बस तीन डॉक्यूमेंट देकर मिल जाएंगे खेती के लिए 3 लाख रुपये, ये है पूरा प्रोसेस
Connect with us
leaderboard image

Uncategorized

बस तीन डॉक्यूमेंट देकर मिल जाएंगे खेती के लिए 3 लाख रुपये, ये है पूरा प्रोसेस

Santosh Chaudhary

Published

on

केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा है कि किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) के लिए सिर्फ तीन डॉक्यूमेंट ही लिए जाएंगे. पहला यह कि जो व्यक्ति अप्लीकेशन दे रहा है वो किसान है या नहीं. इसके लिए बैंक उसके खेती के कागजात देखें और उसकी कॉपी लें. दूसरा निवास प्रमाण पत्र और तीसरा आवेदक का शपथ पत्र कि उसका किसी और बैंक में लोन बकाया नहीं है. सरकार ने बैंकिंग एसोसिएशन से कहा है कि केसीसी आवेदन के लिए कोई फीस न ली जाए.

न्यूज18 हिंदी से बातचीत में शेखावत ने कहा, हम कोशिश कर रहे हैं कि किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) की कवरेज बढ़ जाए. अभी यह लगभग 50 फीसदी किसानों के पास ही है. देश में 14 करोड़ किसान परिवार हैं, जिसमें से सात करोड़ के पास ही किसान क्रेडिट कार्ड है. ऐसा इसलिए है क्योंकि इसे बनवाने के लिए किसानों को जटिल प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है.

 farmer, किसान, kisan, kcc, केसीसी, Kisan Credit Card, किसान क्रेडिट कार्ड, बैंक, bank, नरेंद्र मोदी, pradhanmantri kisan samman nidhi, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम, narendra modi,बीजेपी, BJP, Aadhaar, आधार, 2019 लोकसभा चुनाव, lok sabha elections 2019, farmers welfare, former income, किसानों की आय, किसान कल्याण, गोरखपुर, gorakhpur, Agriculture, कृषि, kcc, केसीसी, kisan credit card, किसान क्रेडिट कार्ड, interview of central agriculture minister gajendra singh shekhawat,

शेखावत ने बताया कि राज्य सरकारों और बैंकों को कहा गया है कि वो पंचायतों के सहयोग से गांवों में कैंप लगाकर किसान क्रेडिट कार्ड बनवाएं. मोदी सरकार ने केसीसी को सिर्फ खेती तक सीमित नहीं रखा है. इसे हमने पशुपालन और मछलीपालन के लिए भी खोल दिया है. इन दोनों श्रेणियों में अधिकतम दो लाख रुपये तक मिलेंगे जबकि फार्मिंग के लिए तीन लाख रुपये तक मिलते हैं.

उधर, सरकार ने बताया है कि पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम  (पीएम-किसान) की दूसरी किस्त एक अप्रैल से जारी की जाएगी. योजना को मंजूरी देते समय दूसरी किस्‍त के लिए आधार को अनिवार्य बनाया गया था. जबकि अब इसमें ढील दे दी गई है. कृषि मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक नामों की वर्तनी में अंतर से बड़े पैमाने पर लाभार्थियों के नाम रद्द हो जाएंगे. लाभार्थियों के आधार ब्‍यौरे को प्रमाणित करने के कारण दूसरी किस्‍त को जारी करने में विलंब होगा.

 farmer, किसान, kisan, kcc, केसीसी, Kisan Credit Card, किसान क्रेडिट कार्ड, बैंक, bank, नरेंद्र मोदी, pradhanmantri kisan samman nidhi, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम, narendra modi,बीजेपी, BJP, Aadhaar, आधार, 2019 लोकसभा चुनाव, lok sabha elections 2019, farmers welfare, former income, किसानों की आय, किसान कल्याण, गोरखपुर, gorakhpur, Agriculture, कृषि, kcc, केसीसी, kisan credit card, किसान क्रेडिट कार्ड, interview of central agriculture minister gajendra singh shekhawat,

दूसरी किस्‍त को जारी करने की तारीख 01 अप्रैल, 2019 है. देर होने से किसानों में असंतोष बढ़ेगा, इसलिए आधार के शर्त में ढील दी गई है. यह शर्त तीसरी किस्‍त जारी करने के लिए मान्‍य होगी. दूसरी किस्‍त के लिए केवल आधार संख्‍या को ही अनिवार्य माना जाएगा. भुगतान से पहले सरकार आंकड़ों को प्रमाणित करने के लिए पर्याप्‍त कदम उठाएगी.

