राज्यसभा के मार्शल दिखे नये यूनिफार्म में, 250वें सत्र से मार्शल की ड्रेस में हुआ बदलाव
Connect with us
leaderboard image

Uncategorized

राज्यसभा के मार्शल दिखे नये यूनिफार्म में, 250वें सत्र से मार्शल की ड्रेस में हुआ बदलाव

Muzaffarpur Now

Published

on

राज्यसभा के 250वें सत्र के प्रारंभ होने पर सोमवार को आसन का नजारा कुछ बदला सा लग रहा था। यह बदलाव आसन की सहायता के लिए मौजूद रहने वाले मार्शलों की एकदम नयी वेषभूषा के कारण महसूस हुआ।

आम तौर पर उच्च सदन की बैठक आसन की मदद करने वाले कलगीदार पगड़ी पहने किसी मार्शल के सदन में आकर यह पुकार लगाने से शुरू होती है कि ‘‘माननीय सदस्यों, माननीय सभापति जी।’’ किंतु सोमवार को इन मार्शलों के सिर पर पगड़ी की बजाय नीले रंग की ‘‘पी-कैप’’ थी। साथ ही उन्होंने नीले रंग की आधुनिक सुरक्षाकर्मियों वाली वर्दी धारण कर रखी थी।

राज्यसभा सचिवालय के सूत्रों ने बताया कि इस बारे में किए गए उच्चस्तरीय फैसले के बाद मार्शल के लिये जारी ड्रेस कोड के तहत सदन में तैनात मार्शलों को कलगी वाली सफेद पगड़ी और पारंपरिक औपनिवेशिक परिधान की जगह अब गहरे नीले रंग की वर्दी और कैप पहननी होगी। राज्यसभा सचिवालय के सूत्रों के अनुसार पिछले कई दशकों से चल रहे इस ड्रेस कोड में बदलाव की मांग मार्शलों ने ही की थी।

उल्लेखनीय है कि सभापति सहित अन्य पीठासीन अधिकारियों की सहायता के लिये लगभग आधा दर्जन मार्शल तैनात होते हैं। एक अधिकारी ने बताया कि मार्शलों ने उनके ड्रेस कोड में बदलाव कर ऐसा परिधान शामिल करने की मांग की थी जो पहनने में सुगम और आधुनिक ‘लुक’ वाली हो। इनकी मांग पर को स्वीकार कर राज्य सचिवालय और सुरक्षा अधिकारियों ने नयी ड्रेस को डिजायन करने के लिये कई दौर बैठकें कर नये परिधान को अंतिम रूप दिया।

Input : Republic

Uncategorized

वित्त रहित शिक्षक/कर्मचारी संघर्ष मोर्चा ने 7 सूत्री मांगों को लेकर कलेक्ट्रेट मे दिया धरना

Arvind Akela

Published

on

मुजफ्फरपुर जिला के समाहरणालय परिसर स्थित धरना स्थल पर वित्त रहित अनुदानित शिक्षक एवं कर्मचारी संघर्ष मोर्चा जिला इकाई मुजफ्फरपुर के बैनर तले शिक्षक एवं कर्मचारियों ने अपनी सात सूत्री मांगों को लेकर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन और साथ ही सरकार को चेतावनी।

वहीं धरने का नेतृत्व कर रहे शिक्षक कर्मचारी संघ मोर्चा के जिला इकाई के संयोजक अनिल कुमार सिंह ने कहा कि हम लोगों की 7 मांगे हैं जिनमें से मुख्य मांग अनुदान के बदले वेतन चाहिए।

मांग इस प्रकार

  • अनुदान के बदले वेतन
  • 35 वर्षों से बकाया अनुदान का एक मुस्त भुगतान
  • संबद्धता समाप्त करने की साजिश पर रोक
  • मध्य विद्यालयों के उत्क्रमण पर रोक
  • कार्यरत सभी शिक्षकों एवं कर्मचारियों का सेवा स्थाई करें
  • सेवानिवृत्त के आयु सीमा 65 वर्ष बढ़ाकर किया जाए
  • सेवानिवृत्ति के बाद पेंशन एवं अन्य सुविधाएं मोहिया किया जाए

इन सभी मांगों को लेकर आज या धरना प्रदर्शन किया जा रहा है अगर हमारी मांगे समय रहते पूरी नहीं होती है तो हम लोग आगामी भूख हड़ताल पटना में पूरे बिहार के वित्त रहित शिक्षक एवं कर्मचारी करेंगे जिसको लेकर आज हम जिला अधिकारी के माध्यम से सरकार तक यह संदेश देना चाहते हैं।

