Connect with us

BIHAR

बिहार के लिए हरियाणा से खुलेंगी 11 ट्रेनें, यहां देखिये गाड़ियों की पूरी लिस्ट

Muzaffarpur Now

Published

on

PATNA : बिहार से बाहर फंसे लाखों मजदूरों और छात्रों को वापस लाने की कोशिशें जारी हैं. दिल्ली, महाराष्ट्र, राजस्थान, गुजरात, पंजाब और हरियाणा समेत देश के तमाम राज्यों में बिहारी के प्रवासी मजदूर फंसे हुए हैं. इनकी घर वापसी के लिए सैकड़ों ट्रेनें चलाई जा रही हैं. रेलवे की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक 5 दिनों में हरियाणा से कुल 11 ट्रेनें बिहार के लिए खुलेंगी.

 

रेलवे की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक 8 मई को अंबाला से भागलपुर और रोहतक से कटिहार के लिए 2 ट्रेनें खुलेंगी. 9 मई को रेवाड़ी से मुजफ्फरपुर, भिवानी से पूर्णिया और रेवाड़ी से किशनगंज के लिए 3 ट्रेनें खुलेंगी. 10 मई को रोहतास से अररिया और रेवाड़ी से कटिहार के लिए 2 ट्रेनें खुलेंगी. 11 मई को रेवाड़ी से अररिया और अंबाला से मुजफ्फरपुर के लिए 2 ट्रेनें खुलेगी. 12 मई को रोहतक से कटिहार और भिवानी से किशनगंज के लिए 2 ट्रेनें खुलेंगी.

रेलवे की ओर से इन सभी 11 स्पेशल श्रमिक ट्रेनों की लिस्ट भी सौंपी गई है. जिसके माध्यम से हजारों मजदूर अपने घर लौट सकेंगे. बता दें कि बिहार सरकार की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक अब तक 70 ट्रेनें बिहार आ चुकी हैं. जिसमें कुल 82544 मजदूर और छात्र बिहार लौट आये हैं. अभी भी लाखों की संख्या में मजदूर और छात्र दिल्ली, महाराष्ट्र, राजस्थान, गुजरात, पंजाब और हरियाणा समेत देश के तमाम राज्यों में फंसे हैं.

यहां देखिये ट्रेनों की लिस्ट –

Input : First Bihar

 

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर में चार चिकित्सकों समेत 54 कोरोना पॉजिटिव मिले

Muzaffarpur Now

Published

on

जिले में बुधवार को चार चिकित्सक, आधा दर्जन स्वास्थ्यकर्मी समेत 54 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। इस बीच पटना में इलाजरत कोविड केयर से जुड़े चिकित्सक की हालत में लगातार सुधार हो रहा है। उनको खून देने के लिए कई लोग आगे आए हैं। संक्रमित मिले चिकित्सक एसकेएमसीएच व केजरीवाल अस्पताल से जुड़े हैं। वहीं, जूरन छपरा इलाके के एक शिशु रोग विशेषज्ञ भी कोरोना की जद में आ गए हैं।

इसके साथ एसकेएमसीएच व सदर अस्पताल से जुड़ीं आधा दर्जन एएनएम भी संक्रमित हैं। इन सभी को कोविड केयर सेंटर में भेजने की तैयारी चल रही है। एसकेएमसीएच के अधीक्षक डॉ.सुनील कुमार शाही ने बताया कि मेडिसिन और दंत विभाग से जुड़े चिकित्सकों व अन्य कर्मियों के नमूने संग्रहित किए जाएंगे। पांच चिकित्सकों ने अपने नमूना दिए हैं। तीन एएनएम संक्रमित मिली हैं। इनके भी संपर्क में आने वाले सभी लोगों के नमूने लेकर जांच कराई जाएगी।

केजरीवाल अस्पताल के कार्यपालक पदाधिकारी रंजन मिश्रा ने बताया कि उनके अस्पताल के एक चिकित्सक के संक्रमित होने की सूचना मिल रही है। उनके संपर्क में आने वालों की जांच कराई जाएगी। संक्रमित चिकित्सक काफी दिनों से अवकाश पर हैं। परिसर में आने वाले सभी मरीज व स्वजनों को मास्क लगाना अनिवार्य किया गया है। परिसर को तीन बार सैनिटाइज कराया जा रहा है।

