Connect with us

INDIA

राहुल गांधी की PM मोदी को चिट्ठी- संकट के इस दौर में कांग्रेस के लाखों कार्यकर्ता आपके साथ खड़े हैं

Published

on

कोरोना वायरस को देखते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री को एक पत्र लिखा है. पत्र में उन्होंने कहा है कि देश इस वक्त बड़े मानवीय संकट से गुजर रहा है. ऐसे में मैं और कांग्रेस पार्टी के लाखों कार्यकर्ता आपके साथ खड़े हैं. देश में कोरोना वायरस के खिलाफ जो लड़ाई चल रही है, उसमें सरकार के एक-एक कदम में हम सहयोग कर रहे हैं.

कोविड-19 वायरस के तेजी से प्रसार को रोकने के लिए दुनिया को तत्काल कदम उठाने पर मजबूर होना पड़ा है और भारत वर्तमान में तीन सप्ताह के लॉकडाउन में है. मुझे संदेह है कि सरकार अंततः इसे और भी आगे बढ़ाएगी.

राहुल गांधी ने लिखा है, हमारे लिए यह समझना महत्वपूर्ण है कि भारत की परिस्थितियां कुछ अलग हैं. हमें पूर्ण लॉकडाउन रणनीति का पालन करने वाले अन्य बड़े देशों की तुलना में अलग-अलग कदम उठाने होंगे. भारत में वैसे गरीब लोगों की संख्या काफी अधिक है जो दैनिक आय पर निर्भर हैं. ऐसा देखते हुए हमारे लिए सभी आर्थिक गतिविधियों को एकतरफा बंद करना बहुत बड़ी चुनौती है. इस पूर्ण आर्थिक बंद के कारण कोविड-19 वायरस से होने वाली मौतों की संख्या और भी बढ़ जाएगी.

यह महत्वपूर्ण है कि सरकार इस मुश्किल परिस्थिति के साथ आम लोगों की भी परेशानी समझे. हमारी प्राथमिकता यह होनी चाहिए कि बुजुर्गों को इस वायरस के प्रकोप से बचाने के लिए उन्हें कैसे सुरक्षा दी जाए और आइसोलेट कैसे किया जाए. इसके साथ ही युवा वर्ग को यह संदेश दिया जाए कि उनका बुजुर्ग लोगों के नजदीक जाना कितना खतरनाक हो सकता है.

प्रधानमंत्री के नाम पत्र में राहुल गांधी ने लिखा है, देस के लाखों बुजुर्ग गांवों में रहते हैं. देश में पूर्ण बंदी से लाखों बेरोजगार युवा भी गांव की ओर लौटेंगे. इससे उनके माता-पिता के संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाएगा जो गांवों में रहते हैं. इससे बड़े पैमाने पर लोगों की जान जा सकती है. इस विषम परिस्थिति में हमें सामाजिक सुरक्षा का पूरा ख्याल रखना चाहिए. हमें हर हाल में सुनिश्चित करना चाहिए कि कामकाजी गरीबों को सरकारी संसाधनों के माध्यम से मदद और सहारा मिल सके. लोगों की बढ़ती संख्या को देखते हुए बड़े अस्पताल जिनमें हजारों बेड और वेंटिलेटर्स हों, की जरूरत पड़ेगी. जरूरतों को देखते हुए इन सभी चीजों का निर्माण जितनी जल्दी हो सके, उतनी तेजी से किया जाना चाहिए. साथ ही टेस्ट की संख्या भी बढ़ाई जानी चाहिए जिससे वायरस के प्रसार के बारे में सही आंकड़े मिलें और इसे रोकने के कदमों के उपाय हो सकें.

पत्र में राहुल गांधी ने आगे लिखा है, अचानक किए गए लॉकडाउन से लोगों में डर और भ्रम की स्थिति पैदा हुई है. फैक्ट्री, छोटे कल-करखाने और निर्माण कार्य बंद हो गए हैं. हजारों प्रवासी मजदूर अपने-अपने गांव घर के लिए पैदल निकल पड़े हैं. इस क्रम में वे राज्यों की सीमा पर जहां-तहां फंसे हुए हैं. वे जल्दी में अपने घर पहुंचने के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं. इस समय जरूरी है कि हम उन्हें सहारा देने में मदद करें. उनके बैंक खाते में पैसा जमा कराया जाए जिससे कि अगले कुछ महीने तक उनकी मदद हो सके. लॉकडाउन और आर्थिक बंदी के कारण हमारी वित्तीय संस्थाएं भी प्रभावित होंगी, इसलिए उनकी सुरक्षा के भी इंतजाम किए जाने चाहिए. इसमें हमारी अनौपचारिक अर्थव्यवस्था और छोटे व मध्यम व्यवसायों और किसानों का विशाल नेटवर्क किसी भी पुनर्निर्माण के प्रयास के लिए महत्वपूर्ण होने जा रहा है. यह जरूरी है कि हम उन्हें बातचीत में शामिल करें, उनके आत्मविश्वास बढ़ाएं और सही और समय पर कार्रवाई के साथ उनके हितों की रक्षा करें. इस मुश्किल परिस्थिति में हम सरकार के साथ खड़े हैं.

