महाशिवरात्रि पर रात में करना चाहिए शिवजी की विशेष पूजा, ये हैं शुभ मुहूर्त
Connect with us
leaderboard image

Uncategorized

महाशिवरात्रि पर रात में करना चाहिए शिवजी की विशेष पूजा, ये हैं शुभ मुहूर्त

Santosh Chaudhary

Published

on

कल (4 मार्च, सोमवार) महाशिवरात्रि है। शिवपुराण के अनुसार, इस दिन भगवान शिव की विधि-विधान पूर्वक पूजा करने तथा व्रत रखने से विशेष फल मिलता है। महाशिवरात्रि पर शिव पूजा की विधि इस प्रकार है-

व्रत विधि

महाशिवरात्रि की सुबह व्रती (व्रत करने वाला) जल्दी उठकर स्नान आदि करने के बाद माथे पर भस्म का त्रिपुंड तिलक लगाएं और गले में रुद्राक्ष की माला धारण करें। इसके बाद समीप स्थित किसी शिव मंदिर में जाकर शिवलिंग की पूजा करें। श्रृद्धापूर्वक व्रत का संकल्प इस प्रकार लें-

शिवरात्रिव्रतं ह्येतत् करिष्येहं महाफलम्।

निर्विघ्नमस्तु मे चात्र त्वत्प्रसादाज्जगत्पते।।

यह कहकर हाथ में फूल, चावल व जल लेकर उसे शिवलिंग पर अर्पित करते हुए यह श्लोक बोलें-

देवदेव महादेव नीलकण्ठ नमोस्तु ते।

कर्तुमिच्छाम्यहं देव शिवरात्रिव्रतं तव।।

तव प्रसादाद्देवेश निर्विघ्नेन भवेदिति।

कामाद्या: शत्रवो मां वै पीडां कुर्वन्तु नैव हि।।

इस प्रकार करें रात्रि पूजा

व्रती दिनभर शिव मंत्र (ऊं नम: शिवाय) का जाप करें तथा पूरा दिन निराहार रहें। (रोगी, अशक्त और वृद्ध दिन में फलाहार लेकर रात्रि पूजा कर सकते हैं।) शिवपुराण में रात्रि के चारों प्रहर में शिव पूजा का विधान है। शाम को स्नान करके किसी शिव मंदिर में जाकर अथवा घर पर ही पूर्व या उत्तर दिशा की ओर मुंह करके त्रिपुंड एवं रुद्राक्ष धारण करके

पूजा का संकल्प इस प्रकार लें-

ममाखिलपापक्षयपूर्वकसलाभीष्टसिद्धये शिवप्रीत्यर्थं च शिवपूजनमहं करिष्ये
व्रती को फल, फूल, चंदन, बिल्व पत्र, धतूरा, धूप व दीप से रात के चारों प्रहर पूजा करनी चाहिए साथ ही भोग भी लगाना चाहिए। दूध, दही, घी, शहद और शक्कर से अलग-अलग तथा सबको एक साथ मिलाकर पंचामृत से शिवलिंग को स्नान कराकर जल से अभिषेक करें। चारों प्रहर के पूजन में शिवपंचाक्षर (नम: शिवाय) मंत्र का जाप करें। भव, शर्व, रुद्र, पशुपति, उग्र, महान, भीम और ईशान, इन आठ नामों से फूल अर्पित कर भगवान शिव की आरती व परिक्रमा करें।

अंत में भगवान से प्रार्थना इस प्रकार करें-

नियमो यो महादेव कृतश्चैव त्वदाज्ञया।

विसृत्यते मया स्वामिन् व्रतं जातमनुत्तमम्।।

व्रतेनानेन देवेश यथाशक्तिकृतेन च।

संतुष्टो भव शर्वाद्य कृपां कुरु ममोपरि।।

अगले दिन (5 मार्च, मंगलवार) सुबह पुन: स्नान कर भगवान शंकर की पूजा करने के बाद व्रत का समापन करें।

