Connect with us

OMG

मंदसौर की महिला ने हेलीकॉप्टर के लिए बैंक से कर्ज दिलाने की राष्ट्रपति से लगाई गुहार

Published

on

मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले में एक रोचक मामला सामने आया है, यहां एक महिला किसान सरकारी मशीनरी के रवैए से हार मान गई, क्योंकि पड़ोसी ने उसके खेत जाने का रास्ता बंद कर दिया है और कहीं से मदद नहीं मिल रही है, तो उसने थक हारकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से गुहार लगाई है कि खेत तक आने-जाने के लिए किसी बैंक से हेलीकॉप्टर खरीदने के लिए कर्ज दिला दें। मामला मंदसौर जिले के शामगढ़ तहसील का है। यहां के आगर गांव की रहने वाली बसंती बाई की बोरखेड़ा में खेती की भूमि है, मगर पड़ोसी ने खेत तक जाने वाले रास्ते को बंद कर दिया है। इसके चलते कृषि यंत्रों और मवेशी आदि को खेत तक ले जाना मुश्किल हो गया है। इसके साथ ही खेती कार्य भी प्रभावित हो रहे हैं। रास्ता खुलवाने के लिए तहसीलदार से लेकर भोपाल तक के अधिकारियों को बसंती बाई ने अपनी शिकायत भेजी मगर, कोई नतीजा नहीं निकला।

सरकारी मशीनरी के रवैए से हारकर बसंती ने राष्ट्रपति को ही पत्र लिख दिया। इसमे उन्होंने कहा है कि खेत तक जाने के लिए और मवेशी व कृषियंत्र ले जाने के लिए उसे किसी बैंक से हेलीकॉप्टरके लिए कर्ज और हेलीकॉप्टर का लायसेंस भी दिला दें।

Input: khas khabr

OMG

दुनिया का सबसे महंगा आम, जो दुकान पर नहीं मिलता, लगती है बोली

Published

on

पाकिस्तान लगातार अपनी तंगहाली को लेकर चर्चा में है. किसी समय में मित्र रह चुके देश भी अब उससे किनारा कर रहे हैं. इस बीच ही विदेशी राजनयिकों से अपने संबंध बेहतर करने के लिए पाकिस्तान से आमों की पेटियां भेजी गईं, लेकिन कई देशों ने उन्हें स्वीकार ही नहीं किया. यहां तक कि मित्र राष्ट्र चीन ने भी आम लेने से मना कर दिया. एक तरफ तो पाकिस्तान की मैंगो डिप्लोमेसी फेल हो रही है, वहीं आम के इस मौसम में इसकी चर्चा भी है कि आखिर कौन-सा आम दुनिया में सबसे स्वादिष्ट और महंगा है.

जापानी आम की ये किस्म अब तक वहीं पर तैयार होती रही लेकिन अब इस बारे में भी नई-नई खबरें आ रही हैं. जैसे मध्यप्रदेश के जबलपुर में इस आम की खेती की बात हो रही है. एक निजी किसान ने अपने खेत में प्रयोग के तौर पर इसे लगाया था और उसका दावा है कि आम फलने भी लगे हैं. कथित तौर पर बीते 3 साल ये आम फलने लगे हैं और इंटरनेशनल मार्केट में जा रहे हैं. सांकेतिक फोटो (flickr)

भारत के सबसे महंगे आम की बात करें तो अल्फांसो या हापुस आम सबसे महंगा है. इसे इतना स्वादिष्ट मानते हैं कि स्वर्गबूटी भी कहते हैं. लगभग 300 ग्राम तक वजनी ये आम काफी मीठा और शानदार सुगंध लिए होता है. इसे जीआई टैग भी मिल चुका है और इंटरनेशनल मार्केट में इसकी भारी मांग है. यूरोप और जापान में हमेशा से इसकी डिमांड रही तो अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया में अलफांसो की पूछ बढ़ने लगी है.

