Connect with us

HEALTH

बेस्ट इम्युनिटी बूस्टर है लीची, गर्मी में स्किन का भी रखती है ख्याल

Muzaffarpur Now

Published

on

लीची (Lychee) गर्मियों के सीजन में आने वाला एक प्रमुख फल है. ये सेहत के लिहाज से बहुत फायदेमंद है. लीची में कार्बोहाइड्रेट, विटामिन सी, विटामिन ए और बी कॉम्प्लेक्स काफी मात्रा में पाया जाता है. इसके अलावा लीची में पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस और आयरन जैसे मिनरल्स पाये जाते हैं. लीची स्वादिष्ट फल होने के साथ ही शरीर में ऊर्जा के लिए आवश्यक स्टेरॉयड हार्मोन और हीमोग्लोबिन का निर्माण करने का काम करती है.

इम्युनिटी बढ़ाती है

द हेल्थ साइट की खबर के अनुसार लीची में विटामिन-सी की प्रचुरता होती है इसके कारण यह प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट्स का स्त्रोत है. ऐसे में यह तत्त्व रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर संक्रमण से बचाता है. साथ ही बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करता है. इससे स्किन चमकदार रहती है. लीची का प्रयोग अस्‍थमा से बचाव के लिए भी किया जाता है.

न्यूट्रीशन इंडेक्स 100 ग्राम लीची में 72मिलीग्राम विटामिन-सी होता है. साथ ही इसमें 66 कैलौरी ऊर्जा, 5मिग्रा कैल्शियम, 10 मिग्रा मैग्नीशियम आदि विभिन्न तत्त्व होते हैं. इसमें कार्बोहाइड्रेट, विटामिन-ए, सी व बी कॉम्प्लेक्स, पोटैशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, लौह जैसे खनिज लवण भी होते हैं. इसमें सैचुरेटेड फैट और सोडियम की मात्रा बेहद कम होती है.

कितनी मात्रा खाएं

लीची ऊर्जा के बेहतर स्त्रोतों में से एक है. रोजाना 4-5 लीची खा सकते हैं. बेस्ट टाइम-गर्मियों में लीची शरीर में तरावट बनाए रखती हैं. घर से बाहर कहीं निकल रहे हैं तो बीच-बीच में लीची खा सकते हैं. शाम को या भोजन के बाद खा सकते हैं.

ये लोग न करे सेवन

डायबिटीज के मरीजों को इसकी कम ही मात्रा खानी चाहिए क्योंकि इसमें शुगर का स्तर ज्यादा होता है.

HEALTH

आयुष मंत्रालय का पतंजलि को निर्देश, फिलहाल कोरोना की दवा कोरोनिल का प्रचार न करें

Ravi Pratap

Published

on

आयुष मंत्रालय (Ministry of AYUSH) ने बाबा रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड ( Patanjali Ayurved Ltd) को फिलहाल कोरोनो की दवा कोरोनिल (Coronil) का प्रचार नहीं करने के निर्देश दिए हैं. आयुष मंत्रालय ने पतंजलि से दवा के नतीजों की पूरी जानकारी मुहैया करने का निर्देश दिया है. बता दें कि योग गुरू बाबा रामदेव (Baba Ramdev) ने मंगलवार को कोविड19 (COVID19) की आयुर्वेदिक दवा को लॉन्च किया. इसे कोरोनिल टैबलेट (Coronil) नाम दिया गया है. बाबा रामदेव का कहना है कि यह कोरोना के लिए पहली आयुर्वेदिक क्लीनिकली कंट्रोल्ड, रिसर्च, प्रमाण और ट्रायल बेस्ड दवा है.

