Connect with us

BIHAR

बिहार के राजगीर में होगा चीन जैसा शीशे का पुल, सैर करके ऐसा लगेगा जैसे आसमान में चल रहे हों

Published

on

ourism in Bihar: फेसबुक और यूट्यूब समेत इंटरनेट मीडिया पर आपने ऊंची पर्वत चोटियों के बीच गहरी खाई के ऊपर से गुजरता शीशे का पुल देखा होगा। और यह भी संभव है कि इसे देखते हुए आपके मन में भी हसरत जगी होगी। अगर हां, तो आपकी हसरत पूरी हो सकती है। वह भी अपने ही राज्‍य बिहार में। ज्‍यादा दूर जाने की जरूरत भी नहीं। बिहारशरीफ जिले के राजगीर में पहाड़ि‍यों के बीच शीशे का पुल बनाया जा रहा है। वास्‍तव में यह पुल नहीं बल्कि शीशे का बना एक किस्‍म का छज्‍जा है, जिसपर खड़े होकर आप ठीक नीचे सैकड़ों फीट नीचे गहरी खाई को निहार सकेंगे। इसपर चलते हुए आपको ऐसा लगेगा जैसे कि आप आकाश में चल रहे हों। यह अनुभव बेहद रोमांचकारी है। कई लोग इसपर चलते हुए डर भी जाते हैं।

Image

बिहार में पर्यटकों के लिए पसंदीदा स्‍पॉट है राजगीर

राजगीर (Rajgir) में वैसे तो एक से बढ़कर एक खूबसूरत पर्यटन स्थल हैं। यहां की पांच पहाड़ि‍यों (Five mountains) में से किसी पर्वत के शिखर पर खड़े होकर वादियों को निहारने का अलग ही अनुभव है। चेयर रोप-वे (Chair Roap-way) से रत्नागिरी (Ratnagiri) पर स्थित विश्व शांति स्तूप (Vishwa Shanti Stoop) जाने के रास्ते में पर्यटकों को गहरी घाटी के उपर हवा में लटके होने का अहसास होता है। जल्द ही ऐसा ही एक रोमांच राजगीर के पर्यटन में जुड़ने जा रहा है। नेचर सफारी में ग्लास स्काई वॉक ब्रिज (Glass Sky Walk Bridge) का निर्माण लगभग पूरा हो चुका है। 85 फीट लंबा तथा 5 फीट चौड़ा यह ब्रिज वैभारगिरि की दो चोटी के बीच गहरी खाई के उपर बनाया गया है। यह खाई लगभग 250 फुट गहरी है। जबकि दोनों पर्वत शिखर के बीच की दूरी लगभग 5 सौ मीटर है। अब इस स्काई वॉक पर पर्यटक हवा में स्थिर होकर वादियों को काफी करीब से निहार सकेंगे।

एक साथ 20 से 25 लोग कर सकेंगे चहलकदमी

इस स्काई वॉक पर एक साथ 25 से 30 लोग चहलकदमी कर सकेंगे। इसके फर्श में मजबूत पारदर्शी शीशा लगाया गया है। जिस पर अगर कोई खड़ा हो जाए तो ऐसा महसूस होगा कि वह सीधे घाटियों में जा गिरेगा। यह पर्यटकों को अलग ही रोमांच का अनुभव कराएगा। 2022 में नेचर सफारी को पर्यटकों के लिए खोलने का लक्ष्य रखकर काम किया जा रहा है।

Image

जिन लोगों को ऊंचाई पर जाने से लगता डर, उनके लिए मनाही

बता दें कि ऐसा ग्लास स्काई वॉक विश्व में सबसे पहले चीन के हेबई प्रांत में एस्ट तैहांग में बनाया गया था, जबकि देश में पहला ग्लास स्काई वॉक सिक्किम राज्य के पेलिंग में स्थित है। अब राजगीर नेचर सफारी में निर्मित यह ग्लास स्काई वॉक देश का दूसरा तथा बिहार का पहला स्काई वॉक होगा। हालांकि, जिन लोगों को ऊंचाई से डर लगता है, उन्हें ग्लास स्काई वॉक करने की अनुमति नहीं होगी।

