Connect with us
leaderboard image

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर में कोरोना वायरस से राहत के लिए हवन – पूजन

Muzaffarpur Now

Published

on

बिहार के मुज़फ़्फ़रपुर ज़िले के ब्रह्मपुरा थाना इलाके के जुरन छपरा स्थित महामाया मंदिर के प्रांगण में कोरोना वायरस से राहत के लिए विश्वशांति यज्ञ किया गया। हवन करा रहे आचार्य डॉ. रंजीत नारायण तिवारी ने कहा की जहां कोई भी दवा काम नही आती है वहा मात्र सहारा भगवान का होता है। यह हवन यज्ञ कोरोना वायरस से मुज़फ़्फ़रपुर और बिहार ही नही पूरे विश्व मे शांति और राहत मिलेगी।

बता दें कि विश्व के करीब ११४ देश कोरोना वायरस के संक्रमण से जुझ रहा है और भारत में भी कुछ मामले सामने आए हैं। वैसे घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि स्वास्थ विभाग और प्रशासन पुरी ताकत से इस चुनौती से निपटने को तैयार हैं।

बिहार सहित कई राज्यों के विभिन्न जिलों में एहतियातन धारा १४४ लगाई गई है। बिहार के सभी शिक्षण संस्थान (महाविद्यालय सहित) आगामी 31 मार्च तक बंद करने हेतु ऐलान जारी किया गया है। मुजफ्फरपुर जिले सहित सुबे में सभी सिनेमाघर भी बंद कर दिया गया है।

 

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर से संदिग्ध की पटना के पीएमसीएच में मौत

Ravi Pratap

Published

on

मेंहदी हसन चौक स्थित एक निजी अस्पातल से रेफर किए गए संदिग्ध मरीज की गुरुवार को पटना स्थित पीएमसीएच के कोरोना आइसोलेशन वार्ड में मौत हो गई। मौत के बाद उसके खून का सैंपल जांच के लिए आरएमआरआई भेजा गया है। देर रात तक रिपोर्ट आने की पुष्टि पीएमसीएच और मुजफ्फरपुर जिला प्रशासन ने नहीं की है। मौत की खबर आने के बाद इस अस्पताल में भर्ती मरीजों,डाक्टरों और अन्य कर्मियों की बेचैनी बढ़ गई है। दूसरी ओर मोतीपुर के कोरोना लक्षण से मृत युवक का गुरुवार देर रात भी पोस्टमार्टम नहीं किया जा सका। मौत के बाद बुधवार को ही इस व्यक्ति का सैंपल लेकर जांच के आररएमआरआई भेजा गया है। उसकी जांच रिपेार्ट का भी इंतजार किया जा रहा है।

बुधवार की शाम मुजफ्फरपुर के बहलखाना निवासी मो इस्माइल को गंभीर स्थिति में मेंहदीहसन चौक स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यहां के डॉक्टरों ने कोरोना के लक्षण होने की बात कहते हुए उसे पीएमसीएच रेफर कर दिया था। अस्पताल सूत्रों के अनुसार इस्माइल इसके पहले कई अस्पताल जा चुका था मगर सबने भर्ती करने से इंकार कर दिया था। बाद में यहां उसका इलाज किया गया । मगर स्थिति गंभीर होते देख उसे पटना रेफर कर दिया गया जहां गुरुवार को उसकी मौत हो गई। कोरोना आइसोलेशन वार्ड में मौत होने के कारण मृतक के परिजनों और उसके आसपास की बेचैनी भी बढ़ी हुई है। साथ ही अस्पताल प्रबंधन की परेशानी भी बढ़ गई है। इस संबंध में डीएम डा.चन्द्रशेखर सिंह ने बताया कि अभी उनके पास उसकी कोई रिपोर्ट नहीं आई है। पॉजिटिव होने पर तुरंत जिला प्रशासन को जानकारी दी जाएगी। उसके बाद सभी जरूरी कदम उठाए जाएंगे।