सिविल सर्जन डॉ.एसपी सिंह ने बताया कि जिले में 54 लोग संक्रमित मिले हैं। सभी के संपर्क में आने वाले लोगों की तलाश कर उनके नमूने लिए जाएंगे। सभी चिकित्सक व कर्मियों को नमूना जांच कराने की सलाह दी गई है। सुरक्षाकर्मियों की भी जांच होगी। इधर, दस लोग कोरोना की जंग जीतकर वापस घर लौट गए हैं।

एसकेएमसीएच में आई दो नई मशीनें

एसकेएमसीच में कोरोना वायरस की जांच के लिए अभी तीन मशीनें लगी हैं। दो टू नेट मशीनें और आई हैं। जल्द ही उनको चालू किया जाएगा। इससे जांच काम में तेजी आएगी।

कई महिला सिपाहियों ने दिए नमूने

सदर अस्पताल में पुलिस लाइन की आधा दर्जन महिला सिपाहियों ने जांच के लिए नमूने संग्रहित कराए। कुढ़नी की एक ममता भी संदिग्ध मिली हैं। उनका नमूना लिया गया है।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading

BIHAR

चिराग पासवान के स्टैंड से NDA में भारी खलबली

Muzaffarpur Now

Published

on

लोक जनशक्ति पार्टी के प्रमुख चिराग पासवान के तीखे तेवर के बाद बिहार NDA में मची खलबली लगातार तेज होती जा रही है. इस संकट से निपटने में लगी बीजेपी ने अपने नेताओं को नीतीश कुमार से मिलने भेजा. बिहार बीजेपी के प्रभारी भूपेंद्र यादव और प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आवास पहुंचे और बंद कमरे में लंबी गुफ्तगूं की.

सीएम आवास से मिल रही जानकारी के मुताबिक भूपेंद्र यादव और संजय जायसवाल आज देर शाम नीतीश कुमार के आवास पर पहुंचे. दोनों के मिलने का समय पहले से फिक्स था. बंद कमरे में बीजेपी नेताओं और नीतीश कुमार की बातचीत हुई. हालांकि इस बैठक के बाद बीजेपी के नेताओं ने कुछ भी बताने से इंकार कर दिया.

चिराग पासवान के तीखे तेवर से मची है खलबली

जानकार सूत्र बता रहे हैं कि नीतीश कुमार की बीजेपी नेताओं के साथ बैठक में लोक जनशक्ति पार्टी के नेता चिराग पासवान के तीखे तेवर से उत्पन्न हालात पर चर्चा हुई. वैसे भी भूपेंद्र यादव आज अचानक से ही पटना पहुंचे थे. पार्टी का ऐसा कोई कार्यक्रम नहीं था जिसमें भूपेंद्र यादव को शामिल होना था. कल शाम बिहार बीजेपी को खबर मिली थी कि भूपेंद्र यादव पटना आ रहे हैं. बीजेपी सूत्रों के मुताबिक भूपेंद्र यादव के पटना आने का मकसद सिर्फ नीतीश कुमार से मिलना था.

दरअसल रविवार को भूपेंद्र यादव ने दिल्ली में चिराग पासवान से मुलाकात की थी. इस मुलाकात के दौरान चिराग पासवान ने सीटों के बंटवारे पर बात करने से भी इंकार कर दिया था. चिराग ने साफ कर दिया था कि वे चाहते हैं कि बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए के एजेंडे में LJP के बिहार फर्स्ट-बिहारी फर्स्ट एजेंडे को भी शामिल किया जाना चाहिये. अगर बिहार में एनडीए की तीन पार्टियां साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगी तो NDA के एजेंडा किसी एक व्यक्ति या पार्टी का एजेंडा नहीं होना चाहिये. लोक जनशक्ति पार्टी ने जनता के सामने जो बिहार फर्स्ट-बिहारी फर्स्ट का विजन रखा है उसे भी एनडीए के चुनावी एजेंडे में शामिल किया जाये.