इसकी कीमत भी इसके स्वाद जितनी बढ़ी-चढ़ी है. ये मार्केट में फलों की दुकानों पर नहीं मिलता, बल्कि इसकी बोली लगती है. नीलामी में सबसे ज्यादा कीमत देने वाले के हाथ ये फल लगता है. जैसे साल 2017 में दो आमों की कीमत लगभग 2 लाख 72 हजार रुपए थी. यहां ये भी जान लें कि एक आम लगभग 350 ग्राम का होता है. यानी एक किलो से भी कम आम के लिए पौने 3 लाख रुपए दिए गए. सांकेतिक फोटो (pixabay)

दुनिया के सबसे महंगे आम का दर्जा जापानी आम की एक किस्म को मिला हुआ है. ताईयो नो तामागो (taiyo no tamago) नाम का ये आम वहां के मियाजारी प्रांत में पैदा होता है. इस आम में मिठास के साथ अन्नास और नारियल का हल्का सा स्वाद भी आता है. इसे एक खास तरीके से तैयार करते हैं. इसके तहत आम के पेड़ पर फल आते ही एक-एक फल को जालीदार कपड़े से बांध दिया जाता है. ये इस तरह होता है कि फल पर पूरी तरह से धूप पड़े, जबकि जाली वाले हिस्से बचे रहें. इससे आम की रंगत ही अलग होती है.

ताईयो नो तामागो आम को जापानी कल्चर में भी खूब मान्यता मिली हुई है. इसे एग ऑफ द सन कहते हैं क्योंकि ये सूरज की रोशनी में तैयार होता है. साथ ही लोग इसे तोहफे में देते हैं. माना जाता है कि इससे तोहफा पाने वाले की किस्मत सूरज जैसी ही रोशन हो जाती है. यही कारण है कि जापान में त्योहार या खास मौकों पर ये आम भी दिया जाता है. लेकिन लेने वाले इसे खाते नहीं, बल्कि किसी तरीके से संरक्षित करके सजा देते हैं. सांकेतिक फोटो (pixabay)

पकने के बाद फल जाली में ही गिरकर लटकते हैं, तब जाकर उन्हें निकाला और बेचा जाता है. पेड़ पर लगे आम को किसान नहीं तोड़ते. वे मानते हैं कि इससे फल का स्वाद और पौष्टिकता चली जाती है. यानी जापानी किसानों की नजरों से देखें तो ताईयो नो तामागो पूरी तरह से पका हुआ फल है. और ऐसा है भी. ये खाने में बेहद स्वादिष्ट और सुगंधित होता है.

दुनिया के सबसे महंगे आम का दर्जा जापानी आम की एक किस्म को मिला हुआ है. ताईयो नो तामागो (taiyo no tamago) नाम का ये आम वहां के मियाजारी प्रांत में पैदा होता है. इस आम में मिठास के साथ अन्नास और नारियल का हल्का सा स्वाद भी आता है. इसे एक खास तरीके से तैयार करते हैं. इसके तहत आम के पेड़ पर फल आते ही एक-एक फल को जालीदार कपड़े से बांध दिया जाता है. ये इस तरह होता है कि फल पर पूरी तरह से धूप पड़े, जबकि जाली वाले हिस्से बचे रहें. इससे आम की रंगत ही अलग होती है. सांकेतिक फोटो (flickr)

इसकी कीमत भी इसके स्वाद जितनी बढ़ी-चढ़ी है. ये मार्केट में फलों की दुकानों पर नहीं मिलता, बल्कि इसकी बोली लगती है. नीलामी में सबसे ज्यादा कीमत देने वाले के हाथ ये फल लगता है. जैसे साल 2017 में दो आमों की कीमत लगभग 2 लाख 72 हजार रुपए थी. यहां ये भी जान लें कि एक आम लगभग 350 ग्राम का होता है. यानी एक किलो से भी कम आम के लिए पौने 3 लाख रुपए दिए गए.

Pair of mangoes goes for record $4,488 yen at first auction

ताईयो नो तामागो आम को जापानी कल्चर में भी खूब मान्यता मिली हुई है. इसे एग ऑफ द सन कहते हैं क्योंकि ये सूरज की रोशनी में तैयार होता है. साथ ही लोग इसे तोहफे में देते हैं. माना जाता है कि इससे तोहफा पाने वाले की किस्मत सूरज जैसी ही रोशन हो जाती है. यही कारण है कि जापान में त्योहार या खास मौकों पर ये आम भी दिया जाता है. लेकिन लेने वाले इसे खाते नहीं, बल्कि किसी तरीके से संरक्षित करके सजा देते हैं.

