मैट्रिक-इंटर 2019 की परीक्षा में परीक्षा भवन में प्रवेश के समय को लेकर बदलाव किया गया है। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने नकल पर नकेल कसने को लेकर यह सख्ती की है। बोर्ड ने इन दोनों परीक्षाओं को लेकर केन्द्राधीक्षकों को सख्त हिदायत दी है। मैट्रिक और इंटर की परीक्षा में अब तक परीक्षा शुरू होने के आधे घंटे बाद तक भी प्रवेश मिल जाता था। लगातार प्रश्नपत्र लीक होने के मामलों पर रोक के लिए बोर्ड ने यह बदलाव किया है।

बोर्ड परीक्षा नियत्रंक मो. सलाहुद्दीन खां ने बताया कि इस बार की परीक्षा में पहली पाली 9:30 बजे से होगी। इसमें 9:20 बजे तक ही प्रवेश मिलेगा। दूसरी पाली की परीक्षा 1:45 बजे से होगी। इसमें 1:35 बजे तक ही प्रवेश मिल सकेगा। इसके बाद किसी भी हाल में परीक्षार्थियों को परीक्षा भवन में नहीं प्रवेश करने देना है। इसके लिए केन्द्राधीक्षक जवाबदेह होंगे।

दो स्तर पर होगी जांच, वीक्षक देंगे घोषणा पत्र: मैट्रिक और इंटर की परीक्षा में परीक्षार्थियों की जांच दो स्तर पर होगी। इसमें पहले स्तर पर परीक्षार्थियों के प्रवेश के समय गेट पर तलाशी होगी। महिला परीक्षार्थियों के लिए केन्द्रों पर महिला केन्द्राधीक्षक और महिला वीक्षक होंगी। एक वीक्षक 25 परीक्षार्थी की तलाशी लेंगे। वे घोषणा पत्र देंगे कि उन्होंने तलाशी कर ली है। किसी तरह का चिट पुर्जा परीक्षार्थी के पास नहीं है। बोर्ड के परीक्षा नियंत्रक ने कहा कि परीक्षार्थियों की कॉपी जमा होने के बाद पैंकिंग में भी कई स्तर पर गड़बड़ी होती है। इसे लेकर डीईओ सभी केन्द्राधीक्षकों को गाइडलाइन देंगे।

Input : Live Hindustan