Connect with us

Uncategorized

रिटायरमेंट के बाद अंग्रेजी से एमए करने में जुटे 70 साल के रामअवतार

Published

on

शिक्षा, सीख और दोस्ती उम्र या फिर संसाधनों की मोहताज नहीं होती। पढ़ाई और हुनर उम्र के किसी दौर में हासिल किए जा सकते हैं ऐसा ही कुछ कर दिखाया 70 वर्ष के रामअवतार ने। बचपन में शिक्षा पूरी नहीं होने पर वह अब 70 की उम्र में एमए अंग्रेजी से कर रहे हैं।

इसी पढ़ाई के जुनून और सकारात्मक सोच ने उन्हें चपरासी से बाबू की कुर्सी दिला दी।

रामनगर पीएनजी पीजी कॉलेज में 70 वर्ष के रामअवतार को कंधे में काला बैग और पैर में चप्पल देखकर छात्र-छात्राएं दंग रह जाते हैं, लेकिन रामअवतार इसे अपनी कमजोरी नहीं मानते। उनका मकसद पढ़कर डिग्री पाना है। शनिवार को हिन्दुस्तान से बातचीत में खताड़ी निवासी रामअवतार ने बताया बचपन में परिजनों के पास पढ़ाने को पैसे नहीं थे।

फिर भी आठवीं तक पढ़कर 1974 में नगरपालिका में चपरासी बन गये। स्टॉफ के साथियों का प्रमोशन हुआ, लेकिन उनकी पढ़ाई पूरी नहीं होने पर प्रमोशन नहीं हो सका। तभी से उन्हें पढ़ने की धुन लगी और 1998 में हाईस्कूल पास कर 1999 में प्रमोशन पाया और बाबू बन गये। 2012 में इंटर करने के बाद रामनगर महाविद्यालय से बीए की रेगुलर पढ़ाई शुरू की।

वे 2015 में नौकरी से रिटायर होने के बाद नियमित छात्र के तौर पर अंग्रेजी से एमए कर रहे हैं। उनका मानना है कि किसी भी मुकाम को पाने के लिये पढ़ाई जरूरी है। पढ़ाई की जिद ने ही उन्हें कॉलेज की राह दिखाई।

हाईस्कूल पास करने में लगे सात साल
हाईस्कूल पास करने में रामअवतार को सात साल लग गये। 1991 में हाईस्कूल की परीक्षा प्राइवेट परीक्षार्थी के तौर पर दी। लगातार फेल होने के बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी। आखिर 1998 में हाईस्कूल पास किया।

हाईस्कूल पास करने में रामअवतार को सात साल लग गये। 1991 में हाईस्कूल की परीक्षा प्राइवेट परीक्षार्थी के तौर पर दी। लगातार फेल होने के बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी। आखिर 1998 में हाईस्कूल पास किया।

Input : Live Hindustan

Uncategorized

बाप से नौकरी मांगने की सलाह देने वाले JDU विधायक की सफाई, भतीजे से बातचीत को मीडिया ने मुद्दा बनाया

Published

on

PATNA : क्वारंटीन सेंटर में रखे गये एक मजदूर को बाप से नौकरी मांगने की सलाह देने के मामले में घिरे जेडीयू के विधायक रणधीर कुमार सोनी ने सफाई दी है. विधायक ने कहा है कि उन्होंने अपने गांव के रिश्ते के भतीजे से पारिवारिक संबंधों के कारण बातचीत की थी. मीडिया ने उसे गलत मोड़ दे दिया है.

विधायक रणधीर कुमार सोनी की सफाई

जेडीयू विधायक रणधीर कुमार सोनी ने फर्स्ट बिहार से बात करते हुए कहा है कि वे अपने क्षेत्र में क्वारंटीन सेंटर का दौरा कर रहे थे. इस दौरान एक सेंटर पर उनकी मुलाकात अपने गांव के पिंटू नामक युवक से हुई. विधायक ने कहा कि पिंटू के पूरे परिवार से उनका संबंध है और वो रिश्ते में उनका भतीजा लगता है. भतीजा ने उनसे कहा कि काम चाहिये तो उन्होंने पारिवारिक रिश्ते के कारण उससे कहा कि बाबू जी से जाकर काम मांगो. मीडिया ने इस पारिवारिक वार्तालाप को सनसनीखेज बनाकर पेश कर दिया है.

