Connect with us

TRENDING

मिलिए दुनिया के सबसे अमीर गांव से, जहां हर शख्स करता है हेलीकॉप्टर से सफर

Muzaffarpur Now

Published

on

नई दिल्ली Richest Village: आज भी गांव का नाम सुनते ही कच्ची सड़कें, कच्चे-पक्के मकान, बिजली की समस्या जैसी बातें दिमाग में कौंधती हैं। ज्यादातर गांवों में आज भी इस तरह की तमाम समस्याएं हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि दुनिया में एक ऐसा भी गांव है, जहां के लोग इतने रईस हैं कि कहीं भी आने-जाने के लिए हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल करते हैं। ये जानकर आपको भले ही अटपटा लग रहा हो लेकिन हकीक़त यही है। यहां तक कि ये लोग न केवल आलीशान घरों में रहते हैं बल्कि कहीं भी आने जाने के लिए हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल करते हैं। आइए जानते हैं इस गांव के बारे में।

दुनिया के सबसे अमीर इस गांव का नाम है वाक्शी। ये चीन के जियांगसू प्रांत में स्थित है। दुनिया भर में इस गांव को ‘सुपर विलेज’ के नाम से जाना जाता है। इस गांव में लगभग 2000 लोग रहते हैं। इन लोगों की कमाई का ज़रिया खेती है। ये लोग खेती से साल भर में लगभग एक लाख यूरो यानी कि 80 लाख से ज्यादा कमाते हैं। इसके अलावा यहां के लोगों के पास आलीशान घर और चमचमाती गाड़ियां हैं। इतना ही नहीं, यहां के लोग कहीं आने-जाने के लिए हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल करते हैं।

गांव में बसने पर मिलता है विला और कार 

इस गांव में बसने वाले लोगों को अथॉरिटी की तरफ से एक कार और विला भी दिया जाता है। हालांकि अगर आप गांव छोड़ देते हैं तो फिर आपको कार और विला वापस करना होता है।

होटल जैसे दिखते हैं घर 

इस गांव के घर इतने आलीशान हैं कि बाहर से ये किसी होटल जैसे मालूम पड़ते हैं। वहीं गांव में टैक्सी और थीम पार्क भी मौजूद हैं। यहां की सड़कें भी चमचमाती हैं।

1960 में बसा था ये गांव 

आज दुनिया में बतौर अमीर गांव शुमार होने वाले इस गांव को 1960 में वू रेनबाओं के एक नेता ने बसाया था। हालांकि आज ये गांव भले ही बेहद अमीर हैं लेकिन एक वक्त ऐसा भी था, जब यहां के लोग काफी गरीब हुआ करते थे।

Input : Dainik Jagran

TRENDING

शिक्षा मंत्री ने 11वीं क्लास में लिया दाखिला, मैट्रिक तक पढ़े होने के कारण होती थी फजीहत

Ravi Pratap

Published

on

झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने 11वीं क्लास में पढ़ेंगे. इसके लिए उन्होंने बोकारो जिला के बेरमो प्रखंड के नावाडीह देवी महतो कॉलेज में जगरनाथ महतो ने एडमिशन ले लिया है. मंत्री जी की शिक्षा को लेकर लगातार सवाल उठाए जा रहे थे. मात्र मैट्रिक तक की इनकी शिक्षा पर निशाना साधा जा रहा था. इससे आजिज होकर इन्होंने उच्च शिक्षा ग्रहण करने का निर्णय लिया.

एडमिशन करवाने के बाद श्री महतो ने कहा कि अब वह उच्च शिक्षा हासिल करेंगे. इसलिए आर्ट्स संकाय में एडमिशन करवाया है. कॉलेज जाकर मंत्री महतो ने नामांकन फॉर्म भरा. इसके बाद एक हजार एक सौ रुपये नामांकन शुल्क जमा कर रशीद लिया.

मंत्री जी के नामांकन को लेकर जब पत्रकारों ने पूछा तो उन्होंने कहा कि वह सारा काम देखते हुए सब कुछ करेंगे. ‘क्लास भी करेंगे और मंत्रालय भी संभालेंगे. घर में किसानी का काम भी करेंगे, ताकि मेरे काम को देखकर अन्य लोग भी प्रेरित हों.’

उन्होंने कहा कि शिक्षा हासिल करने की कोई उम्र सीमा नहीं होती. अन्य नौकरियों में रहते हुए लोग आईएएस, आईपीएस की तैयारी करते हैं और सफल भी होते हैं.

बता दें कि शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने वर्ष 1995 में चंद्रपुरा प्रखंड के नेहरू उच्च विद्यालय तेलो से मैट्रिक की परीक्षा सेकेंड क्लास में पास की थी. और इन्होंने जिस कॉलेज की स्थापना इनेक सहयोग से ही हुआ है. उसी कॉलेज में इन्होंने अपना नामांकण कराया है.

