Connect with us

TRENDING

ये हैं गर्मियों की 3 शानदार डेस्टिनेशन, कम पैसों में देती हैं विदेश की तरह मजा

गर्मीयों की छुटि्टयां शुरू होने वाली हैं। ऐसे में आप फैमिली के साथ एक बेहतरीन समर ट्रिप प्लान कर सकते हैं। आज हम ऐसी तीन जगहों के बारे में आपको बता रहे हैं, जहां आप कम खर्चे में अच्छा एंजॉय कर सकते हैं। यहां बेहतरीन नजारों से लेकर एडवेंचर तक आपको मिलेगा। जानिए ऐसी तीन […]

Santosh Chaudhary

Published

on

गर्मीयों की छुटि्टयां शुरू होने वाली हैं। ऐसे में आप फैमिली के साथ एक बेहतरीन समर ट्रिप प्लान कर सकते हैं। आज हम ऐसी तीन जगहों के बारे में आपको बता रहे हैं, जहां आप कम खर्चे में अच्छा एंजॉय कर सकते हैं। यहां बेहतरीन नजारों से लेकर एडवेंचर तक आपको मिलेगा। जानिए ऐसी तीन डेस्टिनेशंस के बारे में।

मनाली

– कम खर्चे में एंजॉय करना है तो मनाली एक बेहतरीन समर हॉलीडे डेस्टिनेशन हो सकती है। नॉथ इंडिया में मनाली सबसे ज्यादा पॉपुलर हनीमून डेस्टिनेशन है। एडवेंचर की भी यहां कमी नहीं।

कहां घूमें : यहां आप हिडिम्बा मंदिर, हिमालय न्यींग्मापा बुद्धिस्ट मंदिर, क्लब हाउस, सोलंग वैली, जोगिनी फाल्स, अर्जुन गुफा, वशिष्ठ हॉट वाटर स्प्रिंग जैसे प्लेस घूम सकते हैं।

क्या कर सकते हैं : सोलंग वैली में आप पैराग्लाइडिंग, श्री हरि योगा आश्रम में योग के साथ ही वाइल्ड लाइफ सेंचुरी का मजा उठा सकते हैं।

कैसे पहुंचे : मनाली से 50 किमी की दूरी पर भुंतर एयरपोर्ट है। वहीं मनाली से 245
कसोल

– यंगस्टर्स बड़ी संख्या में कसोल घूमने जाते हैं। स्वादिष्ट व्यंजन, जर्मन बैकरी के साथ ही पहाड़ों का एक अद्भुत नजारा यहां नजर आता है।

कहां घूमें : यहां आप गुरुद्वारा श्री मणिकर्ण साहिब, चलाल, जर्मन बेकरी घूमने लायक जगह हैं।

क्या कर सकते हैं : यहां आप ट्रैकिंग के साथ ही रिवरसाइड कैंपिंग कर सकते हैं।

कैसे पहुंचे : भुंतर एयरपोर्ट से कसोल की दूरी 31 किमी है। वहीं 295 किमी की दूरी पर स्थिल पठानकोट रेलवे स्टेशन है।

नैनीताल

– यह समुद्र तट से 1938 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। गर्मीयों में घूमने के लिए नैनीताल भी एक बेहतरीन डेस्टिनेशन है। इस हिल स्टेशन पर खूबसूरत वादियों के साथ ही झरनों का आनंद उठाने का भी मौका मिलता है। कहां घूमें : राज भवन, नैनी लेक, भीमताल, टिफिन टॉप, नैनीताल जू, नैना देवी मंदिर आदि जगहों पर घूम सकते हैं।

क्या कर सकते हैं : नैनी लेक पर बोटिंग कर सकते हैं। टिफिन टॉप में सनराइज व्यू को एंजॉय कर सकते हैं। हनुमान गढ़ी में सनसेट के साथ ही तिब्बती मार्केट में शॉपिंग कर सकते हैं। रोपवे राइड को भी एंजॉय कर सकते हैं।

कैसे पहुंचे : पंतनगर एयरपोर्ट से नैनीताल की दूरी 65 किमी है। वहीं काठगोदाम रेलवे स्टेशन नैनीताल की दूरी 34 किमी है।