दरअसल शेखपुरा के विधायक रणधीर कुमार सोनी अपने क्षेत्र के चांदी गांव में एक क्वारेंटाइन सेंटर में पहुंचे थे तो मजदूरों ने रोजगार की मांग की थी. इसी दौरान उन्होंने एक मजदूर से कहा कि ”जो बाप तुमको जन्म दिया है वो क्या तुम को रोज़गार दिया.”

विधायक की बातचीत का ये वीडियो वायरल हो गया. इसके बाद पार्टी ने भी उनसे सफाई मांगी है. विधायर रणधीर सोनी ने फर्स्ट बिहार से बात करते हुए सफाई दी. उन्होंने क्वारंटीन सेंटर के उस मजदूर का भी वीडियो भेजा है जिससे वे बात कर रहे थे. मजदूर के परिवार के लोगों का भी वीडियो मीडिया को भेजा गया है, जिसमें वे कह रहे हैं कि विधायक जी ने उनका पारिवारिक संबंध हैं और इसी संबंध के नाते विधायक ने टिप्पणी की थी.

Input : First Bihar

Continue Reading

Uncategorized

एक जून से चलने वाली स्‍पेशल ट्रेनों में आरएसी और वेटिंग टिकट का क्‍या होगा, जानें

Published

on

प्रवासियों और सामान्‍य लोगों के आवागमन को लेकर रेल और गृह मंत्रालय की शनिवार को संयुक्‍त प्रेस काफ्रेंस आयोजित हुई। इस मौके पर गृह मंत्रालय की संयुक्‍त सचिव पुण्‍य सलिला श्रीवास्‍तव ने कहा कि अब तक 2600 से अधिक विशेष ट्रेनें चली हैं, 35 लाख से अधिक प्रवासियों ने इन ट्रेनों का लाभ उठाया है। श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की संख्या अब प्रतिदिन 200 से अधिक हो गई है। 1 जून से रेलवे और भी स्पेशल ट्रेन चलाएगा, जिसके लिए 14 लाख बुकिंग हो चुकी हैं।

रेलवे बोर्ड के अध्‍यक्ष विनोद कुमार यादव ने कहा कि भारतीय रेलवे एक मई को श्रमिक स्पेशल ट्रेनें शुरू की गई। सभी यात्रियों को मुफ्त भोजन और पीने का पानी उपलब्ध कराया जा रहा है। ट्रेनों और स्टेशनों में शारीरिक दूरी और स्वच्छता प्रोटोकॉल का पालन किया जा रहा है। 80% ट्रेन यात्राएं उत्तर प्रदेश और बिहार के प्रवासी मजदूरों द्वारा की गई हैं।

1 जून से 200 और स्पेशल ट्रेनें चलाने का फैसला

उन्‍होंने कहा कि आर्थिक गतिविधियों को बढ़ाने के लिए 1 जून से 200 और स्पेशल ट्रेनें चलाने का फैसला किया गया है। कुछ स्‍पेशल ट्रेनों में बर्थ की क्षमता का महज 30 फीसद ही बुकिंग हुई है, हालांकि कुछ ट्रेनों में 100 फीसद सीटें बुक हो चुकी हैं। अभी भी 190 ट्रेनों की उपलब्धता है। इस दौरान शिकायत आ रही थीं कि श्रमिक भाई बुकिंग नहीं कर पा रहे हैं, इसलिए टिकट काउंटर खोलने का भी फैसला किया गया। उन्‍होंने कहा कि प्रवासी श्रमिकों के लिए जो ट्रेनें चलाई जा रही हैं, वे राज्य सरकार के समन्वय के साथ चलाई जा रही हैं। अगर जरूरत पड़ी तो 10 दिन के बाद भी ट्रेनें शेड्यूल की जाएंगी।

वेटिंग लिस्‍ट की व्‍यवस्‍था इसलिए की गई 

उन्‍होंने कहा कि वेटिंग लिस्ट इसलिए दिया क्योंकि पहले ट्रेनों में देखा गया कि कुछ लोग ट्रेन खुलने के वक्त टिकट कैंसल कर रहे थे। अब वेटिंग लिस्ट की व्यवस्था होने के कारण कैंसल टिकटों से खाली बर्थ को बाकी लोगों से भरा जाएगा।

