Connect with us
leaderboard image

BIHAR

बिहार सरकार का बड़ा फैसला, 31 मार्च तक बंद रहेंगे स्कूल-कॉलेज, Zoo सिनेमा हॉल

Muzaffarpur Now

Published

on

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कोरोना वायरस को लेकर अपने आवास पर आज उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक की। बैठक के बाद मुख्य सचिव दीपक कुमार ने बड़ी घोषणा की जिसमें उन्होंने कहा कि बिहार सरकार ने कोरोना वायरस को लेकर एहतियातन बड़ा फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि राज्य के सभी स्कूल-कॉलेज, कोचिंग इंस्टीच्यूट, सभी सिनेमा हॉल, जू-पार्क सभी 31 मार्च तक बंद रहेंगे। लेकिन सीबीएसई की परीक्षाएं जारी रहेंगी। वहीं सरकारी कर्मी भी अल्टरनेट तरीके से इस दौरान दफ्तर आएंगे।

नहीं मनाया जाएगा बिहार दिवस, मिड डे मील की राशि मिलेगी

मुख्य सचिव दीपक कुमार ने कहा कि कोरोना को देखते हुए बिहार दिवस जो कि 22 मार्च को आयोजित था वो भी नहीं मनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि बिहार दिवस के आयोजन को लेकर नई तारीख का एेलान बाद में किया जाएगा। मुख्य सचिव ने कहा कि बिहार के सभी आंगनबाड़ी केंद्र बंद रहेंगे। स्कूल बंद रहने के दौरान मिड डे मील की राशि बच्चों के परिजनों के खाते में डाल दिए जाएंगे।

राज्य में किसी तरह का सरकारी आयोजन नहीं होगा

इस दौरान राज्य में किसी भी तरह का कल्चरल आयोजन नहीं किया जाएगा। वहीं सभी स्वास्थ्य विभाग कर्मियों की सभी छुट्टियां रद कर दी गई हैं। पटना के पीएमसीएच के सभी डॉक्टरों की छुट्टियां रद कर दी गई हैं। म्यूजियम बंद रहेंगे। जनता के लिए दिशा निर्देश भी जारी किए जाएंगे।

सीएम नीतीश कुमार ने की थी हाई लेवल मीटिंग, लिया गया निर्णय

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई इस हाई लेवल मीटिंग में उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, प्रदेश के स्वास्थ्यमंत्री मंगल पांडेय सहित कई उच्चाधिकारी शामिल थे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार में कोरोना से बचाव के लिए किए जा रहे उपायों की जानकारी ली। इसके साथ ही इसे लेकर क्या कदम उठाए जाने चाहिए, इसकी भी चर्चा की गई।

बिहार में अबतक कोरोना वायरस के किसी मरीज की पुष्टि नहीं

बता दें कि बिहार में अब तक 60 से अधिक संदिग्धों की जांच हुई है, लेकिन किसी में भी मरीज में कोरोना के पॉजिटिव लक्षण नहीं मिले हैं। वहीं, बिहार के बॉर्डर इलाकों के साथ ही बोधगया में विशेष नजर रखी जा रही है। क्योंकि वहां विदेशी पर्यटक ज्यादा आते हैं।

कर्नाटक मे एक वृद्ध की हुई है कोरोना से मौत

वहीं, भारत के कर्नाटक के कलबुर्गी में कोरोना वायरस से एक व्यक्ति की मौत की पुष्टि भी हुई है। मृतक की उम्र 76 साल बताई जा रही है। मृतक सऊदी अरब से भारत लौटा था। वहीं भारत में भी कोरोना के मरीजों की संख्या भी लगातार बढ़ती जा रही है और ये आंकड़ा बढ़कर 75 हो गया है।

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कोरोना को घोषित किया महामारी

कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए एक ओर जहां उत्तरप्रदेश की योगी सरकार ने कोरोना को महामारी घोषित कर दिया है तो वहीं दिल्ली में स्कूल-कॉलेज और सिनेमा हॉल को बंद कर दिया गया है। इसके साथ ही बिहार सरकार भी इसे लेकर अलर्ट है।  स्वास्थ्य विभाग ने कहा है कि हम ऐसी किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं।

बिहार के स्वास्थ्यमंत्री ने कहा-डरने की जरूरत नहीं है

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा है कि उच्च स्तरीय बैठकों के जरिए लगातार हम हालात की समीक्षा कर रहे हैं और अधिकारियों को निर्देशित भी किया जा रहा है। अंतरराष्ट्रीय सीमा और एयरपोर्ट पर विशेष चौकसी बरती जा रही है। उन्होंने कहा कि लोगों को इससे ज्यादा डरने की जरूरत नहीं है, इसे लेकर एहतियात बरतने की जरूरत है।

