Connect with us

TRENDING

भारतीय अरबपति को सिर्फ 73 रुपये में बेचनी पड़ी 2 अरब डॉलर की कंपनी

Muzaffarpur Now

Published

on

संयुक्त अरब अमीरात में भारतीय मूल के अरबपति बीआर शेट्टी की फिनाब्लर पीएलसी अपना कारोबार इजराइल-यूएई कंजोर्टियम को मात्र एक डॉलर (73.52 रुपये) में बेच रही है। बता दें कि पिछले साल से ही उनके सितारे डूबने शुरू हो गए थे। उनकी कंपनियों पर न सिर्फ अरबों डॉलर का कर्ज है बल्कि उनके खिलाफ फर्जीवाड़े की जांच भी चल रही है।

How UAE-based Indian billionaire B.R. Shetty became a billionaire | Markets – Gulf News

पिछले दिसंबर में उनके बिजनेस की मार्केट वैल्यू 1.5 बिलियन पाउंड ($2 बिलियन) रह गई थी, जबकि उन पर एक अरब डॉलर का कर्ज बताया जा रहा था। बीआर शेट्टी की फाइनेंशियल सर्विस कंपनी फिनाब्लर ने घोषणा की कि वह ग्लोबल फिनटेक इन्वेस्टमेंट्स होल्डिंग के साथ एक समझौता कर रही है। जीएफआईएच इजरायल के प्रिज्म ग्रुप की सहयोगी कंपनी है, जिसे फिनाब्लर पीएलसी लिमिटेड अपनी सारी संपत्ति बेच रही है। पिछले साल दिसंबर में फिनाब्लर की मार्केट वैल्यू दो बिलियन डॉलर थी। कंपनी द्वारा इसी साल अप्रैल साझा की गई जानकारी के मुताबिक उस पर एक बिलियन डॉलर से ज्यादा का कर्ज है। बाताया जा रहा है कि यह सौदा संयुक्त अरब अमीरात और इजरायल की कंपनियों के बीच महत्वपूर्ण वाणिज्यिक लेनदेन को लेकर भी है।

Rolls Royce | Cartoq

बीआर शेट्टी ने 1980 में अमीरात के सबसे पुराने रेमिटेंस बिजनेस यूएई एक्सचेंज की शुरुआती की। यूएई एक्सचेंज, यूके की एक्सचेंज कंपनी ट्रैवलेक्स तथा कई छोटे-छोटे पेमेंट सॉल्यूशंस प्रोवाइडर्स तथा शेट्टी की फिनब्लर के साथ मिलकर 2018 में सार्वजनिक हुई।

मात्र आठ डॉलर लेकर पहुंचे थे यूएई

बता दें कि यूएई में हेल्थकेयर इंडस्ट्री में काफी संपत्ति बनाने वाले 77 साल के शेट्टी पहले भारतीय हैं। उन्होंने 1970 में एनएमसी हेल्थ की शुरुआत की थी, जो आगे चलकर साल 2012 में लंदन स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट होने से पहले देश की अपने तरह की पहली कंपनी बनी. कहा जाता है कि 70 के दशक में शेट्टी महज आठ डॉलर लेकर यूएई पहुंचे थे और मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव के रूप में अपने करियर की शुरुआत की थी।

Source : Hindustan

rama-hardware-muzaffarpur

TRENDING

अर्नब की चैट से खुलासे:बालाकोट स्ट्राइक और 370 हटाने जैसे फैसले पहले से पता थे; कांग्रेस का सवाल- पाक से जानकारी छिपाने की गारंटी है?

