महज 22 साल की उम्र में IAS बनी एक फौजी की बेटी…सबसे अलग है इनके काम करने का तरीका

0
1920

सोशल मीडिया पर एक महिला की तस्वीर छाई है, जिनके बारे में लोग ज्यादा से ज्यादा जानने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसे में आज महिल के जुड़ी कुछ अहम बाते आपको बताने वाले हैं, इससे पहले आपको बता दें कि ये एक आम महिला नहीं बल्कि देश की सबसे युवा IAS अधिकारी हैं।

देश की सबसे युवा IAS अधिकारी स्मिता सभरवाल की पोस्टिंग मुख्‍यमंत्री कार्यालय में की गई है, जिन्हें ‘जनता का अधिकारी’ के नाम से भी जाना जाता है। पश्चिम बंगाल में जन्‍मी स्मिता दार्जिलिंग से ताल्‍लुक रखती हैं। स्मिता के पिता आर्मी अधिकारी थे।आर्मी अधिकारी रहते हुए स्मिता के पिता देश के कई जगहों पर पदस्‍थ रहे, इसलिए स्मिता ने अपनी पढ़ाई भी देश के कई शहरों में पूरी की है।

आईसीएसई स्‍टैंडर्ड में टॉप करने के बाद स्मिता के पेरेंट्स ने भी सिविल सर्विस में जाने के लिए प्रोत्‍साहित किया, जिसके बाद स्मिता ने कड़ी मेहनत के दम पर देश में चौथा स्थान हासिल किया तब वह महज 22 साल की थीं। तो वहीं यूपीएससी की परीक्षा पास करने वालीं वे सबसे कम उम्र की स्‍टूडेंट स्मिता ने तेलंगाना कैडर के आईएएस की ट्रेनिंग ली और नियुक्ति के बाद वह चितूर में सब-कलेक्‍टर, कड़प्‍पा रूरल डेवलपमेंट एजेंसी की प्रोजेक्‍ट डायरेक्‍टर, वारंगल की नगर निगम कमिश्‍नर और कुरनूल की संयुक्‍त कलेक्‍टर रही हैं।

अपने कार्यकाल में उन्‍होंने कई बड़ी जिम्‍मेदारियां संभालीं जिसके लिए लोगों ने उन्हे काफी सराहा, तेलंगाना के पिछड़े जिले करीमनगर में भी वे पोस्‍टेड रही हैं। उन्हें खास तौर पर उनके काम-काज के लिए ही जाना जाता है। वह सरकारी योजनाओं को ईमानदारी से जनता के बीच पहुंचाने के लिए भी जानी जाती हैं।

Input : Live Bavaal