाज कल्याण, सूचना जनसंपर्क और योजना एवं विकास विभाग को छोड़ दें तो किसी भी विभाग के खर्च का आंकड़ा 50 प्रतिशत से अधिक नहीं है.

मंत्री की सफाई

जिस विभाग के पास खर्च का लेखा जोखा रखने की जिम्मेदारी है उस विभाग के मंत्री खर्च के इस हाल पर सफाई देने में लगे हैं. योजना एवं विकास विभाग के मंत्री महेश्वर हजारी का कहना है कि अभी सभी विभागों की तरफ से जानकारी नहीं आई है, लेकिन सब विभाग खर्च को लेकर गंभीर हैं और मार्च तक विभागों को आवंटित राशि खर्च कर ली जाएगी.

विपक्ष साध रहा है निशाना

जिस हिसाब से अब तक बिहार सरकार के विभागों ने बजट की राशि खर्च की है उससे साफ जाहिर हो रहा है कि अब अंतिम के दो महीने में ही अधिकतर राशि खर्च की जाएगी यही वजह है कि विपक्ष इसको लेकर सरकार पर हमलावर है.

आरजेडी के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने कहा है कि सरकार खर्च करने में सक्षम ही नहीं है. सरकार हर बार अपने बजट के आकार को बढ़ा रही है, लेकिन जब खर्च करने का समय आता है तो ये फिसड्डी हो जाते हैं. ऐसे में जनता के भलाई के लिए जो पैसा आता है वो जमीन पर नहीं उतर पाता है.

वहीं, कांग्रसे ने भी सरकार पर निशाना साधा है कांग्रेस के प्रवक्ता राजेश राठौर ने कहा है कि सरकार अंत समय तक पैसे इसलिए खर्च नहीं करती है ताकि संगठित तौर पर मार्च लूट कर सके. इस बार भी ऐसा ही होगा जो सरकार 10 महीने में दस प्रतिशत राशि भी खर्च नहीं कर पाई है. वो सरकार आखिर दो महीने में 90 से 95 प्रतिशत राशि कैसे खर्च करेगी.

सरकार ने 2 लाख 502 करोड़ का रखा था बजट आकार

बिहार सरकार ने वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए बजट का आकार 2 लाख 501 करोड़ का रखा था और इतने बड़े बजट के लिए खुद की पीठ भी खुब थपथपाई थी. लेकिन जिस तरह से इस वित्तीय वर्ष में विभागों ने खर्च में कोताही बरती है उससे तो यही लगता है कि जो बजट का आकार सरकार ने रखा है उसे जमीन पर उतारना सरकार के लिए टेढ़ी खीर साबित होगी या फिर विपक्ष जिस मार्च लूट की बात कह रहा है वही देखने को मिलेगा.

Input : News18

 

BIHAR

फोन कर माफी मांग रहा नेपाल, भारतीयों को पीटने वाले पुलिस के दो जवान हटाए गए

Ravi Pratap

Published

on

नेपाली पुलिस के जवानों द्वारा बेकसूरों पर बर्बरतापूर्ण कार्रवाई को लेकर सीमा क्षेत्र में तनाव बरकरार है। इस बीच एपीएफ की पिटाई से जख्मी बसतपुर निवासी फेकन पंडित का पुत्र महेश पंडित (19) सदर अस्पताल से छूटकर घर लौट आया। उधर, एसएसबी के साथ पुलिस व प्रशासन सीमा क्षेत्र में लगातार चौकान्ना हैं। पदाधिकारियों ने स्वजनों से कहा कि नेपाल एसपी ने कई बार मोबाइल के जरिए घटना पर दुख जाहिर किया है।

साथ ही घटना में शामिल दो पुलिस पर कार्रवाई करते हुए वहां से ड्यूटी से हटा दिया है। फिलहाल, घटना को लेकर थाने में कोई आवेदन नहीं दिया है। घटना को लेकर पिछले तीन दिनों से सोनबरसा बॉर्डर पर दोनों देशों की आवजाही पर पूरी तरह रोक है। जिसके कारण सड़कों पर सन्नाटा छाया हुआ है। कारोबार पर इसका असर दिख रहा है। हालांकि, दोनों देश में लॉकडाउन लगा हुआ है। वावजूद कुछ लोग चोरी-छीपे रोजमर्रा के समान खरीदारी करने आते थे। लेकिन, घटना के बाद पूरी तरह बॉर्डर सील है।

जख्मी युवक से बीडीओ-सीओ ने की मुलाकात

सोनबरसा बॉर्डर पर मंगलवार को नेपाल के एपीएफ पुलिस द्वारा बर्बरता पूर्वक पिटाई से जख्मी बसतपुर गांव फेकन पंडित के 19 वर्षीय पुत्र महेश पंडित को दो दिनों तक चले इलाज के बाद स्वस्थ होकर घर लौट गए । गुरुवार की शाम अपने स्वजनों के साथ लौटे महेश पंडित ने बीडीओ ओमप्रकाश एवं सीओ अशोक कुमार से मुलाकात की। जख्मी को स्वस्थ देखकर पदाधिकारियों ने भी खुशी जाहिर की। उन्होंने कुछ दिनों तक उन्हें आराम करने की सलाह दी।

