भारतीय पायलटों के खिलाफ दर्ज कराई FIR, लेकिन जो वजह बताई वो हैरान करने वाली है
Connect with us
leaderboard image

Uncategorized

भारतीय पायलटों के खिलाफ दर्ज कराई FIR, लेकिन जो वजह बताई वो हैरान करने वाली है

Avatar

Published

on

पीओके (पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर) में भारत की ओर से की गई एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने एक नया कदम उठाते हुए भारतीय वायुसेना के अज्ञात पायलटों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पाकिस्तानी अधिकारियों ने ये FIR एयर स्ट्राइक के बाद जंगल में गिरे पेड़ों को लेकर की है। पाकिस्तानी अखबार ‘द ट्रिब्यून’ के मुताबिक पाकिस्तान के वनविभाग ने भारतीय वायुसेना के कुछ पायलटों के खिलाफ केस दर्ज करवाया है, जिसमें 19 पेड़ों को नुकसान पहुंचाने को लेकर मामला दर्ज किया गया है।

– 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने पीओके में जैश के ठिकानों पर एयर स्ट्राइक करते हुए बम बरसाए थे। भारत सरकार ने इस कार्रवाई में करीब 300 आतंकियों के मारे जाने का दावा किया था। हालांकि पाकिस्तान का कहना था कि भारत के बम जंगल में गिरे थे, जिनकी वजह से कई पेड़ों को नुकसान पहुंचा था।

– अब भारतीय वायुसेना की इसी कार्रवाई को लेकर पाकिस्तान के वनविभाग ने शुक्रवार को भारतीय वायुसेना के कुछ पायलटों के खिलाफ केस दर्ज कराया। शिकायत के मुताबिक अज्ञात पायलटों ने पाकिस्तान में घुसकर 19 पेड़ों को नुकसान पहुंचाया।

– इस बारे में पाकिस्तान के जलवायु परिवर्तन मंत्री मलिक अमीन असलम ने कहा कि भारतीय विमानों ने फोरेस्ट रिजर्व में बमबारी की, सरकार इससे पर्यावरण को हुए नुकसान का पता लगा रही है। उन्होंने कहा कि, जो कुछ भी वहां हुआ वो पर्यावरणीय आतंकवाद है।

– बता दें कि इससे पहले पाकिस्तान के वन मंत्री ने इसे मामले को लेकर सरकार का आधिकारिक बयान जारी करते हुए पेड़ गिराने के मसले को संयुक्त राष्ट्र तक लेकर जाने की बात कही थी। साथ ही भारत के खिलाफ आधिकारिक शिकायत दर्ज कराने की बात भी कही थी।

– पाकिस्तान ने भले ही एयर स्ट्राइक से कोई नुकसान ना होने की बात कही हो, लेकिन भारतीय वायुसेना ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि उनके 80 प्रतिशत निशाने सटीक रहे, जिसमें जैश को काफी नुकसान पहुंचा। वायुसेना ने अपनी रिपोर्ट में सरकार को हाई रिजोल्यूशन तस्वीरें भी सौंपी थीं।

बम वाली जगह पर मीडिया को जाने से रोक रहा पाकिस्तान

– एक तरफ पाकिस्तान, भारत की कार्रवाई से कोई नुकसान ना होने की बात कह रहा है, तो वहीं दूसरी ओर वो बालाकोट में उन ठिकानों पर अब भी मीडिया को जाने से रोक रहा है जहां एयर स्ट्राइक की गई थी।

– पाकिस्तानी सुरक्षा अधिकारियों ने गुरुवार को एक मीडिया एजेंसी की टीम को उस मदरसे और आसपास की इमारतों तक जाने से रोक दिया, जहां 26 फरवरी को भारतीय लड़ाकू विमानों ने हवाई हमले किए थे।

