Connect with us

BIHAR

बिहार के राजगीर में होगा चीन जैसा शीशे का पुल, सैर करके ऐसा लगेगा जैसे आसमान में चल रहे हों

Muzaffarpur Now

Published

on

ourism in Bihar: फेसबुक और यूट्यूब समेत इंटरनेट मीडिया पर आपने ऊंची पर्वत चोटियों के बीच गहरी खाई के ऊपर से गुजरता शीशे का पुल देखा होगा। और यह भी संभव है कि इसे देखते हुए आपके मन में भी हसरत जगी होगी। अगर हां, तो आपकी हसरत पूरी हो सकती है। वह भी अपने ही राज्‍य बिहार में। ज्‍यादा दूर जाने की जरूरत भी नहीं। बिहारशरीफ जिले के राजगीर में पहाड़ि‍यों के बीच शीशे का पुल बनाया जा रहा है। वास्‍तव में यह पुल नहीं बल्कि शीशे का बना एक किस्‍म का छज्‍जा है, जिसपर खड़े होकर आप ठीक नीचे सैकड़ों फीट नीचे गहरी खाई को निहार सकेंगे। इसपर चलते हुए आपको ऐसा लगेगा जैसे कि आप आकाश में चल रहे हों। यह अनुभव बेहद रोमांचकारी है। कई लोग इसपर चलते हुए डर भी जाते हैं।

Image

बिहार में पर्यटकों के लिए पसंदीदा स्‍पॉट है राजगीर

राजगीर (Rajgir) में वैसे तो एक से बढ़कर एक खूबसूरत पर्यटन स्थल हैं। यहां की पांच पहाड़ि‍यों (Five mountains) में से किसी पर्वत के शिखर पर खड़े होकर वादियों को निहारने का अलग ही अनुभव है। चेयर रोप-वे (Chair Roap-way) से रत्नागिरी (Ratnagiri) पर स्थित विश्व शांति स्तूप (Vishwa Shanti Stoop) जाने के रास्ते में पर्यटकों को गहरी घाटी के उपर हवा में लटके होने का अहसास होता है। जल्द ही ऐसा ही एक रोमांच राजगीर के पर्यटन में जुड़ने जा रहा है। नेचर सफारी में ग्लास स्काई वॉक ब्रिज (Glass Sky Walk Bridge) का निर्माण लगभग पूरा हो चुका है। 85 फीट लंबा तथा 5 फीट चौड़ा यह ब्रिज वैभारगिरि की दो चोटी के बीच गहरी खाई के उपर बनाया गया है। यह खाई लगभग 250 फुट गहरी है। जबकि दोनों पर्वत शिखर के बीच की दूरी लगभग 5 सौ मीटर है। अब इस स्काई वॉक पर पर्यटक हवा में स्थिर होकर वादियों को काफी करीब से निहार सकेंगे।

एक साथ 20 से 25 लोग कर सकेंगे चहलकदमी

इस स्काई वॉक पर एक साथ 25 से 30 लोग चहलकदमी कर सकेंगे। इसके फर्श में मजबूत पारदर्शी शीशा लगाया गया है। जिस पर अगर कोई खड़ा हो जाए तो ऐसा महसूस होगा कि वह सीधे घाटियों में जा गिरेगा। यह पर्यटकों को अलग ही रोमांच का अनुभव कराएगा। 2022 में नेचर सफारी को पर्यटकों के लिए खोलने का लक्ष्य रखकर काम किया जा रहा है।

Image

जिन लोगों को ऊंचाई पर जाने से लगता डर, उनके लिए मनाही

बता दें कि ऐसा ग्लास स्काई वॉक विश्व में सबसे पहले चीन के हेबई प्रांत में एस्ट तैहांग में बनाया गया था, जबकि देश में पहला ग्लास स्काई वॉक सिक्किम राज्य के पेलिंग में स्थित है। अब राजगीर नेचर सफारी में निर्मित यह ग्लास स्काई वॉक देश का दूसरा तथा बिहार का पहला स्काई वॉक होगा। हालांकि, जिन लोगों को ऊंचाई से डर लगता है, उन्हें ग्लास स्काई वॉक करने की अनुमति नहीं होगी।

