Connect with us

BIHAR

बिहार में पहले भी लगते रहे हैं टिकट बेचने के आरोप

पूर्व केन्द्रीय मंत्री और रालोसपा प्रमुख उपेन्द्र कुशवाहा पर लगा टिकट बेचने का आरोप कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी बिहार में कुशवाहा के साथ ही दूसरे नेताओं पर भी ऐसे आरोप लगते रहे हैं। चुनाव का वक्त आते ही पार्टी छोड़ने और साथ ही पुराने नेता पर आरोप लगाने की परम्परा चली […]

Santosh Chaudhary

Published

on

पूर्व केन्द्रीय मंत्री और रालोसपा प्रमुख उपेन्द्र कुशवाहा पर लगा टिकट बेचने का आरोप कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी बिहार में कुशवाहा के साथ ही दूसरे नेताओं पर भी ऐसे आरोप लगते रहे हैं। चुनाव का वक्त आते ही पार्टी छोड़ने और साथ ही पुराने नेता पर आरोप लगाने की परम्परा चली आ रही है। चुनाव के पहले भी दल बदलने वाले नेता अक्सर आरोप लगाकर ही पाला बदलते रहे हैं। गौरतलब है कि पूर्व केन्द्रीय मंत्री नागमणि ने भी मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस कर उपेन्द्र कुशवाहा पर टिकट बेचने का आरोप लगाया था।

वर्ष 2015 के विधानसभा चुनाव के दौरान दिल्ली में उपेन्द्र कुशवाहा की प्रेस कान्फ्रेंस में अचानक हंगामे के हालात पैदा हो गए थे, जब एक नेता ने उनपर टिकट बेचने का आरोप लगाया। उसी चुनाव में रामविलास पासवान के दामाद साधु पासवान ने भी 15 सितम्बर, 2019 को चिराग पासवान पर टिकट बेचने का आरोप लगाया था। पासवान की बेटी ने भी अपने पति के आरोपों का समर्थन किया था।

कभी कुशवाहा को सीएम बनाने का दम भरते थे नागमणि 

खास बात यह है कि कुशवाहा पर टिकट बेचने का आरोप लगाने वाले नागमणि राज्य सरकार पर भी कई तरह के आरोप लगाते रहे हैं। हाल में दो फरवरी को रालोसपा के आंदोलन के दौरान कुशवाहा को पुलिस की लाठी लगी तो नागमणि ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राज्य सरकार पर कुशवाहा की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया था। सात जून 2018 को उन्होंने उपेन्द्र कुशवाहा को अगला सीएम उम्मीदवार घोषित करने की मांग एनडीए से की थी। गत 15 अक्टूबर, 2017 को उन्होंने गांधी मैदान में रालोसपा के सम्मेलन में उपेन्द्र कुशवाहा को अगला सीएम बनाने के लिए कार्यकर्ताओं से एक पैर पर खड़ा होकर समर्थन करने को कहा था।

Digita Media, Social Media, Advertisement, Bihar, Muzaffarpur

खटास की वजह 

बताया जाता है कि बाद में नागमणि की महत्वकांक्षा बढ़ने लगी तो उपेन्द्र कुशवाहा के साथ उनके रिस्ते में खटास आने लगी। सूत्रों के अनुसार वह लोकसभा चुनाव में खुद के साथ अपनी पत्नी के लिए भी टिकट चाहते थे। कुशवाहा ने इससे मना कर दिया। इस फैसले ने दोनों नेताओं की दूरी बढ़ा दी। नागमणि के आरोपों को इसी कड़ी से जोड़ कर देखा जा रहा है।

Input : Hindustan

BIHAR

बिहार में निजी अस्पतालों में भी मुफ्त कोरोना टीका, कल सीएम नीतीश खुद लेंगे IGIMS में वैक्सीन की पहली डोज

Muzaffarpur Now

Published

on

बिहार में सभी नागरिकों को कोरोना का टीका मुफ्त में मिलेगा। निजी या सरकारी किसी भी अस्पताल में टीका लेने पर किसी शुल्क का भुगतान नहीं करना होगा। रविवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में कोरोना टीकाकरण के तीसरे चरण की समीक्षा के बाद यह ऐलान किया गया। वैसे तो नीतीश कैबिनेट ने नवंबर, 2020 में ही मुफ्त टीकाकरण के फैसले पर मुहर लगी दी थी। लेकिन केंद्र सरकार ने कहा है कि निजी अस्पतालों में अधिकतम 250 रुपए का शुल्क लगेगा। ऐसे में निजी अस्पतालों में टीकाकरण के खर्च का भुगतान नीतीश सरकार करेगी।

