महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव के जलाभिषेक के लिए शहर के सभी शिवालयों में सोमवार को श्रद्धालुओं का जनसैलाब उमड़ पड़ा। सुबह 4 बजे से ही श्रद्धालु पहुंचते रहे। रात तक जलाभिषेक का दौड़ चलता रहा। इस दौरान मंदिरों में मुंडन समेत कई संस्कार भी कराए गए। रात्रि में पूजा-अर्चना के बाद भगवान शिव का महाशृंगार किया गया। शिव के भजन-नचारी व जयकारे से मंदिर समेत पूरा शहर गुंजायमान होता रहा। सुबह से रात तक करीब 50 हजार श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक किया। बाबा गरीबनाथ मंदिर का पट सुबह 4 बजे खुलने के बाद विधि-विधान से मंदिर प्रशासन की आेर से पूजा के साथ अभिषेक किया गया। इसके बाद 4:30 बजे से रात्रि 11 बजे तक जलाभिषेक के लिए मंदिर में श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। मंदिर में बाबा गरीबनाथ को मौरी पहनाकर मां पार्वती के साथ विवाह संपन्न हुआ। इसके बाद रात 11:30 बजे विभिन्न फलों व रंग-बिरंगे पुष्पों से बाबा का मनमोहक शृंगार किया गया। वहीं, रात्रि आरती व महाशृंगार में डीएम समेत कई अधिकारी व हजारों श्रद्धालु शामिल हुए। मंदिर के प्रधान पुजारी पं. विनय पाठक ने विधि विधान से पूजा कराई। महाशिवरात्रि शोभा यात्रा के संयोजक केदारनाथ प्रसाद, अध्यक्ष सूरज पोद्दार व पूर्व सांसद अनिल सहनी आदि शामिल थे।

Pic by Akash Choudhary

छाता बाजार तक तैनात रहे सेवा दलों के 500 सदस्य 

बाबा गरीबनाथ मंदिर से छाता बाजार तक तैनात आधा दर्जन सेवा दलों के 500 सदस्यों ने श्रद्धालुओं की जलाभिषेक में मदद की। महाकाल सेवा दल के सचिव आकाश चौधरी, ओम सेवा दल के सचिव पारस प्रसाद, नव संचेतन के सचिव पंकज कुमार, बाला जी परिवार के अध्यक्ष अमरेंद्र कुमार, रुद्र सेवा दल के सचिव नीरज कुमार व समर्पण के सचिव विशाल गोस्वामी आदि के नेतृत्व में स्वयंसेवकों ने श्रद्धालुओं की मदद की।

Source : garibnathdham.in

मुक्ति नाथ मंदिर : रथ पर विराजमान प्रतिमा

रामदयालु स्थित मुक्ति नाथ मंदिर से भगवान शिव की शाेभा यात्रा निकाली गई। इसमें दर्जनों देवी-देवताओं की प्रतिमा रथ पर विराजमान थी। शोभायात्रा शहर के विभिन्न मार्गों से भ्रमण करते हुए पुन: मंदिर परिसर में आकर समाप्त हुई। मंदिर के पुजारी ने भगवान शिव की पूजा-अर्चना की। मौके पर सैकड़ों श्रद्धालु शामिल थे।

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी विवि की ओर से आध्यात्मिक कार्यक्रम

आमगोला स्थित प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विवि के सुख-शांति भवन में महाशिवरात्रि के अवसर पर सोमवार को आध्यात्मिक कार्यक्रम आयोजित हुआ। ब्रह्माकुमारी विवि की जोनल इंचार्ज बीके रानी दीदी ने कहा कि एक परमात्मा ज्योति स्वरूप है। उन्हें ही सत्यम, शिवम और सुंदरम कहा गया है। आत्मा सत, रज, तम गुण में आती है। परमात्मा सदाशिव है। शिवहर की सांसद रमा देवी ने कहा कि मनुष्य का जीवन हमें मिला है इसलिए अच्छे से अच्छा कर्म करने की जरूरत है। सांसद अनिल सहनी ने कहा कि भारत पूरे विश्व को शांति का संदेश देता है। रेडक्रॉस सोसाइटी के सचिव ने कहा कि शिव बाबा की कृपा से ही सभी को सुख-शांति मिलती है। आयोजन में डॉ. संजय पंकज, बीके पद्मा बहन, डॉ. मोती सिन्हा, डॉ. इतिश्री, डॉ. रंजू झा, डॉ. रविशंकर, प्रो. डाॅ. राजनारायण राय एवं एचएल गुप्ता आदि शामिल थे।