 

Continue Reading

Uncategorized

बिहार के सुमंत फोर्ब्स की सूची में टॉप पर

Santosh Chaudhary

Published

on

एक बार फिर बिहार की प्रतिभा ने देश और प्रदेश का नाम दुनिया में रोशन किया है। पटना के सुमंत परिमल प्रतिष्ठित पत्रिका फोर्ब्स द्वारा आईटी प्रोफेशनल और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) विशेषज्ञों की ऑनलाइन कराई गई प्रतियोगिता में शीर्ष पर रहे हैं। वह इस प्रतियोगिता में बाजी मारने वाले एकमात्र भारतीय हैं।

Image result for sumant parimal

करीब दो महीने तक चली ऑनलाइन प्रतियोगिता में उन्होंने अमेरिका, यूरोप, एशिया व ऑस्ट्रेलिया के विख्यात आईटी और एआई विशेषज्ञों को पीछे छोड़ा है। सुमंत की रेटिंग सबसे ऊंची रही, जिससे उन्हें फोर्ब्स ने वैश्विक विशेषज्ञों के पैनल में टॉप पर रखा है। यहां के राजा बाजार के रहने वाले सुमंत ने मैसूर विवि से एमटेक और जेवियर लेबर रिसर्च इंस्टीट्यूट स्कूल ऑफ मैनेजमेंट, जमशेदपुर से एमबीए किया है। वह कई वर्षों तक बोकारो स्टील प्लांट में अधिकारी रहे। इसके बाद उन्होंने पांच वर्षों तक अमेरिका में रिसर्च किया।

 

रोबोटिक्स टेक्नोलॉजी पर कर रहे हैं काम : सुमंत परिमल ने ‘5 ज्वेल्स रिसर्च’ नाम की अपनी आईटी कंपनी बनाई है, जो भारत में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और रोबोटिक्स टेक्नोलॉजी के विकास पर काम कर रही है। हाल ही में ग्रेटर नोएडा में रोबोटिक टेक्नोलॉजी पार्क की स्थापना के लिए उत्तर प्रदेश की सरकार के साथ सुमंत परिमल ने करार किया है।

क्या है आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मानव और अन्य जन्तुओं द्वारा प्रदर्शित प्राकृतिक बुद्धि के विपरीत मशीनों द्वारा प्रदर्शित बुद्धि है। कृत्रिम बुद्धि कोई भी ऐसा संयंत्र हो सकता है जो अपने पर्यावरण को देखकर, अपने लक्ष्य को प्राप्त करने की कोशिश करता है। यानी मशीन इंसानों के कार्यों की नकल करती है।

एआई विशेषज्ञ

प्रतिष्ठित पत्रिका की ऑन लाइन प्रतियोगिता में रहे अव्वल

प्रतियोगिता के बाद तैयार पैनल में सुमंत एकमात्र भारतीय

5 वर्षों तक अमेरिका के विभिन्न शहरों में किया है रिसर्च

Input : Hindustan

 

Continue Reading

Uncategorized

सूर्य ग्रहण 2019: सूर्य ग्रहण पर खाने की होती है मनाही, मजबूरी में इस तरह खाएं ये खास चीजें

Santosh Chaudhary

Published

on

र्य ग्रहण 2019: 26 दिसंबर को साल का सबसे बड़ा और आखिरी सूर्य ग्रहण लगने वाला है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सूर्य ग्रहण का विशेष महत्व होता है। ग्रहण कोई भी हो इसका अच्छा या बुरा प्रभाव हर राशि के जातक पर पड़ता है। साल के इस आखिरी सूर्य ग्रहण को भारत, एशिया, अफ्रीका और आस्ट्रेलिया में देखा जा सकेगा।

ज्योतिषशास्त्रियों के मुताबिक, यह अदभुत खगोलीय घटना सालों बाद घट रही है। इससे पहले 296 साल पहले ऐसा सूर्य ग्रहण देखा गया था। हिंदू धर्म में ग्रहण के कुछ खास नियमों के साथ कुछ इस दौरान कुछ कार्य करना भी वर्जित बताया गया है जिसमें भोजन भी एक कार्य है।

माना जाता है कि ग्रहण के दौरान व्यक्ति को भोजन नहीं करना चाहिए। लेकिन अगर आपके घर में कोई गर्भवती स्त्री, बच्चा या बुजुर्ग हो तो वो ग्रहण के दौरान इन कुछ खास चीजों का सेवन कर सकते हैं। आइए जानते हैं आखिर क्या हैं ये चीजें और ग्रहण के दौरान कैसे करें इनका सेवन।