Ravi Pratap

Published

on

बालाकोट एयर स्ट्राइक के बारे में रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी को पहले से पता था। ये दावा ऑल्ट न्यूज के को-फाउंडर प्रतीक सिन्हा ने किया है। उन्होंने सोशल मीडिया पर एक वॉट्सऐप चैट का स्क्रीनशॉट भी शेयर किया है। सुप्रीम कोर्ट के वकील प्रशांत भूषण ने भी अपनी सोशल मीडिया पोस्ट में कहा है कि जिस पुलवामा हमले में 40 जवान शहीद हुए, अर्नब ने उसका जश्न मनाया था। अर्नब को बालाकोट स्ट्राइक की जानकारी भी 3 दिन पहले मिल गई थी। अर्नब को कश्मीर में आर्टिकल 370 हटाए जाने के बारे में भी पहले से पता था।

 

सोशल मीडिया पोस्ट्स में दावा किया जा रहा है कि अर्नब और दासगुप्ता के बीच यह बातचीत 2019 में हुई थी। इसे मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच के पास मौजूद 500 पेज की वॉट्सऐप चैट का हिस्सा बताया जा रहा है। टीआरपी घोटाले की जांच कर रही मुंबई क्राइम ब्रांच ने हाल ही में 3,600 पन्नों का सप्लीमेंट्री चार्टशीट मुंबई हाईकोर्ट में दाखिल किया है। इसमें पेज नंबर 1994 से 2504 तक अर्नब और दासगुप्ता के बीच हुई वॉट्सऐप चैट का ब्यौरा है।

कांग्रेस के सवाल
पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने अपने सोशल मीडिया पोस्ट में लिखा, ‘अगर मीडिया के एक धड़े की रिपोर्टिंग सही है तो सवाल यह है कि बालाकोट स्ट्राइक और 2019 के आम चुनाव के बीच कोई संबंध है? क्या चुनाव में फायदे के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा को मुद्दा बनाया गया। इसकी संयुक्त संसदीय समिति (JPC) से जांच होनी चाहिए।’

पुलिस ने माना- वायरल चैट चार्जशीट का हिस्सा
मीडिया में यह चैट लीक होने के बाद सहायक पुलिस आयुक्त सचिन वजे ने माना कि यह चैट हाईकोर्ट में दाखिल की गई सप्लीमेंट्री चार्जशीट का हिस्सा है। लेकिन, यह मीडिया तक कैसे पहुंची। इसकी जानकारी उन्हें नहीं है।

अर्नब और BARC के पूर्व CEO के बीच की जो चैट प्रतीक सिन्हा ने शेयर की है, उसमें अर्नब ने लिखा है कि स्ट्राइक करके चुनाव जीता जाएगा।

इससे पहले शुक्रवार को भी प्रशांत भूषण ने सोशल मीडिया पोस्ट लिखी थी। इसमें उन्होंने एक वॉट्सऐप चैट के स्क्रीनशॉट्स शेयर किए थे। इनमें एक नाम अर्नब का नजर आ रहा है, जबकि दूसरे नाम के बारे में दावा किया जा रहा है कि वे पार्थो दासगुप्ता हैं। दासगुप्ता ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल यानी BARC के 2013 से 2019 के बीच CEO थे। फेक TRP स्कैम में उनकी गिरफ्तारी हो चुकी है। BARC वह संस्था है, जो देश के 45 हजार घरों में टीवी पर लगे बार-ओ-मीटर के जरिए हर हफ्ते बताती है कि कौन सा चैनल कितना देखा जा रहा है।

हम यहां बता रहे हैं कि वायरल हो रहे इन चैट स्क्रीनशॉट्स में लिखा क्या है…

स्क्रीनशॉट 1: स्ट्राइक से 3 दिन पहले कुछ बड़ा होने का अर्नब का दावा

प्रतीक सिन्हा ने जो स्क्रीनशॉट शेयर किए हैं, उसमें अर्नब गोस्वामी कह रहे हैं, कुछ बड़ा होना है। ये स्क्रीनशॉट्स 23 फरवरी 2019 के हैं। यानी बालाकोट स्ट्राइक से 3 दिन पहले। इसी बातचीत में BARC के CEO पूछते हैं, क्या दाऊद? अर्नब बोलते हैं- नहीं, पाकिस्तान। कुछ बड़ा होने वाला है। BARC के CEO पूछते हैं कि क्या स्ट्राइक होने वाली है या उससे बड़ा? चैट में अर्नब दावा करते हैं कि सरकार को भरोसा है कि स्ट्राइक जनता को खुश कर देगी।