कितना आएगा खर्चा

– नैनीताल का दिल्ली से 5 दिन और 4 रातों का टूर 16 हजार रुपए में ऑफर किया जा रहा है। इसमें आने-जाने से लेकर खाना-पीना, घूमना सबकुछ शामिल है। आप मेकमाय ट्रिप, यात्रा डॉटकॉम जैसी वेबसाइट के साथ ही खुद भी ट्रिप प्लान कर सकते हैं। 3 दिन का टूर 8 हजार रुपए तक में भी ऑनलाइन ऑफर किया जा रहा है। वहीं 3 दिनों का कसोल का ट्रिप भी 9 हजार रुपए में ऑफर किया जा रहा है। कसोल का दो दिनों का टूर 4500 रुपए में भी ऑनलाइन अवेलेबल है।

 

Input : Dainik Bhaskar

TRENDING

लॉटरी विक्रेता का जो टिकट नहीं बिका था, उसके ज़रिए उसने केरल में जीते ₹12 करोड़

Ravi Pratap

Published

on

केरल में फर्श से अर्श तक पहुंचने का मामला सामने आया है। एक लॉटरी विक्रेता को उसकी नहीं बिकी लॉटरी ने रातों रात करोड़पति बना दिया। केरल सरकार की क्रिसमस न्य ईयर बंपर लॉटरी के नतीजों में विक्रेता शराफुद्दीन ए के पास बची टिकटों में से एक का नंबर था और उसे 12 करोड़ की लॉटरी लगी।

खाड़ी देशों से लौटा शराफुद्दीन यहां एक छोटे से घर में छह लोगों के परिवार के साथ गुजर बसर कर रहा था। लॉटरी जीतने के बार शराफुद्दीन ने कहा, मैं अपना एक घर बनाना चाहता हूं। लॉटरी से जीती रकम से पहले अपना पूरा कर्ज चुकाऊंगा और एक छोटा सा व्यापार शुरू करूंगा। उसके परिवार में मां, दो भाई, पत्नी और एक बेटा परवेज है। परवेज 10वीं में पढ़ता है

Input: Amar Ujala

rama-hardware-muzaffarpur

Continue Reading

TRENDING

गूगल पर ‘घर में वैक्सीन कैसे बनाएं?’ ट्रेंड करने पर आईपीएस ने कहाँ, इतना भी आत्मनिर्भर नहीं बनना

Ravi Pratap

Published

on

कोरोना वायरस की महामारी ऐसी फैली है कि दुनिया त्राहि-त्राहि कर रही है। हेल्‍थ से जुड़े जितने भी रिसर्च सेंटर्स हैं, अधिकतर कोरोना की दवा या वैक्‍सीन डेवलप करने में लगे हुए हैं। बीमारों की संख्‍या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। ऐसे में लोग कोरोना वायरस की वैक्‍सीन और दवा को लेकर हर जानकारी चाहते हैं। वे इंटरनेट पर इस बारे में सर्च करते हैं। मगर एक बड़ी संख्‍या ऐसे यूजर्स की है जो ये खोज रही है कि घर पर कोरोना वैक्‍सीन कैसे बनाई जा सकती है। कोरोना का घर में इलाज ढूंढने वाले भी बहुत हैं।

घर पर कैसे ठीक हो कोरोना? गूगल से पूछ रहे लोग

गूगल ट्रेंड्स के मुताबिक, भारत में ऐसी सर्च में पिछले एक-दो महीने में भारी उछाल देखा गया है। मसलन how to treat covid at home पर अप्रैल-मई भी सर्च हो रहे थे मगर जून खत्‍म होते-होते इसपर यूजर्स की संख्‍या तेजी से बढ़ी। भारत में पिछले तीन महीने में कोरोना से जुड़े टॉप सर्चेज में से एक यह भी है। घर पर कोरोना वैक्‍सीन बनाने को लेकर भी लोगों की दिलचस्‍पी पिछले एक महीने में बढ़ी है।

किन राज्‍यों से हो रहे ऐसे सर्च?
How to treat covid at home पर अधिकतर सर्च पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, महाराष्‍ट्र, तमिलनाडु और उत्‍तर प्रदेश से हैं। वहीं घर पर कोरोना वैक्‍सीन बनाने का तरीका लगभग सभी राज्‍यों के यूजर्स ने खोजा है। आंध्र प्रदेश, छत्‍तीसगढ़, असम, गुजरात, जम्‍मू कश्‍मीर में इसके सर्च ज्‍यादा हैं। वैक्‍सीन को लेकर भी भारतीयों की दिलचस्‍पी इस बात से जाहिर होती है कि वह मई, जून और जुलाई (अब तक) के टॉप कीवर्ड्स में से एक रहा है।