Input : Dainik Jagran

BIHAR

बिहार: मस्जिद से अस्पताल लाए गए धर्मगुरु कर रहे हैं गंदी हरकत, डॉक्टर-नर्स हैं परेशान

Muzaffarpur Now

Published

on

नालंदा । शेखपुरा के अहियापुर मस्जिद में मिले चार धर्म प्रचारकों की बेजा हरकतों से पावापुरी मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर व स्वास्थ्य कर्मी परेशान हो गए हैं। गुरुवार की रात में इन चारों को यहां आईसोलेशन सेंटर में लाया गया है, तबसे ये लोग हर आने-जाने वाले डॉक्टर व स्वास्थ्यकर्मी को गाली दे रहे हैं। उनसे खाने-पीने की आपत्तिजनक चीजें मांग रहे हैं। ये चारों 21 मार्च के पहले दिल्ली से लौटे हैं, परन्तु खुद को निजामुद्दीन तब्लीगी जमात से अलग बता रहे हैं।

बिहार: मस्जिद से अस्पताल लाए गए धर्मगुरु कर रहे हैं गंदी हरकत, डॉक्टर-नर्स हैं परेशान

शेखपुरा पुलिस इनकी हकीकत पता लगा रही है। इधर, खुद को स्कॉलर बताने वाले इन चार धर्म प्रचारकों के दुर्व्यवहार से रात भर में ही डॉक्टर व स्वास्थ्य कर्मी परेशान हो गए हैं। आज इनका सैम्पल कलेक्ट करके कोरोना संक्रमण की जांच के लिए पटना भेजा जाना है। विम्स के आईसोलेशन सेंटर के नोडल डॉक्टर पुरुषोत्तम ने कहा कि अगर ये लोग इसी तरह असहयोग करते रहे तो सैम्पल लेना भी सम्भव नहीं हो सकेगा। उन्होंने बताया कि इन लोगों की गंदी हरकत से अस्पताल के डॉक्टर और नर्स परेशान हैं।

डॉक्टर पुरुषोत्तम ने बताया कि बहुत मुश्किल से मस्जिद से निकाले गये चारों धर्म प्रचारकों में से एक का सैम्पल जांच के लिए लिया जा सका है और उसे पटना भेजा गया है। इस व्यक्ति को 102 डिग्री बुखार और सर्दी-खांसी है। शेष तीनों में कोरोना संक्रमण के प्रारंभिक लक्षण अभी तक नहीं मिले हैं।

गुरुवार को पुलिस ने मस्जिद से निकाल धर्मगुरुओं को कराया था भर्ती

गुरुवार को शेखपुरा नगर परिषद क्षेत्र के अहियापुर मोहल्ले के मस्जिद में रह रहे 4 धर्म प्रचारकों को पुलिस ने वहां से कोरन्टीन सेंटर बरबीघा अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया है और एक संदिग्ध कोरोनावायरस की संभावना पर सैंपल लेकर जांच के लिए पटना भेज दिया गया है।

हालांकि सोशल मीडिया पर तबलीगी जमात से चारों के जुड़े होने की अफवाह तेजी से दोपहर में फैली परंतु जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने इस अफवाह को फर्जी करार देते हुए इस पर रोक लगा दी ।

इस संबंध में जिलाधिकारी इनायत खान ने बताया कि मोहल्ले के लोगों ने से मिली सूचना में मस्जिद में चार लोगों के रहने की सूचना मिली जिसके बाद पुलिस के द्वारा सभी चारों को वहां से मेडिकल टीम के साथ लाया गया और चारों लोगों को बरबीघा रेफरल अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है।

उधर पुलिस अधीक्षक दयाशंकर ने बताया कि मस्जिद में 4 धर्म प्रचारक नालंदा नवादा इत्यादि जगहों से धर्म प्रचार करते हुए यहां रह रहे थे 21 मार्च से यह लोग यहीं रह रहे थे और स्थानीय लोगों की सूचना पर सभी को यहां से निकालकर आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। 4 लोगों में से एक बेगूसराय का रहने वाला है जबकि दो दरभंगा जिला का और एक उत्तर प्रदेश के लखनऊ का रहने वाला है।

सभी लोग दिल्ली से यहां आए हैं परंतु तबलीगी जमात निजामुद्दीन से संबंध नहीं है उन्होंने बताया कि इंटेलिजेंस ब्यूरो से मिली सूची में बिहार में 86 लोगों के तबलीगी जमात से आने की सूचना दी गई है। उनमें से इन चारों का नाम नहीं है। उधर इस संबंध में रेफरल अस्पताल बरबीघा के प्रशासनिक पदाधिकारी ने बताया कि चारों लोगों की जांच की गई है । सभी को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है ।