लोगों की पुलिस वालों ने कर दी थी पिटाई

बताते चलें कि मंगलवार को बेवजह एपीएफ की पुलिस ने नो मैंस लैंड के रास्ते से मिट्टी की बर्तन बेचने जा रहे युवक की बेरहमी से पिटाई कर दी थी। यहीं नहीं शाम में उसी स्थान पर टहलने निकले लोगों की पिटाई कर दी। जिससे ग्रामीण आक्रोशित हो गए। ग्रामीणों ने बताया बार-बार एपीएफ के जवान भारतीय नागरिकों पर जुल्म ढाल रहे। मारपीट करते रहते हैं। ऐसे में दोनों देश का संबंध बिगड़ रहा है। सरकार को नेपाल सरकार से बात करके इस समस्या से निदान कराने की जरूरत है। अन्यथा भविष्य में घटना के दोहराए जाने की आशंका है। दो महीने में दूसरी घटना है। और अबतक कोई कार्रवाई नहीं होने से एपीएफ का हौसला सातवें आसमान पर है।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading

BIHAR

बिहार पुलिस में निकली बंपर वैकेंसी, दारोगा व सार्जेंट नियुक्ति के लिए आवेदन 16 अगस्त से

Ravi Pratap

Published

on

बिहार पुलिस में सब-इंस्पेक्टर पदों पर भर्ती की तैयारी कर रहे युवाओं के लिए खुशखबरी। बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग (बीपीएसएससी) ने बिहार सरकार के गृह विभाग (आरक्षी शाखा) के अंतर्गत वर्ष 2020 में 1998 पुलिस अवर निरीक्षक (Police Sub Inspector) और 215 प्रारक्ष अवर निरीक्षक (परिचारी) के रिक्त पदों पर संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा के आधार पर नियुक्ति के लिए विज्ञापन और नोटिफिकेशन दोनो जारी कर दिया है।

बीपीएसएससी द्वारा बिहार पुलिस सब-इंस्पेक्टर भर्ती 2020 से सम्बन्धित आज जारी विज्ञापन के अनुसार इन पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया 16 अगस्त 2020 से आरंभ होगी और उम्मीदवार आयोग की ऑफिशियल वेबसाइट, bpssc.bih.nic.in पर जाकर आवेदन कर पाएंगे। बीपीएसएससी बिहार पुलिस सब-इंस्पेक्टर भर्ती 2020 के लिए ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 24 सितंबर 2020 निर्धारित की गयी है।

कौन कर सकता है आवेदन?

बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग द्वारा जारी पुलिस अवर निरीक्षक और प्रारक्ष अवर निरीक्षक (परिचारी) के पदों के लिए वे ही उम्मीदवार आवेदन के पात्र हैं जिन्होंने किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक परीक्षा या बिहार राज्य सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त उसके समकक्ष परीक्षा उत्तीर्ण की हो। साथ ही, आवेदन के इच्छुक पुरुष उम्मीदवारों की आयु 1 जनवरी 2020 को न्यूनतम 20 वर्ष और अधिकतम 37 वर्ष होनी चाहिए। हालांकि, महिला उम्मीदवारों के लिए न्यूनतम आयु सीमा 20 वर्ष और अधिकतम 40 वर्ष निर्धारित की गयी है। वहीं, आरक्षित वर्गों के उम्मीदवारों के लिए अधिकतम आयु सीमा में सरकार के नियमानुसार छूट का भी प्रावधान किया गया है। अधिक जानकारी के लिए उपर दिये गये भर्ती विज्ञापन लिंक पर जाएं।

Input : Jagran

Continue Reading

BIHAR

गांव की गलियों में खेलने वाला बिहार का लाल आकाशदीप अब खेलेगा IPL

Ravi Pratap

Published

on

कहते हैं कि सफलता सुविधा की मोहताज नहीं होती. कुछ ऐसा ही कर दिखाया है सासाराम (Sasaram) के 24 वर्षीय आकाशदीप ने. सासाराम के बड्डी गांव के रहने वाले आकाशदीप  (Aakashdeep) का चयन आईपीएल में हुआ है. वे राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) की तरफ से खेलेंगे. अपने गांव की गलियों, पगडंडियों, स्कूल के मैदान तथा खेतों में क्रिकेट खेलकर आकाशदीप में यह मुकाम हासिल किया है. 145 किलोमीटर की स्पीड से बॉल फेंकने वाले तेज गेंदबाज आकाशदीप को फिलहाल राजस्थान रॉयल्स ने 15 लाख में खरीदा है. आकाशदीप तेज गेंदबाज हैं तथा खुद के आईपीएल में चयन होने पर काफी खुश हैं.