सूत्रों की मानें तो भूपेंद्र यादव से बातचीत में चिराग पासवान ने नीतीश कुमार के रवैये को लेकर खासी नाराजगी जाहिर की थी. चिराग ने कहा था कि गठबंधन की पार्टी होने के बावजूद नीतीश कुमार लोक जनशक्ति पार्टी को कोई तवज्जो नहीं दे रहे हैं. नीतीश कुमार की ओर से बार-बार ऐसा मैसेज दिया जा रहा है जिससे लग रहा है कि लोक जनशक्ति पार्टी सत्तारूढ गठबंधन का हिस्सा ही नहीं हो. जानकार बता रहे हैं कि चिराग की इसी नाराजगी की जानकारी देने भूपेंद्र यादव नीतीश कुमार से मिलने पहुंचे.

एनडीए का खेल बिगाड़ सकते हैं चिराग पासवान

सियासी जानकार जानते हैं कि बिहार विधानसभा चुनाव में चिराग ने अगर पलटी मारी तो एनडीए का खेल बिगड सकता है. वोटरों का एक आक्रामक वर्ग चिराग पासवान और लोक जनशक्ति पार्टी के साथ जुड़ा है. अगर ये वोट बैंक एनडीए से बिदक कर विपक्षी खेमे में गया तो सारा खेल बिगड़ सकता है. विधानसभा चुनाव में ऐसी ढेर सारी सीटें होती हैं जिनमें जीत-हार का अंतर बेहद कम होता है. ऐसी सीटों पर एनडीए को भारी नुकसान सहना पड़ सकता है.

Input : First Bihar

Continue Reading

BIHAR

समस्तीपुर की धरती पर होगी ताइवानी पपीते की खेती, जानिए इसको लेकर की जा रही तैयारी के बारे में

Muzaffarpur Now

Published

on

ताइवान मूल के पपीते की उन्नत प्रजाति रेड लेडी की खेती अब समस्तीपुर में भी होगी। इसे एशियन फल-सब्जी अनुसंधान केंद्र में विकसित किया गया है। उद्यान विभाग द्वारा 20 हेक्टेयर में पपीते की उन्नत खेती का लक्ष्य रखा गया है। कम लागत में रेड लेडी की खेती से किसान आर्थिक रूप से स्वावलंबी बन सकेंगे। प्रवासी मजदूरों के लिए यह बड़ी पहल साबित होगी। खेती की बारीकियों को सिखाने के लिए किसानों को प्रशिक्षण दिया जाना है। साथ ही, पौधा लगाने से लेकर उत्पादन तक की मॉनीटरिंग होगी।

M-Tech Gardens Rare Dwarf Papaya" Taiwan Red Lady" Carica Papaya ...

सरकार की ओर से 75 फीसद अनुदान

साल में दो बार फरवरी-मार्च और सितंबर-अक्टूबर में पौधा लगाने का सही समय है। सरकार पपीते की खेती को बढ़ावा देने के लिए किसानों को 75 फीसद अनुदान पर पौधे दे रही। इच्छुक किसानों से ऑनलाइन के साथ-साथ ऑफलाइन आवेदन लिए जाने की प्रक्रिया चल रही। पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर योजना का लाभ दिया जाना है।

The Modernization Of Papaya Cultivation At Taiwan Stock Photo ...

प्रति पौधा 20 रुपये की लागत

उद्यान विभाग के सहायक निदेशक ने बताया कि प्रति पौधा 20 रुपये की लागत आती है। विभाग किसानों को 75 फीसद अनुदान के बाद 6.50 रुपये प्रति पौधे के हिसाब से देगा। एक हेक्टेयर में 2500 पौधों की जरूरत पड़ती है। दो मीटर गुना दो मीटर की दूरी पर पौधे लगाए जाते हैं। 20 हेक्टेयर की खेती के लिए 50 हजार पौधा बांटने का लक्ष्य रखा गया है।

एक पौधे से 35 से 50 किलो फल

पपीते की अन्य प्रजातियों से अलग रेड लेडी काफी उन्नत किस्म है। एक पौधे से एक बार में 35 से 50 किलोग्राम तक फल मिल सकेगा। पपीते की खासियत यह है कि चार महीने के अंदर फलना शुरू हो जाता है। इसके पौधे जल्दी गलते नहीं और फल का आकार लगभग एक समान होता है।