लॉकर बेल्ट में बंधकर पर्यटक जिप लाइन का ले सकेंगे रोमांच

वैभारगिरी पर्वत श्रृंखला के बीच एक जिप लाइन भी बनाई जाएगी। जिसमें लोहे की रस्सी पर लॉकर बेल्ट से बंधे पर्यटक हवा की सैर करते हुए 250 फुट गहरी घाटियों और खाई के उपर इस पर्वतीय श्रृंखला को आर-पार करेंगे। जिप लाइन सका काम अभी प्रगति पर है।

नेचर सफारी में कर सकेंगे बिहार दर्शन

राजगीर में वाईल्ड लाईफ जू सफारी के सटे नेचर सफारी का काम जोर-शोर से जारी है। अगर जू सफारी में खुले में विचरते शेर, बाघ, भालू आदि जानवर वाईल्ड लाइफ फोटोग्राफर तथा एडवेंचर पसंद लोगों के आकर्षण का केन्द्र होगा, तो वहीं नेचर सफारी प्राकृतिक ²श्यों के बीच एडवेंचर स्पॉट बनेगा। नेचर सफारी में बिहार दर्शन का स्पॉट बन रहा है। जहां सूबे के सभी जिलों से संबंधित प्रतीक व ऐतिहासिक तथ्य दर्शाए जाएंगे। सभी प्रतीक पहाड़ की तलहटी के पत्थरों पर उकेरे जा रहे हैं।

झोपडिय़ां व देसी नस्ल की तितलियां खींचेंगी ध्यान

परिसर में मड हट यानी मिट्टी की झोपड़ी, ट्री हट यानी पेड़ों पर झोपड़ी, वुडेन हट यानी लकडिय़ों के कॉटेज भी बनाए जा रहे हैं। जिसमें तय शुल्क देकर पर्यटक ठहर सकेंगे। इसके अलावा ग्रास लैंड यानी घास का मैदान व मेडिसिनल यानी औषधीय गार्डेन भी होगा। जहां लोग तरह-तरह के औषधीय पौधे देख सकेंगे। नेचर सफारी में तितलियों की एवियरी भी होगी। जहां नालंदा में पाई जाने वाली तितलियों की प्रजातियां रखी जाएंगी। वैसे वाईल्ड लाइफ जू सफारी में भी तितलियों की एवियरी बनाई जा रही है। वहां देश-विदेश की अधिकांश तितलियों की प्रजातियां होंगी।

गया जाने वाले जेठियन मार्ग पर है नेचर सफारी

यह नेचर सफारी जरासंध अखाड़ा से गया जिला स्थित जेठियन जाने वाले मार्ग के बीच है। राजगीर स्थित जरासंध अखाड़ा से दूरी लगभग 6 किलोमीटर है। यह सफारी उसी मार्ग पर आकार ले रहा है, जिस रास्ते से कभी भगवान बुद्ध ज्ञान प्राप्ति के पहले और बाद में गया से पैदल राजगीर आए थे। नेचर सफारी का निर्माण लगभग 20 करोड़ की लागत से किया जा रहा है। 2022 तक इसे पर्यटकों के लिए खोल दिया जाएगा।

फील्ड तीरंदाजी व ट्रैक‍िंग कर सकेंगे पर्यटक

नेचर सफारी में पर्यटक आर्चरी यानी फील्ड तीरंदाजी कर सकेंगे। यह अलग-अलग और अक्सर बिना किसी तय दूरी के निशाना लगाया जाने वाला रोमांचक खेल है। वहीं लक्ष्य पर निशाना लगाना यानी टारगेट आर्चरी की व्यवस्था भी होगी। यह एक ओलंपिक खेल है, जो दुनिया भर के 160 से ज्‍यादा देशों में लोकप्रिय है। पर्वतारोहण के शौकीन पर्यटकों के लिए ट्रैकिंग की भी व्यवस्था की जा रही है।