कालीबाड़ी वैष्णो मंदिर से निकला बाइक जुलूस

कालीबाड़ी रोड स्थित मां वैष्णो मंदिर से मोटरसाइकिल जुलूस निकाला गया। इसके पूर्व बाबा का विधि-विधान से महारुद्राभिषेक व शृंगार किया गया। इस अवसर पर सुनील ठाकुर, जय किशोर गुप्ता, चतुर्भुज पंडित, शशि रंजन वर्मा के अलावा मुख्य पुरोहित चुन्नू प्रकाश पांडे, धर्मेंद्र आदि शामिल थे।

इन शिवालयों में भी दिनभर होता रहा जलाभिषेक

दाउदपुर कोठी स्थित शिव मंदिर में महाशृंगार किया गया। मुख्य यजमान जीवनेश्वर प्रसाद सिंह थे। आचार्य प्रभात मिश्र, पं. संतोष मिश्र भारद्वाज, पं. शत्रुघ्न तिवारी व रमेश र|ाकर ने पूजा कराई। कैलाशनाथ ठाकुर, मुकेश कुमार, अवधेश सिंह, अर्जुन कुमार, राजीव सिन्हा, नीरज कुमार, अनिल सिंह, अशोक सिंह आदि शामिल थे। चंदवारा के उमेश्वरनाथ शिव मंदिर महावीर पीठ में महाशृंगार व अभिषेक के बाद शिव-पार्वती का विवाह कराया गया। आयोजक उमेश साह, मंदिर के पुजारी गौरीशंकर मिश्रा, नारायण मिश्रा, आचार्य अशोक कुमार आदि उपस्थित थे। मिठनपुरा के मिस्कॉट कॉलोनी स्थित शिव मंदिर, पुरानी बाजार, चुनेश्वर नाथ-सरैयागंज, मनोकामना महादेव-रेवा रोड, भगवानपुर, नीलकंठ महादेव, बाबा अजगैबीनाथ-सिकंदरपुर, बाबा शक्तिनाथ-गोशाला रोड, छोटी काशी न्यू पुलिस लाइन, महादेव मठ गोला रोड, महाकालेश्वर केदारनाथ रोड, बाबा गौरेश्वर नाथ माखन साह चौक, सत्यनारायण मंदिर, चतुर्भुजनाथ, शिवशक्ति सन्नी धाम पहाड़पुर, जय जगदीश हरे मंदिर अंडी गोला, आनंदपुर बीबीगंज, आजाद कॉलोनी समेत सभी शिव मंदिरों में दिनभर जलाभिषेक के साथ पूजा-अर्चना होती रही।

बाबा शक्तिनाथ मंदिर में हुआ शिव जागरण

शेरपुर स्थित बाबा शक्ति नाथ मंदिर में महारुद्राभिषेक के बाद जलाभिषेक शुरू हुआ। शाम में बाबा का महाशृंगार कर भोग लगाया गया। उसके बाद शिव जागरण हुआ। इस दौरान मंदिर के संरक्षक नरेश प्रसाद, राजेश सिन्हा, मुकेश कुमार, राजेश रंजन, मुकुल कुमार, ई. संजय कर्ण, मनीष कुमार, अमित कुमार, दिलीप कुमार, वीरेंद्र कुमार, धीरेंद्र, अमर प्रकाश, सुनील कुमार, सीमा कुमार आदि शामिल थे।

Input : Dainik Bhaskar

Total 0 Votes
0

Tell us how can we improve this post?

+ = Verify Human or Spambot ?