100 फीसद फल आना तय

आमतौर पर पपीते की अन्य किस्मों में नर और मादा फूल अलग-अलग होते हैं। इससे फल न लगने की शिकायत अक्सर मिलती है। लेकिन, रेड लेडी किस्म में ऐसा नहीं है। इसमें नर व मादा, दोनों प्रकार के फूल रहते हैं। इसलिए, 100 फीसद फल लगना तय होता है। एक पौधे से तीन साल तक उत्पादन लिया जा सकता है। एक हेक्टेयर में किसान 600 क्विंटल से ज्यादा उत्पादन कर सकते हैं।

कम लागत में भी पपीते की खेती से अच्छी कमाई

समस्तीपुर के उद्यान विभाग के सहायक निदेशक अजय कुमार सिंह कहते हैं कि पपीते की खेती किसानों के लिए काफी लाभदायक है। रेड लेडी प्रजाति काफी उन्नत किस्म की है। कम लागत में भी पपीते की खेती से अच्छी कमाई की जा सकती। किसानों से आवेदन लिए जा रहे। उन्हें अनुदानित दर पर पौधे दिए जाएंगे।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading
Jharkhand1 hour ago

इस बार नहीं लगेगा श्रावणी मेला, बाबा बैद्यनाथ मुझे माफ करें : हेमंत सोरेन

INDIA2 hours ago

सुशांत सिंह राजपूत के जीजा ने लॉन्च किया ‘नेपोमीटर’, नेपोटिज्म से लड़ने में ऐसे करेगा मदद

MUZAFFARPUR2 hours ago

मुजफ्फरपुर में चार चिकित्सकों समेत 54 कोरोना पॉजिटिव मिले

BIHAR12 hours ago

चिराग पासवान के स्टैंड से NDA में भारी खलबली

BIHAR12 hours ago

समस्तीपुर की धरती पर होगी ताइवानी पपीते की खेती, जानिए इसको लेकर की जा रही तैयारी के बारे में

Uncategorized14 hours ago

मुजफ्फरपुर में 4694 मतदान केंद्रों पर डाले जाएंगे वोट, जानिए पूरा विवरण

INDIA14 hours ago

Apps पर प्रतिबंध के बाद अब हाईवे प्रोजेक्ट्स में भी चीनी कंपनियों की एंट्री होगी बंद, गडकरी का एलान

INDIA14 hours ago

भारत सरकार के TikTok बैन के फैसले पर बोलीं TMC सांसद नुसरत जहां- उनका क्या जो बेरोजगार होंगे

INDIA16 hours ago

कोरोनिल पर बोले रामदेव- पतंजलि ने मंसूबों पर फेरा पानी तो आतंकियों की तरह FIR करा दी

BIHAR16 hours ago

सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड मामले में सलमान खान पर केस दर्ज, करण जौहर और एकता कपूर का भी नाम शामिल

INDIA4 weeks ago

धोनी ने खरीदा स्‍वराज ट्रैक्‍टर तो आनंद महिंद्रा ने दिया बड़ा बयान, वायरल हुआ ट्वीट

BIHAR2 weeks ago

सुशांत के परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़, सदमा नहीं झेल पाईं भाभी, तोड़ा दम

BIHAR2 weeks ago

प्रिय सुशांत – एक ख़त तुम्हारे नाम, पढ़ना और सहेज कर रखना

INDIA3 weeks ago

सुशांत स‍िंह राजपूत की सुसाइड पर बोले मुकेश भट्ट, ‘मुझे पता था ऐसा होने वाला है…’

BIHAR3 weeks ago

लालू के बेटे तेजस्वी यादव की कप्तानी में खेलते हुए बदली विराट कोहली की किस्मत!

MUZAFFARPUR2 weeks ago

सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर एकता कपूर ने तोड़ी चुप्पी, कहा- मेरे खिलाफ मुकदमा करने के लिए शुक्रिया

BIHAR6 days ago

बिहार में नहीं चलेंगी सलमान खान, आलिया भट्ट, करण जौहर की फिल्में

INDIA1 week ago

सुशांत के व्हॉट्सऐप चैट आये सामने, उनको फिल्म करने में हो रही थी परेशानी

INDIA2 weeks ago

चांद पर प्लॉट खरीदने वाले पहले एक्टर थे सुशांत सिंह राजपूत!

INDIA2 weeks ago

मरने से पहले सुशांत सिंह राजपूत ने किया था ट्वीट, ‘मैं इस जिंदगी से तंग आ गया हूं, गुड बाय’

Trending