ग्लास ब्रिज पर चढ़ने को उमड़ने लगी भीड़ तो कराई बैरिकेड‍िंग

नेचर सफारी में निर्माणाधीन स्काई वॉक ग्लास ब्रिज की 15 दिसंबर को दैनिक जागरण में प्रमुखता से खबर प्रकाशित होने के बाद यह खबर सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गई। इसके बाद पर्यटकों की भारी भीड़ अभी से ही नेचर सफारी पहुंचने लगी है, जबकि ग्लास ब्रिज का निर्माण अभी पूरा नहीं किया जा सका है। ब्रिज पर चढऩे के लिए सीढिय़ां, इसके फाउंडेशन के चारों ओर रेलिंग का काम जारी है। फिर भी लोग खतरा मोल लेकर इस पर चढ़ना चाह रहे हैं। इस पर गंभीर होते हुए राजगीर वनक्षेत्र पदाधिकारी अमृतधारी सिंह ने गुरुवार को ग्लास ब्रिज के चारों ओर बैरिकेडिंग करा दी। लोगों की सुरक्षा को लेकर ब्रिज पर चढऩे तथा आसपास न फटकने से संबंधित बोर्ड लगा दिया गया है। ताकि कार्य प्रगति में कोई बाधा न पहुंचे।

Source : Dainik Jagran

rama-hardware-muzaffarpur

BIHAR

बिहार में कोरोना की भयावह स्थिति को लेकर उपजे हालात को लेकर राज्यपाल आज करेंगे सर्वदलीय बैठक

Ravi Pratap

Published

on

बिहार में कोरोना संक्रमण की स्थिति को लेकर शनिवार को राज्यपाल फागू चौहान की अध्यक्षता में सर्वदलीय बैठक होगी। सुबह 11 बजे से होने वाली इस बैठक में राज्यपाल, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री द्वय तारकिशोर प्रसाद व रेणु देवी, विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव समेत सभी दलों के प्रतिनिधि आनलाइन जुड़ेंगे। वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से राजभवन सचिवालय से बैठक का संचालन होगा।

गौरतलब हो कि कोरोना के बढ़ते प्रभाव को लेकर राज्य सरकार के सुझाव पर यह बैठक राज्यपाल फागू चौहान ने बुलायी है। इसको लेकर उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद और संसदीय कार्य मंत्री विजय कुमार चौधरी राज्यपाल से पिछले दिनों मिले थे और सर्वदलीय बैठक बुलाने का आग्रह किया था। राज्यपाल सचिवालय से मिली जानकारी के मुताबिक राजभवन से राज्यपाल के साथ ही उनके सचिव राबर्ट एल चोंग्थू इस बैठक में जुड़ेंगे।

यहीं स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय और प्रधान स्वास्थ्य सचिव प्रत्यय अमृत मौजूद रहेंगे। मुख्यमंत्री एक, अणे मार्ग से जुड़ेंगे। बैठक में कोविद-19 संक्रमण को लेकर विभिन्न दलों की ओर से मौजूदा स्थिति पर राज्य सरकार को सुझाव देने की तैयारी है। जिन दलों की बैठक में सहभागिता होगी उनमें जदयू, भाजपा, राजद, कांग्रेस, माकपा, भाकपा, भाकपा माले, हम, वीआईपी, एआईएमआईएम, लोजपा और बसपा शामिल हैं।

Input: Live Hindustan

Continue Reading

BIHAR

लापरवाही: बिहार में पुलिसिया रौब दिखाकर पान की गुमटी चलाता रहा कोरोना पॉजिटिव, संक्रमण चेन बनने का बढ़ा खतरा

Ravi Pratap

Published

on

एक ओर जहां कोरोना संक्रमण का कहर दिनों-दिन शहरी क्षेत्र में बढ़ता जा रहा है, वहीं जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की मेहनत पर कुछ संक्रमित व्यक्ति पानी फेर रहे हैं. हालांकि इसके लिए बहुत हद तक संबंधित विभाग के अधिकारियों की लापरवाही भी है. ऐसे में कोरोना पर काबू कैसे पा सकेंगे? मामला भागलपुर के भीखनपुर के गुमटी नंबर दो के वार्ड संख्या 35 स्थित विषहरी स्थान के पास का है. यहां दो-तीन दिन पहले दो लोग पॉजीटिव हुए थे. इनमें एक लड़का और एक लड़की शामिल थे. गुरुवार को मां-बेटी की रिपॉर्ट पॉजीटिव आयी. ये सभी लोग एक ही परिवार के सदस्य हैं. इसके बावजूद उनके घर को सील नहीं किया गया है..