– भारत की कार्रवाई के बाद से ये तीसरा मौका है जब अंतर्राष्ट्रीय एजेंसी के पत्रकारों ने इस क्षेत्र का दौरा किया। पाकिस्तानी सुरक्षा अधिकारियों ने सुरक्षा चिंताओं की बात कहते हुए उन्हें वहां जाने से रोक दिया।

Input : Dainik Bhaskar

Digita Media, Social Media, Advertisement, Bihar, Muzaffarpur 

Uncategorized

बाबा गरीबनाथ की नगरी मुजफ्फरपुर में सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्रावणी मेला की शुरूआत

Avatar

Published

on

उत्तर बिहार के सुप्रसिद्ध गरीबनाथ धाम की नगरी मुजफ्फरपुर में सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्रावणी मेला की शुरूआत हुई. बिहार सरकार के कला संस्कृति मंत्री प्रमोद कुमार के साथ नगर विकास एवं आवास मंत्री सुरेश शर्मा ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की. आज रविवार की दोपहर श्रावणी मेला के शुभारंभ के इस मौके पर अन्य स्थानीय नेताओं के साथ मुजफ्फरपुर के प्रशासनिक महकमे के सभी आलाधिकारी भी मौजूद रहे.

गौरतलब है कि इस श्रावण मास में चार सोमवारी हैं. भोलेनाथ के भक्त कांवरिया पहलेजा से जल उठाकर मुजफ्फरपुर में बाबा गरीबनाथ मंदिर में अर्पण करते हैं.

श्रावणी मेला को लेकर मुजफ्फरपुर जिला प्रशासन पूरी तरह सशक्त व तैयार है. चप्पे चप्पे पर फोर्स की तैनाती की गई है. डीएम आलोक रंजन घोष एवं एसएसपी मनोज कुमार स्वयं सुरक्षा व्यवस्था की मॉनिटरिंग कर रहे हैं.

आज रविवार को श्रावणी मेला के शुभारंभ के दौरान स्थानीय सांसद अजय निषाद, वैशाली की सांसद वीणा देवी, एमएलसी दिनेश प्रसाद सिंह, बोचहा विधायक बेबी कुमारी, कुढ़नी विधायक केदार गुप्ता, बाबा मंदिर के मुख्य पुजारी पंडित विनय पाठक के साथ ही डीएम आलोक रंजन घोष, एसएसपी मनोज कुमार सहित जिले के कई अधिकारी मौजूद थे.

Input : Live Cities

 

Continue Reading

Uncategorized

मुजफ्फरपुर: कलयुगी बेटे ने माँ और चाची की गला काट कर किया हत्या

Abhay Raj

Published

on

कटरा थाना क्षेत्र के यजुआर पश्चिमी गांव में एक युवक ने अपनी माँ और चाची पर धा’रदार हथि’यार से हम’ला कर ह’त्या कर दिया.ह’त्या के बाद गांव में को’हराम मच गया.इसे देखने के लिए आसपास के लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी.मां और चाची की ग’ला रेत’कर ह’त्या करने के बाद स्थानीय लोगों ने युवक को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया.

मृ’तक की पहचान गांव के ही सावित्री देवी (55) एवं भुतनी देवी (60) वर्षीय के रूप में हुई है.आ’रोपी युवक अपने मां एव चाची की हत्या किया हैं. इस घट’ना ने मां बेटा की रिश्ता को शर्मसार कर दिया हैं.स्थानीय लोगों ने पुलिस को बताया कि युवक घर पर ही मवेशी के लिए चारा काट रहा था.चारा के दौरान मां एवं चाची घर में सोयी हुई थी.सोयी हुई अवस्था में गरासी से का’टकर ह’त्या कर दिया.

घटना की जानकारी मिलने पर घटनास्थल पर पहुंची कटरा के सर्किल इंस्पेक्टर जितेन्द्र पाल एवं थानाध्यक्ष सिकन्दर कुमार ने मामले की तहकीकात की शुरू कर दी है.थानाध्यक्ष ने बताया कि आरोपी छोटन सहनी के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर आगें की कारवाई की जा रहीं हैं. मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेज दिया गया है.