 

कोरोनिल किट की इतनी है कीमत

आयुष मंत्रालय ने एक प्रेस रिलीज में कहा, पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड को कोविड-19 इलाज की दवा का नाम और कम्पोजिशन का नाम उपलब्ध कराने को कहा गया है. साथ ही साइट/अस्पताल जहां कोविड-19 के लिए रिसर्च स्टडी, सैम्पल साइज, इंस्टीट्यूशनल एथिक्स कमिटी क्लियरेंस, CTRI रजिस्ट्रेशन और स्टीड का नतीजा उपलब्ध कराने को कहा गया है. इसके अलावा पतजंलि आयुर्वेद को इस तरह के दावों को विज्ञापन / प्रचारित करना बंद करें को कहा है जब तक कि इस मुद्दे की विधिवत जांच नहीं हो जाती.

कोरोनिल किट 545 रुपए में उपलब्ध होगी. योगगुरु रामदेव के मुताबिक, इस दवाई को बनाने में सिर्फ देसी सामान का इस्तेमाल किया गया है, जिसमें मुलैठी-काढ़ा समेत कई चीज़ों को डाला गया है. साथ ही गिलोय, अश्वगंधा, तुलसी, श्वासरि का भी इस्तेमाल किया गया. रामदेव ने कहा कि आयुर्वेद से बनी इस दवाई को अगले सात दिनों में पतंजलि के स्टोर पर मिलेगी, इसके अलावा सोमवार को एक ऐप लॉन्च किया जाएगा जिसकी मदद से घर पर ये दवाई पहुंचाई जाएगी.

बाबा रामदेव ने बताया कि इस दवाई पर हमने दो ट्रायल किए हैं. 100 लोगों पर क्लीनिकल स्टडी की गई उसमें 95 लोगों ने हिस्सा लिया. 3 दिन में 69 फीसदी मरीज ठीक हो गए, जबकि 7 दिन में 100 फीसदी मरीज स्वस्थ हो गए. कोरोनिल को पतंजलि योगपीठ ने बनाया है. बाबा रामदेव ने 3 दवाओं की एक किट लॉन्च की. कोरोनिल के क्लीनिकल कंट्रोल्ड ट्रायल्स पतंजलि रिसर्च सेंटर और NIMS जयपुर ने मिलकर किए हैं.

आचार्य बालकृष्ण के मुताबिक दिव्‍य कोरोनिल टैबलेट में शामिल अश्वगंधा कोविड-19 के आरबीडी को मानव शरीर के एसीई से मिलने नहीं देता. इससे संक्रमित मानव शरीर की स्वस्थ कोशिकाओं में प्रवेश नहीं कर पाता. वहीं गिलोय भी संक्रमण होने से रोकता है. तुलसी का कंपाउंड कोविड-19 के आरएनए-पॉलीमरीज पर अटैक कर उसके गुणांक में वृद्धि करने की दर को न सिर्फ रोक देता है, बल्कि इसका लगातार सेवन उसे खत्म भी कर देता है. वहीं श्वसारि रस गाढ़े बलगम को बनने से रोकता है और बने हुए बलगम को खत्म कर फेफड़ों की सूजन कम कर देता है.

Input : News18

Continue Reading

HEALTH

स्वाद में कड़वा पर सेहत के लिए बेस्ट है करेला, जानिए कैसे

Muzaffarpur Now

Published

on

अपने कड़वे स्‍वाद के बावजूद करेला (Bitter Gourd) जहां खाने में स्‍वादिष्‍ट होता है, वहीं यह पेट से जुड़ी कई समस्‍याओं को दूर करता है. यह औषधीय गुणों से भरपूर होता है और शरीर के इम्‍यून सिस्‍टम (Immune System) को मजबूत बनाता है. इसके अलावा करेले का जूस स्किन (Skin) संबंधी कई समस्‍याओं को दूर करता है और चेहरे की चमक बढ़ाता है. आइए जानते हैं स्किन की चमक बढ़ाने से लेेेेकर सेहत तक किस तरह फायदेमंद है करेला.

Karela ke fayde aur nuksaan : करेला खाने के फायदे ...

 

करेले में ऐंटी-माइक्रोबियल और ऐंटी-बैक्टीरियल प्रॉपर्टीज होती हैं. इनसे खून साफ करने में मदद मिलती हैं. इस वजह से चेहरे पर एक्ने और पिंपल नहीं होते और स्किन चमकदार बनी रहती है.