शिवरात्रि पूजा के शुभ मुहूर्त

पहले प्रहर की पूजा – शाम 06:22 से रात 09:28 तक

दूसरे प्रहर की पूजा – रात 09:28 से 12:35 तक

तीसरे प्रहर की पूजा – रात 12:35 से 03:41तक

चौथे प्रहर की पूजा – रात 03:41 से अगले दिन सुबह 06:48 तक

महाशिवरात्रि व्रत की कथा इस प्रकार है-

किसी समय वाराणसी के जंगल में एक भील रहता था। उसका नाम गुरुद्रुह था। वह जंगली जानवरों का शिकार कर अपना परिवार पालता था। एक बार शिवरात्रि पर वह शिकार करने वन में गया। उस दिन उसे दिनभर कोई शिकार नहीं मिला और रात भी हो गई। तभी उसे वन में एक झील दिखाई दी। उसने सोचा मैं यहीं पेड़ पर चढ़कर शिकार की राह देखता हूं। कोई न कोई प्राणी यहां पानी पीने आएगा। यह सोचकर वह पानी का बर्तन भरकर बिल्ववृक्ष पर चढ़ गया। उस वृक्ष के नीचे शिवलिंग स्थापित था।

थोड़ी देर बाद वहां एक हिरनी आई। गुरुद्रुह ने जैसे ही हिरनी को मारने के लिए धनुष पर तीर चढ़ाया तो बिल्ववृक्ष के पत्ते और जल शिवलिंग पर गिरे। इस प्रकार रात के प्रथम प्रहर में अंजाने में ही उसके द्वारा शिवलिंग की पूजा हो गई। तभी हिरनी ने उसे देख लिया और उससे पूछा कि तुम क्या चाहते हो। वह बोला कि तुम्हें मारकर मैं अपने परिवार का पालन करूंगा। यह सुनकर हिरनी बोली कि मेरे बच्चे मेरी राह देख रहे होंगे। मैं उन्हें अपनी बहन को सौंपकर लौट आऊंगी। हिरनी के ऐसा कहने पर शिकारी ने उसे छोड़ दिया।

थोड़ी देर बाद उस हिरनी की बहन उसे खोजते हुए झील के पास आ गई। शिकारी ने उसे देखकर पुन: अपने धनुष पर तीर चढ़ाया। इस बार भी रात के दूसरे प्रहर में बिल्ववृक्ष के पत्ते व जल शिवलिंग पर गिरे और शिवलिंग की पूजा हो गई। उस हिरनी ने भी अपने बच्चों को सुरक्षित स्थान पर रखकर आने को कहा। शिकारी ने उसे भी जाने दिया। थोड़ी देर बाद वहां एक हिरन अपनी हिरनी को खोज में आया। इस बार भी वही सब हुआ और तीसरे प्रहर में भी शिवलिंग की पूजा हो गई। वह हिरन भी अपने बच्चों को सुरक्षित स्थान पर छोड़कर आने की बात कहकर चला गया। जब वह तीनों हिरनी व हिरन मिले तो प्रतिज्ञाबद्ध होने के कारण तीनों शिकारी के पास आ गए। सबको एक साथ देखकर शिकारी बड़ा खुश हुआ और उसने फिर से अपने धनुष पर बाण चढ़ाया, जिससे चौथे प्रहर में पुन: शिवलिंग की पूजा हो गई।

इस प्रकार गुरुद्रुह दिनभर भूखा-प्यासा रहकर रात भर जागता रहा और चारों प्रहर अंजाने में ही उससे शिव की पूजा हो गई, जिससे शिवरात्रि का व्रत संपन्न हो गया। इस व्रत के प्रभाव से उसके पाप तत्काल ही भस्म हो गए। पुण्य उदय होते ही उसने हिरनों को मारने का विचार त्याग दिया। तभी शिवलिंग से भगवान शंकर प्रकट हुए और उन्होंने गुरुद्रुह को वरदान दिया कि त्रेतायुग में भगवान राम तुम्हारे घर आएंगे और तुम्हारे साथ मित्रता करेंगे। तुम्हें मोक्ष भी प्राप्त होगा। इस प्रकार अंजाने में किए गए शिवरात्रि व्रत से भगवान शंकर ने शिकारी को मोक्ष प्रदान कर दिया।

भगवान शिव को प्रिय है ये रात्रि

फाल्गुन मास के कृष्णपक्ष की चतुर्दशी को महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाता है। शास्त्रों के अनुसार यह रात्रि भगवान शिव को अति प्रिय है। धर्म शास्त्रों के अनुसार, शिवरात्रि के महत्व का वर्णन स्वयं भगवान शिव ने माता पार्वती को बताया था। उसके अनुसार भगवान शिव अभिषेक, वस्त्र, धूप तथा पुष्प से इतने प्रसन्न नहीं होते जितने कि शिवरात्रि के दिन व्रत उपवास रखने से होते हैं-

