Connect with us
leaderboard image

BIHAR

यहां से आज भी जारी है बैद्यनाथ मंदिर गंगा जल भेजने की परंपरा

Santosh Chaudhary

Published

on

महाशिवरात्रि पर अजगैबीनाथ मंदिर से बैद्यनाथ मंदिर जल भेजने की परंपरा सदियों से चली आ रही है। शनिवार को स्थापनापति महंत प्रेमनंद गिरि मंदिर के स्थाई पंडा युगल किशोर मिश्र ने गंगा जल का संकल्प कर बैद्यनाथ मंदिर भेजा। शिवरात्रि को चौथा पहर का अभिषेक अजगैबीनाथ मंदिर से भेजे गये गंगा जल से होता है। उसके बाद ही विवाह की रस्म अदा की जाती है।

पंडा श्री मिश्र ने बताया कि 2005 में तत्कालीन महंत ने अजगैबीनाथ मंदिर से गंगा जल नहीं भेजवाया। इस पर देवघर पंडा धर्म रक्षणी सभा के अध्यक्ष ने पूरी के शंकराचार्य से सलाह ली। उसके बाद अजगैबीनाथ मंदिर के महंत के नाम पर गोत्र से जल संकल्प कराकर गंगा जल मंगाया गया था। उन्होंने बताया कि अजगैबीनाथ मंदिर के जो भी महंत होते हैं, वे देवघर के मंदिर में प्रवेश नहीं करते हैं।

भगवान शिव ने दिए थे वेश बदलकर दर्शन

उन्होंने कहा कि सदियों पहले महंत हरनाथ भारती प्रत्येक दिन गंगा स्नान कर गंगा जल चढ़ाने देवघर जाते थे। इसी क्रम में एक दिन उन्हें भोलेनाथ ने वेश बदलकर दर्शन दे दिये और बोले कि अब तुम्हें देवघर आने की आवश्यकता नहीं है। एक शिवलिंग तुम्हारे तपस्या स्थान में मृगचर्म के नीचे प्रकट हो चुका है। कहा जाता है कि तब से यहां के जो भी महंत होते हैं, वे देवघर मंदिर में प्रवेश नहीं करते हैं।

Input : Hindustan

Share and Enjoy !

0Shares
0 0 0

BIHAR

नीतीश कुमार के 6 मास्टरस्ट्रोक… और धराशायी हो गए सब! पढ़ें, कैसे बदला सियासत का गणित

Md Sameer Hussain

Published

on

पटना. जिस CAA, NRC और NPR को लेकर विपक्ष पिछले कुछ दिनों से हो-हल्ला कर रहा था और सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) को लगातार टारगेट कर रहा था, नीतीश ने उन सभी हमलों की धार को मंगलवार को विधानसभा सत्र के दूसरे दिन अपने मास्टरस्ट्रोक (Masterstroke) से एक दिन में ही कुंद कर दिया.

CAA पर विपक्ष की बोलती बंद

जिस CAA को लेकर आरजेडी के नेता लगातार हमला कर रहे थे. नीतीश ने उस हमले की धार को ये कहकर कुंद कर दिया कि 2003 में CAA को लेकर बनी स्टैंडिंग कमिटी में लालू प्रसाद भी थे. नीतीश ने कहा कि सीएए का प्रस्ताव 2003 में आया था. तब कांग्रेस के लोगों ने इसका समर्थन किया था. सीएए बनाने वाली कमिटी में लालू प्रसाद भी सदस्य थे. इस कमिटी में NRC पर भी चर्चा हुई थी. जाहिर है नीतीश के इस मास्टरस्ट्रोक के बाद आरजेडी के पास कोई जवाब नहीं बचा.

NRC पर पीएम के बहाने ‘ना’

नीतीश ने NRC पर पीएम नरेंद्र मोदी के ही बयान को पढ़ते हुए बिहार में NRC नहीं लागू करने की बात दोहराई. सीएम नीतीश ने पीएम मोदी के 22 दिसंबर 2019 के दिल्ली में दिए भाषण का हवाला देते हुए कहा कि जब से मेरी सरकार आई है, NRC पर कोई चर्चा नहीं हुई है. उन्होंने ये भी दावा किया कि बिहार में NRC लागू नहीं होगी और इसका प्रस्ताव विधानसभा से पारित भी करवा लिया. नीतीश ने इस मास्टरस्ट्रोक से न सिर्फ विपक्ष, बल्कि बीजेपी को भी साध लिया.