एग्रीकल्चर लोन

अगर आपके पास खेती करने के लिए ज़मीन है तो अपनी जमीन को बिना गिरवी रखे बिना लोन ले सकते हैं. इसकी सीमा एक लाख रुपये है. एक लाख रुपये से ज्यादा के लोन पर जमीन गिरवी रखने के साथ-साथ गारंटर भी देना होगा. आपको बता दें कि आरबीआई ने बिना गारंटी वाले कृषि लोन की सीमा बढ़ाकर 1.60 लाख  रुपये कर दी है. लेकिन बैंक में इसे लागू करने में अभी वक्त लेगा. इसके लिए नोटिफिकेशन जारी होगा. आपको बता दें कि लोन के लिए अब सभी बैंक किसान क्रेडिट कार्ड जारी करते है.

Digita Media, Social Media, Advertisement, Bihar, Muzaffarpur

सवाल:अगर मेरे पास एक हेक्टेयर जमीन है तो मुझे कितना लोन मिलेगा?
जवाब:
 उत्तर प्रदेश के जिले अमरोहा में स्थित प्रथमा बैंक के ब्रांच मैनेजर अंकुर त्यागी ने बताया कि 1 हेक्टेयर जमीन पर 2 लाख रुपये तक का लोन मिल सकता है. लोन की लिमिट हर बैंक की अलग-अलग होती है. बैंक आपको इसके लिए किसान क्रेडिट कार्ड जारी करेगा. जिसके जरिए आप कभी भी पैसा निकाल सकते है.

लोन के लिए दो सबसे महत्वपूर्ण डॉक्युमेंट खसरा और खतौनी होती है. यानी राजस्व रिकॉर्ड, जिससे पता चलेगा कि आप किसान हैं. खसरा खतौनी पटवारी बनाता है. इसमें खेती की जमीन की डिटेल होती है. मतलब साफ है कि उस जमीन पर अभी क्या हो रहा है और वह खेती के लिए कितनी उपयोगी है या फिर वह आबादी के बीच में तो नहीं है.

Input : News18

Uncategorized

फर्जीवाड़ा : चीफ टीटीआई ने एक ही पास पर 99 बार कराया रिजर्वेशन

Ravi Pratap

Published

on

सोनपुर रेल मंडल में रिजर्वेशन में एक बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है। मुजफ्फरपुर जंक्शन पर तैनात चीफ टीटी (सीटीटीआई) रंजीत कुमार सिंह ने अपने व्यक्तिगत पास पर 99 बार टिकट कटवाया है। सीसीटीआई के इस कारगुजारी का खुलासा हो गया है। उसने 1,24,275 रुपये का टिकट अपने पास पर कटाया है।

 

पूर्व-मध्य रेल मुख्यालय हाजीपुर ने जांचकर मुजफ्फरपुर के सीटीटीआई के कारनामे का पूरा दस्तावेज सोनपुर रेल मंडल के डीआरएम, सीनियर डीसीएम, डीसीएम और सभी वरीय अधिकारी को सौंप दिया है। जीएम कार्यालय हाजीपुर ने अपनी आंतरिक जांच में सीटीटीआई के पास संख्या 670729 की पूरी कुंडली सोनपुर डीसीएम को सौंपी है।

आंतरिक जांच रिपोर्ट में इस पास से जितनी बार रिजर्वेशन कराया गया है उसकी तिथि, कहां से टिकट निर्गत किया गया है, किस टिकट क्लर्क ने टिकट काटा, उसकी विस्तृत रिपोर्ट है।

रिजर्वेशन के फर्जीवाड़े के खुलासे के बाद सोनपुर रेल मंडल में खलबली मची हुई है। मंडल ने इस फर्जीवाड़े को गंभीरता से लेते हुए जांच बैठा दिया है। डीसीएम सीएस आजाद स्नेही ने सेक्शन डीसीआई से 11 बिंदुओं पर फर्जीवाड़े की रिपोर्ट मांगी है।