Continue Reading

Uncategorized

मान्‍यता है कि देवी के रजस्वला वाले कपड़े पास रखने से सभी मनोकामना पूरी होती है

Avatar

Published

on

51 शक्तिपीठों में सबसे प्रसिद्ध मां कामाख्या पावन धाम पर प्रत्येक वर्ष लगने वाला अंबुबासी मेला इस वर्ष भी 22 जून से प्रारंभ हुआ। मेला 26 जून तक चलेगा। पूवरेत्तर के इस कुंभ को दिव्य और भव्य बनाने की तैयारी शासन और प्रशासन की ओर से की गयी है।

इसमें शामिल होने के लिए अभी से श्रद्धालु, साधु संत और तांत्रिकों की टोली गुवाहाटी के लिए रवाना हो गयी है। मंदिर के पुजारी मिहिर शर्मा ने बताया कि 22 जून को मेले का उद्घाटन असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने किया। उन्होंने कहा कि इस मौके पर आने वाले लाखों श्रत्रलुओं, नगा साधु सन्यासी, तांत्रिक और आम भक्तों को किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होने दी जाएगी। यहां देश ही नहीं बल्कि हजारों की संख्या में विदेश भी भक्त मां के दर्शन को आते है। मेला 26 जून तक चलेगा। 27 जून को दर्शन के लिए मंदिर के पट खोले जाएंगे। इस वर्ष दर्शन के लिए 501 रूपये की विशेष टिकट भी जारी हुआ है।

Source : Adib Zamali

क्या है अंबुबासी महापर्व :

अंबुबाचि शब्द अंबु और बासी दो शब्दों को मिलाकर बना है। जिसमें अंबु का अर्थ है पानी और बाचि का अर्थ है उत्फूलन। यह शब्द स्त्रियों की शक्ति और उनके जन्म क्षमता को दर्शाता है। प्रतिवर्ष जून के माह में यह मेला लगता है। यह मेला उस समय लगता है जब मां कामाख्या ऋतुमति रहती है। अंबुबाचि योग पर्व के दौरान मां भगवती के गर्भगृह के कपाट स्वत: ही बंद हो जाते है। उनके दर्शन निषेध हो जाते है। तीन दिनों के बाद मां भगवती की रजस्वला समाप्ति पर उनकी विशेष पूजा एंव साधना की जाती है। चौथे दिन ब्रह्म मुहूर्त में देवी को स्नान करवाकर श्रृंगार के उपरांत ही मंदिर श्रद्धालुओं के लिए खोला जाता है।

Source : Adib Zamali

देवी का योनिमुद्रापीठ दस सीढ़ी नीचे एक गुफा में स्थित है। यहां हमेशा अखंड दीपक जलता रहता है। यहां आने जाने का मार्ग भी अलग बना है। इस मेला के दौरान भक्तों को प्रसाद के रूप में एक गीला कपड़ा दिया जाता है। इसे अंबुबाचि वस्त्र कहते है।

कहते है कि देवी रजस्वला होने से पूर्व गर्भगृह स्थित महामुद्रा के आसपास सफेद वस्त्र बिछा दिए जाते है। तब यह वस्त्र माता के रज से रक्तवर्ण हो जाता है। उसी को भक्त प्रसाद के रूप में ग्रहण करते है। इस वस्त्र को धारण करके उपासना करने से भक्तों की सभी मनोकामना पूरी होती है। आश्चर्य की बात है कि इन तीन दिनों में ब्रह्मपुत्र का जल भी लाल हो जाता है। इस मेले में सैकड़ों तांत्रिक अपने एकांतवास से बाहर आते है और अपनी शक्तियों का प्रदर्शन करते है। इसी दिन से यहां के कृषक भी अपने खेतों में काम प्रारंभ करते है।