Mangoes sell for record US$4,500

जापानी आम की ये किस्म अब तक वहीं पर तैयार होती रही लेकिन अब इस बारे में भी नई-नई खबरें आ रही हैं. जैसे मध्यप्रदेश के जबलपुर में इस आम की खेती की बात हो रही है. एक निजी किसान ने अपने खेत में प्रयोग के तौर पर इसे लगाया था और उसका दावा है कि आम फलने भी लगे हैं. कथित तौर पर बीते 3 साल ये आम फलने लगे हैं और इंटरनेशनल मार्केट में जा रहे हैं.

Source : News18

Continue Reading

OMG

मुर्गे ने की मालिक की ‘हत्या’, कोर्ट में किया जाएगा पेश

Published

on

तेलंगाना में हत्या का एक ऐसा अनोखा मामला सामने आया है, जिसे जानकर सभी हैरान हैं, क्योंकि पुलिस ने एक शख्स की हत्या के सिलसिले में एक मुर्गे को अपनी कस्टडी में रखा है। दरअसल, तेलंगाना के जगतियाल जिले में एक मुर्गे ने गलती से अपने मालिक को मार डाला गया। अब इसे पुलिस कोर्ट में पेश करेगी। हालांकि, पुलिस ने हत्या के आरोप के तहत मुर्गे को गिरफ्तार करने की खबरों का खंडन किया है।

दरअसल, अवैध कॉक फाइट (मुर्गों के बीच की लड़ाई) की तैयारी के दौरान मुर्गे के पैर से बंधा एक चाकू गलती से 45 वर्षीय थानुगुल्ला सतीश की कमर के नीचे कट गया। यह घटना 22 फरवरी को लथुनुर गांव में हुई थी, जब सतीश अवैध कॉक फाइट के लिए मुर्गा लेकर आया था, मगर इस घटना ने उसकी जीवनलीला ही समाप्त कर दी।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मुर्गे की लड़ाई के दौरान ही मुर्गे के पैर में बंधे चाकू से सतीश घायल हो गया। इसके बाद सतीश के शरीर से काफी खून बहने लगा। उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। चूंकि इस राज्य में कॉक फाइट बैन है, इसलिए लोगों के एक समूह ने चोरी-छिपे गांव में येलम्मा मंदिर के पास मुर्गे की लड़ाई का आयोजन किया था।

इस घटना के बाद पुलिस मुर्गे को गोलापल्ली थाने में ले आई, जहां उसे रखा गया है और पुलिस कर्मी उसकी देखभाल कर रहे हैं। उन्होंने इसके लिए भोजन की भी व्यवस्था की। कुछ मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि पुलिस ने मुर्गे को अपने मालिक की हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर रखा है, मगर पुलिस ने इसका खंडन किया है। गोलापल्ली थाने के अधिकारी बी जीवन ने स्पष्ट किया कि मुर्गे को न तो गिरफ्तार किया गया है और न ही हिरासत में लिया गया है। उन्होंने कहा कि पुलिस ने मुर्गे की सुरक्षा की जिम्मेदारी ली है।

Input: Live Hindustan

Continue Reading

OMG

यहां जिंदा लोगों को कर दिया जाता है दफन, शादी की तरह मनाया जाता है जश्न

Published

on

यह बात हम सभी जानते है कि दुनिया के हर देश में अलग-अलग परंपराएं होती है। आइए आज हम आपको एक इसी एक चौका देनी परंपरा के बारे में बताने जा रहे है। इस परंपरा में जिंदा इंसान को जमीन में दफना दिया जाता है।

ये प्रथा क्यूबा में बूजी फेस्टिवल के नाम से मशहूर है। इस त्योहार में जिंदा व्यक्ति को दफना दिया जाता है। इसमें किसी एक आदमी को ताबूत में बंद कर दिया जाता है और उसे शहर की सड़कों पर घुमाया जाता है।

ताबूत के पीछे-पीछे उसके रिश्तेदारों और दोस्तों समेत कई लोगों की भीड़ चलती है। सभी लोग शराब के नशे में तालियां बजाते और नाचते गाते चलते हैं। सिर्फ इतना ही नहीं सफेद बालों वाली एक महिला उस शख्स की विधवा बनती है।