Input : Dainik Jagran

fight-against-covid-19-by-muzaffarpur-now

Continue Reading

BIHAR

PM मोदी की जनता से दीआ जलाने की अपील को RLSP नेता उपेंद्र कुशवाहा ने बताया बकवास

Santosh Chaudhary

Published

on

रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनता के नाम संदेश खत्म होते ही ट्वीट कर उनके संबोधन को बकवास बता दिया है। कुशवाहा ने कहा है कि रात में दीप और टॉर्च जलाने की बातें बकवास है। इससे कोरोना को क्या लेना देना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इसकी जगह पर चिकित्सकों को सुविधा देने और देश में नए जांच केंद्र खोलने की बात करनी चाहिए थी। उन्हें अस्पतालों में इमरजेंसी सुविधाएं बढ़ाने पर भी ध्यान देना चाहिए। टॉर्च जलाने और दीप जलाने से ना तो लोगों में जागरूकता आएगी और ना ही कोरोना को भगाने का यह कोई तरीका है।

वहीं आरजेडी नेता शिवानंद तिवारी ने पीएम मोदी के आज के भाषण को काफी निराशाजनक बताया और कहा कि पीएम मोदी को शब्दों का आडंबर रचने में महारथ हासिल है। उन्होंने यह भी कहा कि पीएम मोदी के पास गरीबों के लिए कोई योजना नहीं है।

शिवानंद तिवारी ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा,’ प्रधानमंत्री जी के भाषण ने बहुत निराश किया। इस भाषण में ठोस कुछ भी नहीं था। शब्दों का आडंबर रचने में हमारे प्रधानमंत्री जी को महारत हासिल है। आज के भाषण में प्रधानमंत्री जी ने उसी का प्रदर्शन किया। कहा जा सकता है कि देश ने आज प्रधानमंत्री जी का भाषण नहीं बल्कि उनका प्रलाप सुना। इस भाषण से स्पष्ट हो गया कि प्रधानमंत्री जी के पास इतनी बड़ी विपत्ति से लड़ने की न तो कोई दृष्टि है और न कोई योजना।’

पीएम मोदी की अपील

देशवासियों के लिए जारी वीडियो संदेश में पीएम मोदी ने कहा ‘इस रविवार यानी 5 अप्रैल को हम सबको मिलकर कोरोना के संकट के अंधकार को चुनौती देनी है। उसे प्रकाश की ताकत का परिचय कराना है। इस पांच अप्रैल को हमें 130 करोड़ देशवासियों की महाशक्ति का जागरण करना है। 130 करोड़ लोगों के महासंकल्प को नई ऊंचाइयों पर ले जाना है। 5 अप्रैल को रात नौ बजे आप सबके नौ मिनट चाहता हूं। पांच अप्रैल को रविवार को रात नौ बजे, घर की सभी लाइटें बंद करके, घर के दरवाजे या बालकनी में खड़े रहकर नौ मिनट तक मोमबत्ती, दीया या टॉर्च या मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाएं। उन्होंने आगे कहा कि और उस समय यदि घर की सभी लाइटें बंद करेंगे तो चारो तरफ जब हर व्यक्ति एक-एक दीया जलाएगा तब प्रकाश की उस महाशक्ति का ऐहसास होगा, जिसमें एक ही मकसद से हम सब लड़ रहे हैं, ये उजागर होगा।’

Input : Hindustan

fight-against-covid-19-by-muzaffarpur-now

Continue Reading

BIHAR

कोरोना संदिग्धों की स्क्रीनिंग के आदेश के बाद दरभंगा के डीएम को गो’ली मा’रने की ध’मकी, ईनाम की घोषणा

Ravi Pratap

Published

on

बिहार के दरभंगा जिले के जिलाधिकारी ड़ॉक्टर त्यागराजन एस एम को फेसबुक पर गो’ली मा’रने की ध’मकी दी गई है तथा गो’ली मा’रने वाले को दो लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की गई है। दरभंगा जिलाधिकारी के आधिकारिक फेसबुक पेज पर गुरुवार को जिलाधिकारी ने राज्य के बाहर से आये व्यक्तियों की नगर में स्क्रीनिंग करने की बात कहते हुए लिखा था, “राज्य के बाहर से आये व्यक्तियों की शुक्रवार को नगर में स्क्रीनिंग की जायेगी।” जिलाधिकारी ने देशहित में लोंगो को जांच हेतु आगे आने की अपील की थी।

fight-against-covid-19-by-muzaffarpur-now

जिलाधिकारी दरभंगा के आधिकारिक पेज पर लिखा है, “कोरोना वायरस बीमारी को फैलने से रोकने हेतु संक्रमित संदिग्ध व्यक्तियों की पहचान कर उनकी जांच की कार्रवाई करने हेतु आज (गुरुवार) नगर आयुक्त एवं वार्ड पार्षदों के साथ एक बैठक किया गया।”

