बिहार में AES से 143 की मौत: SC में जनहित याचिका दायर, CM नीतीश व डॉ. हर्षवर्धन पर भी मुकदमा
Connect with us
leaderboard image

MUZAFFARPUR

बिहार में AES से 143 की मौत: SC में जनहित याचिका दायर, CM नीतीश व डॉ. हर्षवर्धन पर भी मुकदमा

Santosh Chaudhary

Published

on

बिहार में एईएस (एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम) या इंसेफेलौपैथी से मौत का सिलसिला थमता नजर नहीं आ रहा। इस साल अभी तक मौत का आंकड़ा 143 पार कर गया है। बुधवार की सुबह भी कुछ बच्‍चों की मौत हुई है। बीमारी के इस कहर के कारण केंद्र व राज्‍य सरकारों पर मुकदमों का सिलसिला चल पड़ा है। बुधवार को अस्‍पतालों में सुविधाओं को बढ़ाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर की गई।

मंगलवार को भी मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार तथा केंद्र व राज्‍य के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रियों के खिलाफ मुकदमा किया गया। इसके पहले भी केंद्र व राज्‍य के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रियों पर एक और मुकदमा दर्ज किया जा चुका है। उधर, मानवाधिकार आयोग ने भी केंद्र व राज्‍य से रिपोर्ट तलब किया है।

सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर 

बिहार में एईएस से बच्चों की मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा। इसे देखते हुए अब सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर कर इलाज की सुविधाएं बढ़ाने तथा इसमें अभी तक हुई लापरवाही की जिम्‍मेदारी तय करने का आग्रह किया गया है। याचिका में प्रभावित इलाकों में सौ मोबाइल आइसीयू बनाने तथा अस्‍पतालों में डॉक्‍टरों की संख्‍या बढ़ाने की मांग की गई है।

वकील मनोहर प्रताप और सनप्रीत सिंह अजमानी द्वारा सुप्रीम कोर्ट में दायर इस जनहित याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के लिए स्‍वीकार कर लिया है। इसकी सुनवाई सोमवार को होगी।

सीएम नीतीश-हर्षवर्धन पर मुकदमा

एईएस से बच्चों की मौत को लेकर मुजफ्फरपुर के अधिवक्ता पंकज कुमार ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व अन्य के विरुद्ध मंगलवार को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (सीजेएम) कोर्ट में परिवाद दाखिल किया गया। इसमें उन्‍होंने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे, राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार, बिहार मेडिकल सर्विसेज एंड इंफ्रास्ट्रक्चर कॉरपोरेशन लिमिटेड (बीएमएसआइसीएल) के प्रबंध निदेशक संजय कुमार सिंह, जिलाधिकारी आलोक रंजन घोष, सिविल सर्जन डॉ.शैलेश प्रसाद सिंह व एसकेएमसीएच के अधीक्षक डॉ.सुनील कुमार शाही को आरोपित बनाया है।

परिवाद में आरोप लगाया गया है कि सरकारी अस्पतालों में आपूर्ति की जाने वाली दवाएं केंद्रीय व राज्य प्रयोगशालाओं से जांच रिपोर्ट मिले बिना ही मरीजों को दी जाती हैं। सरकारी अस्पतालों में जेनरिक दवाओं की आपूर्ति की जाती है। इनकी पोटेंसी सामान्यत: छह माह की होती है। जबकि, इनका उपयोग एक से दो साल तक किया जाता है। सूचना के अधिकार के तहत मांगी जानकारी में बीएमएसआइसीएल ने बताया है कि दवाओं की गुणवत्ता की जांच निजी जांच प्रयोगशाला में कराई जाती है।

केंद्रीय व बिहार के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री पर एक और मुकदमा

इसके पहले भी बिहार में एईएस से बच्‍चों की लगातार हो रही मौतें व बीमारी के इलाज में लापरवाही के आरोप में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन तथा राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के खिलाफ मुजफ्फरपुर कोर्ट में परिवाद दायर किया गया है। परिवाद सोमवार को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी ( सीजेएम) सूर्यकांत तिवारी के कोर्ट में सामाजिक कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी ने दाखिल किया है। कोर्ट ने इसपर सुनवाई के लिए 24 जून की तारीख मुकर्रर की है।

अपने परिवाद पत्र में तमन्‍ना हाशमी ने आरोप लगाया है कि उक्‍त मंत्रियों ने अपने कर्तव्य का पालन नहीं किया। जागरूकता अभियान नहीं चलाने के कारण बच्चों की मौतें हो गईं। आरोप के अनुसार बीमारी को लेकर आज तक कोई शोध भी नहीं किया गया। लापरवाही के कारण बच्चों की मौत हुई है।