जानकारी के लिए बता दे कि क्यूबा में ये त्योहार पिछले 30 सालों से मनाया जाता है। इसका नाम ब्यूरियल ऑफ पचैंचो है। वैसे तो ये त्योहार किसी को ‌जिंदा दफनाने के लिए होता है लेकिन यहां के नजारे को देखकर आपको लगेगा जैसे कोई शादी हो रही हो।

इस त्योहार की शुरुआत साल 1984 में हुई थी। इसे स्‍थानीय कार्निवाल के समाप्त होने और एक नए जन्म के संकेत के आधार पर माना जाता है।

Input: Khas khabar

rama-hardware-muzaffarpur

Continue Reading
TECH2 hours ago

यू-ट्यूब दे रहा हर महीने 7 लाख रुपये से ज्‍यादा कमाई करने का मौका

BIHAR4 hours ago

बिहार में 7 अगस्त से खुलेंगे स्कूल-कोचिंग संस्थान, सरकार ने लिया निर्णय

DHARM5 hours ago

राम भक्तों के लिए बड़ी खबर, दिसंबर 2023 से कर सकेंगे राम लला के दर्शन

BIHAR9 hours ago

वीडियो : सांप काटने से अचेत था एक साल का मासूम, अस्पताल में मोबाइल फ्लैश की रोशनी में हुआ इलाज

BIHAR10 hours ago

पटना के नए बस स्‍टैंड में एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं, एसी वीआइपी लाउंज में करें इंतजार; फ्री मिलेगा इंटरनेट

BIHAR10 hours ago

बिहार पंचायत चुनाव: वोट के लिए नोट लुटाया तो जायेगी उम्मीदवारी

MUZAFFARPUR15 hours ago

किराए के विवाद में कंडक्टर ने चलती बस से यात्री काे फेंका, कुचल कर माैत

MUZAFFARPUR23 hours ago

स्‍मार्ट स‍िटी : म्युनिसिपल शापिंग मार्ट निर्माण के ल‍िए मुजफ्फरपुर में ध्वस्त होगा जर्जर भवन

WORLD23 hours ago

सऊदी अरब में तोड़ा ट्रैवल नियम तो हो सकता है बैंक अकाउंट खाली! लगेगा एक करोड़ रुपये का जुर्माना

BIHAR1 day ago

बिहार की एसडीपीओ ने अपने पति को रातों-रात बना दिया आइपीएस, पीएमओ ने बैठाई जांच

BIHAR3 days ago

बूढ़ी गंडक पर दूसरे पुल की बाधा दूर:अप्राेच पथ के लिए होगा 7.98 एकड़ जमीन अधिग्रहण, अधिसूचना जारी

MUZAFFARPUR15 hours ago

किराए के विवाद में कंडक्टर ने चलती बस से यात्री काे फेंका, कुचल कर माैत

BIHAR3 days ago

पटना में मीठापुर बस स्टैंड की जमीन पर बनेंगी 3 नई यूनिवर्सिटी

BIHAR1 day ago

बिहार की एसडीपीओ ने अपने पति को रातों-रात बना दिया आइपीएस, पीएमओ ने बैठाई जांच

BIHAR1 week ago

मुजफ्फरपुर: अगर सात घंटे पेट दबाकर शौच रोक सकते हों तभी भारतीय रेल के इस ट्रेन से करें सफर

BIHAR2 days ago

अयांश: बिहार का बेटा नहीं खोए इसलिए पटना, मुजफ्फरपुर से लेकर हर जिले से बढ़ रहे मदद के हाथ

BIHAR3 days ago

बिहार: जिस बहन को रायपुर में इंजीनियरिंग करने भेजा उसी ने करवा दिया भाई को गिरफ्तार

TRENDING2 days ago

लखनऊ में ‘उछल-उछलकर’ थप्पड़ बरसाने वाली लड़की पर केस, सीसीटीवी फुटेज से खुली पोल

BIHAR2 days ago

फरियाद सुनकर चौंके CM नीतीश कुमार, तुरंत चीफ सेक्रेटरी को बुलाकर कही ये बात

BIHAR4 hours ago

बिहार में 7 अगस्त से खुलेंगे स्कूल-कोचिंग संस्थान, सरकार ने लिया निर्णय

Trending