लॉकर बेल्ट में बंधकर पर्यटक जिप लाइन का ले सकेंगे रोमांच

वैभारगिरी पर्वत श्रृंखला के बीच एक जिप लाइन भी बनाई जाएगी। जिसमें लोहे की रस्सी पर लॉकर बेल्ट से बंधे पर्यटक हवा की सैर करते हुए 250 फुट गहरी घाटियों और खाई के उपर इस पर्वतीय श्रृंखला को आर-पार करेंगे। जिप लाइन सका काम अभी प्रगति पर है।

नेचर सफारी में कर सकेंगे बिहार दर्शन

राजगीर में वाईल्ड लाईफ जू सफारी के सटे नेचर सफारी का काम जोर-शोर से जारी है। अगर जू सफारी में खुले में विचरते शेर, बाघ, भालू आदि जानवर वाईल्ड लाइफ फोटोग्राफर तथा एडवेंचर पसंद लोगों के आकर्षण का केन्द्र होगा, तो वहीं नेचर सफारी प्राकृतिक ²श्यों के बीच एडवेंचर स्पॉट बनेगा। नेचर सफारी में बिहार दर्शन का स्पॉट बन रहा है। जहां सूबे के सभी जिलों से संबंधित प्रतीक व ऐतिहासिक तथ्य दर्शाए जाएंगे। सभी प्रतीक पहाड़ की तलहटी के पत्थरों पर उकेरे जा रहे हैं।

झोपडिय़ां व देसी नस्ल की तितलियां खींचेंगी ध्यान

परिसर में मड हट यानी मिट्टी की झोपड़ी, ट्री हट यानी पेड़ों पर झोपड़ी, वुडेन हट यानी लकडिय़ों के कॉटेज भी बनाए जा रहे हैं। जिसमें तय शुल्क देकर पर्यटक ठहर सकेंगे। इसके अलावा ग्रास लैंड यानी घास का मैदान व मेडिसिनल यानी औषधीय गार्डेन भी होगा। जहां लोग तरह-तरह के औषधीय पौधे देख सकेंगे। नेचर सफारी में तितलियों की एवियरी भी होगी। जहां नालंदा में पाई जाने वाली तितलियों की प्रजातियां रखी जाएंगी। वैसे वाईल्ड लाइफ जू सफारी में भी तितलियों की एवियरी बनाई जा रही है। वहां देश-विदेश की अधिकांश तितलियों की प्रजातियां होंगी।

गया जाने वाले जेठियन मार्ग पर है नेचर सफारी

यह नेचर सफारी जरासंध अखाड़ा से गया जिला स्थित जेठियन जाने वाले मार्ग के बीच है। राजगीर स्थित जरासंध अखाड़ा से दूरी लगभग 6 किलोमीटर है। यह सफारी उसी मार्ग पर आकार ले रहा है, जिस रास्ते से कभी भगवान बुद्ध ज्ञान प्राप्ति के पहले और बाद में गया से पैदल राजगीर आए थे। नेचर सफारी का निर्माण लगभग 20 करोड़ की लागत से किया जा रहा है। 2022 तक इसे पर्यटकों के लिए खोल दिया जाएगा।

फील्ड तीरंदाजी व ट्रैक‍िंग कर सकेंगे पर्यटक

नेचर सफारी में पर्यटक आर्चरी यानी फील्ड तीरंदाजी कर सकेंगे। यह अलग-अलग और अक्सर बिना किसी तय दूरी के निशाना लगाया जाने वाला रोमांचक खेल है। वहीं लक्ष्य पर निशाना लगाना यानी टारगेट आर्चरी की व्यवस्था भी होगी। यह एक ओलंपिक खेल है, जो दुनिया भर के 160 से ज्‍यादा देशों में लोकप्रिय है। पर्वतारोहण के शौकीन पर्यटकों के लिए ट्रैकिंग की भी व्यवस्था की जा रही है।