स्क्रीनशॉट 1: स्ट्राइक से 3 दिन पहले कुछ बड़ा होने का अर्नब का दावा

प्रतीक सिन्हा ने जो स्क्रीनशॉट शेयर किए हैं, उसमें अर्नब गोस्वामी कह रहे हैं, कुछ बड़ा होना है। ये स्क्रीनशॉट्स 23 फरवरी 2019 के हैं। यानी बालाकोट स्ट्राइक से 3 दिन पहले। इसी बातचीत में BARC के CEO पूछते हैं, क्या दाऊद? अर्नब बोलते हैं- नहीं, पाकिस्तान। कुछ बड़ा होने वाला है। BARC के CEO पूछते हैं कि क्या स्ट्राइक होने वाली है या उससे बड़ा? चैट में अर्नब दावा करते हैं कि सरकार को भरोसा है कि स्ट्राइक जनता को खुश कर देगी।

Input: Dainik Bhaskar

rama-hardware-muzaffarpur

Continue Reading

TRENDING

‘दोस्त’ ने किया बेइज्जत: ‘कंगाल’ पाकिस्तान का यात्री विमान मलेशिया ने किया जब्त, उतारे गये यात्री

Ravi Pratap

Published

on

क्वालालंपुर: पैसों के लिए हर जगह हाथ फैलाते और कर्ज के लिए नये नये दोस्त बनाते पाकिस्तान(Pakistan) की बार बार इंटरनेशनल बेइज्जति होती रहती है। लेकिन, लगता है अब पाकिस्तान सरकार को इन बेइज्जतियों से कोई फर्क नहीं पड़ता है। इस बार पाकिस्तान को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उसके ही ‘दोस्त’ मलेशिया(Malaysia) ने भयंकर बेइज्जति कर उसकी जगहंसाई कर दी है। पाकिस्तानी इंटरनेशनल फ्लाइट (PIA) बोइंग 777 को उधार ना चुकाने की वजह से मलेशिया के क्वालालंपुर एयरपोर्ट पर ना सिर्फ जब्त कर लिया गया, बल्कि फ्लाइट से पायलट और यात्रियों को भी उतार दिया गया है। पाकिस्तान ने अपनी अंतर्राष्ट्रीय जगत में हुई इस बेइज्जति को ट्विटर के जरिए कनफर्म भी किया है।

पाकिस्तानी प्लेन जब्त, दुनिया में जगहंसाई

मलेशिया को अपना जिगरी दोस्त बताने वाले पाकिस्तान की सरकारी विमानन कंपनी पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस(PIA) के बोइंग 777 को मलेशिया के क्वालालंपुर में जब्त कर लिया गया। फिर अधिकारियों ने विमान से पायलट समेत सभी यात्रियों को उतारते हुए तब तक विमान नहीं छोड़ने की बात कही, जब तक पाकिस्तान पैसे नहीं देता है। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, जिस विमान को जब्त किया गया है, उसे भी पाकिस्तान सरकार ने लीज़ पर लिया था। दरअसल, पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस के पास 12 बोइंग 777 विमान हैं, जिसे उसने अलग अलग कंपनियों से लीज पर लिया है। और लीज की रकम नहीं चुकाने की वजह से ही मलेशिया में पाकिस्तानी एयरलाइंस को जब्त किया गया है।

PM इमरान खान को प्लेन से उतार चुका है सऊदी अरब

ये कोई पहली दफा नहीं है, जब पाकिस्तान की इंटरनेशनल स्तर पर फजीहत हुई हो। इससे पहले सऊदी अरब सरकार ने पाकिस्तान को दिए गये अपने कर्ज का 3 अरब डॉलर मांग लिए थे। सऊदी अरब के पैसे मांगते ही पाकिस्तानी हुकूमत के हाथ-पांव फूल गये और भागता पाकिस्तान चीन के पैरों में पैसों के लिए गिर गया था। फिर चीन से पैसे लेकर पाकिस्तान ने 3 अरब डॉलर लेकर उसने सऊदी अरब को पैसे लौटाए। पैसे नहीं चुकाने की वजह से ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को UN से लौटते वक्त सऊदी के क्राउन प्रिंस ने अपने प्लेन से उतार दिया था।