एक्जिमा और सोरायसिस की बीमारियों में करेले का जूस पीने से बेहद फायदा पहुंचता है. इसके अलावा स्किन संबंधी कई समस्याएं नहीं होतीं.

करेले का जूस किडनी की पथरी निकालने में भी मददगार होता है. इसके अलावा यह उल्‍टी, दस्‍त, गैस की समस्‍या और पीलिया में भी आराम पहुंचाता है.

ग्रीष्मकालीन करेला की खेती कैसे करे ...

करेले में फास्फोरस भरपूर मात्रा में होता है. इसके सेवन से कफ, कब्ज और पाचन संबंधी कई समस्याएं दूर होती हैं. पेट में गैस बनने और अपच होने पर करेले के रस का सेवन काफी फायदेमंद होता है.

खून साफ करने के लिए भी करेला फायदेमंद होता है. साथ ही यह डायबिटीज के मर्ज में भी असरकारक माना जाता है. इसके अलावा आर्थराइटिस और हाथ पैरों में जलन महसूस होने पर करेले के रस की मालिश की जाए तो फायदा मिलता है.

करेला का फायदा - कड़वा करेला का मीठा ...

करेले का जूस ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में असरकारक होता है. इसमें मोमर्सिडीन और चैराटिन नामक के कम्पाउंड होते हैं, जो ब्लड शुगर को कंट्रोल रखते हैं. ऐसे में खाली पेट करेले का जूस पीने से डायबिटीज के मर्ज में फायदा होता है. इसके अलावा करेले में मौजूद बीटा कैरोटीन आंखों के लिए भी फायदेमंद माना जाता है और रौशनी बढ़ाने में मदद करता है.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Muzaffarpur Now इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Input : News18

भरवा करेला मसाला रेसिपी by Archana's Kitchen

Continue Reading

HEALTH

आम खाने से पहले जान लें इसके फायदे बेशुमार

Muzaffarpur Now

Published

on

आम खाने के फायदे (Mango Eating Benefits): गर्मियों का मौसम अपने शबाब पर है. इस मौसम की सबसे ख़ास बात है- आम. आम को फलों का राजा कहा जाता है. आम को कई तरीके से खाया और इस्तेमाल किया जाता है. आम को काटकर छीलकर, निचोड़कर, मैंगो शेक और लस्सी के रूप में इस्तेमाल किया जाता है . फूड हिस्टोरियन केटी आचार्य ने अपनी बुक ‘ए हिस्टोरिकल डिक्शनरी ऑफ इंडियन फूड’ में लिखा है, आम का सबसे पहले उल्लेख ब्राह्मणरायक उपनिषद (c.1000 ईसा पूर्व) में ‘अमरा’ के रूप में मिलता है और थोड़े बाद में शतपथ ब्राह्मण, में आम की खासियतों का जिक्र है. महात्मा बुद्ध को भी आम बहुत पसंद थे. वो आम के बगीचे में ही मेडिटेशन करना पसंद करते थे. ये तो हुईं आम की तारीफ में कुछ बातें लेकिन आह हम आपको एनडीटीवी डॉक्टर के हवाले से आम के कुछ ऐसे फायदों के बारे में बताएंगे जो सेहत के लिहाज से काफी बेहतर हैं…

How to Eat Fresh Mango | Healthy Eating | SF Gate

 

 

विटामिन सी से भरपूर:

आम में विटामिन सी की प्रचुर मात्रा पाई जाती है. इसमें मौजूद शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट बॉडी की रोग प्रतिरक्षा तंत्र को स्ट्रांग करते हैं जिससे कि सर्दी, जुकाम, बुखार से बचत रहती है.

Mango during pregnancy - Benefit, Side effect, Is it safe to eat

आंखों के लिए है बेहतर:

आम का सेवन आंखों की सेहत के लिए भी काफी बेहतर होता है. आम बीटा-कैरोटीन की प्रचुर मात्रा होती है जो विटामिन ए के उत्पादन में मदद करता है. इसमें पाए जाने वाले स्ट्रांग एंटीऑक्सिडेंट आंखों की रोशनी सुधारने में मददगार हैं.