ग्लास ब्रिज पर चढ़ने को उमड़ने लगी भीड़ तो कराई बैरिकेड‍िंग

नेचर सफारी में निर्माणाधीन स्काई वॉक ग्लास ब्रिज की 15 दिसंबर को दैनिक जागरण में प्रमुखता से खबर प्रकाशित होने के बाद यह खबर सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गई। इसके बाद पर्यटकों की भारी भीड़ अभी से ही नेचर सफारी पहुंचने लगी है, जबकि ग्लास ब्रिज का निर्माण अभी पूरा नहीं किया जा सका है। ब्रिज पर चढऩे के लिए सीढिय़ां, इसके फाउंडेशन के चारों ओर रेलिंग का काम जारी है। फिर भी लोग खतरा मोल लेकर इस पर चढ़ना चाह रहे हैं। इस पर गंभीर होते हुए राजगीर वनक्षेत्र पदाधिकारी अमृतधारी सिंह ने गुरुवार को ग्लास ब्रिज के चारों ओर बैरिकेडिंग करा दी। लोगों की सुरक्षा को लेकर ब्रिज पर चढऩे तथा आसपास न फटकने से संबंधित बोर्ड लगा दिया गया है। ताकि कार्य प्रगति में कोई बाधा न पहुंचे।

Source : Dainik Jagran

rama-hardware-muzaffarpur

BIHAR

बिहार में 7 अगस्त से खुलेंगे स्कूल-कोचिंग संस्थान, सरकार ने लिया निर्णय

Published

on

बिहार में अनलॉक-5 को लेकर क्राइसिस मैनजमेंट ग्रुप की बैठक खत्म हो गयी. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में हुई आपदा प्रबंधन की बैठक में कई निर्णय लिए गए.

Continue Reading

BIHAR

वीडियो : सांप काटने से अचेत था एक साल का मासूम, अस्पताल में मोबाइल फ्लैश की रोशनी में हुआ इलाज

Published

on

सहरसा. बिहार में एक बार फिर से स्वास्थ्य महकमे की सच्चाई को उजागर करती शर्मनाक तस्वीर सामने आई है. मामला सहरसा से जुड़ा है जहां सदर अस्पताल की लापरवाही दिखी है वो भी ऐसी लापरवाही जिससे एक मासूम मरीज की जान भी जा सकती थी. अस्पताल में सांप काटने के बाद इलाज के लिए पहुंचे एक साल के छोटे बच्चे का इलाज मोबाइल फ्लैश की रोशनी में करना पड़ा. छोटे बच्चे को सांप काटने के बाद जब परिजन भागे-भागे सदर अस्पताल पहुंचे तो उसे इमरजेंसी वार्ड में इलाज के लिये लाया गया.

बच्चे को इलाज के लिए तो इमरजेंसी में भर्ती ले लिया गया लेकिन इस दौरान अस्पताल में बिजली नही थी और ना ही जेनरेटर चलाया गया. खास बात तो यह है कि जेनरेटर में डीजल ही नहीं था. लाईन कटने के बाद संविदा पर जेनरेटर कर्मी तेल लाने गया तब तक तकरीबन 45 मिनट तक बच्चे का इलाज मोबाइल के टोर्च की रोशनी के सहारे किया गया लेकिन इस दौरान प्रशासन 45 मिनट तक मुकदर्शक बना रहा.