आगे लिखा गया कि, “इस बैठक में राज्य के बाहर से यहां आकर रह रहे लोंगो की मेडिकल टीम के द्वारा कल (शुक्रवार) स्क्रीनिंग कराने का निर्णय लिया गया। पूरे जिला में संदिग्ध लोगो की तेजी से जाच की जा रही है।” इस पोस्ट के बाद कमेंट में कई लोगों ने डीएम के इस पहल की सराहना और स्वागत किया लेकिन एक व्यक्ति इसे आहत नजर आया।

मोहम्मद फैसल नाम के इस व्यक्ति ने जवाब देते हुए जिलाधिकारी को गोली मारने की धमकी दी। फैसल ने लिखा, “दरभंगा के डीएम को गोली मारने वाले को मै दो लाख रुपये दूंगा।” इस संबंध में जिलाधिकारी से बात करने की कोशिश की गई लेकिन संपर्क नहीं हो सका। हालांकि पुलिस सूत्रों के अनुसार, मामले की छानबीन की जा रही है।

Input : India News

fight-against-covid-19-by-muzaffarpur-now

Continue Reading
INDIA18 mins ago

बद्रीनाथ में बर्फबारी, इस बार डिजिटल दर्शन संभव

BIHAR12 hours ago

बिहार: मस्जिद से अस्पताल लाए गए धर्मगुरु कर रहे हैं गंदी हरकत, डॉक्टर-नर्स हैं परेशान

INDIA12 hours ago

लॉकडाउन : पुलिस कॉन्स्टेबल की बेटी का मार्मिक पत्र वायरल, आप भी सुनें बच्ची की जुबानी

TRENDING13 hours ago

लॉकडाउन में हुआ जुड़वा बच्चों का जन्म, नाम रखा कोविड व कोरोना

BIHAR14 hours ago

PM मोदी की जनता से दीआ जलाने की अपील को RLSP नेता उपेंद्र कुशवाहा ने बताया बकवास

INDIA15 hours ago

देश में दो दिनों में तब्‍लीगी जमात से संबंधित 647 मामलों में Covid-19 की पुष्टि: स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय

INDIA17 hours ago

बड़ी खबर-18 अप्रैल तक भारत में आ सकती है 5 मिनट में कोरोनो की जांच करने वाली किट

INDIA17 hours ago

भारत नहीं, कोरोना संकट में इस देश के लोग कर चुके हैं बालकनी से लाइटिंग

BIHAR18 hours ago

कोरोना संदिग्धों की स्क्रीनिंग के आदेश के बाद दरभंगा के डीएम को गो’ली मा’रने की ध’मकी, ईनाम की घोषणा

BIHAR19 hours ago

PM मोदी के प्रकाश संकल्प पर लालू के लाल की एडवाइस, आप लालटेन भी जला सकते हैं

BIHAR1 week ago

स्पाइसजेट का सरकार को प्रस्ताव, दिल्ली-मुंबई से बिहार के मजदूरों को ‘घर’ पहुंचाने के लिए हम तैयार

cheating-on-first-day-of-haryana-board-exam
INDIA4 weeks ago

बिहार तो बेवजह बदनाम है… हरियाणा बोर्ड परीक्षा में शिखर पर नकल

INDIA2 weeks ago

PM मोदी को पटना के बेटे ने दिए 100 करोड़ रुपये, कहा – और देंगे, थाली भी बजाई

INDIA1 week ago

पूरी हुई जनता की डिमांड, कल से दोबारा देख सकेंगे रामानंद सागर की ‘रामायण’

BIHAR3 weeks ago

जूली को लाने सात समंदर पार पहुंचे लवगुरु मटुकनाथ, बोले- जल्द ही होंगे साथ

BIHAR2 weeks ago

बिहार में 81 एक्सप्रेस और 32 पैसेंजर ट्रेनें दो सप्ताह के लिए रद्द, देखें लिस्ट

INDIA5 days ago

Lockdown के दौरान युवक ने फोन करके कहा 4 समोसे भिजवा दो, डीएम ने भिजवाए 4 समोसे और साफ कराई नाली

BIHAR1 week ago

अब नहीं सचेत हुए बिहार वाले तो, अपनों की लाशें उठाने को रहें तैयार

INDIA4 days ago

COVID-19 के बीच सलमान खान के भतीजे की मौत, परिवार में शोक की लहर

BIHAR1 week ago

लॉकडाउन के बाद पैदल जयपुर से बिहार के लिए निकले 14 मजदूर, भूखे-प्यासे तीन दिन में जयपुर से आगरा पहुंचे

Trending