मलेशिया और तुर्की को पक्का दोस्त बताता है पाकिस्तान

पाकिस्तान पैसों के लिए नये नये दोस्त बनाता रहता है। इस वक्त पाकिस्तान तुर्की के बेहद नजदीक है, और वो मलेशिया को अपना जिगरी दोस्त बताता रहता है। इससे पहले सऊदी अरब को भी पाकिस्तान मुस्लिम मुल्क होने के नाते जिगरी यार बताता रहा है, लेकिन जब सऊदी अरब को लग गया कि पाकिस्तान सिर्फ पैसों के लिए ही उसके साथ है, तो उसने पाकिस्तान से पैसे मांग लिए। जिसके बाद अचानक पाकिस्तानी नेताओं ने सऊदी अरब को अपना दुश्मन बताना शुरू कर दिया। इस वक्त पाकिस्तान पैसे एंठने के लिए तुर्की की तारीफें के पुल बांधता रहता है और तुर्की ने आश्वासन दिया है, कि वो पाकिस्तान को आर्थिक मदद देगा।

Input: one india

rama-hardware-muzaffarpur

Continue Reading

TRENDING

20 माह की धनिष्ठा ने बचाई 5 लोगों की जिंदगी, यंगेस्ट कैडेवर डोनर बनी

Muzaffarpur Now

Published

on

कोई लंबी जिंदगी गुजार कर भी परोपकार नहीं कर पाता और धनिष्ठा नाम की नन्ही सी बच्ची ने जाते-जाते पांच जिंदगियों को बचा लिया। इसके साथ ही दिल्ली के रोहिणी इलाके की मात्र 20 माह की बच्ची धनिष्ठा सबसे कम उम्र की कैडेवर डोनर (Cadaver donor) बन गई। इस नन्ही परी की मौत के बाद इसके अंगों को दान कर दिया गया जिसके बाद जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे पांच मरीजों नया जीवन मिल गया।

20 month old Dhanistha becomes youngest Cadaver Donor

दिल्ली के प्रसिद्ध अस्पताल सर गंगाराम में इस बच्ची के अंगों को निकालने के बाद पांच मरीजों में ट्रांसप्लांट किया गया। पहली मंजिल से नीचे गिर गई थी धनिष्ठा अपने घर की पहली मंजिल पर खेलते हुए धनिष्ठा 8 जनवरी की शाम नीचे गिर गई। उसे बेहोशी के हाल में गंगाराम अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों के प्रयास के बावजूद उसे बचाया नहीं जा सका। डॉक्टरों ने 11 जनवरी को उस मासूम को ब्रेन डेड घोषित कर दिया। उसका ब्रेन यानि मस्तिष्क काम नहीं कर रहा था बाकि सभी अंग बिल्कुल स्वस्थ थे।

20 month old Dhanistha becomes youngest Cadaver Donor

बेटी की मौत से दुखी होने के बावजूद उसके पैरेंट्स बबिता एवं आशीष कुमार ने अस्पताल के अधिकारियों से बच्ची के अंग दान की इच्छा जाहिर की। पिता आशीष ने बताया, ‘हमने अस्पताल में कई ऐसे मरीज देखे जिन्हे अंगों की सख्त आवश्यकता है। अब जब हम अपनी धनिष्ठा को खो चुके हैं तो हमने सोचा कि अंग दान से उसके अंग न सिर्फ मरीजों में जिन्दा रहेंगे बल्कि उनकी जान बचाने में भी मददगार सिद्ध होंगे।

20 month old Dhanistha becomes youngest Cadaver Donor

अस्पताल के चेयरमैन (बोर्ड ऑफ मैनेजमेंट) डॉ. डीएस राणा ने कहा, ‘परिवार का यह नेक कार्य वास्तव में प्रशंसनीय है और इसे दूसरों को प्रेरित करना चाहिए। बता दें कि 0.26 प्रति मिलियन की दर से, भारत में अंगदान दर धीमी है। अंगों की कमी के कारण हर साल औसतन 5 लाख भारतीयों की मौत हो जाती है।

rama-hardware-muzaffarpur

Continue Reading
BIHAR2 hours ago

समस्तीपुर में किराना दुकानदार के लापता बेटे की हत्या, हाथ-पैर बांधकर शव नदी किनारे फेंका