 

दूध-
ग्रहण के दौरान जरूरत पड़ने पर व्यक्ति दूध का सेवन कर सकता है। लेकिन ऐसा करते समय ध्यान रखें कि दूध में तुलसी के पत्ते डालने के बाद ही उसका सेवन करें।

इन फलों का करें सेवन-
ग्रहण के दौरान ऐसे फलों का सेवन करना चाहिए जिनके ऊपर छिलका लगा हुआ होता है जैसे-केला, अनार, नारियल।

सूखे मेवे-
ग्रहण के दौरान खुद को ऊर्जा से भरपूर रखने के लिए सूखे मेवे खाएं। कहा जाता है कि सूखे मेवों पर हानिकारक किरणों का असर नहीं होता है।

बने हुए भोजन को करने से बचे-
माना जाता है कि ग्रहण के दौरान कॉस्मिक किरणों की वजह वातावरण में बैक्टीरिया खत्म करने वाली पराबैंगनी किरणें कम हो जाती है। जिसकी वजह से पहले से बना हुआ भोजन करने से सेहत को नुकसान पहुंच सकता है।

Continue Reading
Advertisement
INDIA1 hour ago

CAA प्रदर्शन पर CM योगी के बि’गड़े बोल- महिलाएं धरने पर और पुरुष रजाई में

BIHAR2 hours ago

बढ़ते अ’पराध पर तिलमिलाए DGP, कहा- 1 हफ्ते के अंदर नालायक पुलिस वालों को नाप दूंगा

BREAKING NEWS MUZAFFARPUR
BIHAR3 hours ago

हाजीपुर में पुलिस-अ’पराधियों के बीच ए’नका’उंटर, बाल-बाल बचे थाना प्रभारी, एक अ’पराधी ढे’र

BIHAR3 hours ago

बिजली कंपनी देगी जबरदस्त झटका, फिर बढ़ेगा इलेक्ट्रिसिटी बिल

MUZAFFARPUR4 hours ago

मुजफ्फरपुर-हाजीपुर बाइपास का निर्माण मुआवजे के फेर में फंसा

BIHAR13 hours ago

पत्नी ने खाना नहीं बनाया तो गुस्‍से में लाल हुआ पति, सि’र में गो’ली मार उडा दिया भे’जा

BIHAR14 hours ago

पटना हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, नियोजित पंचायत शिक्षकों को मिलेगा EPF का लाभ

BIHAR14 hours ago

अ’भी-अ’भी: सीवान में गो’ली मा’रकर डॉक्टर की ह’त्या

BIHAR15 hours ago

दुखद : पटना की डॉ. बेटी बरेली में जिं’दा ज’ली

INDIA15 hours ago

पहली बार देश का संविधान छापने वाली दोनों मशीनें कबाड़ के भाव बिकीं

INDIA5 days ago

महज 3.80 लाख रुपये में मिल रही है Maruti Suzuki की 7 सीटर कार

MUZAFFARPUR7 days ago

मुजफ्फरपुर में युवक की गो’ली मा’रकर ह’त्या, फेसबुक लाइव होकर बिहार पु’लिस से मांगी थी सु’र’क्षा

BIHAR3 weeks ago

लंबे समय बाद नए लुक में नजर आए तेज प्रताप, पत्‍नी ऐश्‍वर्या के मायके जाने के बाद कटवाए बाल

INDIA2 weeks ago

बिहार के लोगों ने दीपिका पादुकोन को नकारा, पटना में छपाक देखने पहुंचे मात्र तीन लोग

INDIA3 weeks ago

निर्भया के चारों दो’षियों को 22 जनवरी की सुबह दी जाएगी फां’सी, डे’थ वा’रंट जारी

MUZAFFARPUR3 weeks ago

मुजफ्फरपुर के एक साधारण किसान का पुत्र बना Air Force में Flying Officer, ग्रामीण युवाओं के सपनों को लगे पंख

MUZAFFARPUR3 weeks ago

गाय ने दो मुंह व चार आंख वाली बछिया को जन्म दिया

INDIA5 days ago

बड़ी खबर : 1 जून से शुरू होगी ‘एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड’, देश में कहीं भी खरीद सकेंगे राशन

INDIA4 days ago

उस गांव की कहानी, जहां ज्यादातर औरतों की कोख नहीं

BIHAR2 weeks ago

BPSC Civil Services की परीक्षा देनी है तो ध्‍यान दें, अब पहले से कठिन हो जाएगा पाठ्यक्रम

Trending

0Shares