मानवाधिकार आयोग ने मांगी रिपोर्ट

भयावह हालात को देखते हुए राष्‍ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने केंद्र व राज्‍य सरकारों से जवाब-तलब किया है। एनएचआरसी ने मौत के आंकड़ों, बीमारी से बचाव व इसके इलाज की तैयारियों को लेकर चार सप्‍ताह में जवाब मांगा है।

जानिए बीमारी के लक्षण

एईएस के लक्षण अस्पष्ट होते हैं, लेकिन डॉक्टरों का कहना है कि इसमें दिमाग में ज्वर, सिरदर्द, ऐंठन, उल्टी और बेहोशी जैसी समस्याएं होतीं हैं। शरीर निर्बल हो जाता है। बच्‍चा प्रकाश से डरता है। कुछ बच्चों में गर्दन में जकड़न आ जाती है। यहां तक कि लकवा भी हो सकता है।
डॉक्‍टरों के अनुसार इस बीमारी में बच्चों के शरीर में शर्करा की भी बेहद कमी हो जाती है। बच्चे समय पर खाना नहीं खाते हैं तो भी शरीर में चीनी की कमी होने लगती है। जब तक पता चले, देर हो जाती है। इससे रोगी की स्थिति बिगड़ जाती है।

वायरस से होता राग, ऐसे करें बचाव

यह रोग एक प्रकार के विषाणु (वायरस) से होता है। इस रोग का वाहक मच्छर किसी स्वस्थ्य व्यक्ति को काटता है तो विषाणु उस व्यक्ति के शरीर में प्रवेश कर जाते हैं। बच्चे के शरीर में रोग के लक्षण चार से 14 दिनों में दिखने लगते हैं। मच्छरों से बचाव कर व टीकाकरण से इस बीमारी से बचा जा सकता है।

10 सालों में 485 से अधिक बच्चों की मौत

विदित हो कि पिछले 10 सालों के दौरान उत्तर बिहार के 485 से अधिक बच्चों की मौत एईएस या इंसेफेलौपैथी से हो गई है। वर्ष 2012 व 2014 में इस बीमारी के कहर से मासूमों की ऐसी चीख निकली कि इसकी गूंज पटना से लेकर दिल्ली तक पहुंची थी। बेहतर इलाज के साथ बच्चों को यहां से दिल्ली ले जाने के लिए एयर एंबुलेंस की व्यवस्था करने का वादा भी किया गया। मगर, पिछले दो-तीन वर्षों में बीमारी का असर कम होने पर यह वादा हवा-हवाई ही रह गया। पर इस वर्ष बीमारी अपना रौद्र रूप दिखा रही है। इस साल तो मौत का आंकड़ा 10 सालों में सर्वाधिक हो गया है।

वर्षवार एईएस से मौत, एक नजर

2010: 24

2011: 45

2012: 120

2013: 39

2014: 86

2015: 11

2016: 04

2017: 04

2018: 11

2019: 143 (अब तक)

Input : Dainik Jagran

MUZAFFARPUR

मुज़फ़्फ़रपुर में फिनांसकर्मी से पि’स्टल के ब’ल पर लू’ट

Abhay Raj

Published

on

जिले के मिठनपुरा था’ना क्षेत्र में अहले सुबह अ’प’राधियों ने पि’स्टल का भ’य दिखा कर बी’च स’ड़क पर एक माईक्रोफाईनेंस के कर्म’चारी से नग’दी समेत कं’पनी के काग’जात लू’ट लिया.

घटना की सूचना पर पुलिस उपाधीक्षक नगर व मिठनपुरा थाना पुलिस ने मौके पर पहुँच पीडि़त व आसपास के लोगों से घटना की बाबत जानकारी हासिल की और जांच पड़ताल करते हुये अपराधियों को चिन्हित कर रही है.

मिली जानकारी के अनुसार मिठनपुरा थाना क्षेत्र के रामबाग चौडी में बाईक सवार दो अपराधियों ने काजीमोहम्मपुर थाना क्षेत्र के चक्कर चौक स्थित शेयर माईक्रोफाईनेंस नामक कंपनी के कर्मचारी से पिस्टल सटा कर बैग में रखे 28 हजार 664 रुपये व अन्य महत्वपूर्ण कागजात लूट लिये.

पीड़ित फाईनेंसकर्मी भागलपुर के नाथनगर थानान्तर्गत भदौडिया निवासी विकास कुमार ने बताया कि रामबाग चौडी में अहले सुबह समूह की बैठक के बाद पैसे वसूल कर चक्कर चौक स्थित कार्यालय जा रहा था. कुछ दूर आगे बढ़ने पर पहले से घात लगाये अपराधियो ने आगे से उसकी बाईक रोक लिया.पिस्टल का खौफ दिखा कर बैग छीन लिया.उसके बाद पिस्टल लहराते हुए खादी भंडार चौक की ओर फरार हो गये.