ऐसे सर्च करने की क्‍या है वजह
कोरोना वायरस एक ऐसी बीमारी के रूप में उभरा है जिसके मरीजों को हीनता की नजर से देखा गया है। भारत में ऐसे कई मामले हैं जहां मरीजों को समाज में दुत्‍कारा गया। उन्‍हें चिढ़ाया गया। आसपास सावधानी के बजाय डर का माहौल बन गया। कई मनोचिकित्‍सक मानते हैं कि कई मरीज इन्‍फेक्‍ट होने के बावजूद इसलिए सामने नहीं आते क्‍योंकि उन्‍हें सोशल बायकॉट का डर है। इसलिए घर पर ही कोरोना के इलाज, दवा और वैक्‍सीन बनाने को लेकर लोग सर्च कर रहे हैं।

ऐसे सर्च करने की क्‍या है वजह

कोरोना वायरस एक ऐसी बीमारी के रूप में उभरा है जिसके मरीजों को हीनता की नजर से देखा गया है। भारत में ऐसे कई मामले हैं जहां मरीजों को समाज में दुत्‍कारा गया। उन्‍हें चिढ़ाया गया। आसपास सावधानी के बजाय डर का माहौल बन गया। कई मनोचिकित्‍सक मानते हैं कि कई मरीज इन्‍फेक्‍ट होने के बावजूद इसलिए सामने नहीं आते क्‍योंकि उन्‍हें सोशल बायकॉट का डर है। इसलिए घर पर ही कोरोना के इलाज, दवा और वैक्‍सीन बनाने को लेकर लोग सर्च कर रहे हैं।

Input: NBT Hindi

rama-hardware-muzaffarpur

Continue Reading

TRENDING

WagonR का Limousine अवतार! तस्वीरों में देखिए एक मैकेनिक का शाहकार

Muzaffarpur Now

Published

on

अगर आपके पास कोई खास आइडिया हो और कुछ नया करना चाहें तो कुछ भी कर सकते हैं. इस बात को पाकिस्तान के एक मोटर मैकेनिक ने सही साबित कर दिखाया है. मोहम्मद इरफान उस्मान नाम के इस मोटर मैकेनिक ने सुजुकी की कार वैगनआर (Suzuki WagonR) कार को मिनी लिमोजिन (Mini-Limousine) कार में तब्दील कर दिया. यह कार काफी सुर्खियां बटोर रही है. उस्मान के मन में काफी सालों से यह आइडिया चल रहा था और आखिरकार उन्होंने अपने आइडिया पर काम किया और मिनी लिमोजिन बना ही डाली.

14.5 फीट लंबी है यह कार 

लिमोजिन की तरह दिखने वाली यह नई कार 14.5 फीट लंबी है. वैगनआर की 2015 मॉडल को रीडिजाइन किया गया है. कार के अगले और पिछले हिस्से में कोई बदलाव किया गया है.बीच का हिस्सा जोड़ा गया है. इस कार में 6 दरवाजे हैं. कार को रिडिजाइन करने में वही पार्ट्स और बाकी चीजें लगा गई हैं जो सुजुकी अपनी गाड़ियों में करती है. इसमें बीच के दरवाजे, रूफ, पिलर और सीट को जोड़ा गया. मोडिफिकेशन इस तरह से किया गया है मानो नई कार हो. इसकी फिनिशिंग फैक्टरी लेवल की है.

CAR

तीन महीने में बनकर तैयार हुई कार

मोहम्मद इरफान उस्मान ने इस कार प्रोजेक्ट को उन्होंने तीन महीने में पूरा किया. डेली पाकिस्तान की खबर के मुताबिक, पाकिस्तानी रुपये में इस पर कुल लागत पांच लाख रुपये (भारतीय 2.27 लाख रुपये) आई. खबर के मुताबिक, बीच का हिस्सा जिसे जोड़ा गया है वह करीब 3.7 फीट है. इसमें छह लोग बैठकर सफर कर सकते हैं और यह 500 किलोग्राम तक का वजन कैरी कर सकती है. इस कार में 660 सीसी की ऑटोमेटिक ट्रांसमिशन इंजन है. उस्मान इस नई मिनी लिमोजिन को पिछले छह महीने से इस्तेमाल कर रहे हैं और इसमें अब तक कोई परेशानी नहीं आई है.