जानें क्‍या होगा आरएसी टिकट का 

उन्‍होंने कहा कि हमने सिर्फ कंफर्म टिकट से ही यात्रा की अनुमति दी है। साथ ही एनरूट टिकट बिल्कुल मना किया है। रास्ते में किसी यात्री को चढ़ने की अनुमति नहीं है, इसलिए आरएसी टिकट के कंफर्म  होने की पूरी संभावना है।

10 दिनों में 2600 ट्रेनें चलाने का शेड्यूल  

उन्‍होंने कहा कि भारतीय रेल और राज्य सरकारों ने मिलकर अगले 10 दिनों के लिए एक शेड्यूल बनाया है और 2600 ट्रेनें चलाई जाएंगी। इसमें 36 लाख यात्री सफर कर पाएंगे। अगर किसी भी स्टेशन से ज्यादा संख्या में प्रवासी अपने घर जाना चाहेंगे तो उनके लिए भी ट्रेन सेवा उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्‍होंने कहा कि  अधिकांश ट्रेनों को उत्‍तर प्रदेश, बिहार, मध्‍य प्रदेश, झारखंड के लिए चलाया गया। पश्चिम बंगाल के लिए काफी कम ट्रेनें चलाईं गईं। उन्होंने सिर्फ 105 ट्रेनों के लिए अनुमति दी।

नहीं बढ़ाए गए टिकट के दाम  

विनोद कुमार यादव ने कहा कि लॉकडाउन से पहले जो टिकट का मूल्‍य था, आज भी वही है। किसी टिकट पर एक भी पैसा ज्यादा नहीं लिया जा रहा है। लॉकडाउन से पहले कुछ छूटों पर रोक लगा दी गई थी, वही व्यवस्था आज भी लागू है।

पश्चिम बंगाल के लिए श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनों का संचालन रोका गया 

उन्‍होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में तूफान की वजह से नुकसान हुआ है। मुख्‍य सचिव ने कहा है कि जब यथा स्थिति बहाली का काम हो जाएगा तो जानकारी देंगे और इसके बाद ट्रेनें चलाई जाएंगी। उन्‍होंने कहा कि एक अप्रैल से 22 मई तक मालगाड़ी आवागमन से 9.7 मिलियन टन खाद्यान्न की डिलीवरी सुनिश्चित की।  22 मार्च से 3,255 पार्सल स्पेशल ट्रेनें का संचालन किया गया है।

कोविड केयर सेंटर के रूप में बदले गए 50 फीसद कोचों का श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनों में इस्‍तेमाल 

विनोद कुमार यादव ने कहा कि हमने 5,000 रेल कोच को 80,000 बिस्तरों वाले COVID केयर सेंटर के रूप में बदल दिया था। चूंकि इनमें से कुछ का अभी उपयोग नहीं किया जा रहा था इसलिए हमने इनमें से 50 फीसद कोचों को श्रमिक विशेष ट्रेनों के लिए इस्तेमाल किया। जरूरत पड़ने पर उन्हें फिर से कोरेाना वायरस के मरीजों के देखभाल के लिए उपयोग किया जाएगा।

Input : Live Cities

 

Continue Reading

Uncategorized

बिहारी मजदूर ने लगाई मदद की गुहार तो बोले सोनू सूद- ‘दो दिन में अपने घर का पानी पियोगे’

Published

on

कोरोना वायरस महामारी के बीच मजदूर अपने घर जाने को बेताब हैं. मजदूरों की मदद के लिए वैसे तो बॉलीवुड के कई सितारे आगे आए हैं. लेकिन इसमें सबसे ऊपर किसी का नाम होगा तो वो एक्टर सोनू सूद का. सोनू सूद मजदूरों की लगातार मदद कर रहे हैं अब मजदूर उनसे ज्यादा उम्मीदें लगाने लगे हैं.

कई फिल्मों में नेगेटिव रोल अदा करने वाला ये एक्टर असल जिंदगी में असली हीरो वाला किरदार निभा रहा है. सोनू ने कुछ दिन पहले मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए बसों की व्यवस्था की थी. वहीं उनका ये काम अब भी जारी हैं. मजदूर किसी तरह से उन्हें ट्विटर पर अप्रोच कर मदद की गुहार लगा रहें और सोनू भी उनसे मदद करने का वादा कर रहे हैं.