ब्लू रंग के ग्लैमर मोटरसाइकिल पर सवार एक अपराधकर्मी ने लाल रंग की टी शर्ट और एक ने नीले रंग की चेकदार शर्ट पहन रखी थी. पुलिस उपाधीक्षक नगर रामनरेश पासवान को आसपास के लोगों ने बताया कि दोनो अपराधी लगभग बीस मिनट से अपनी बाईक लगाकर नहर किनारे खड़े थे.

माइक्रो फाईनेंस कंपनी के अधिकारी के आने और कलेक्शन के पैसे का हिसाब मिलाने के बाद 28 हजार 664 रुपये की लूट स्पष्ट हो सकी. इससे पूर्व फिनांसकर्मी ने पुलिस को 30 हजार रुपये से उपर की लूट बताई थी.

घटनास्थल पर आसपास के लोगों से भी घटना के बाबत जानकारी ली गई. स्थानीय लोगों ने बताया कि आसपास के इलाकों में सीसीटीवी कैमरा नहीं है. घटना घटित होते आसपास के कई लोगों ने देखा पर अपराधियों के हाथ में हथियार देख कर अपराधियों को रोकने की किसी की हिम्मत नहीं हुई.

Continue Reading

MUZAFFARPUR

संतान की दीर्घायु, आरोग्यता व कल्याण के लिए माताएं करेंगी जीवित्पुत्रिका व्रत

Ravi Pratap

Published

on

संतान की दीर्घायु, आरोग्यता व कल्याण के लिए किए जाने वाले जीवित्पुत्रिका व्रत यानी जीउतिया की काफी महत्ता है। यह आश्विन मास के कृष्ण पक्ष की सप्तमी से लेकर नवमी तिथि तक मनाया जाता है। शुक्रवार को नहाय-खाय के साथ इसकी शुरुआत होगी। व्रत के पूर्व दिवस पर गुरुवार को माताएं जरूरी सामग्री की खरीदारी में जुटी रहीं।

शनिवार को दिन-रात निर्जला व्रत रखने के बाद रविवार की दोपहर तीन बजे के बाद माताएं पारण करेंगी। रामदयालु स्थित मां मनोकामना देवी मंदिर के पुजारी पंडित रमेश मिश्र व सिकंदरपुर मोड़ स्थित बाबा अजगैबीनाथ मंदिर के पुजारी पंडित संजय मिश्र ने बताया कि शनिवार की सुबह पांच बजे के पूर्व ओठगन की रस्म होगी।

शास्त्रों में बताया गया है कि जो भी स्त्रियां संतान के दीर्घायु, आरोग्य व कल्याण की कामना से पूरी निष्ठा से जिमूतवाहन देव की पूजा-आराधना करती हैं। व्रत रखते हुए निष्ठापूर्वक कथा श्रवण कर ब्राह्मण को यथा सामथ्र्य दान-दक्षिणा देती हैं, उन्हें संतान सुख व समृद्धि की प्राप्ति होती है।

सदर अस्पताल स्थित मां सिद्धेश्वरी दुर्गा मंदिर के पुजारी पंडित देवचंद्र झा बताते हैं कि आश्विन मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि के दिन माताएं निर्जला व्रत करती हैं। सूर्योदय के बाद कुछ भी खाने-पीने की सख्त मनाही होती है। अगले दिन नवमी तिथि में व्रत का पारण किया जाता है। व्रत के पहले दिन माताएं नहाय-खाय के साथ इसकी शुरुआत करती हैं।

वे महिला पितरों व जिमूतवाहन को सरसों का तेल व खल्ली चढ़ाती हैं। इसमें मड़ुआ के आटा की रोटी, नोनी का साग व झिंगुनी की सब्जी का खास महत्व बताया गया है। शुक्रवार को माताएं सुबह जल्दी जगने के बाद पूजा-पाठ कर भोजन ग्रहण करेंगी। एक बार भोजन करती हैं। उसके बाद दिन भर कुछ भी नहीं खातीं।

भगवानपुर की गीता देवी ने कहा कि जीवित्पुत्रिका संतान की लंबी आयु के लिए किया जाता है। कई विवाहित महिलाएं इसे पुत्र प्राप्ति के लिए भी करती हैं। बीबीगंज की रानी देवी ने कहा कि व्रत के बारे में लोगों की आस्था है कि इसे करने से भगवान जिमूतवाहन पुत्र पर आने वाली सभी परेशानियों से उसकी रक्षा करते हैं।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर के लाल साहिल बनें अमेरिकन टीवी शो ‘वर्ल्ड ऑफ डांस’ के उपविजेता