स्पीड और माइलेज

इस मोडिफाइड कार की स्पीड भी शानदार है. उस्मान ने इसे 120 किलोमीटर प्रतिघंटे तक की स्पीड पर भी चलाई है और यह कार हाइवे पर 20 किलोमीटर और शहर में 14-15 किलोमीटर प्रति लीटर के हिसाब से माइलेज भी देती है. खबर के मुताबिक, कार के मालिक यानी उस्मान इस कार को बेचने की चाहत भी रखते हैं. उन्होंने कार की कीमत पाकिस्तानी रुपये में 26 लाख रुपये (भारतीय रुपये में करीब 12 लाख) रखी है.

Source : Zee News (फोटो साभार- dailypakistan)

rama-hardware-muzaffarpur

Continue Reading
BIHAR7 hours ago

सुशांत सिंह राजपूत के नाम पर दिल्ली में होगा एक सड़क का नामकरण, सुशांत की याद में स्कॉलरशिप की घोषणा

BIHAR7 hours ago

बिहार विधान परिषद चुनाव: शाहनवाज हुसैन और मुकेश सहनी निर्विरोध निर्वाचित

Uncategorized12 hours ago

नीतीश का उद्‌घाटन गया बेकार: PMCH में 122 दिन पहले जिस इमरजेंसी का उद्घाटन कर गए CM, अस्पताल ने उसे नहीं किया शुरू, मरीज जमीन पर

TRENDING13 hours ago

लॉटरी विक्रेता का जो टिकट नहीं बिका था, उसके ज़रिए उसने केरल में जीते ₹12 करोड़

INDIA13 hours ago

24 घंटे में ‘फर्जी’ निकला गैंगरेप का केस, जानें युवती ने क्यों गढ़ी युवक को फंसाने के लिए झूठी कहानी?

MUZAFFARPUR14 hours ago

मुजफ्फरपुर: मेडिकल-इंजीनियरिंग की छात्राएं देर रात शहंशाह होटल के कमरे में म‍िलीं

BIHAR16 hours ago

‘मैं तेजस्वी यादव बोल रहा हूं’, पटना DM के जवाब पर जब लगने लगे जिंदाबाद के नारे, जानें पूरा माजरा

INDIA16 hours ago

बॉडीगार्ड शेरा के साथ सलमान खान ने शेयर की यह खास फोटो, लिखा- वफादारी

MUZAFFARPUR16 hours ago

मुजफ्फरपुर पंचायत चुनाव: उम्मीदवार कर रहे BJP से बात, अधिक मुखिया प्रत्याशी

INDIA16 hours ago

सुशांत की बर्थ एनिवर्सरी पर फूल खरीदने पहुंची रिया चक्रवर्ती, फोटोग्राफर्स से हाथ जोड़कर बोलीं- Please मेरा पीछा ना करें!

INDIA3 weeks ago

लड़कियों के लिए मिसाल हैं ये महिला IAS, अपनी हाइट को नहीं बनने दिया बाधा

TRENDING3 days ago

WagonR का Limousine अवतार! तस्वीरों में देखिए एक मैकेनिक का शाहकार

INDIA6 days ago

इंग्लिश मीडियम बहू और हिंदी मीडियम सास के रिश्‍तेे में यूं आ रही दरार, पहुंच रहे थाने तक

TRENDING3 weeks ago

12 लीटर सोडा, 40 बोतल बीयर रोज: 412 किलो के शख्स ने दुनिया को कहा अलविदा

JOBS3 weeks ago

डाक विभाग ने निकाली है बंपर भर्तियां, 10वीं पास करें आवेदन, जानें फॉर्म भरने का तरीका

BIHAR3 weeks ago

29 IAS, 38 IPS की ट्रांसफर-पोस्टिंग: 12 DM बदले, चंद्रशेखर सिंह पटना के नए DM बने; 13 SP बदले, लिपि सिंह को सहरसा SP बनाया गया

TRENDING6 days ago

‘दोस्त’ ने किया बेइज्जत: ‘कंगाल’ पाकिस्तान का यात्री विमान मलेशिया ने किया जब्त, उतारे गये यात्री

MUZAFFARPUR4 weeks ago

निगम में शामिल होंगे शहर से सटे 32 गांव, 49 से बढ़ कर हाे सकते हैं अब 76 वार्ड

BIHAR6 days ago

बिहार: अब सभी जिलों में चलेगी BSRTC की बस, पटना से काठमांडू, जनकपुर व भूटान सीमा तक मिलेगी सर्विस

BIHAR3 weeks ago

तो इसलिए हैं पंजाब के किसान सड़कों पर, बिहार के किसानों के मुकाबले कमाते हैं पांच गुना ज्यादा

Trending