पॉजीटिव में एक होमगार्ड भी है. उसके घर के पास ही पान की एक गुमटी भी है. लोगों के अनुसार पुलिसिया रौब दिखाते हुए कोरोना पॉजेटिव होते हुए भी वह बिना सुरक्षा नियमों को अपनाये क्षेत्र में न केवल घूम रहा है, बल्कि पान की गुमटी भी चला रहा है. लोगों में भय है कि संक्रमित व्यक्ति ऐसा व्यवहार करेंगे तो कोरोना का संक्रमण बढ़ेगा या रुकेगा. लोगों ने इस मामले में तत्काल संज्ञान लेने की मांग प्रशासन से की है, ताकि संक्रमण के चेन को बढ़ने से रोका जा सके.

गौरतलब है कि 15 अप्रैल को कोरोना ने अब तक का सब रिकार्ड तोड़ दिया. महज एक दिन में भागलपुर में 601 लोग संक्रमण का शिकार हो गये हैं. पर अब भी बाजार में भीड़ नहीं घट रही, बसों और अन्य सार्वजनिक गाड़ियों में बिना मास्क के भीड़ है. अब भी अगर हम नहीं चेते, तो जिले में कोरोना तबाही मचा देगा. कोरोना जिले में पैर पसार रहा है.

Input: Prabhat Khabar

Continue Reading

BIHAR

बिहार में 3.82 फीसदी की औसत दर से बढ़ रहा है कोरोना संक्रमण, टॉप 4 जिलों में ही 56 फीसदी केस

Ravi Pratap

Published

on

राज्य में कोरोना संक्रमण की रफ्तार लगातार तेज हो रही है. बीते छह दिनों के दौरान पूरे राज्य में प्रतिदिन औसतन 95,723 सैंपलों की जांच हुई, जिसमें औसतन 4681 नये मरीज सामने आये. इस हिसाब से राज्य में प्रतिदिन कोरोना का संक्रमण 3.82 फीसदी की औसत दर से बढ़ रहा है.अगर जिलावार देखें तो पटना जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार सबसे अधिक है. पटना जिले में बीते छह दिनों में प्रतिदिन औसतन 11,379 सैंपलों की जांच की गयी, जिसमें औसतन 1455 नये कोरोना पॉजिटिव मिले. इस तरह से पटना जिले में कोरोना संक्रमण की दर सबसे अधिक 12‍.79 फीसदी है.

पटना के बाद गया, भागलपुर और मुजफ्फरपुर में कोरोना संक्रमण की दर सबसे अधिक है. गया जिले में 8.27%, भागलपुर में 7.07 % और मुजफ्फरपुर में 7.65 % की औसत दर से प्रतिदिन कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है. पिछले छह दिनों में गया में प्रतिदिन औसतन 5821 सैंपलों की जांच हुई, जिसमें औसतन 482 नये केस मिले.इस अवधि में भागलपुर में प्रतिदिन औसतन 5075.83 और मुजफ्फरपुर में औसतन 4248.82 सैंपलों की जांच हुई, जिसमें औसतन क्रमश: 359 व 325 नये मरीज मिले.मार्च के शुरुआत से लेकर अप्रैल के मध्य में कोरोना बहुत तेजी से बढ़ी है.