इस दौरान मोबाईल टोर्च की रोशनी पर बच्चे का इलाज चलता रहा फिर 45 मिनट तक इलाज के बाद जेनरेटर में तेल डालने के लिए कर्मचारी पहुंचा. बच्चे का इलाज कर रहे डॉक्टर की मानें तो बच्चे की हालत सांप काटने से गंभीर थी और उसका इलाज करना जरूरी था इस कारण उन्होंने बिना वक्त गंवाए ही मोबाइल की रोशनी में इलाज शुरू कर दिया.

ऐसे में सवाल यह है कि क्या सदर अस्पताल में टॉर्च की रोशनी में इलाज करना कितना सही है. क्या बिजली गुल होने के बाद जेनरेटर के लिये डीजल लाने जाना कितना उचित है. क्या ऑपरेशन के दौरान बिजली गुल होने के बाद भी टॉरच की रोशनी में ऑपरेशन किया जाता. मामले की जानकारी जब न्यूज 18 के माध्यम से बड़े अधिकारियों तक पहुंची तो सिविल सर्जन अवधेश प्रसाद जांच के लिए सदर अस्पताल पहुंचे. उन्होंने सदर अस्पताल में अनुबंध पर जेनरेटर चला रहे संवेदक से स्पष्टीकरण मांगा है साथ ही संवेदक को काली सूची में डालने डालने की कही बात. उन्होंने इमरजेंसी में आज ही शाम पांच बजे तक इन्वर्टर लगाने का आदेश दिया है.

Source : News18

Continue Reading

BIHAR

पटना के नए बस स्‍टैंड में एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं, एसी वीआइपी लाउंज में करें इंतजार; फ्री मिलेगा इंटरनेट

Published

on

बिहार की राजधानी पटना में नवनिर्मित पाटलिपुत्र आइएसबीटी बस स्टैंड को एयरपोर्ट की तर्ज पर विकसित किया जा रहा है। मुख्य भवन के फर्श पर ग्लेज्ड टाइल्स लगा इसे एयरपोर्ट का लुक दिया जा रहा है। एयरपोर्ट की तर्ज पर ही यहां लगातार साफ-सफाई की जा रही है। अब इसे एयरपोर्ट की तर्ज पर विकसित करने के लिए यहां के मुख्य भवन में ही दूसरे तल्ले पर अत्याधुनिक सुख-सुविधाओं से लैस वीआइपी लाउंज का निर्माण किया जा रहा है। लाउंज की फर्श बनकर तैयार है। शीघ्र ही यहां सारी अत्याधुनिक सुविधाएं मुहैया करा दी जाएंगी।

पूरी तरह वातानुकूलित, फ्री में मिलेगा इंटरनेट

आधिकारिक सूत्रों की मानें तो नवनिर्मित पाटलिपुत्र बस स्टैंड पर वीआइपी यात्रियों के लिए एयरपोर्ट की तर्ज पर वीआइपी लाउंज विकसित किया जा रहा है। वीआइपी लाउंज लगभग बनकर तैयार हो चुका है। इस लाउंज में लक्जरी सोफा, लक्जरी सेंटर टेबल के साथ ही इसे पूरी तरह वातानुकूलित बनाया जाएगा। वर्तमान परिवेश में इंटरनेट की सुविधा अनिवार्य हो चुकी है। इस लाउंज में बस का इंतजार करने वाले यात्रियों के लिए मुफ्त हाई स्पीड वाईफाई की सुविधा मुहैया कराया जाएगा। यात्रियों को आधे घंटे तक यह सुविधा मुफ्त मिलेगी, इसके बाद के समय के लिए उन्हें भुगतान करना होगा।

40 से 50 लोगों के बैठने की सुविधा

इस लाउंज में 40 से 50 लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई है। लाउंज में अत्याधुनिक सुविधाओं वाला शौचालय भी बनाया जा रहा है। लाउज की साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। प्रबंधन की ओर से अभी यह निर्धारित नहीं किया गया है कि यहां आने वालों से कितना शुल्क लिया जाएगा या यात्रियों को कोई शुल्क नहीं देना होगा। इस लाउंज में आकर यात्री अपने बस का इंतजार कर सकते हैं। यहां विमान व ट्रेनों की तरह बसों की सूचनाएं भी प्रसारित करने की सुविधा होगी, ताकि यात्रियों को उनकी बसों की जानकारी मिलती रहे।