आम खाने के फायदे

पाचन में मदद करता है:

आम स्वस्थ पाचन में मदद कर सकता है. डीके पब्लिशिंग की किताब ‘हीलिंग फूड्स’ के अनुसार, आम में ऐसे एंजाइम होते हैं जो प्रोटीन के टूटने और पाचन में मदद करते हैं और फाइबर भी होता है, जो पाचन क्रिया को बेहतर बनता है. आहार फाइबर हृदय रोग, टाइप 2 मधुमेह के रिस्क को कम करने में मदद करता है. हरे आम में पके आम की तुलना में अधिक पेक्टिन फाइबर होता है.

Murshidabad mangoes, India Post, Kolkata, Bengal, Murshidabad, West Bengal

Continue Reading
INDIA16 seconds ago

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम 4 बजे राष्ट्र के नाम संदेश देंगे

HEALTH5 mins ago

बेस्ट इम्युनिटी बूस्टर है लीची, गर्मी में स्किन का भी रखती है ख्याल

INDIA10 mins ago

अनलॉक 2.0: क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद, सरकार ने जारी की नई गाइडलाइंस

INDIA8 hours ago

फैंस ने अमित शाह से लगाई मदद की गुहार, मौत से पहले सुशांत का विकिपीडिया अपडेट कैसे हुआ?

INDIA9 hours ago

भारत में बन रही कोविड-19 वैक्सीन को बड़ी कामयाबी, ह्यूमन ट्रायल की मिली मंजूरी

INDIA10 hours ago

सरकार का बड़ा फैसला, Tik Tok समेत 59 चाइनीज ऐप पर लगाया बैन

BIHAR11 hours ago

तेजस्वी ने माना- हमसे कुछ गलतियां हुई उसकी सजा जनता ने हमें दिया, अब तो…

BIHAR11 hours ago

आईपीएस पीके दास और शंकर झा को डीआईजी स्तर के सैलरी ग्रेेड में मिला प्रमोशन

BIHAR11 hours ago

MLC बनने की खुशी में कोरोना को भूले, संक्रमण के बीच बहादुरी या लापरवाही ?

INDIA11 hours ago

कंपनी खोलना हुआ आसान, रजिस्ट्रेशन के लिए सिर्फ आधार कार्ड होगा जरुरी

INDIA3 weeks ago

धोनी ने खरीदा स्‍वराज ट्रैक्‍टर तो आनंद महिंद्रा ने दिया बड़ा बयान, वायरल हुआ ट्वीट

BIHAR2 weeks ago

सुशांत के परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़, सदमा नहीं झेल पाईं भाभी, तोड़ा दम

BIHAR2 weeks ago

प्रिय सुशांत – एक ख़त तुम्हारे नाम, पढ़ना और सहेज कर रखना

INDIA2 weeks ago

सुशांत स‍िंह राजपूत की सुसाइड पर बोले मुकेश भट्ट, ‘मुझे पता था ऐसा होने वाला है…’

BIHAR3 weeks ago

लालू के बेटे तेजस्वी यादव की कप्तानी में खेलते हुए बदली विराट कोहली की किस्मत!

MUZAFFARPUR2 weeks ago

सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर एकता कपूर ने तोड़ी चुप्पी, कहा- मेरे खिलाफ मुकदमा करने के लिए शुक्रिया

BIHAR4 days ago

बिहार में नहीं चलेंगी सलमान खान, आलिया भट्ट, करण जौहर की फिल्में

INDIA1 week ago

सुशांत के व्हॉट्सऐप चैट आये सामने, उनको फिल्म करने में हो रही थी परेशानी

INDIA2 weeks ago

चांद पर प्लॉट खरीदने वाले पहले एक्टर थे सुशांत सिंह राजपूत!

INDIA2 weeks ago

मरने से पहले सुशांत सिंह राजपूत ने किया था ट्वीट, ‘मैं इस जिंदगी से तंग आ गया हूं, गुड बाय’

Trending