BIHAR2 hours ago

बिहार विधान परिषद उपचुनाव के लिए भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन और वीआईपी के मुकेश साहनी ने भरा नामांकन

HEALTH6 hours ago

कोविड वैक्सीन लगाने के अगले दिन वार्ड ब्वॉय की मौत, परिजनों का आरोप- टीके से बिगड़ी थी हालत

BIHAR7 hours ago

बिहार की कानून-व्यवस्था पर DGP बोले-गुप्तेश्वर पांडेय के कार्यकाल से अब की स्तिथि बेहतर

INDIA7 hours ago

‘तांडव’ के डायरेक्‍टर अली अब्‍बास जफर के खिलाफ FIR, लगाए गए हैं गंभीर आरोप

INDIA7 hours ago

आरोग्य सेतु एप पर भी रजिस्ट्रेशन के बाद मिल सकती है वैक्सीन की डोज़, सरकार बना रही है प्लान

BIHAR7 hours ago

नीतीश के ‘निश्चय’ को मुखिया लगा रहे पलीता, ठेकेदार-सुपरवाइजर के साथ मिलकर बहाई जा रही भ्रष्टाचार की गंगा, देखें घोटाला करने वाले मुखिया की लिस्ट

MUZAFFARPUR8 hours ago

राम काज कर‍िबे को आतुर : मंदिर निर्माण के लिए श्रीराम मय हुआ मुजफ्फरपुर

MUZAFFARPUR8 hours ago

जदयू ने कोरोना योद्धा के रूप में चिकित्सक व मुजफ्फरपुर नाउ को किया सम्मानित

MUZAFFARPUR8 hours ago

मुजफ्फरपुर के हैंडलूम-लहठी काे मिला ग्लोबल मार्केट ऑनलाइन ट्रेडिंग में उतरा

INDIA2 weeks ago

लड़कियों के लिए मिसाल हैं ये महिला IAS, अपनी हाइट को नहीं बनने दिया बाधा

INDIA3 days ago

इंग्लिश मीडियम बहू और हिंदी मीडियम सास के रिश्‍तेे में यूं आ रही दरार, पहुंच रहे थाने तक

TRENDING2 weeks ago

12 लीटर सोडा, 40 बोतल बीयर रोज: 412 किलो के शख्स ने दुनिया को कहा अलविदा

JOBS3 weeks ago

डाक विभाग ने निकाली है बंपर भर्तियां, 10वीं पास करें आवेदन, जानें फॉर्म भरने का तरीका

BIHAR2 weeks ago

29 IAS, 38 IPS की ट्रांसफर-पोस्टिंग: 12 DM बदले, चंद्रशेखर सिंह पटना के नए DM बने; 13 SP बदले, लिपि सिंह को सहरसा SP बनाया गया

TRENDING3 days ago

‘दोस्त’ ने किया बेइज्जत: ‘कंगाल’ पाकिस्तान का यात्री विमान मलेशिया ने किया जब्त, उतारे गये यात्री

MUZAFFARPUR3 weeks ago

निगम में शामिल होंगे शहर से सटे 32 गांव, 49 से बढ़ कर हाे सकते हैं अब 76 वार्ड

BIHAR3 days ago

बिहार: अब सभी जिलों में चलेगी BSRTC की बस, पटना से काठमांडू, जनकपुर व भूटान सीमा तक मिलेगी सर्विस

BIHAR3 weeks ago

तो इसलिए हैं पंजाब के किसान सड़कों पर, बिहार के किसानों के मुकाबले कमाते हैं पांच गुना ज्यादा

INDIA2 weeks ago

धोनी के फार्म हाउस की सब्जी दुबई में बढ़ाएगी लोगों का जायका!

Trending