Source : Dainik Jagran

Continue Reading
TECH2 hours ago

यू-ट्यूब दे रहा हर महीने 7 लाख रुपये से ज्‍यादा कमाई करने का मौका

BIHAR4 hours ago

बिहार में 7 अगस्त से खुलेंगे स्कूल-कोचिंग संस्थान, सरकार ने लिया निर्णय

DHARM5 hours ago

राम भक्तों के लिए बड़ी खबर, दिसंबर 2023 से कर सकेंगे राम लला के दर्शन

BIHAR9 hours ago

वीडियो : सांप काटने से अचेत था एक साल का मासूम, अस्पताल में मोबाइल फ्लैश की रोशनी में हुआ इलाज

BIHAR10 hours ago

पटना के नए बस स्‍टैंड में एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं, एसी वीआइपी लाउंज में करें इंतजार; फ्री मिलेगा इंटरनेट

BIHAR10 hours ago

बिहार पंचायत चुनाव: वोट के लिए नोट लुटाया तो जायेगी उम्मीदवारी

MUZAFFARPUR15 hours ago

किराए के विवाद में कंडक्टर ने चलती बस से यात्री काे फेंका, कुचल कर माैत

MUZAFFARPUR23 hours ago

स्‍मार्ट स‍िटी : म्युनिसिपल शापिंग मार्ट निर्माण के ल‍िए मुजफ्फरपुर में ध्वस्त होगा जर्जर भवन

WORLD23 hours ago

सऊदी अरब में तोड़ा ट्रैवल नियम तो हो सकता है बैंक अकाउंट खाली! लगेगा एक करोड़ रुपये का जुर्माना

BIHAR1 day ago

बिहार की एसडीपीओ ने अपने पति को रातों-रात बना दिया आइपीएस, पीएमओ ने बैठाई जांच

BIHAR3 days ago

बूढ़ी गंडक पर दूसरे पुल की बाधा दूर:अप्राेच पथ के लिए होगा 7.98 एकड़ जमीन अधिग्रहण, अधिसूचना जारी

MUZAFFARPUR15 hours ago

किराए के विवाद में कंडक्टर ने चलती बस से यात्री काे फेंका, कुचल कर माैत

BIHAR3 days ago

पटना में मीठापुर बस स्टैंड की जमीन पर बनेंगी 3 नई यूनिवर्सिटी

BIHAR1 day ago

बिहार की एसडीपीओ ने अपने पति को रातों-रात बना दिया आइपीएस, पीएमओ ने बैठाई जांच

BIHAR1 week ago

मुजफ्फरपुर: अगर सात घंटे पेट दबाकर शौच रोक सकते हों तभी भारतीय रेल के इस ट्रेन से करें सफर

BIHAR2 days ago

अयांश: बिहार का बेटा नहीं खोए इसलिए पटना, मुजफ्फरपुर से लेकर हर जिले से बढ़ रहे मदद के हाथ

BIHAR3 days ago

बिहार: जिस बहन को रायपुर में इंजीनियरिंग करने भेजा उसी ने करवा दिया भाई को गिरफ्तार

TRENDING2 days ago

लखनऊ में ‘उछल-उछलकर’ थप्पड़ बरसाने वाली लड़की पर केस, सीसीटीवी फुटेज से खुली पोल

BIHAR4 hours ago

बिहार में 7 अगस्त से खुलेंगे स्कूल-कोचिंग संस्थान, सरकार ने लिया निर्णय

BIHAR2 days ago

फरियाद सुनकर चौंके CM नीतीश कुमार, तुरंत चीफ सेक्रेटरी को बुलाकर कही ये बात

Trending