Input : Aaj Tak

INDIA

नहीं रहीं रेल मंत्री की मां, पीयूष गोयल ने ट्वीट कर दी जानकारी

Published

on

केंद्रीय रेल पीयूष गोयल के मां का निधन हो गया है. इस बात की जानकारी ख़ुद पीयूष गोयल ने ट्वीट कर के दी है. अपने ट्विटर हैंडल पर पियूष ने कुछ इमोशनल लाइन्स लिखी है.

रेल मंत्री पीयूष गोयल की मां का ...

उन्होंने लिखा है कि अपने स्नेह, और प्रेम से मुझे हमेशा राह दिखाने वाली मेरी पूज्य माता जी का आज सुबह स्वर्गवास हो गया. उन्होंने अपना पूरा जीवन सेवा करते हुए बिताया, और हमें भी सेवाभाव से जीवन बिताने को प्रेरित किया. ईश्वर उन्हें अपने श्री चरणों मे स्थान दें. ॐ शांतिः

पियूष गोयल के मां के निधन पर कई राजनेताओं ने शोक जताया है. पूनम महाजन ने चंद्रकांता गोयल के निधन पर ट्वीट किया – ‘श्रीमती चंद्रकांता के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ. वह विधानसभा में भाजपा की मजबूत आवाज थी और एक प्यार करने वाले नेता थी. पूरा गोयल परिवार महाराष्ट्र में हमारे लिए ताकत का स्तंभ रहा है.

Input : Live Cities

Continue Reading

INDIA

ट्रेन में टिकट बुक कराने के बदल गए नियम, अब ये जानकारी देने पर ही मिलेगी यात्रा की अनुमति

Published

on

कोरोना संकट के बीच अनलॉक वन का फेज शुरू हो गया है. इस बीच इंडियन रेलवे लगातार ट्रेनों की संख्या बढ़ा रहा है. लेकिन कोरोना संकट के इस काल में संक्रमण से बचाव के लिए रेलवे ने यात्रा करने के कई नियमों में बड़े बदलाव किए हैं. अब कन्फर्म टिकट पाने वाले यात्रियों को ही रेल में यात्रा करने की इजाजत है.

इसके साथ ही रेलवे ने कोरोना संकट के इस काल में रिजर्वेशन टिकट के फॉर्म में बड़े बदलाव किए गए हैं. जिसके बाद अब यात्रा करने वाले यात्रियों को अपनी पूरी डिटेल देनी होगी. इसमें मकान नंबर से लेकर गली नंबर तक शामिल है. आप रिजर्वेशन काउंटरों से टिकट लें या IRCTC की वेबसाइट या ऐप से आपकों हर जगह ये जानकारी किसी भी हाल में देनी ही होगी. तभी आपको ट्रेन से यात्रा करने की इजाजत होगी.

1. रिजर्वेशन टिकट के फॉर्म में अपना पूरा पता, मकान नंबर, गली, कॉलोनी, शहर, तहसील और जिले की जानकारी देरी होगी. इसके साथ ही आपको अपना मोबाइल नंबर भी देना होगा,जो यात्रा के समय आप लेकर चल रहे हैं.

2.इसके बाद लोगों में संशय है कि इतना बड़ा फॉर्म भरने में देरी होगी और तब तक टिकटें खत्म हो जाएंगी या दलाल उन पर कब्जा कर लेंगे.

3.जिसके बाद रेलवे ने सफाई दी कि एक फॉर्म भरने में 70 सेकंड से ज्यादा नहीं लगेंगे. रेलवे का कहना है कि राज्यों ने कोरोना के बढ़ते मामले देखते हुए लोगों के पलायन से जुड़े आंकड़े साझा करने का अनुरोध किया था. जिसके बाद यह व्यवस्था की गई है. इसके लिए रेलवे ने अपने सेंटर फॉर रेलवे इन्फर्मेशन सिस्टम यानी क्रिस से सॉफ्टवेयर में बदलाव कराया है.

वहीं रेल यात्रियों को टिकट के कैंसिलेशन और किराया के रिफंड का नियम 2015 लागू है. कन्‍फर्म टिकट पर डिपार्चर से 4 घंटे पहले टिकट रद्द नहीं कराने पर रेलवे आपको कोई रिफंड नहीं देता. अगर आपके पास कन्‍फर्म टिकट है और इसे रद्द कराना चाहते हैं तो डिपार्चर से 4 घंटे पहले टिकट रद्द कराने पर ही रिफंड मिलेगा. अगर किसी वजह से रेलवे ट्रेन को कैंसिल करता है तो नियमों के मुताबिक आपको रेल टिकट पर पूरा रिफंड मिलता है.