वहीं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तीसरे चरण के टीकाकरण अभियान की शुरूआत इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान, शेखपुरा, पटना परिसर में सोमवार को करेंगे। इस मौके पर मुख्यमंत्री, दोनों उप मुख्यमंत्री सहित अन्य पदाधिकारी भी कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लेंगे। रविवार को स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने राज्य स्वास्थ्य समिति, बिहार के कार्यालय परिसर में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में इसकी जानकारी दी।

बिहार में तीसरे चरण के कोरोना टीकाकरण अभियान के तहत 1600 टीकाकरण केंद्रों पर वैक्सीन देने की तैयारी की गई है। राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने बताया कि तीसरे चरण के टीकाकरण अभियान को लेकर धीरे-धीरे टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ायी जाएगी। एक मार्च को 700 केंद्रों पर टीकाकरण कार्य शुरू होगा। इसके बाद 15 मार्च तक बढ़ाकर 1000 टीकाकरण केंद्र संचालित होंगे। वहीं, 16 से 31 मार्च तक 1200 टीकाकरण केंद्रों का, 01 से 15 अप्रैल तक 1500 केंद्रों का संचालन होगा। वहीं, 16 से 30 अप्रैल तक 1600 केंद्रों पर टीकाकरण कार्य किया जाएगा।

टीका लेने के लिए आधार कार्ड पेश करना अनिवार्य 
कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार के अनुसार टीका लेने के लिए आधार कार्ड प्रस्तुत किया जाना अनिवार्य होगा। विशेष परिस्थिति में ही किसी अन्य पहचान पत्र की अनुमति दी जाएगी। उन्होंने बताया कि राज्य में सामान्य टीकाकरण अभियान के तहत 14 हजार प्रशिक्षित टीकाकर्मी उपलब्ध हैं। टीकाकरण केंद्रों पर मानव संसाधन की तैनाती आवश्यकता के अनुसार बढ़ायी जाएगी। टीकाकरण केंद्रों पर टीका के लिए आशा, आंगनबाड़ी केंद्रों की सहायिका एवं सेविका व अन्य संगठनों की भी सहायता ली जाएगी। ये ग्रामीण इलाकों में जाकर टीकाकरण केंद्रों व टीका की जानकारी देंगे।

एक मोबाइल नंबर से परिवार के चार सदस्य हो सकेंगे निबंधित 

मनोज कुमार ने बताया कि एक मोबाइल नंबर से परिवार के चार सदस्य ऑनलाइन या ऑनसाइट निबंधित हो सकेंगे। निबंधन हेतु इच्छुक व्यक्ति के पास मोबाइल नंबर एवं सरकार द्वारा अनुमान्य पहचान पत्र होना अनिवार्य है। यदि ऑनलाइन निबंधन किया जाता है तो उनके मोबाइल पर ओटीपी आएगा, जिसकी प्रविष्टि के बाद कोविन-2.0 पोर्टल पर सफलतापूर्वक पंजीकरण हो पाएगा। पंजीकरण के बाद पोर्टल पर लाभार्थी अपने निकटतम कोविड टीकाकरण केंद्र का चयन कर सकते हैं। साथ ही साथ उपलब्ध स्लॉट में से अपने लिए टीकाकरण की तिथि भी निर्धारित कर सकते हैं।

एक केंद्र पर सौ व्यक्तियों का होगा टीकाकरण
कार्यपालक निदेशक ने बताया कि एक टीकाकरण केंद्र पर एक सौ व्यक्तियों का एक दिन में टीकाकरण किया जाएगा। टीकाकरण केंद्र पर तीन कमरे की सुविधा उपलब्ध होगी। पहले कमरे में टीका कराने वाले का पंजीकरण जांच व प्रतीक्षा करने की व्यवस्था होगी। दूसरे कमरें में टीका दिया जाएगा और तीसरे कमरे में आधा घंटा तक टीकाकृत व्यक्तियों की निगरानी की जाएगी। उन्होंने कहा कि कोरोना टीकाकरण को लेकर पूर्व कप्रोटोकॉल पूर्ववत ही लागू रहेंगे।

इस तरह होगा टीकाकरण केंद्रों का विस्तार
फिर 15 मार्च तक इसे बढ़ाकर 1000 केंद्रों में मिलेगी सुविधा
16 मार्च से 31 मार्च तक 1200 केंद्र संचालित होंगे
01 अप्रैल से 15 अप्रैल तक 1500 केंद्र संचालित होंगे
16 अप्रैल से 30 अप्रैल तक 1600 केंद्रों पर होगा टीकाकरण

Input: Live Hindustan

Continue Reading

BIHAR

इंडिया टॉय फेयर-2021 में शामिल हुई मधुबनी की सिक्की कला, रैयाम गांव की सुधीरा देवी का हुआ चयन