सोनू सूद से ट्वीटर पर एक मजदूर ने मदद मांगी जिसके बाद सोनू ने जो जवाब दिया उसकी हर कोई तारीफ कर रहा है. मजदूर ने सोनू से कहा कि वह पिछने 16 दिन से पुलिस चौकी के चक्कर लगा रहे हैं लेकिन हम लोगों का काम नहीं हो पा रहा है. इस पर सोनू ने रिप्लाई दिया, “भाई चक्कर लगाना बंद करो और रिलेक्स करो. दो दिन में बिहार में अपने घर का पानी पियोगे. डिटेल भेजो.”

Sonu Sood: Moga to Mumbai non-stop - chandigarh - Hindustan Times

ऐसे कई लोगों ने ट्विटर पर सोनू सूद से मदद की गुहार लगाई और उन्होंने किसी को भी निराश नहीं किया. सोनू ने सबकी मदद करने का वादा किया. इससे पहले सोनू कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में अहम भूमिका निभाने वाले मेडिकल स्टाफ के लिए अपने छह मंजिला होटल को खोल दिया था.

Continue Reading
TRENDING1 hour ago

OLX पर 200 रुपए में मिल रहे टिक टॉक स्टार आमिर सिद्दीकी! ट्विटर पर वायरल ये मज़ेदार मीम्स

BIHAR2 hours ago

राबड़ी देवी ने नीतीश पर लगाया गंभीर आरोप, बोली…जो गुंडे कहते वही सीएम करते हैं

BIHAR3 hours ago

CM नीतीश कुमार की हाईलेवल मीटिंग : लॉकडाउन 4.0 के बाद की बन रही रणनीति, सभी DM-SP भी जुड़े

INDIA3 hours ago

अमरनाथ यात्रा: इस बार केवल 15 दिन की हो सकती है यात्रा, कोरोना वायरस महामारी का असर

INDIA3 hours ago

रेलवे की सलाह, बीमार, गर्भवती महिलाएं, 10 साल से कम उम्र के बच्चे और 65 साल से अधिक के बुजुर्ग ना करें अभी यात्रा

INDIA4 hours ago

एक्टर Sonu Sood का फेवरेट स्कूटर है Bajaj Chetak, गैराज में खड़ी हैं ये लग्जरी कारें

BIHAR5 hours ago

नीतीश सरकार व RJD में आरपार, रोक के बावजूद निकले तेजस्‍वी, गिरफ्तारी संभव

INDIA5 hours ago

युद्ध की तैयारी में जुटा है चीन? LAC के पास सैटेलाइट तस्वीरों में दिखीं तोपें-लड़ाकू विमान

BIHAR6 hours ago

पीएम नरेन्द्र मोदी ने बिहार पुलिस के जवान को किया बर्थडे विश, गदगद हो गया पूरा थाना

MUZAFFARPUR7 hours ago

बिहार माध्यमिक वार्षिक परीक्षा में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले विधार्थियों के लिए ‘जीनियस क्लासेज’ की सौगात

BIHAR2 weeks ago

जानिए- बिहार के एक मजदूर ने ऐसा क्या कहा कि दिल्ली के अफसर की आंखों में आ गए आंसू

INDIA4 weeks ago

लॉकडाउन में राशन खरीदने निकला बेटा दुल्हन लेकर लौटा, भड़की मां पहुंची थाने

BIHAR4 weeks ago

ऋषि कपूर ने उठाए थे नीतीश सरकार के फैसले पर सवाल, कहा था- कभी नहीं जाऊंगा बिहार

WORLD3 weeks ago

इंडोनेशिया में घर के साथ पत्नी मुफ्त, एड ऑनलाइन हुआ वायरल

BIHAR4 weeks ago

बिहार के किस जिले में आज से क्या-क्या होगा शुरू, देंखे-पूरी लिस्ट

INDIA4 weeks ago

Lockdown Part 3- 17 मई तक जानिए क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद

BIHAR3 weeks ago

बिहार के लिए हरियाणा से खुलेंगी 11 ट्रेनें, यहां देखिये गाड़ियों की पूरी लिस्ट

BIHAR4 weeks ago

बाहर फंसे बिहारियों की वापसी का बिहार सरकार नहीं करेगी इंतजाम, सुशील मोदी बोले- हमारे पास नहीं है संसाधन

INDIA4 weeks ago

लॉकडाउन के बीच 21 हजार रुपए से कम सैलरी पाने वालों के लिए सरकार ने की 5 बड़ी घोषणाएं

Uncategorized4 weeks ago

50 फीसद यात्रियों के साथ बसों का संचालन, बढ़ सकता किराया

Trending