दूसरी ओर मोतीपुर के एक संदिग्ध युवक की मौत बुधवार को बैरिया स्थित एक निजी अस्पताल में हो गई थी। इस युवक में भी कोरोना के लक्षण मिले थे। जांच रिपोर्ट आने तक एसकेएमसीएच प्रबंधन ने पोस्टमार्टम करने से इंकार कर दिया था। रिपोर्ट आने के इंतजार में गुरुवार को भी लाश पोस्टमार्टम हाउस में रखी रही। इस बारे में अधीक्षक डॉ. एसके शाही ने बताया कि अभी जब तक सैंपल की रिपोर्ट नहीं आएगी तब तक पोस्टमार्टम नहीं होगा।

हाउस में सैंपल लिया गया। इस सैंपल को गुरुवार को आरएमआरआई जांच के लिए भेजा गया। दूसरी ओर शव का अभी कानूनी प्रावधानों के कारण पोस्टामार्टम नहीं हो सका है। अभी शव को पोस्टमार्टम हाउस में रखा गया है। आरएमआई पटना के लैब रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। प्रशासनिक अधिकारी से लेकर एसकेएमसीएच प्रशासन ने आरएमआरआई पटना से आग्रह किया है कि देर शाम तक रिपोर्ट दी जाए। सैंपल की रिपोर्ट आने व जिला प्रशासन के आदेश पर उसका पोस्टमार्टम होगा।

इसका अभी इंतजार किया जा रहा है। दूसरी ओर मेहदी हसन चौक पर भर्ती संदिग्ध मरीज को पटना रेफर कर दिया गया है। एसीएमओ डॉ. विनय कुमार शर्मा ने बताया कि उसका इलाज हो जा रहा है। वहीं पर उसका सैंपल भी लिया गया है। अब तक उसके परिजनों से संपर्क नहीं हो सका है। संपर्क करने की कोशिश हो रही है। वहां से रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

Input : Live Hindustan

fight-against-covid-19-by-muzaffarpur-now

Continue Reading

MUZAFFARPUR

एमआईटी मुजफ्फरपुर के पूर्ववर्ती छात्र ओपी सिंह बने ओएनजीसी में डायरेक्टर

Ravi Pratap

Published

on

एमआईटी के पूर्ववर्ती छात्र ओम प्रकाश सिंह ओएनजीसी (ऑएल एंड नेचुरल गैस कॉरपोरेशन लिमिटेड) के डायरेक्टर बने हैं। उन्होंने एमआईटी में 1982 बैच से मैकेनिकल ब्रांच से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की। वे मूल रूप से छपरा के निवासी हैं। उन्हें ओएनजीसी में टेक्निकल फील्ड एंड सर्विसेस का डायरेक्टर बनाया गया है। उन्होंने पदभार संभाल भी लिया है।

ओम प्रकाश सिंह की इस उपलब्धि से एमआईटी के छात्रों व शिक्षकों में जबर्दस्त उत्साह है। उनका कहना है कि यह श्री सिंह के साथ एमआईटी के लिए भी बड़ी उपलब्धि है। ओएनजीसी में नवीन चंद्र पांडेय की जगह ओपी सिंह को यह जिम्मेदारी सौंपी गई है। ओएनजीसी की ओर से कहा गया है कि उनके पास मैकेनिकल इंजीनियरिंग का 32 वर्षों का अनुभव है। इनके ऐतिहासिक ट्रैक रिकॉर्ड और बेहतर नेतृत्व क्षमता को देखते हुए उन्हें यह जिम्मेवारी सौंपी गई है।

ओपी सिंह के पास उद्योग और वैश्विक जानकारी भी है। कई विषम परिस्थितियों में उन्होंने अपनी कुशलता का परिचय दिया है। उनकी इस उपलब्धि पर एमआईटी के प्राचार्य डॉ. जेएन झा सहित अन्य शिक्षकों ने बधाई दी है। प्राचार्य ने कहा कि यह एमआईटी के लिए भी उपलब्धि है। छात्रों को उनकी सफलता से प्रेरणा लेनी चाहिए। वहीं कॉलेज के एलुमिनी मीट एसोसिएशन के लिए भी इसे बेहतर माना जा रहा है।

fight-against-covid-19-by-muzaffarpur-now

Continue Reading

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर : राशन-किरासन हड़पने वालों के खिलाफ 22 FIR , 35 राशन दुकानों के लाइसेंस रद्द