Muzaffarpur Now

Published

on

India Toy Fair-2021 जिले की सिक्की कला को देश-दुनिया में पहचान मिल रही है। शनिवार को प्रधानमंत्री ने इंडिया टॉय फेयर-2021 की वर्चुअल शुरूआत की तो इसमें बिहार से सिक्की (एक तरह की घास) से बने खिलौने लेकर सुधीरा देवी शामिल हुई। देश के पारंपरिक खिलौना उद्योग को गति देने के लिए इस चार दिवसीय वर्चुअल मेले में सिक्की कला के शामिल होने से इसे नया बाजार मिलने की उम्मीद है।

इंडिया टॉय फेयर में बिहार से सिक्की कला को शामिल किया गया है। इसके लिए झंझारपुर प्रखंड के रैयाम गांव की सिक्की कलाकार सुधीरा देवी का चयन हुआ। दो मार्च तक चलने वाले इस फेयर में सुधीरा देवी द्वारा सिक्की से तैयार 50 तरह की कलाकृतियों को ऑनलाइन खरीदारी की जा सकती है। इसमें सुधीरा के हाथों से बनाए देसी खिलौने व सिक्की पेंटिंग सहित अन्य वस्तुएं शामिल हैं।

250 से पांच हजार रुपये कीमत :

सिक्की से बने हाथी व गाय पांच सौ से चार हजार रुपये, कछुआ, मछली, उल्लू, चिड़िया, डमरू, बिल्ली, सेफ बॉक्स, गमला, फूल स्टीक, गुड़या 250 से एक हजार, सिक्की से तैयार चूड़ी 50 से 250 रुपये दर्जन, थ्री पीस सेट 200 से 300 रुपये, कान की बाली 100 से 350 रुपये, कान की लड़ी 50 से 100 रुपये, झुमका 50 से 100 रुपये, अंगूठी 100 से 200 रुपये, नेकलेस 200 से पांच हजार रुपये, नथिया 100 से 300 रुपये, पायल 100 से 400 रुपये, दुल्हन सेट एक से दस हजार रुपये में उपलब्ध है।

वीडियो के जर‍िए वस्तुओं की जानकारी : 

सुधीरा देवी ने बताया कि फेयर में शामिल होने के लिए उनसे एक महीने पहले सूक्ष्म, लघु औश्र मध्यम उद्यम (एमएसएमई) मंत्रालय, दिल्ली की ओर से संपर्क किया गया। वहां से कौशल कुमार एक सहयोगी के साथ रैयाम पहुंचे थे। उन्होंने सिक्की से बने खिलौनों व अन्य वस्तुओं का एक घंटे का वीडियो बनाया। इसमें हर खिलौने के बारे में जानकारी और उसका दाम बताया गया है। टॉय फेयर में इसे दिखाया जा रहा है। लोगों द्वारा पसंद किए गए खिलौनों का ऑनलाइन आर्डर किया जा सकता है। इसके बाद इसकी आपूर्ति की जाएगी।

राज्य पुरस्कार से सम्मानित :

44 वर्षीय सुधीरा देवी ढ़ाई दशक से सिक्की कला के क्षेत्र में कार्य कर रही है। उन्हें सिक्की कला के क्षेत्र में वर्ष 2015-16 का राज्य पुरस्कार प्रदान किया जा चुका है। वर्ष 2016 में भारत सरकार ने राष्ट्रीय श्रेष्ठता प्रमाण पत्र दिया था।

Input: Dainik Jagran

Continue Reading

BIHAR

दरभंगा: एयरपोर्ट का स्वरूप बदलने के ल‍िए 78 एकड़ जमीन की खोज शुरू

Muzaffarpur Now

Published

on

दरभंगा एयरपोर्ट पर लगातार बढ़ रही यात्रियों की संख्या को देखते हुए इसके दायरे को बढ़ाने के लिए चल रही सरकारी कोशिशों के तहत अब 78 एकड़ भूमि की खोज चल रही है। यह जमीन बिल्कुल नई और अलग होगी। इसके तहत करीब 24 एकड़ रन-वे और 54 एकड़ जमीन इन्क्लेव के लिए ढूंढी जा रही है। इसके लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया की टीम दरभंगा का दौरा कर चुकी है। प्रारंभिक तौर पर वर्तमान एयरपोर्ट से सटे रानीपुर इलाके में जमीन चिह्नित किया जा चुका है। बताया गया है कि पिछले पखवारे एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया की छह सदस्यीय टीम दरभंगा आई थी।