फाल्गुने कृष्णपक्षस्य या तिथि: स्याच्चतुर्दशी।

तस्यां या तामसी रात्रि: सोच्यते शिवरात्रिका।।

तत्रोपवासं कुर्वाण: प्रसादयति मां ध्रुवम्।

न स्नानेन न वस्त्रेण न धूपेन न चार्चया।

तुष्यामि न तथा पुष्पैर्यथा तत्रोपवासत:।।

ईशानसंहिता में बताया गया है कि फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी की रात को आदिदेव भगवान श्रीशिव करोड़ों सूर्यों के समान

प्रभा वाले लिंगरूप में प्रकट हुए-

फाल्गुनकृष्णचतुर्दश्यामादिदेवी महानिशि।

शिललिंगतयोद्भुत: कोटिसूर्यसमप्रभ:।।

भगवान शिव की आरती

जय शिव ओंकारा ऊँ जय शिव ओंकारा। ब्रह्मा विष्णु सदा शिव अद्र्धांगी धारा॥ ऊँ जय शिव…॥

एकानन चतुरानन पंचानन राजे। हंसानन गरुड़ासन वृषवाहन साजे॥ ऊँ जय शिव…॥

दो भुज चार चतुर्भुज दस भुज अति सोहे। त्रिगुण रूपनिरखता त्रिभुवन जन मोहे ॥ ऊँ जय शिव…॥

अक्षमाला बनमाला रुण्डमाला धारी। चंदन मृगमद सोहै भाले शशिधारी॥ ऊँ जय शिव…॥

श्वेताम्बर पीताम्बर बाघम्बर अंगे। सनकादिक गरुणादिक भूतादिक संगे॥ ऊँ जय शिव…॥

कर के मध्य कमंडलु चक्रत्रिशूल धर्ता। जगकर्ता जगभर्ता जगसंहारकर्ता॥ ऊँ जय शिव…॥

ब्रह्मा विष्णु सदाशिव जानत अविवेका। प्रणवाक्षर मध्ये ये तीनों एका॥ ऊँ जय शिव…॥

काशी में विश्वनाथ विराजत नन्दी ब्रह्मचारी। नित उठि भोग लगावत महिमा अति भारी॥ ऊँ जय शिव…॥

त्रिगुण शिवजीकी आरती जो कोई नर गावे। कहत शिवानन्द स्वामी मनवांछित फल पावे॥ ऊँ जय शिव…॥

Input : Dainik Bhaskar

Uncategorized

चार्ज लेते एक्शन में दिखे एसएसपी जयंतकांत; क्रा’इम कंट्रोल को लेकर थानाध्यक्षों को चेताया

Abhay Raj

Published

on

sssp-jayant-kant

मुज़फ्फरपुर एसएसपी जयंतकांत चार्ज लेते एक्शन में दिखे। एसएसपी कार्यालय में आयोजित क्रा’इम मीटिंग में एसएसपी ने जिले के थानाध्यक्षों को हि’दायत दी है कि जिसके इलाके में लू’ट व छि’नतई की घ’टना होगी,वहाँ के थानाध्यक्ष नपेंगे।

sssp-jayant-kant

sssp-jayant-kant

एसएसपी ने अपने कार्यालय में क्राइम मीटिंग के दौरान थानाध्यक्षों को बढ़ते क्राइम को लेकर फटकार लगाई।उन्होंने साफ साफ थानाध्यक्षों को कहा है कि जिस थाना क्षेत्र में क्राइम होगा वहाँ के थानाध्यक्ष पर गाज गिरेगी। इसके अलावा एसएसपी ने शहरी व ग्रामीणों थानाध्यक्ष को गस्ती और वाहन चेकिंग अभियान में तेजी लाने का निर्देश दिया।

 

एसएसपी ने क्राइम मीटिंग में सभी थानाध्यक्षों को क्राइम कंट्रोल को लेकर टास्क दिया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि जल्द ही क्राइम कण्ट्रोल में सुधार दिखेगा।