शिक्षा मंत्री ने कहा कि जिस दिन वह झारखंड के शिक्षा मंत्री बने थे, उसी दिन सोच लिया था कि अब आगे की पढ़ाई करेंगे. उनके मंत्री बनने के बाद लोगों ने कहा था कि दसवीं पास विधायक को शिक्षा मंत्री बनाया गया है. इसलिए हमने तय किया कि हम पढ़ेंगे. उच्च शिक्षा हासिल करेंगे और राज्य के विद्यार्थियों को बेहतर शिक्षा सुविधा देंगे.

Input : Live Cities

Continue Reading

TRENDING

14 साल बाद मिला खोया हुआ पर्स, पुलिस ने शख्स को लौटाए पैसे

Muzaffarpur Now

Published

on

मुंबई में एक शख्स को उसको खोया हुआ पुराना पर्स वापस मिल गया। ये पर्स 14 साल पहले मुंबई की लोकल ट्रेन में खोया था और इस पर्स में उस समय 900 रुपये थे। साल 2006 में खोया हुआ ये पर्स शख्स को 14 साल बाद अब मिला है और पुलिस ने शख्स को उसकी राशि भी लौटा दी है।

14 साल पहले मुंबई लोकल में खो गया था ...

हेमंत पेडलकर साल 2006 में छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस-पनवेल लोकल ट्रेन में सफर कर रहे थे, जिस वक्त उनका पर्स ट्रेन में गुम हो गया। आज सरकारी रेलवे पुलिस ने अपने आधिकारिक बयान में बताया। इस साल अप्रैल महीने में हेमंत को जीआरपी की ओर से कॉल आई और उन्हें जानकारी दी गई कि उनका 14 साल पहले खोया हुआ पर्स अब मिल गया है।  हालांकि तब मुंबई में कोरोना वायरस की वजह से लगे लॉकडाउन के कारण हेमंत अपना पर्स लेकर नहीं आ पाए थे। लॉकडाउन में छूट मिलने के बाद पेडलकर जो कि पनवेल में रहते हैं, वाशी के जीआरपी ऑफिस गए और अपना पर्स वहां से बरामद किया और पुलिस ने हेमंत को पर्स में रखी राशि भी लौटाई।

हेमंत पेडलकर ने बताया कि मेरे पर्स में 900 रुपये थे, जिसमें एक पांच सौ का नोट भी था जो साल 2016 में बंद कर दिया गया। पुलिस ने हेमंत को तीन सौ रुपये लौटा दिए और स्टाम्प पेपर काम के लिए पुलिस ने सौ रुपये काट लिए। हेमंत ने बताया कि पुलिस उसको 500 रुपये बदलकर देगी।

हेमंत ने कहा कि जब वो जीआरपी ऑफिस गए थे तो वहां कई लोग थे जो अपने चुराए हुए पैसे वापस लेने आए थे। इसमें कई हजारों नोट थे जो नोटबंदी के दौरान बंद हो चुके थे, इन लोगों को इस बात की चिंता थी कि उन्हें उनका पैसा कैसे और कब वापस मिलेगा।

हेमंत पेडलकर ने बताया कि वो उनके पैसे वापस मिलने पर बेहद खुश हैं। एक जीआपरी अधिकारी ने बताया कि जिसने हेमंत पेडलकर का पर्स चुराया था, उसे कुछ समय पहले ही गिरफ्तार किया गया था। अधिकारी ने बताया कि हमें आरोपी से हेमंत का पर्स मिला, जिसमें 900 रुपये थे।

अधिकारी ने बताया कि हमने हेमंत को 300 रुपये लौटा दिए हैं और 500 रुपये तब लौटा दिए जाएंगे, जब पुराना नोट नए नोट से बदल दिया जाएगा।

Input : Amar Ujala

Continue Reading

BIHAR

IPS विनय तिवारी शामिल हो सकते है, सुशांत केस की CBI जांच टीम में…

Muzaffarpur Now

Published

on

अगर विनय तिवारी को सी.बी.आई जांच में लिया गया तो, मुंबई पुलिस पर अब बिहार हँसेगा, कल तक मुंबई पुलिस बिहारियों पर हँस रही थी. मुंबई पुलिस के हाथ से केस निकलने के साथ- साथ उनके मुंह पर एक और जबरदस्त तमाचा लग सकता है. दरअसल जिस विनय तिवारी को मुंबई पुलिस ने क्वारेंटिंन कर दिया था अब उसी विनय तिवारी को केंद्र ने सी.बी.आई में भेज सकती है और अब विनय तिवारी सुशांत सिंह राजपूत मर्डर केस की गुत्थी अब सी.बी.आई पदाधिकारी के तौर पर सुलझा सकते है.

ऐसा हुआ तो, कल तक बिहार पुलिस का मज़ाक बनाने वाली मुंबई पुलिस का अब ख़ुद मज़ाक बनकर रह जाएगा. शायद ही इतनी किरकिरी मुंबई पुलिस की इससे पहले हुई हो, विनय तिवारी के सी.बी.आई जांच का हिस्सा बनने की कयास लगते ही अब देश मे खुशी की लहर दौड़ गयी है.