संबंधित भू-खंड का निरीक्षण किया

इस दौरे के दौरान जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ विकास और स्थापना से संबंधित कई विषयों पर हुई बैठक के बाद नई और अलग जमीन देखने की योजना के तहत संबंधित भू-खंड का निरीक्षण किया गया। इस दौरान एक्सपर्ट ने गूूगल मैपिंग के जरिए जमीन को देखा। मौके पर जिला प्रशासन के संबंधित अधिकारी मौजूद रहे। अब एयरपोर्ट अथॉरिटी की ओर से आनेवाले आधिकारिक पत्र का इंतजार किया जा रहा है। पत्र आने के साथ भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू होगी।

पूर्व में चिह्नित 31 एकड़ भूमि के अधिग्रहण का मामला लटका

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक इससे पहले भी एयरपोर्ट के लिए 31 एकड़ जमीन का अधिग्रहण करने की बात थी। इसके तहत जिला प्रशासन की ओर भूमि चिह्नित कर मंत्र‍िमंडल सचिवालय को रिपोर्ट भेजी थी। रिपोर्ट में दरभंगा एयरपोर्ट के भविष्य को देखते हुए ऑल वेदर एयरपोर्ट निर्माण का सुझाव दिया गया था। इस बीच पहले से एयरफोर्स व एयरपोर्ट अथॉरिटी के बीच चल रही भूमि बदलने की प्रक्रिया सुरक्षा कारणों के पेंच में फंस गया। नतीजतन फिर से नई जमीन के चयन की कवायद की गई है।

Input: Dainik Jagran

Continue Reading
BIHAR12 mins ago

बिहार में निजी अस्पतालों में भी मुफ्त कोरोना टीका, कल सीएम नीतीश खुद लेंगे IGIMS में वैक्सीन की पहली डोज

BIHAR1 hour ago

इंडिया टॉय फेयर-2021 में शामिल हुई मधुबनी की सिक्की कला, रैयाम गांव की सुधीरा देवी का हुआ चयन

TECH1 hour ago

क्या है फेसबुक का $650 मिलियन का केस जिसके तहत 16 लाख यूज़र्स को मिल सक’ते हैं $345?

BIHAR4 hours ago

दरभंगा: एयरपोर्ट का स्वरूप बदलने के ल‍िए 78 एकड़ जमीन की खोज शुरू

TRENDING4 hours ago

गुलाम नबी आजाद ने की मोदी की तारीफ, कहा- पीएम बनने के बावजूद नहीं भूले अपनी जड़ें

BIHAR5 hours ago

BJP नेता ने की फायरिंग, 5 जख्मी, वीडियो वायरल, एक महीने बाद भी कोई कार्रवाई नहीं

VIRAL6 hours ago

तस्वीरों में देखे जा रहे राहुल गांधी के ऐब्स और बाइसेप्स, इन नेताओं ने शेयर की तस्वीर

BIHAR6 hours ago

विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार का पोस्टमार्टम करने बैठे चिराग पासवान

BIHAR6 hours ago

पश्चिम बंगाल में ममता की ही चलेगी मर्जी, तेजस्‍वी ने कहा- जितनी भी सीटें दें दीदी, लड़ेंगे जरूर

TRENDING6 hours ago

ये हैं भारत के 5 सुपर रिच भिखारी, करोड़ों में है संपत्ति, फ्लैट और कैश

INDIA3 days ago

सरकारी नौकरी के चयन में योग्यता को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया अहम आदेश

MUZAFFARPUR2 weeks ago

मुजफ्फरपुर के गायघाट का युवक उत्तराखंड के चमोली त्रासदी में लापता

MUZAFFARPUR4 weeks ago

सरकारी जमीन पर कब्जा : मुजफ्फरपुर में नहर को बंदकर उसकी जमीन पर बना दिया पक्का मकान

INDIA3 days ago

कल भारत बंद, इन मांगों को लेकर 8 करोड़ व्यापारी करेंगे हड़ताल

BIHAR2 weeks ago

हजार रुपये बकाया होगा तो भी बिजली कटेगी, बकाएदारों पर बड़ी कार्रवाई शुरू

BIHAR4 weeks ago

सुविधाओं में बदलाव : आय, जाति व आवास प्रमाण पत्र राजस्व कर्मचारी जारी करेंगे

MUZAFFARPUR3 weeks ago

मुजफ्फरपुर में मिला सात फीट का अजगर, भेजा जाएगा पटना चिडिय़ाघर

TRENDING4 weeks ago

ईमानदारी की पेश की नयी मिसाल, ऑटोड्राइवर ने लौटाए सवारी के 20 लाख के सोने के गहने

BIHAR4 days ago

बिहार पुलिस में नौकरी का सुनहरा मौका, 69 हजार तक की सैलरी पाने के लिए 24 फरवरी से करें आवेदन

INDIA2 weeks ago

50-200 रुपए के नकली नोट फैले हैं मार्केट में, RBI ने किया अलर्ट

Trending