Connect with us

INDIA

भाजपा नेता बबीता फोगाट ने जमातियों को जाहिल कहा; ट्रोल हुई तो वीडियो शेयर कर बोलीं- सच सुनने की आदत डाल लो

Published

on

पानीपत. कोरोनावायरस की लड़ाई के बीच पहलवान और भाजपा नेता बबीता फोगाट ने जमातियों पर ट्वीट करके विवाद पैदा कर दिया है। ट्वीट के बाद बबीता फोगाट सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रही हैं। दरअसल, फोगाट ने जमातियों को जाहिल कहते हुए ट्वीट किया था। अब ट्रोल होने पर बबीता ने वीडियो जारी कर कहा- मैं अपने ट्वीट पर कायम हूं, जिन्हें सच सुनने में प्रॉब्लम हैं, वे सच सुनने की आदत डाल लें। दरअसल, हरियाणा में अब तक कुल संक्रमित का आंकड़ा 207 पहुंच गया। इसमें 121 ऐसे हैं जिनका जमात से कनेक्शन हैं।

बोली- मैं कोई जायरा वसीम नहीं जो धमकियां सुन घर बैठ जाउंगी
बबीता फोगाट ने कहा- पिछले कुछ दिन पहले मैंने ट्वीट किया था। इसके बाद से कुछ लोग सोशल मीडिया पर गलत-गलत मैसेज करने लगे, गालियां देने लगे और फोन करके धमकी देने लगे। उन लोगों को कह रही हूं कि कान खोलकर सुन लो। दिमाग में बैठा लो। मैं कोई जायरा वसीम नहीं हूं, जो तुम्हारी धमकियां सुनकर घर बैठ जाउंगी। मैं बबीता फोगाट हूं, देश के लिए लड़ी हूं और ऐसे ही लड़ती रहूंगी।

बोली- ट्वीट पर कुछ गलत नहीं लिखा
बबीता फोगाट ने कहा- मैंने ट्वीट पर कुछ गलत नहीं लिखा। उस ट्वीट पर अभी भी कायम हूं। मैंने उन लोगों के बारे में लिखा है जिन्होंने कोरोना संक्रमण को फैलाया है। क्या तब्लीगी जमात के लोगों ने कोरोना संक्रमण को फैलाया नहीं? क्या वे नंबर-1 पर नहीं बने हुए। तब्लीगी जमात के लोगों ने कोरोना नहीं फैलाया होता तो लॉकडाउन कब का खुल चुका होता और कोरोना हार गया होता।

सच सुनने की आदत डाल लो
बबीता ने कहा कि अगर किसी को सच सुनने में प्रॉब्लम है तो बात सुन लो, मैं सच बोलती रहूंगी और लिखती रहूंगी। सच सुनना पसंद नहीं तो आदत सुधार लो और सच सुनने की आदत डाल लो।

Input : Dainik Bhaskar

INDIA

भारतीय ओलंपिक खिलाड़ी होंगे 15 अगस्त पर खास मेहमान, पीएम मोदी करेंगे लाल किले पर आमंत्रित

Published

on

इस बार स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ 15 अगस्त को ओलंपिक खेलों में भाग लेने वाले सभी खिलाड़ी लाल किले पर मुख्य अतिथि होंगे। प्रधानमंत्री मोदी पूरे ओलंपिक दस्ते को निमंत्रण देंगे और व्यक्तिगत तौर पर सभी खिलाड़ियों से मुलाकात करेंगे।

Continue Reading

INDIA

मुस्लिम शख्‍स ने अनाथ लड़की को पाला, फिर हिंदू रीति-रिवाज से उसी धर्म वाले परिवार में की शादी

Published

on

कर्नाटक के विजयपुरा में एक मुस्लिम व्यक्ति जिसने एक अनाथ हिंदू लड़की की देखभाल की थी, उसकी शादी वैदिक परंपराओं के अनुसार एक हिंदू दूल्हे से करा दी है। महबूब मसली एक 18 वर्षीय हिंदू लड़की पूजा वाडिगेरी के अभिभावक हैं, जिसकी हाल ही में शादी हुई है। उन्होंने शुक्रवार को रीति-रिवाजों के अनुसार एक हिंदू व्यक्ति से पूजा की शादी कराई।

पूजा एक दशक पहले अनाथ हो गई थी और उसके अपने रिश्तेदारों द्वारा उसे पालने से मना करने के बाद मसली ने उसकी देखभाल एक पिता के रूप में की। हालांकि मसली दो बेटियों और दो बेटों के पिता हैं, लेकिन उन्होंने पूजा को घर लाने का फैसला किया।