बता दें कि इस बार का आईपीएल 19 सितंबर से दुबई में होने जा रहा है. जिसके लिए सोमवार को आकाशदीप अपनी टीम के साथ दुबई के लिए निकल जाएंगे. पिछले कई दिनों से वे डिहरी के जमुहार स्थित नारायण मेडिकल कॉलेज परिसर में बने क्रिकेट कोट पर ही प्रैक्टिस कर रहे हैं. उनका कहना है कि लगन और मेहनत से इस मुकाम तक पहुंचे हैं. अगर सबका सहयोग रहा तो उन्हें और बेहतर करने का अवसर मिलेगा.

अपने चयन पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए आकाशदीप ने बताया कि ग्रामीण परिवेश में क्रिकेट खेल कर वह यहां तक पहुंचे हैं. अगर अपनों का साथ और आशीर्वाद रहा तो वह मुकाम को जरूर हासिल करेंगे. वह कहते हैं कि सफलता का एक ही रास्ता है ‘कठिन परिश्रम’. इसके अलावा कोई इसका शॉर्टकट नहीं होता. गांव में भी जब क्रिकेट खेलता था तब भी पूरी तन्मयता से खेलता था. आज भी वे प्रैक्टिस करते हैं तो अपना हंड्रेड पर्सेंट परफॉर्मेंस देने की कोशिश करते हैं. यही कारण है कि चयनकर्ताओं ने उन्हें आईपीएल में सेलेक्ट किया है.

आकाशदीप पिछले कई महीनों से डिहरी के जमुहार स्थित नारायण मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल परिसर में बने क्रिकेट कोर्ट पर ही प्रैक्टिस कर रहे हैं. कॉलेज प्रशासन ने उन्हें तमाम तरह की सुविधाएं उपलब्ध कराई हैं. बिहार क्रिकेट एसोसिएशन से जुड़े त्रिविक्रम नारायण सिंह ने बताया कि आकाशदीप काफी होनहार हैं तथा इनके चयन से पूरे रोहतास जिला ही नहीं बिहार का मान-सम्मान बढ़ा है. वे उनके उज्जवल भविष्य की कामना करते हैं.

Input : News 18

Continue Reading
BIHAR14 mins ago

फोन कर माफी मांग रहा नेपाल, भारतीयों को पीटने वाले पुलिस के दो जवान हटाए गए

BIHAR28 mins ago

बिहार पुलिस में निकली बंपर वैकेंसी, दारोगा व सार्जेंट नियुक्ति के लिए आवेदन 16 अगस्त से

BIHAR49 mins ago

गांव की गलियों में खेलने वाला बिहार का लाल आकाशदीप अब खेलेगा IPL

MUZAFFARPUR2 hours ago

अखाड़ाघाट : कोचिंग संचालक से विवाद होने के बाद नदी में कूदी छात्रा

INDIA2 hours ago

गैंगरेप के आरोपियों को मिली फांसी की सजा, दुल्हन की तरह सजा पुलिस स्टेशन

BIHAR3 hours ago

बिहार में सामने आए कोरोना के 3911 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 98 हजार के पार

BOLLYWOOD3 hours ago

‘बिग बॉस 14’ के सेट से सामने आई सलमान खान की पहली तस्वीर, हो रही है वायरल

HEALTH3 hours ago

चीन से आई चौंकाने वाली खबर, चिकन में भी कोरोना वायरस!

INDIA4 hours ago

अमित शाह की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट आई नेगेटिव, कहा- कुछ और दिनों तक होम आइसोलेशन में रहूंगा

BOLLYWOOD4 hours ago

सुशांत सिंह राजपूत के बीमार होने पर भी पार्टी करती थीं रिया चक्रवर्ती, ड्राइवर ने खोले कई राज?

BIHAR1 week ago

भोजपुरी एक्ट्रेस अनुपमा पाठक ने की खुदकुशी, मरने से पहले किया फेसबुक लाइव

INDIA3 days ago

बाइक पर पत्नी के अलावा अन्य को बैठाया तो कार्रवाई: हाई कोर्ट

INDIA3 weeks ago

वाहनों में अतिरिक्त टायर या स्टेपनी रखने की जरूरत नहीं: सरकार

INDIA3 days ago

सुप्रीम कोर्ट का फैसला – पिता की प्रॉपर्टी में बेटी का हर हाल में आधा हिस्सा होगा

BIHAR1 week ago

UPSC में छाए बिहार के लाल, जानिए कितने बच्चों का हुआ चयन

BIHAR4 weeks ago

बिहार लॉकडाउन: इमरजेंसी हो तभी निकलें घर से बाहर, नहीं तो जब्त हो जाएगी गाड़ी

MUZAFFARPUR1 week ago

उत्तर बिहार में भीषण बिजली संकट, कांटी थर्मल पावर ठप्प

BIHAR2 weeks ago

पप्पू यादव का खतरनाक स्टंट: नियमों की धज्जियां उड़ा रेल पुल पर ट्रैक के बीच चलाई बुलेट, देखें VIDEO

BIHAR5 days ago

IPS विनय तिवारी शामिल हो सकते है, सुशांत केस की CBI जांच टीम में…

MUZAFFARPUR7 days ago

बिहार के प्रमुख शक्तिपीठों में प्रशिद्ध राज-राजेश्वरी देवी मंदिर की स्थापना 1941 में हुई थी

Trending