NPR के मुद्दे की निकाली हवा

विपक्ष की ओर से उछाले जा रहे NPR के मुद्दे की भी नीतीश कुमार ने न सिर्फ हवा निकाल दी, बल्कि डिप्टी सीएम सुशील मोदी और बीजेपी नेताओं के सामने मोदी सरकार की ओर से लाए जा रहे NPR के नए फॉर्मेट में तमाम खामियां गिना दी. नीतीश ने NPR को 2010 के प्रारूप में ही लागू करने की बात कही.मोदी सरकार के खिलाफ भी, बीजेपी का साथ भी
नीतीश ने मोदी सरकार के फैसले के खिलाफ जाते हुए भी बीजेपी को साथ रखने की चाल चली. नीतीश ने NPR को लेकर केंद्र सरकार को लिखी गई चिट्ठी का जिक्र करते हुए ये भी बता दिया कि जिस राजस्व विभाग से चिट्ठी भेजी गई, उसके मंत्री बीजेपी के ही विधायक हैं.

प्रस्ताव से किया सबको पस्त

नीतीश ने सदन से NPR और NRC पर सदन से सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कराकर एक तीर से दो निशाना साधा. न सिर्फ विपक्ष को चित कर दिया, बल्कि बीजेपी नेताओं को भी साथ ले लिया. मजबूरी ही सही, प्रस्ताव का साथ देने के बाद बीजेपी नेताओं को अब NRC और NPR पर अलग लाइन लेने का मौका नहीं मिलेगा.

जातीय जनगणना की मांग दोहराई

नीतीश ने न सिर्फ CAA, NRC, NPR जैसे मुद्दों की हवा निकाल दी, बल्कि जातीय जनगणना की मांग कर सियासी बाजी मार ली.

समझिए नीतीश के मास्टरस्ट्रोक के मायने

1. CAA को CM नीतीश का ‘खुल्लमखुल्ला’ समर्थन देकर बीजेपी के साथ दोस्ती की मजबूती पर मुहर लगा दी.

2. NPR और NRC पर नीतीश ने अपनी शर्तों पर चलने का फैसला किया, जिसका साथ बीजेपी ने दिया.

3. केंद्र के फैसले से उलट बिहार में NPR, 2010 के फार्मेट में लागू होगा, फिर भी बीजेपी, नीतीश के साथ.

4. गठबंधन बचाने के लिए जरूरत पड़ने पर नीतीश और बीजेपी दोनों एक कदम पीछे लेने को तैयार हैं.

6. मुस्लिमों को नीतीश ने संदेश दे दिया कि बीजेपी के साथ रहकर भी उनकी बातों का पूरा ख्याल रखेंगे.

7. CAA पर मनमोहन सरकार के दौरान की कमिटी का जिक्र कर विपक्ष के हमले की धार को कुंद कर दिया.

8. NRC लागू नहीं करने और NPR पर प्रस्ताव पारित कर चुनावी साल में विपक्ष को मुद्दाविहीन कर दिया.

चुनावी साल में बिहार की सियासत के माहिर खिलाड़ी माने जाने वाले नीतीश को हरा पाना विपक्ष के लिए आसान नहीं होने वाला है. वहीं बीजेपी भी बखूबी जानती है कि सत्ता में रहने के लिए नीतीश के साथ देने के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं. जाहिर है नीतीश कुमार को बिहार की सियासत का चाणक्य यूं ही नहीं कहा जाता है.

Input : News18

Share and Enjoy !