Input : First Bihar

Continue Reading

INDIA

सिविल सेवा की प्रारंभिक परीक्षा 4 अक्टूबर को

Published

on

कोरोना के कारण टाली गई सिविल सेवा की प्रारंभिक परीक्षा आगामी 4 अक्टूबर को आयोजित कराई जाएगी। वहीं पिछले साल की सिविल सेवा की प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा में चुने गए अभ्यर्थियों का साक्षात्कार 20 जुलाई से शुरू होगा। यह जानकारी शुक्रवार को संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने दी।

आयोग ने कहा कि इस साल प्रारंभिक परीक्षा 31 मई को निर्धारित थी लेकिन कोरोना के कारण टाल दिया गया। हालात पर विचार करने के बाद आयोग ने परीक्षाओं की नई तिथियां तय कीं। नये कार्यक्रम के अनुसार 4 अक्टूबर को प्रारंभिक परीक्षा के बाद 9 जनवरी 2021 को मुख्य परीक्षा (मेन) कराई जाएगी। वर्ष 2019 की परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों का साक्षात्कार 20 जुलाई से शुरू होगा। इसी तरह एनडीए और एनए (प्रथम) और एनडीए और एनए (द्वितीय)-2020 की परीक्षा आगामी 6 सितंबर को होगी। उधर, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) में अधिकारी और लेखा अधिकारी के लिए 4 अक्टूबर को होने वाली परीक्षा स्थगित कर दी गई है।

Continue Reading
WORLD54 mins ago

दाऊद इब्राहिम के कोरोना वायरस से मौत की अटकलें, पुष्टि नहीं

BIHAR2 hours ago

सांसद वीणा देवी की बेटी का मोबाइल हुआ चोरी, बदमाशों ने कान बाली छीनने की भी की कोशिश

WORLD2 hours ago

WHO ने जारी किए मास्क पहनने के नए निर्देश, भीड़ वाले इलाकों में जरूर लगाए

INDIA2 hours ago

नहीं रहीं रेल मंत्री की मां, पीयूष गोयल ने ट्वीट कर दी जानकारी

BIHAR2 hours ago

पटना के सांसदों को सताने लगा डूबने का डर, रविशंकर दिल्ली से तो रामकृपाल ऑन ग्राउंड हुए एक्टिव

INDIA3 hours ago

ट्रेन में टिकट बुक कराने के बदल गए नियम, अब ये जानकारी देने पर ही मिलेगी यात्रा की अनुमति

BIHAR3 hours ago

खोखला है नीतीश सरकार का दावा, शुरु हो गया बिहारी मजदूरों का पलायन

MUZAFFARPUR7 hours ago

झमाझम बारिश के बाद बदला मौसम का मिजाज, टूटा बारिश का रिकॉर्ड, 7 जून तक अलर्ट

BIHAR7 hours ago

उत्तर बिहार में प्री-मानसून की झमाझम बारिश से झूमे किसान

BIHAR7 hours ago

विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेले पर कोरोना संकट का साया, अब तक तैयारी नहीं हुई शुरू

BIHAR3 weeks ago

जानिए- बिहार के एक मजदूर ने ऐसा क्या कहा कि दिल्ली के अफसर की आंखों में आ गए आंसू

BIHAR4 weeks ago

बिहार के लिए हरियाणा से खुलेंगी 11 ट्रेनें, यहां देखिये गाड़ियों की पूरी लिस्ट

BIHAR3 weeks ago

बिहार के 4 जिलों के लिए मौसम विभाग का अलर्ट,वर्षा-वज्रपात और ओलावृष्टि की चेतावनी

TECH4 weeks ago

ज़बरदस्त ऑफर! सिर्फ 22,999 रुपये का हुआ सैमसंग का 63 हज़ार वाला धांसू स्मार्टफोन

BIHAR3 weeks ago

बिहार में 33916 शिक्षकों की होगी बहाली, मैथ और साइंस के होंगे 11 हजार टीचर, यहां देखिये सभी विषयों की लिस्ट

MUZAFFARPUR1 week ago

मुजफ्फरपुर आ रहें हैं सोनू सूद, कहा साइकिल से घूमेंगे पुरा मुजफ्फरपुर

INDIA3 weeks ago

घरेलू उड़ानों के लिए बुकिंग शुरू, पर शर्तें लागू; जानें आपको फायदा मिलेगा या नहीं

TECH1 week ago

आ रहा नोकिया का 43 इंच का TV, जानें कितनी होगी कीमत

INDIA3 weeks ago

भारत के 700 स्टेशनों के लिए चलेगी ट्रेन, रेल मंत्रालय ने कहा- रोज चलेंगी 300 ट्रेनें

INDIA4 weeks ago

महाराष्ट्र: औरंगाबाद में मालगाड़ी ने 19 मजदूरों को कुचला, 16 की मौत, सभी पटरी पर सो रहे थे

Trending