जीएम कार्यालय से मामले की जांच कर सोनपुर मंडल को रिपोर्ट सौंपी गई है। इसमें सभी तथ्यों की जानकारी दी गई है कि सीटीटीआई ने अपने पास पर कहां से, कहां तक और कब-कब टिकट कटाया। मामला गंभीर है। मुख्यालय के आदेश पर जांच की जा रही है। इस फर्जीवाड़े के सिंडिकेट में जो भी शामिल होंगे उनपर कार्रवाई की जाएगी। -सीएस आजाद स्नेही, डीसीएम, सोनपुर मंडल

Input : Live Hindustan

Continue Reading

Uncategorized

राज्यसभा के मार्शल दिखे नये यूनिफार्म में, 250वें सत्र से मार्शल की ड्रेस में हुआ बदलाव

Ravi Pratap

Published

on

राज्यसभा के 250वें सत्र के प्रारंभ होने पर सोमवार को आसन का नजारा कुछ बदला सा लग रहा था। यह बदलाव आसन की सहायता के लिए मौजूद रहने वाले मार्शलों की एकदम नयी वेषभूषा के कारण महसूस हुआ।

आम तौर पर उच्च सदन की बैठक आसन की मदद करने वाले कलगीदार पगड़ी पहने किसी मार्शल के सदन में आकर यह पुकार लगाने से शुरू होती है कि ‘‘माननीय सदस्यों, माननीय सभापति जी।’’ किंतु सोमवार को इन मार्शलों के सिर पर पगड़ी की बजाय नीले रंग की ‘‘पी-कैप’’ थी। साथ ही उन्होंने नीले रंग की आधुनिक सुरक्षाकर्मियों वाली वर्दी धारण कर रखी थी।

राज्यसभा सचिवालय के सूत्रों ने बताया कि इस बारे में किए गए उच्चस्तरीय फैसले के बाद मार्शल के लिये जारी ड्रेस कोड के तहत सदन में तैनात मार्शलों को कलगी वाली सफेद पगड़ी और पारंपरिक औपनिवेशिक परिधान की जगह अब गहरे नीले रंग की वर्दी और कैप पहननी होगी। राज्यसभा सचिवालय के सूत्रों के अनुसार पिछले कई दशकों से चल रहे इस ड्रेस कोड में बदलाव की मांग मार्शलों ने ही की थी।

उल्लेखनीय है कि सभापति सहित अन्य पीठासीन अधिकारियों की सहायता के लिये लगभग आधा दर्जन मार्शल तैनात होते हैं। एक अधिकारी ने बताया कि मार्शलों ने उनके ड्रेस कोड में बदलाव कर ऐसा परिधान शामिल करने की मांग की थी जो पहनने में सुगम और आधुनिक ‘लुक’ वाली हो। इनकी मांग पर को स्वीकार कर राज्य सचिवालय और सुरक्षा अधिकारियों ने नयी ड्रेस को डिजायन करने के लिये कई दौर बैठकें कर नये परिधान को अंतिम रूप दिया।

Input : Republic

Continue Reading

Uncategorized

चार्ज लेते एक्शन में दिखे एसएसपी जयंतकांत; क्रा’इम कंट्रोल को लेकर थानाध्यक्षों को चेताया

Abhay Raj

Published

on

sssp-jayant-kant

मुज़फ्फरपुर एसएसपी जयंतकांत चार्ज लेते एक्शन में दिखे। एसएसपी कार्यालय में आयोजित क्रा’इम मीटिंग में एसएसपी ने जिले के थानाध्यक्षों को हि’दायत दी है कि जिसके इलाके में लू’ट व छि’नतई की घ’टना होगी,वहाँ के थानाध्यक्ष नपेंगे।

sssp-jayant-kant

sssp-jayant-kant

एसएसपी ने अपने कार्यालय में क्राइम मीटिंग के दौरान थानाध्यक्षों को बढ़ते क्राइम को लेकर फटकार लगाई।उन्होंने साफ साफ थानाध्यक्षों को कहा है कि जिस थाना क्षेत्र में क्राइम होगा वहाँ के थानाध्यक्ष पर गाज गिरेगी। इसके अलावा एसएसपी ने शहरी व ग्रामीणों थानाध्यक्ष को गस्ती और वाहन चेकिंग अभियान में तेजी लाने का निर्देश दिया।