Continue Reading

Uncategorized

साहेबगंज में 17 नवंबर तक प्रतिदिन पांच घंटे बंद रहेगी बिजली की आपूर्ति

Santosh Chaudhary

Published

on

जर्जर तार और मेंटेनेंस को लेकर शहर से ग्रामीण क्षेत्र में कई घंटे बिजली बंद की जाएगी। साहेबगंज में शुक्रवार से 17 नवंबर तक सुबह नौ से दोपहर दो बजे तक प्रतिदिन बिजली बंद रहेगी। कार्यपालक अभियंता छ¨वद्र प्रसाद सिंह के अनुसार जर्जर तार बदला जाएगा।

पोल में केबल तार लगाने को लेकर नयाटोला इलाके के पॉलीटेक्निक चौक, रामकिंकर लेन, समुंदर साह लेन की बिजली सुबह 11 से शाम पांच बजे तक बंद रहेगी। चंदवारा इलाके में जर्जर तार बदलने को लेकर सुबह 11 से दोपहर तीन बजे से काली कोठी से लेकर सोडा गोदाम, जेल चौक, चर्च रोड में आपूर्ति बाधित रहेगी। वहीं रामबाग इलाके में सुबह दस से शाम पांच बजे तक तथा ट्रांसफॉर्मर बदलने के लिए आपूर्ति बाधित रहेगी।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading

Uncategorized

पांचवीं के छात्र के साथ टीचर करती थी अश्ली’ल ह’रकत, CCTV से होगी जांच

Himanshu Raj

Published

on

बुद्धा कॉलोनी थानाक्षेत्र में एक अजीब मा’मला प्रकाश में आया है। एक प्रतिष्ठित स्कूल की महिला टीचर द्वारा पांचवीं क्लास के एक ना’बा’लिग छात्र के यौ’न शो’षण का मा’मला सामने आया है। महापर्व छठ के खरना के दिन पी’ड़ित छात्र के परिवारवालों ने थाने पहुंचकर इसकी शि’कायत की थी। पुलिस ने मा’मले की गं’भीरता को देखते हुए गहन जां’च शुरू कर दी है।

एएसपी स्वर्ण प्रभात ने कहा कि पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। स्कूल में लगे सीसीटीवी के फुटेज की भी जांच हो रही है।

बता दें कि बुद्धा कॉलोनी स्थित एक बड़े निजी स्कूल की शिक्षिका पर पांचवीं कक्षा के छात्र का शारीरिक व मानसिक शोषण करने का आरोप लगा है। छात्र ने शुक्रवार को मां के साथ पहुंचकर बुद्धा कॉलोनी थाने में अपनी शिकायत दर्ज कराई है।

पीड़ित छात्र ने बताया कि उसके साथ ये सब एक साल से चल रहा था। जब वह चौथी कक्षा में था तबसे शिक्षिका उसे अपने चैंबर में लेकर जाती और कपड़े उतरवाकर उसके साथ अश्लील हरकत करती। उसे धमकी देती कि अगर मां को बताओगे तो वो तुम्हारी बात नहीं मानेंगी। तुम्हारे पापा नहीं हैं और तुम्हारी मां का मुझपर पूरा भरोसा है।

बच्चे ने बताया कि यही कारण था कि वह लंबे समय तक चुप रहा। शिकायत दर्ज होने के बाद पुलिस मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस संबंधित पक्षों से पूछताछ कर सकती है।

छात्र की मां ने बताया कि बेटे के व्यवहार में चिड़चिड़ापन आ गया था। वह कभी मेरे सामने कपड़े नहीं उतारता था। उसके सीने और पीठ पर निशान थे। जब उन्होंने इस बारे में कई बार पूछा तो उसने झल्लाकर कहा कि मैं करंट लगाकर मर जाऊंगा। किसी तरह समझाकर पूछने पर पूरा सच बताया।

इसके बाद मां उसे रेडक्रॉस सोसायटी में लेकर गई, जहां से प्रारंभिक उपचार के बाद पीएमसीएच रेफर कर दिया गया। जांच में मालूम हुआ कि उसके निजी अंगों पर भी प्रताड़ना के निशान हैं। छात्र की मां ने स्कूल निदेशक पर मामले को दबाने का आरोप लगाया है।

उन्होंने बताया कि जब टीचर से इसके बारे में पूछा तो उसने कहा कि मैं स्कूल डायरेक्टर की रिश्तेदार हूं और ज्यादा बहस की तो बच्चे का जीवन बर्बाद कर दूंगी।