मसली ने कहा, “यह मेरी जिम्मेदारी थी कि मैं उसकी शादी उस धर्म के व्यक्ति से करूं जिससे वह संबंधित है।” उन्होंने कहा, “वह एक दशक से अधिक समय तक मेरे घर में रहीं लेकिन मैंने उन्हें कभी भी हमारे धर्म (इस्लाम) का पालन करने या किसी मुस्लिम व्यक्ति से शादी करने के लिए मजबूर नहीं किया। यह हमारे धर्म के सिद्धांतों के खिलाफ है।” उन्होंने न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया कि दूल्हे के माता-पिता ने बिना दहेज मांगे पूजा को खुशी-खुशी स्वीकार कर लिया। उन्होंने लोगों से विविध समुदायों के बीच सद्भाव से रहने का आग्रह किया। उन्होंने कहा, “मैं समाज को यह संदेश भी देना चाहता हूं कि सभी को सद्भाव से रहना चाहिए।”

मसली शहर में कई सामाजिक सेवाओं और सांप्रदायिक सद्भाव को बढ़ावा देने वाले कार्यक्रमों के आयोजन के लिए जाने जाते हैं। उन्हें शहर में गणपति कार्यक्रमों के आयोजन के लिए भी जाना जाता है।
पूजा ने आभार व्यक्त करते हुए कहा, “मैं बहुत धन्य हूं कि मुझे ऐसे महान माता-पिता बड़े दिल से मिले जिन्होंने मेरी देखभाल की।”

Input : Hindustan

Continue Reading

INDIA

‘तालिबान ने पत्रकार दानिश सिद्दीकी को जिंदा पकड़ा फिर पहचान की पुष्टि कर मार डाला’, रिपोर्ट में खुलासा

Published

on

फोटो पत्रकार दानिश सिद्दीकी की हत्या को लेकर बड़ा दावा किया गया है। एक रिपोर्ट में कहा गया है कि दानिश सिद्दीकी को तालिबानी आतंकियों ने जिंदा पकड़ा था। इसके बाद दानिश सिद्दीकी की पहचान की पुष्टि करने के बाद तालिबान ने उनकी हत्या बेरहमी से की थी। पुलित्जर पुरस्कार विजेता भारतीय फोटो पत्रकार दानिश सिद्दीकी ना तो अफगानिस्तान में गोलीबारी में फंसकर मारे गए, ना ही वह इन घटनाओं के दौरान हताहत हुए बल्कि तालिबान द्वारा उनकी पहचान की पुष्टि करने के बाद ”क्रूरता से हत्या की गई थी। अमेरिका की एक पत्रिका ने बृहस्पतिवार को प्रकाशित एक रिपोर्ट में यह दावा किया।

बता दें कि 38 साल के सिद्दीकी अफगानिस्तान में असाइनमेंट पर थे जब वह मारे गए। पुरस्कार विजेता पत्रकार की कंधार शहर के स्पिन बोल्डक जिले में अफगान सैनिकों और तालिबान के बीच संघर्ष को कवर करते समय मौत हुई थी। ‘वाशिंगटन एक्जामिनर की रिपोर्ट के मुताबिक सिद्दीकी ने अफगान नेशनल आर्मी टीम के साथ स्पिन बोल्डक क्षेत्र की यात्रा की ताकि पाकिस्तान के साथ लगे सीमा क्रॉसिंग पर नियंत्रण के लिए अफगान बलों और तालिबान के बीच चल रही जंग को कवर किया जा सके। रिपोर्ट में कहा गया है कि इस हमले के दौरान, सिद्दीकी को छर्रे लगे और इसलिए वह तथा उनकी टीम एक स्थानीय मस्जिद में गए, जहां उन्हें प्राथमिक उपचार मिला। हालांकि, जैसे ही यह खबर फैली कि एक पत्रकार मस्जिद में है तालिबान ने हमला कर दिया। स्थानीय जांच से पता चला है कि तालिबान ने सिद्दीकी की मौजूदगी के कारण ही मस्जिद पर हमला किया था।

रिपोर्ट में कहा गया कि सिद्दीकी उस वक्त जिंदा थे जब तालिबान ने उन्हें पकड़ा। तालिबान ने सिद्दीकी की पहचान की पुष्टि की और फिर उन्हें और उनके साथ के लोगों को भी मार डाला। कमांडर और उनकी टीम के बाकी सदस्यों की मौत हो गई क्योंकि उन्होंने उसे बचाने की कोशिश की थी। अमेरिकन इंटरप्राइज इंस्टीट्यूट में सीनियर फैलो माइकल रूबीन ने लिखा है कि ‘व्यापक रूप से प्रसारित एक तस्वीर में सिद्दीकी के चेहरे को पहचानने योग्य दिखाया गया है, हालांकि मैंने भारत सरकार के एक सूत्र द्वारा मुझे प्रदान की गई अन्य तस्वीरों और सिद्दीकी के शव के वीडियो की समीक्षा की, जिसमें दिखा कि तालिबान ने सिद्दीकी के सिर पर हमला किया और फिर उन्हें गोलियों से छलनी कर दिया।’