आंकड़े बता रहे हैं कि बीते छह दिनों यानी 11 अप्रैल से लेकर 16 अप्रैल के बीच अब तक सबसे तेज रफ्तार से कोरोना संक्रमण बढ़ा है, जो पिछले वर्ष की तुलना में भी अधिक है. पिछले छह िदनों में प्रदेश में कुल 28084 नये पॉजिटिव पाये गये, िजनमें 15729 यानी 56 फीसदी इन टॉप-4 िजलों पटना, गया, मुजफ्फरपुर व भागलपुर में िमले.

Input: Prabhat Khabar

Continue Reading
BIHAR6 mins ago

बिहार में कोरोना की भयावह स्थिति को लेकर उपजे हालात को लेकर राज्यपाल आज करेंगे सर्वदलीय बैठक

BIHAR21 mins ago

लापरवाही: बिहार में पुलिसिया रौब दिखाकर पान की गुमटी चलाता रहा कोरोना पॉजिटिव, संक्रमण चेन बनने का बढ़ा खतरा

BIHAR39 mins ago

बिहार में 3.82 फीसदी की औसत दर से बढ़ रहा है कोरोना संक्रमण, टॉप 4 जिलों में ही 56 फीसदी केस

BIHAR43 mins ago

बिहार में 16 मई तक सभी म्यूजिम, स्टेडियम और पुरातत्विक स्थल बंद, जिम, स्विमिंग पूल, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स भी नहीं खुलेंगे

BIHAR51 mins ago

बिहार में लॉकडाउन लगना तय? सीएम नीतीश बोले- जो लोग दूसरे राज्यों से वापस आना चाहते हैं, वे जरूर आयें, 18 को बड़ा एलान!

MUZAFFARPUR55 mins ago

कोरोना के बीच चमकी का कहर शुरू, मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच में एक बच्ची ने तोड़ा दम

MUZAFFARPUR60 mins ago

पताही हवाई अड्डे में फिर कोविड अस्पताल खोलने की मांग

DHARM1 hour ago

दुल्हन की तरह सजा मां वैष्णो का दरबार, जयकारों से गूंज रहा त्रिकुटा पर्वत

MUZAFFARPUR12 hours ago

कोरोना काल में पांच राज्यों में हो रहे चुनाव को रद्द करने की मांग को लेकर धरने पर बैठे कांग्रेस विधायक

MUZAFFARPUR12 hours ago

गायघाट में एसडीओ ने गेहूं काटकर किया क्रॉप कटिंग का शुभारंभ, बेरूआ में क्राप कटिंग का निरीक्षण करते अधिकारी

BIHAR4 weeks ago

अलर्ट! बिहार में वैक्सीन लेने के बावजूद आंगनबाड़ी सेविका कोरोना पीड़ित, पटना एम्स में तोड़ा दम

VIRAL4 weeks ago

पबजी खेलते हुआ था प्यार, हिमाचल से वाराणसी पहुंची महिला, युवक निकला कक्षा 2 का छात्र

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर में नौ जगहों पर बनेगा माइक्रो कंटेनमेंट जोन, इसमें कहीं आपका इलाका तो नहीं

HEALTH7 days ago

ये 5 लक्षण मुंह पर दिखें तो तुरंत करवा लें जांच, हो सकता है कोरोना

INDIA3 weeks ago

ये 4 बैंक जल्द ही सरकारी से प्राइवेट हो सकते हैं! करोड़ों ग्राहकों पर क्या होगा असर?

BIHAR4 weeks ago

दरभंगा एयरपोर्ट पर जादूगर का साया, एक व‍िमान फ‍िर गायब

INDIA4 weeks ago

होली पर अपने घर जाने वाले यात्रियों को बड़ा झटका, रेलवे ने कैंसिल कर दी कई ट्रेनें

TRENDING3 weeks ago

मिट्टी का तेल सिर पर छिड़ककर बाल सीधे करने के प्रयास में लड़के की मौत

TRENDING3 weeks ago

‘प्रदूषण का पुरुषों के प्राइवेट पार्ट पर पड़ रहा बुरा असर’, दीया मिर्जा ने ऐसे किया रिएक्ट

BIHAR4 weeks ago

बिहार के स्कूल में कोरोना की दस्तक, छठी कक्षा का छात्र निकला पॉजिटिव

Trending