छठ पर्व के मद्देनजर स्कूल बंद था लिहाजा पुलिस ने छुट्टी के बाद स्कूल के खुलने का इंतजार किया। मामले की जानकारी एएसपी लॉ एंड ऑर्डर को भी दी गई। चार नवंबर को स्कूल खुलते ही पुलिस ने पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया। इसके बाद थाने से स्कूल मैनेजमेंट को नोटिस दे दिया गया है लेकिन आरोपी शिक्षिका के छुट्टी पर होने की वजह से जांच पूरी नहीं हो पाई है। पुलिस ने स्कूल प्रबंधन से जल्द से जल्द सीसीटीवी फुटेज मुहैया कराने का आदेश दिया है।

Input: Danik Jagran

Continue Reading
Advertisement
BIHAR10 hours ago

गिरीराज बोले, राम मंदिर स्थापना का काम पूरा, जनसंख्या नियंत्रण कानून और बन जाए तो छोड़ दूंगा राजनीति

RELIGION10 hours ago

विहिप ने कहा- केंद्र व्यवस्था बनाए तो हिंदू समाज तुरंत राम मंदिर का निर्माण शुरू कर सकता है

MUZAFFARPUR10 hours ago

M.Ed की परीक्षा के लिए बिहार विश्वविद्यालय में रात को बुलाए गए कैंडिडेट्स, एडमिट कार्ड वायरल

MUZAFFARPUR11 hours ago

मुजफ्फरपुर के नए एसएसपी जयंत कांत चार्ज लेते ही एक्शन में, छापेमारी कर 4 को किया गिरफ्तार, कई हथियार बरामद

BIHAR12 hours ago

सीएम नीतीश से मिले बिल गेट्स, कहा- 20 वर्षों में गरीबी और बीमारी के खिलाफ बिहार की प्रगति शानदार

JOBS14 hours ago

भर्ती : 12वीं पास के लिए CISF में नौकरी, 300 जीडी हेड कांस्टेबल पदों के लिए करें आवेदन

INDIA15 hours ago

अप्रैल 2020 से शुरू होगा निर्माण कार्य, ऐसे बनेगा राम मंदिर

BIHAR16 hours ago

‘मूर्खता के इस गणराज्य में वशिष्ठ बाबू को पागल होना ही बदा था’

Tiger Shroff
TRENDING17 hours ago

टाइगर श्रॉफ ने किए माइकल जैक्सन के डांस मूव्स, वायरल हो रहा है वीडियो

victory-of-gamcha-campaign-by-nilotpal
BIHAR19 hours ago

होटल ने वेटरों के ड्रेस में गमछा किया शामिल

INDIA4 weeks ago

तेजस एक्सप्रेस की रेल होस्टेस को कैसे परेशान कर रहे लोग?

MUZAFFARPUR1 day ago

मुजफ्फरपुर का थानेदार नामी गुं’डा के साथ मनाता है जन्मदिन! केक काटते हुए सोशल मीडिया पर तस्वीर वायरल…खाक होगा क्रा’इम कंट्रोल?

INDIA2 days ago

आ गया ‘मिर्ज़ापुर 2’ का टीजर, पंकज त्रिपाठी ने इंस्टाग्राम पर किया शेयर

BIHAR3 weeks ago

27 अक्टूबर से पटना से पहली बार 57 फ्लाइट, दिल्ली के लिए 25, ट्रेनों की संख्या से भी दाेगुनी

BIHAR3 weeks ago

पंकज त्रिपाठी ने माता पिता के साथ मनाई प्री दिवाली, एक ही दिन में वापस शूटिंग पर लौटे

tharki-proffesor
MUZAFFARPUR2 days ago

खुलासा: कोचिंग आने वाली हर छात्रा को आजमाता था मुजफ्फरपुर का ‘पा’पी प्रोफेसर’, भेजा गया जे’ल

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर के लाल शाहबाज नदीम का क्रिकेट देखेगा पूरा विश्‍व, भारतीय टीम में शामिल होने पर पिता ने कही बड़ी बात

MUZAFFARPUR21 hours ago

कुंवारी मां बनी कटरा की पी’ड़िता से दु’ष्क’र्म का आ’रोपी माैलवी गि’रफ्तार

BIHAR2 weeks ago

मदीना पर आस्‍था तो छठी मइया पर भी यकीन, 20 साल से व्रत कर रही ये मुस्लिम महिला

BIHAR3 weeks ago

प्रत्यक्ष देवता की अनूठी अराधना का पर्व है छठ व्रत, जानें अनूठी परंपरा के बारे में कुछ खास बातें

Trending

0Shares