प्रसिद्ध पत्रकार मीना दास नारायण समेत कई पत्रकारों ने इसकी सूचना ट्वीट के माध्यम से दी, विनय तिवारी को जांच की कमान मिलने के संभावना से ही लोगो को इंसाफ की उम्मीद बढ़ गयी है. मुंबई जांच के लिये पटना एस. पी के तौर पर विनय तिवारी को पहुँचते ही मुंबई पुलिस ने उनकी बेइज्जती की थी जब यहीं अधिकारी मुंबई पुलिस से सवाल जवाब करेगा और केस की हकीकत को जग ज़ाहिर करेगा.

विनय तिवारी के सी.बी.आई में जाने की अटकलों से ही खुशी की लहर है सुशांत के फैन भी अब खुश नजर आ रहे है और जिन बिहारियों ने सुशांत राजपूत के लिये जान लगा दिया अब शायद उनका मेहनत बेकार न जाये… फिलहाल इस खबर की सरकारी पुष्टि नहीं हुई है.

नोट : इस ख़बर को कई पत्रकारों के ट्वीट और यूट्यूब पर चल रहे वीडियो के आधार पर लिखा गया है- मुजफ्फरपुर नॉउ इस खबर का पूर्णतः सत्यापन नही करता है, जबतक औपचारिक घोषणा नही हो-

Continue Reading
BIHAR16 mins ago

सुशांत को रिया ने कब्जे में ले रखा था, पिता केके सिंह को गर्लफ्रेंड से करनी पड़ती थी मिन्नत..

INDIA25 mins ago

रिया चक्रवर्ती के सपोर्ट में उतरीं स्वरा भास्कर, सुप्रीम कोर्ट से लगाई आस

BIHAR1 hour ago

बिहार: कोरोना संक्रमित मरीजों को अस्पताल ले जाने के लिए नाव को बना दिया एंबुलेंस

MUZAFFARPUR2 hours ago

कैसे थमेगा कोरोना, लॉकडाउन में बाजारों में भीड़, सोशल डिस्टेंसिंग भूल गए लोग

INDIA2 hours ago

वेंटिलेटर सपोर्ट पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

MUZAFFARPUR2 hours ago

17 तक पूरे शहर से पानी नहीं निकला ताे अब अफसर पर हाेगी कार्रवाई, मंत्री सुरेश शर्मा ने दी चेतावनी

RELIGION3 hours ago

जन्माष्टमी आज और कल, बन रहा है विशेष संयोग, यह है पूजा का शुभ चौघड़िया मुहूर्त

MUZAFFARPUR3 hours ago

उत्तर बिहार में मुजफ्फरपुर समेत 6 नए औद्योगिक क्षेत्रों की मंजूरी

INDIA12 hours ago

बड़ा खुलासा: सुब्रमण्यम स्वामी का दावा, ‘एंबुलेंस में सुशांत का पैर मुड़ा हुआ था’

INDIA12 hours ago

प्रसिद्ध तिरुपति मंदिर के 743 कर्मचारी पाए गए COVID-19 पॉजिटिव, तीन की मौत

BIHAR4 days ago

भोजपुरी एक्ट्रेस अनुपमा पाठक ने की खुदकुशी, मरने से पहले किया फेसबुक लाइव

INDIA4 weeks ago

सलमान खान ने शेयर की किसानी करने की ऐसी तस्वीर, लोगों ने जमकर सुनाई खरीखोटी

INDIA3 weeks ago

वाहनों में अतिरिक्त टायर या स्टेपनी रखने की जरूरत नहीं: सरकार

BIHAR7 days ago

UPSC में छाए बिहार के लाल, जानिए कितने बच्चों का हुआ चयन

BIHAR4 weeks ago

बिहार लॉकडाउन: इमरजेंसी हो तभी निकलें घर से बाहर, नहीं तो जब्त हो जाएगी गाड़ी

MUZAFFARPUR6 days ago

उत्तर बिहार में भीषण बिजली संकट, कांटी थर्मल पावर ठप्प

BIHAR2 weeks ago

पप्पू यादव का खतरनाक स्टंट: नियमों की धज्जियां उड़ा रेल पुल पर ट्रैक के बीच चलाई बुलेट, देखें VIDEO

MUZAFFARPUR3 days ago

बिहार के प्रमुख शक्तिपीठों में प्रशिद्ध राज-राजेश्वरी देवी मंदिर की स्थापना 1941 में हुई थी

BIHAR2 days ago

IPS विनय तिवारी शामिल हो सकते है, सुशांत केस की CBI जांच टीम में…

BIHAR4 weeks ago

बिहार लॉकडाउन: ईश जिले के 114 इलाकों में नहीं चलेंगे ऑटो रिक्शा, यहां देखें पूरी लिस्ट

Trending