 

एसएसपी ने क्राइम मीटिंग में सभी थानाध्यक्षों को क्राइम कंट्रोल को लेकर टास्क दिया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि जल्द ही क्राइम कण्ट्रोल में सुधार दिखेगा।

Continue Reading
Advertisement
BIHAR1 hour ago

पटना : जेपी सेतु पर भारी वाहनों का प्रवेश चालू, कोइलवर पुल वनवे, आज से चालू होगा पीपा पुल

BIHAR2 hours ago

बिहार : AK- 47 के बाद अब मिला बं’दूकों का जखीरा, रि’वाल्‍वर-रा’इफल समेत 29 डबल बैरल ग’न जब्‍त

pollution-in-bihar
BIHAR2 hours ago

दिल्ली-लखनऊ से भी जहरीली हुई पटना-मुजफ्फरपुर की हवा, कम कर रही उम्र के 7.7 साल

BIHAR2 hours ago

बिहार : प्रेगनेंट महिला से नर्स बोली- बाहर जाओ, अभी नहीं होगा प्रसव; खुले आसमान तले दिया बच्‍चे को जन्‍म

BIHAR3 hours ago

18 प्रश्नों पर कैंडिडेट्स ने जताई थी आपत्ति, BPSC रद कर सकता है 10 प्रश्न, जानिए

MUZAFFARPUR4 hours ago

मुजफ्फरपुर : इंटरमीडिएट परीक्षा के लिए केंद्रों की सूची जारी

MUZAFFARPUR4 hours ago

मिठनपुरा में माइक्रो फाइनेंस कंपनी के दफ्तर से लू’ट, फा’यरिंग

MUZAFFARPUR13 hours ago

मनियारी थाना अध्यक्ष ने जब्त की लाखों की शराब

BIHAR16 hours ago

5 साल के बच्चे को इस IAS ऑफिसर ने बना दिया ‘कमिश्नर’!

INDIA16 hours ago

जम्मू कश्मीर को लेकर है मन में है कोई कन्फ्यूजन तो जानें ये 10 बातें

MUZAFFARPUR5 days ago

मुजफ्फरपुर का थानेदार नामी गुं’डा के साथ मनाता है जन्मदिन! केक काटते हुए सोशल मीडिया पर तस्वीर वायरल…खाक होगा क्रा’इम कंट्रोल?

INDIA5 days ago

आ गया ‘मिर्ज़ापुर 2’ का टीजर, पंकज त्रिपाठी ने इंस्टाग्राम पर किया शेयर

BIHAR4 weeks ago

27 अक्टूबर से पटना से पहली बार 57 फ्लाइट, दिल्ली के लिए 25, ट्रेनों की संख्या से भी दाेगुनी

tharki-proffesor
MUZAFFARPUR6 days ago

खुलासा: कोचिंग आने वाली हर छात्रा को आजमाता था मुजफ्फरपुर का ‘पा’पी प्रोफेसर’, भेजा गया जे’ल

BIHAR3 weeks ago

पंकज त्रिपाठी ने माता पिता के साथ मनाई प्री दिवाली, एक ही दिन में वापस शूटिंग पर लौटे

JOBS4 days ago

भर्ती : 12वीं पास के लिए CISF में नौकरी, 300 जीडी हेड कांस्टेबल पदों के लिए करें आवेदन

BIHAR3 days ago

जिसकी मौ’त में 23 लोग जेल में, वह जिंदा लौटा

MUZAFFARPUR4 days ago

कुंवारी मां बनी कटरा की पी’ड़िता से दु’ष्क’र्म का आ’रोपी माैलवी गि’रफ्तार

BIHAR2 days ago

तो क्या बंद हो जाएगा ‘कौन बनेगा करोड़पति’, पटना HC में शो पर रोक के लिए दर्ज हुई है याचिका

BIHAR3 weeks ago

मदीना पर आस्‍था तो छठी मइया पर भी यकीन, 20 साल से व्रत कर रही ये मुस्लिम महिला

Trending

0Shares