0Shares
0 0 0
Continue Reading

BIHAR

सच्चा बिहारी है यह हीरो, दौलतमंद होने के बाद भी जीता है साधारण जीवन, पत्नी भी है बेहद सिंपल

Md Sameer Hussain

Published

on

बॉलीवुड में कई ऐसे अभिनेता है, जो छोटे-छोटे शहरों से निकलकर बॉलीवुड में सफल अभिनेता बने हैं, आज हम आपको बिहार के एक ऐसे ही बॉलीवुड अभिनेता के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसने बॉलीवुड में अपनी एक खास पहचान बनाई है l लेकिन इतना लोकप्रिय होने के बावजूद भी वह बेहद सादा जीवन बिताना पसंद करता हैं।

Image result for pankaj tirpathi image

हम जिस अभिनेता के बारे में बताने जा रहे हैं वह कोई और नहीं बल्कि बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता पंकज त्रिपाठी हैं। जिन्होंने कई फिल्मों में विलेन का किरदार निभाया है और लोग उनकी एक्टिंग को काफी ज्यादा पसंद करते हैं।

मिर्जापुर वेब सीरीज में उनकी एक्टिंग को लोगों ने काफी पसंद किया था, अपनी जिंदगी में पंकज त्रिपाठी ने दर-दर की ठोकरें खाई है l लेकिन आज वह किसी पहचान के मोहताज नहीं है l उन्होंने अपने बिहार का नाम काफी रोशन किया है।

Image result for pankaj tirpathi image

पंकज त्रिपाठी ने बॉलीवुड की कई सुपरहिट फिल्मों में लाजवाब अभिनय किया है l उन्होंने लुका छुपी, इस्त्री, गैंग्स ऑफ वासेपुर और मसान जैसी फिल्मों में अपने अभिनय से लोगों को दीवाना बनाया है। पंकज त्रिपाठी खास तौर पर अपनी एक्टिंग के लिए ही पहचाने जाते हैं l मिर्जापुर वेब सीरीज में उनकी एक्टिंग देखने के बाद उनकी लोकप्रियता चरम सीमा पर पहुंच गई है l इस वेब सीरीज में इस अभिनेता ने कालीन भैया का किरदार निभाया था।

जिसे दर्शकों ने काफी ज्यादा पसंद किया है और दर्शक भी उन्हें इस नाम से पहचानने लगे हैं l पंकज त्रिपाठी जमीन से जुड़े हुए अभिनेता हैं l दौलतमंद होने के बावजूद भी वह बेहद सादगी से रहना पसंद करते हैं, उनकी नस-नस में सादगी भरी हुई है l इतना पैसा कमाने के बाद भी वह अपने बिहार के छोटे से गांव को नहीं भूले हैं उन्हें आज भी बिहारी बाबू के नाम से जाना जाता है l उनके मां-बाप आज भी बिहार में निवास करते हैं और पंकज त्रिपाठी अक्सर उनसे मिलने अपने गांव जाया करते हैं l

एक इंटरव्यू में पंकज त्रिपाठी ने बताया था कि पुराने दिनों में वह जैसे रहते थे, उन्हें आज भी वैसे रहना पसंद हैl गांव की ताजी हवा और वहां का सुकून उन्हें काफी ज्यादा पसंद है l फैशन में रहने के बजाय पंकज त्रिपाठी को साधारण पहनावा ही काफी ज्यादा पसंद है l वह हमेशा साधारण पहनावे में भी रहते हैं l पंकज त्रिपाठी की बीवी को भी उनकी सादगी काफी ज्यादा पसंद है, उनकी पत्नी का नाम मृदुला त्रिपाठी है उन्होंने साल 2004 में पंकज त्रिपाठी से विवाह किया था।

Share and Enjoy !

0Shares
0 0 0
Continue Reading

BIHAR

BJP कोटे के मंत्री विजय सिन्हा बोले.. जरूरत पड़ी तो NRC आएगा भी और लागू भी होगा

Santosh Chaudhary

Published

on

PATNA : बिहार विधानसभा से NPR-NRC को लेकर प्रस्ताव पास किए जाने के बावजूद बीजेपी के नेताओं को इस बात का भरोसा है कि देश में NRC जरूर लागू होगा। बीजेपी कोटे से बिहार सरकार में मंत्री विजय सिन्हा ने कहा है कि अगर जरूरी हुआ तो देश में NRC लाया भी जाएगा और लागू भी होगा। मंत्री विजय सिन्हा ने कहा है कि विधानसभा से महज एक प्रस्ताव पास किया गया है इसके अलावा और कुछ भी नहीं।