Abhay Raj

Published

on

कोरोना संकट के दौर में भी गरीब-गुरबों का राशन -किरासन हजम करने की तरकीबें चल रही है। मुजफ्फरपुर जिले के विभिन्न प्रखंडों से मिल रही शिकायतों को देखते हुए डीएम चंद्रशेखर सिंह ने सख्ती दिखाई है। डीएम ने 3 अप्रैल की देर रात तक खाद्य आपूर्ति विभाग की समीक्षा के बाद कहा, गरीब-गुरबों का राशन-किरासन हड़कोरोना संकट के दौर में भी गरीब-गुरबों का राशन -किरासन हजम करने की तरकीबें चल रही है। मुजफ्फरपुर जिले के विभिन्न प्रखंडों से मिल रही शिकायतों को देखते हुए डीएम चंद्रशेखर सिंह ने सख्ती दिखाई है। डीएम ने 3 अप्रैल की देर रात तक खाद्य आपूर्ति विभाग की समीक्षा के बाद कहा, गरीब-गुरबों का राशन-किरासन हड़पने वाले किसी भी सूरत में बख्शे नहीं जाएंगे।पने वाले किसी भी सूरत में बख्शे नहीं जाएंगे।

उन्होंने बताया कि जिले में अब तक 22 एफआईआर किये गये हैं और कुल 35 राशन दुकानदारों की अनुज्ञप्ति रद्द करने का निर्णय लिया गया है । सरैया और पारू के मार्केटिंग अफसरों के निलंबन की प्रस्ताव सरकार को भेजा जा रहा है।

जिले में राशन -किरासन डीलरों के संबंध में मिल रही शिकायतों के मद्देनजर डीएम ने 39 टीमों के माध्यम से विभिन्न प्रखंडों के विभिन्न पंचायतों में राशन किरासन डीलर के दुकानों की जांच करवाई ।प्रखंडों के वरीय पदाधिकारी भी जांच में शामिल थे ।विभिन्न जांच दलों द्वारा अभी तक जो प्रतिवेदन प्राप्त हुए हैं उस आलोक में सख्त निर्णय लेते हुए 35 राशन दुकानदारों की अनुज्ञप्तियां रद्द करने का निर्णय लिया गया है!

डीएम ने बताया कि पारू और सरैया के मार्केटिंग अफसरों को लेकर मिल रही शिकायतों के आलोक में जांचोपरांत उनके निलंबन का प्रस्ताव संबंधित विभाग को भेजा जाएगा ।बैठक में अनुमंडल पदाधिकारी पूर्वी कुंदन कुमार ने जानकारी दी कि बोचहां में 2 ,गायघाट में 01, मीनापुर में 7, और कटरा में 02 कुल 12 प्राथमिकी दर्ज की गई है।

वहीं पश्चिमी अनुमंडल पदाधिकारी अनिल कुमार दास ने बताया कि साहिबगंज में 02 सरैया में 06 और पारु में 02 डीलरों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई है। जिले में अब तक 22 एफआईआर किये गए है और कुल 35 राशन दुकानदारों की अनुज्ञप्ति रद्द करने का निर्णय लिया गया है।

डीएम ने कहा कि गरीब-गुरबो के अनाज वितरण में हेरा फेरी या उनकी हकमारी करनेवालों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा और उनके विरूद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि औचक निरीक्षण और जांच की प्रक्रिया अनवरत जारी रहेगी। जो भी पदाधिकारी या राशन दुकानदार /दोषी पाये जाएंगे उन पर विधि सम्मत कठोर कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने इस बात की भी जानकारी दी कि सरकार के निर्णय के आलोक में पूर्व में प्रति राशन कार्ड में उल्लेखित प्रति सदस्य को 3 केजी चावल और 2 किलो गेहूं दिया जाता था, वह उसी दर प्रति सदस्य आज भी दिया जाएगा साथ ही सरकार के द्वारा लिए गए निर्णय के आलोक में 5 केजी अतिरिक्त चावल राशन कार्ड में उल्लेखित प्रति सदस्य निशुल्क दिया जाएगा। बैठक में अपर समाहर्ता राजेश कुमार दोनों अनुमंडल पदाधिकारी ,जिला जनसंपर्क पदाधिकारी और सभी प्रखंडों के वरीय प्रभारी पदाधिकारी उपस्थित थे।