रिपोर्ट में कहा गया है कि ‘तालिबान का हमला करने, सिद्दीकी को मारने और फिर उनके शव को क्षत-विक्षत करने का निर्णय दर्शाता है कि वे युद्ध के नियमों या वैश्विक संधियों का सम्मान नहीं करते हैं।’ सिद्दीकी का शव 18 जुलाई की शाम दिल्ली हवाई अड्डे पर लाया गया और जामिया मिल्लिया इस्लामिया के कब्रिस्तान में उन्हें सुपुर्दे खाक किया गया था।

Input: live hindustan

Continue Reading
TECH3 hours ago

यू-ट्यूब दे रहा हर महीने 7 लाख रुपये से ज्‍यादा कमाई करने का मौका

BIHAR4 hours ago

बिहार में 7 अगस्त से खुलेंगे स्कूल-कोचिंग संस्थान, सरकार ने लिया निर्णय

DHARM6 hours ago

राम भक्तों के लिए बड़ी खबर, दिसंबर 2023 से कर सकेंगे राम लला के दर्शन

BIHAR10 hours ago

वीडियो : सांप काटने से अचेत था एक साल का मासूम, अस्पताल में मोबाइल फ्लैश की रोशनी में हुआ इलाज

BIHAR10 hours ago

पटना के नए बस स्‍टैंड में एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं, एसी वीआइपी लाउंज में करें इंतजार; फ्री मिलेगा इंटरनेट

BIHAR11 hours ago

बिहार पंचायत चुनाव: वोट के लिए नोट लुटाया तो जायेगी उम्मीदवारी

MUZAFFARPUR15 hours ago

किराए के विवाद में कंडक्टर ने चलती बस से यात्री काे फेंका, कुचल कर माैत

MUZAFFARPUR24 hours ago

स्‍मार्ट स‍िटी : म्युनिसिपल शापिंग मार्ट निर्माण के ल‍िए मुजफ्फरपुर में ध्वस्त होगा जर्जर भवन

WORLD24 hours ago

सऊदी अरब में तोड़ा ट्रैवल नियम तो हो सकता है बैंक अकाउंट खाली! लगेगा एक करोड़ रुपये का जुर्माना

BIHAR1 day ago

बिहार की एसडीपीओ ने अपने पति को रातों-रात बना दिया आइपीएस, पीएमओ ने बैठाई जांच

BIHAR3 days ago

बूढ़ी गंडक पर दूसरे पुल की बाधा दूर:अप्राेच पथ के लिए होगा 7.98 एकड़ जमीन अधिग्रहण, अधिसूचना जारी

MUZAFFARPUR15 hours ago

किराए के विवाद में कंडक्टर ने चलती बस से यात्री काे फेंका, कुचल कर माैत

BIHAR3 days ago

पटना में मीठापुर बस स्टैंड की जमीन पर बनेंगी 3 नई यूनिवर्सिटी

BIHAR1 day ago

बिहार की एसडीपीओ ने अपने पति को रातों-रात बना दिया आइपीएस, पीएमओ ने बैठाई जांच

BIHAR1 week ago

मुजफ्फरपुर: अगर सात घंटे पेट दबाकर शौच रोक सकते हों तभी भारतीय रेल के इस ट्रेन से करें सफर

BIHAR2 days ago

अयांश: बिहार का बेटा नहीं खोए इसलिए पटना, मुजफ्फरपुर से लेकर हर जिले से बढ़ रहे मदद के हाथ

BIHAR3 days ago

बिहार: जिस बहन को रायपुर में इंजीनियरिंग करने भेजा उसी ने करवा दिया भाई को गिरफ्तार

TRENDING2 days ago

लखनऊ में ‘उछल-उछलकर’ थप्पड़ बरसाने वाली लड़की पर केस, सीसीटीवी फुटेज से खुली पोल

BIHAR4 hours ago

बिहार में 7 अगस्त से खुलेंगे स्कूल-कोचिंग संस्थान, सरकार ने लिया निर्णय

BIHAR2 days ago

फरियाद सुनकर चौंके CM नीतीश कुमार, तुरंत चीफ सेक्रेटरी को बुलाकर कही ये बात

Trending