Santosh Chaudhary

Published

on

कहतें हैं ना कि लगन और जुनून से अगर कोशिश की जाए तो पुरी दुनिया फतह की जा सकती हैं। ऐसा ही कुछ कारनामा हमारे मुजफ्फरपुर के बेटे ने कर दिखाया है। अपने शहर के बालूघाट के रहने वाले साहिल गुप्ता नें पुरे विश्व में लोकप्रिय अमेरिकन डांसिंग टीवी शो ‘वर्ल्ड ऑफ डांस’ के उपविजेता बनें।

बता दें कि अमेरिका में हो रहे इस डांसिंग शो में हमारे देश के कई हिस्सों से प्रतिभागियों ने भी भाग लिया था जिनमें हमारे मुजफ्फरपुर के साहिल गुप्ता भी शामिल थें। अपनी नृत्य कला से साहिल नें इस शो के लगभग सभी प्रतिभागियों को मात दी और पुरे विश्व में दुसरा स्थान प्राप्त किया।

साहिल अपने काम के प्रति काफी मेहनती व संवेदनशील है। लगातार कठिन परिश्रम के परिणामस्वरूप उन्होंने इतनी बड़ी सफलता प्राप्त की और पुरे विश्व में हमारे देश भारत, हमारे राज्य बिहार व हमारे शहर मुजफ्फरपुर का नाम रौशन किया। साहिल गुप्ता को मुजफ्फरपुर नाउ की पूरी टीम की तरफ से ढ़ेर सारी शुभकामनाएं। आप भी शहर के इस होनहार बेटे को बधाई देना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स आपकी प्रतिक्षा कर रहा है।

Continue Reading
Advertisement
BIHAR44 mins ago

तेजस्वी का CM नीतीश से सवाल-नहीं आता था क,ख, ग, घ तो डिप्टी सीएम क्यों बनाया

BIHAR2 hours ago

पंकज त्रिपाठी ने चुराई थी मनोज वाजपेयी की चप्पल, भावुक होकर बताई वजह

TRENDING3 hours ago

लाइव शो में कुर्सी से गिरा पाक पैनललिस्ट, लोग बोले- पैरों तले खिसक गई जमीन, VIDEO Viral

MUZAFFARPUR5 hours ago

मुज़फ़्फ़रपुर में फिनांसकर्मी से पि’स्टल के ब’ल पर लू’ट

MUZAFFARPUR6 hours ago

संतान की दीर्घायु, आरोग्यता व कल्याण के लिए माताएं करेंगी जीवित्पुत्रिका व्रत

MUZAFFARPUR6 hours ago

मुजफ्फरपुर के लाल साहिल बनें अमेरिकन टीवी शो ‘वर्ल्ड ऑफ डांस’ के उपविजेता

INDIA6 hours ago

तेलुगु स्टार नागार्जुन ने पी वी सिंधु को गिफ्ट की 73 लाख की BMW X5 SUV

BIHAR7 hours ago

जिस तेजस विमान से रक्षा मंत्री ने रचा इतिहास उसे उड़ा रहा था बिहार का लाल

INDIA7 hours ago

आयुष्मान भारत योजना के तहत अब रेलवे अस्पताल में भी इलाज

BIHAR8 hours ago

समस्तीपुर की बेटी अंजलि की नई उड़ान, विदेश में यूं बढ़ाया देश और बिहार का नाम

INDIA2 weeks ago

New MV Act के भारी चालान से बचा सकता है आपका स्मार्ट फोन, जानिए- कैसे

BIHAR2 weeks ago

ट्रैफिक फाइन-DL व RC नहीं दिखाने पर तत्काल नहीं कट सकता चालान, जानिए नियम

BIHAR1 week ago

UP-दिल्ली-बिहार समेत देश भर के लोगों को DL-RC में अपडेट करनी होगी ये जानकारी

Uncategorized2 weeks ago

Jio Fiber Plans हुए लॉन्च, जानें कैसे आपकी जिंदगी और घर खर्च पर पड़ेगा इसका असर

BIHAR1 week ago

KBC सीजन 11 का पहला करोड़पति बना बिहार का लाल, जहानाबाद के सनोज राज ने रचा इतिहास

BIHAR2 weeks ago

बिहार पु’लिस का आदेश – चप्पल पहनकर बाइक चलाई तो एक हजार जु’र्माना

OMG1 week ago

दिल्ली में कटा ‘भगवान राम’ का 1.41 लाख का चालान, कोर्ट में जाकर भरा

MUZAFFARPUR2 weeks ago

मुजफ्फरपुर में पु’लिस पर ह’मला: ASI समेत 3 पुलिसकर्मी हुए ज’ख्मी

BIHAR3 weeks ago

370 इफ़ेक्ट: बिहारी लड़कों ने कश्मीरी लड़कियों से रचाई शादी, सुपौल लाते ही लग गया थाने का चक्कर

BIHAR2 weeks ago

10 दिन पहले 56 हजार में खरीदी थी स्कूटी, 42 हजार का आया चा’लान

Trending

0Shares