fight-against-covid-19-by-muzaffarpur-now

Continue Reading
BIHAR6 mins ago

बिहार में 6 अप्रैल तक तापमान में गिरावट, कई जगहों पर बारिश की संभावना

MUZAFFARPUR1 hour ago

मुजफ्फरपुर से संदिग्ध की पटना के पीएमसीएच में मौत

MUZAFFARPUR1 hour ago

एमआईटी मुजफ्फरपुर के पूर्ववर्ती छात्र ओपी सिंह बने ओएनजीसी में डायरेक्टर

INDIA1 hour ago

कोरोना से निपटने के लिए किसान ने एक एकड़ जमीन दान देने का किया ऐलान

BIHAR2 hours ago

लॉकडाउन में कुछ सरकारी अधिकारियों की कट रही चांदी, मोबाइल स्विच ऑफ कर सरकारी कामों से बना ली दूरी

MUZAFFARPUR2 hours ago

मुजफ्फरपुर : राशन-किरासन हड़पने वालों के खिलाफ 22 FIR , 35 राशन दुकानों के लाइसेंस रद्द

BIHAR2 hours ago

लॉकडाउन : बिहार राज्यकर्मियों के वेतन, पेंशन में कोई कटौती नहीं- सुशील मोदी

BIHAR2 hours ago

बिहार : ऑब्जर्वेशन में भेजे गए 439 नए संदिग्ध, मुंगेर में सबसे अधिक पॉजिटिव केस

MUZAFFARPUR2 hours ago

जहां-तहां थूकने पर अब लगेगा 200 रुपए जुर्माना

MUZAFFARPUR3 hours ago

काेई परेशानी हाे ताे पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों काे इन नंबरों पर दें सूचना

BIHAR1 week ago

स्पाइसजेट का सरकार को प्रस्ताव, दिल्ली-मुंबई से बिहार के मजदूरों को ‘घर’ पहुंचाने के लिए हम तैयार

cheating-on-first-day-of-haryana-board-exam
INDIA4 weeks ago

बिहार तो बेवजह बदनाम है… हरियाणा बोर्ड परीक्षा में शिखर पर नकल

INDIA2 weeks ago

PM मोदी को पटना के बेटे ने दिए 100 करोड़ रुपये, कहा – और देंगे, थाली भी बजाई

INDIA1 week ago

पूरी हुई जनता की डिमांड, कल से दोबारा देख सकेंगे रामानंद सागर की ‘रामायण’

BIHAR3 weeks ago

जूली को लाने सात समंदर पार पहुंचे लवगुरु मटुकनाथ, बोले- जल्द ही होंगे साथ

BIHAR2 weeks ago

बिहार में 81 एक्सप्रेस और 32 पैसेंजर ट्रेनें दो सप्ताह के लिए रद्द, देखें लिस्ट

INDIA5 days ago

Lockdown के दौरान युवक ने फोन करके कहा 4 समोसे भिजवा दो, डीएम ने भिजवाए 4 समोसे और साफ कराई नाली

BIHAR1 week ago

अब नहीं सचेत हुए बिहार वाले तो, अपनों की लाशें उठाने को रहें तैयार

INDIA4 days ago

COVID-19 के बीच सलमान खान के भतीजे की मौत, परिवार में शोक की लहर

BIHAR1 week ago

लॉकडाउन के बाद पैदल जयपुर से बिहार के लिए निकले 14 मजदूर, भूखे-प्यासे तीन दिन में जयपुर से आगरा पहुंचे

Trending