मंत्री विजय सिन्हा ने कहा है कि फिलहाल देश में NRC लागू नहीं हो रहा है इसलिए बिहार में भी इसकी जरूरत नहीं है। विधानसभा से पास किए गए प्रस्ताव में केवल इसी बात का जिक्र है बीजेपी नेता ने कहा है कि जब देश में NRC लागू किया जाएगा तो बिहार में भी लागू हो कर रहेगा।

विजय सिन्हा ने कहा है कि बिहार में जो लोग भी आज जश्न मना रहे हैं वह देश को बांटने वालों के समर्थक हैं। सही वक्त आने पर सब को पता चल जाएगा कि देश में कानून कैसे काम करता है। विजय सिन्हा ने कहा कि अराजकता फैलाने वाले लोगों पर जल्द ही नकेल कसी जाएगी।

इनपुट : फर्स्ट बिहार

Share and Enjoy !

0Shares
0 0 0
Continue Reading
Advertisement
BIHAR50 mins ago

नीतीश कुमार के 6 मास्टरस्ट्रोक… और धराशायी हो गए सब! पढ़ें, कैसे बदला सियासत का गणित

HEALTH4 hours ago

उपवास रखने के गज़ब फायदे, इनके बारे मे जान हैरान रह जाएंगे आप.

BIHAR4 hours ago

सच्चा बिहारी है यह हीरो, दौलतमंद होने के बाद भी जीता है साधारण जीवन, पत्नी भी है बेहद सिंपल

INDIA5 hours ago

मेलानिया ट्रंप को पसंद आई मधुबनी पेंटिंग

TRENDING5 hours ago

कहते हैं प्यार की कोई उम्र नहीं होती, सोशल मीडिया पर वायरल हो रही ये तस्वीर

INDIA5 hours ago

ये जो आ’ग लगी है, कोई धर्म या मज़हब नहीं सिर्फ औऱ सिर्फ इंसान ज’लेगा

BIHAR6 hours ago

BJP कोटे के मंत्री विजय सिन्हा बोले.. जरूरत पड़ी तो NRC आएगा भी और लागू भी होगा

INDIA6 hours ago

सबसे ज्यादा IAS बनती है इस राज्य की लड़कियां, जानकर चौ’क जाएंगे

BIHAR7 hours ago

अब सूखी नहीं रहेगी ढाई हजार वर्ष पहले बनी अभिषेक पुष्करणी, 8.94 कराेड़ का प्रावधान

MUZAFFARPUR8 hours ago

हल्की बारिश से खुली निगम की पोल, शहर में नारकीय हालात

MUZAFFARPUR2 weeks ago

मुजफ्फरपुर में ल’ड़की की रे’प के बाद ह’त्या, नं’गी ला’श को प’टरी पर फें’का

BIHAR2 weeks ago

बिना नेट और गेट पास भी अब इंजीनियरिंग, पॉलीटेक्निक कॉलेजों में बन सकेंगे शिक्षक

Uncategorized2 weeks ago

IAS अफसर ने वैलेंटाइन डे को बनाया यादगार, ऑफिस में ही बिहार की IPS से कर ली शादी

BIHAR3 days ago

बिहार में 6 लोगों का म’र्डर, 24 घंटे के अंदर अ’पराधियों ने 12 लोगों को मा’री गो’ली

BIHAR2 weeks ago

राम मंदिर निर्माण के लिए दस करोड़ का दान, पहली किश्त के तौर पर दिए 2 करोड़

TRENDING4 weeks ago

‘मिर्जापुर 2′ की गोलू ने शेयर किया फर्स्‍ट लुक, कहा- भौकाल के लिए तैयार’

MANTRA2 weeks ago

चाणक्य नीति : इन 4 लोगों को कभी न रखें अपने साथ

MUZAFFARPUR3 weeks ago

मुजफ्फरपुर : पुलिस लाइन में जवान ने खुद को AK-47 से मा’री गो’ली, मौके पर मौ’त

MUZAFFARPUR4 days ago

बदहाली के दिनों में मुजफ्फरपुर रहते थे, महान फ़िल्म निर्माता और अभिनेता – राज कपूर

BIHAR3 weeks ago

इंटर परीक्षा शुरू होते ही Physics का प्रश्न पत्र वायरल, मचा हड़कंप

Trending

0Shares