सुरक्षा के व्यापक प्रबंध

कामाख्या देवालय समिति की ओर से मेले को लेकर 400 स्वयंसेवक, 400 स्काउट एंड गाइड, 140 अर्धसुरक्षा बल, 120 स्थायी सुरक्षाकर्मी तैनात किए गये हैं। सभी आने जाने वाले श्रद्धालुओं पर नजर रखने के लिए 300 सीसीटीवी लगाए गये है। सभी व्यवस्था की निगरानी स्वयं मुख्यमंत्री कर रहे हैं।

 

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
BIHAR4 mins ago

सहारा समूह ने जमाकर्ताओं के पैसे वापस नहीं किए तो सरकार करेगी कार्रवाई

WORLD4 hours ago

कश्मीर मामले में भारत ने कभी नहीं मांगी मदद, ट्रंप का दावा झूठा; व्हाइट हाउस को देनी पड़ी सफाई

INDIA10 hours ago

सावन के पहले सोमवार पर मुस्लिमों ने पेश की अनोखी मिसाल, हो रही वाह-वाह, जानें पूरा मामला

MUZAFFARPUR10 hours ago

बाबा पर 40 हजार भक्तों ने किया जलाभिषेक

MUZAFFARPUR11 hours ago

पीजी में एडमिशन सिस्टम फेल, 27 तक बढ़ाई गई तारीख

MUZAFFARPUR22 hours ago

मुजफ्फरपुर : नलजल योजना में मुखिया ने कराया बेटा को भुगतान, परिवाद दायर

INDIA24 hours ago

ISRO के चंद्रयान-2 के लॉन्च पर Akshay Kumar समेत इन बॉलीवुड सितारों ने दी बधाई

MUZAFFARPUR1 day ago

आस्था के नाम पर खुद के औऱ अपनो के जान के साथ मत करें खिलवाड़, पड़ सकता है महंगा

BIHAR1 day ago

BJP नेताओं की बयानबाजी से JDU नाराज, दी चेतावनी-साथ या अलग, अभी तय कर लें

BIHAR1 day ago

सावन की पहली सोमवारी पर मंदिरों में उमड़े श्रद्धालु, देवघर के बाबाधाम में कांवड़ियों का तांता

INDIA4 weeks ago

पूरे देश में एक जैसा होगा लाइसेंस, राज्य नहीं कर पाएंगे कोई बदलाव

BIHAR1 week ago

सुबह में ढोयी बालू की बोरियां, शाम में लग गए एनडीआरएफ के साथ… ऐसे हैं डीएम साहब

BIHAR1 week ago

बिहार में पहली बार पुलिसकर्मियों पर हुई बड़ी कार्रवाई, 3 DSP, 50 इंस्पेक्टर सहित 66 पर FIR

BIHAR7 days ago

पटना पहुंचे रितिक रोशन, आनंद कुमार के पैर छुए, कहा- लगता है पिछले जन्म में मैं बिहारी ही था

MUZAFFARPUR3 weeks ago

मुजफ्फरपुर में सरकारी राशि की मची है लूट, मनरेगा योजना में मजदूरों के बदले चल रहे JCB और टैक्टर

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर : लड़की ने किया सु’साइड, कूद गई पानी की टंकी से

MUZAFFARPUR4 weeks ago

DM ने बढ़ाई स्कूल खुलनें की तारीख, सभी सरकारी-गैर सरकारी मे जारी रहेगा धारा 144

BIHAR3 weeks ago

बिहार में मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट, इन जिलों में भीषण बारिश और आंधी

MUZAFFARPUR2 weeks ago

पब्लिक ट्रांसपोर्ट : Hello My Taxi ने मुजफ्फरपुर कैब के साथ शुरू की कैब सर्विस

INDIA3 weeks ago

चलते वाहन की चाबी नहीं निकाल सकती पुलिस, सिर्फ इनका है चालान करने का अधिकार

Trending

0Shares