Connect with us
leaderboard image

BIHAR

रेल यात्र तिथि से 45 दिन आगे तक वापस कर सकते काउंटर टिकट

Muzaffarpur Now

Published

on

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप से ट्रेनों के परिचालन पर गंभीर असर पड़ने लगा है। संक्रमण को कम करने के उद्देश्य से रेलवे ने सैकड़ों ट्रेनों का परिचालन रद कर दिया है। ऐसे में टिकट वापसी के लिए यात्रियों द्वारा काउंटरों पर संभावित भीड़ को देखते हुए रेलवे ने टिकट वापसी के नियम में काफी बदलाव किया है। 21 मार्च से 15 अप्रैल के बीच की यात्र के लिए जारी किए गए काउंटर टिकटों को अब यात्र की तिथि से आगे 45 दिनों के अंदर कभी भी काउंटर पर जाकर वापस कर सकते हैं। पहले इसे तीन घंटे के अंदर ही वापस करना होता था। यह व्यवस्था उन यात्रियों के लिए मान्य होगी जब ट्रेन रेलवे द्वारा रद की गई हो।

इतना ही नहीं रेलवे द्वारा ट्रेनों के रद नहीं किए जाने की स्थिति में यात्री अपनी यात्र स्थगित कर यात्र की तिथि से 30 दिनों के अंदर रेलवे के काउंटर से अपने टिकट वापस करा सकते हैं। यात्र की तिथि से 30 दिनों के अंदर टीडीआर फाइल करना होगा। सीसीएम क्लेम की ओर से इस टिकट की पूरी जानकारी लेकर 60 दिनों के अंदर इसका निष्पादन कर दिया जाएगा।

ट्रेन से आकर सरकारी दफ्तर में काम करने वालों को नहीं आने का निर्देश

पटना : कोरोना वायरस के मद्देनजर सरकार ने यह फैसला किया है कि राजधानी स्थित सरकारी महकमों में प्रतिदिन ट्रेन से आकर काम करने वाले कर्मियों को 31 मार्च तक दफ्तर नहीं आना है। सामान्य प्रशासन विभाग ने शनिवार को इस आशय का निर्देश जारी किया।

मार्च से 15 अप्रैल की यात्र के लिए जारी टिकट के लिए व्यवस्था

श्रद्धालुओं के लिए बंद रहेंगे राज्य के 4500 मंदिर-मठ

बिहार राज्य धार्मिक न्यास पर्षद से जुड़े राज्य के साढ़े चार हजार मंदिर व मठ 31 मार्च तक आम श्रद्धालुओं के लिए बंद रहेंगे। यह जानकारी पर्षद के अध्यक्ष अखिलेश कुमार जैन ने शनिवार को न्यास बोर्ड में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहीं। अध्यक्ष के अनुसार कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के खतरे को ध्यान में रखकर यह फैसला लिया गया है। ऐसे में लोग अपने आप को सुरक्षित रखते हुए भीड़ वाली जगहों पर जाने से परहेज करने के साथ ही लोगों को भी जागरूक करें। नवरात्र व छठ पर नहीं होगा कोई आयोजन : पर्षद के अध्यक्ष के अनुसार कबीर मठ, राम जानकी मंदिर, ठाकुरबाड़ी, शिव मंदिर, हनुमान मंदिर, काली मंदिर, सूर्य मंदिर आदि के न्यासी महंत, पुजारी एवं समिति के सदस्य अपने मंदिर परिसर में किसी प्रकार को कोई धार्मिक आयोजन 31 मार्च तक न कराएं।

 

BIHAR

क्या लॉकडाउन खोलने का बन गया प्लान? जान लीजिए इन 4 स्टेज में खुल सकता हैं लॉकडाउन

Ravi Pratap

Published

on

कोरोना संकट को लेकर भारत को 21 दिनों के के लिए लॉकडाउन किया गया है. आज लॉकडाउन के दो हफ्ते हो गए हैं. इसके बीच ही लॉकडाउन से बाहर निकलने को लेकर सरकार ने मंथन शुरू कर दिया है. लेकिन यह बात क्लीयर नहीं है कि 14 अप्रैल को लॉकडाउन हटेगा या जारी रहेगा.

सरकार ने इसको लेकर एक प्लान बनाया है. केन्द्र सरकार ने एक ड्राफ्ट प्लान के तहत राज्यों को चार हिस्सों में बांटकर लॉकडाउन खत्म करने की सिफारिश की है.

जिस जिले में कोरोना संक्रमित कोई मरीज नहीं होगा, वहां लोगों को कुछ शर्तों के साथ जिले के अंदर आवाजाही की इजाजत होगी. कुछ जिलों में रेल, बस और विमान सेवा भी शुरू हो सकती है. लेकिन सरकार ने यह साफ किया है कि ज्यादातर जिलों में स्कूल-कॉलेज, पार्क,सिनेमाघर, व्यावसायिक और निजी प्रतिष्ठान को बंद ही रखा जाएगा. इसके साथ ही ट्रेन उन जिलों में नहीं रुकेगी जहां एक भी कोरोना संक्रमित मरीज होगा.

जान लीजिए सरकार लॉकडाउन खत्म करने के लिए सरकार ने 4 स्टेज बनाया है. वो स्टेज क्या है?

स्टेज -4

सबसे पहले लॉकडाउन से खत्म करने के लिए चौथे स्टेज को अपनाया जाएगा. इस स्टेज में जरूरी सुविधाएं जारी रहेंगी लेकिन 65 साल से ऊपर उम्र के लोगों के घर से निकलने पर मनाही होगी. यही नहीं इस उम्र के लोग दूसरे राज्यों में नहीं जा सकेंगे. ट्रेन में इस उम्र के लोगों का रिजर्वेशन नहीं होगा. इसके साथ ही बस और ट्रेन में क्षमता का एक तिहाही ही टिकट बुक किया जाएगा. इसके साथ इंडस्ट्री शुरु होगी लेकिन काम करने वाले लोग उसी जिले को होंगे.लेकिन जिलों में केस होंगे वहां परिवाहन बंद रहेगा , सभी धार्मिक स्थल और शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे.

स्टेज -3

इस स्टेज में घरेलु विमानों से यात्रा होगी लेकिन संक्रमित जिलों में नहीं. इस स्टेज में घरेलू विमान चलेंगे लेकिन जहां संक्रमित मरीज होंगे वहां आवाजाही बंद रहेगी. स्टेज 4 और स्टेज 3 में करीब करीब एक जैसी ही पांबदी होगी.

स्टेज 2-

लॉकडाउन हटाने के इस स्टेज में दूसरे राज्यों में रेल और सड़क मार्ग से आ जा सकेंगे. लेकिन इस बात का ख्याल रखा जाएगा कि बीच में स्टेज 3 और स्टेज 4 का शहर न आए.विमान से वहीं जा सकेंगे जहां 28 दिनों के अंदर एक भी केस नहीं आया हुआ है. इस स्टेज में इंड्रस्ट्री मेंं राज्य के किसी भी हिस्से के मजदूर काम कर सकेंगे.

स्टेज 1

इस स्टेज में रेल या सड़क से दूसरे राज्यों में जाने की इजाजत होगी. स्टेज 3 और स्टेज 4 के शहरों में जाने पर रोक होगी. इस स्टेज में स्कूल और कॉलेज शुरू होंगे लेकिन एक कमरे में 50 से ज्यादा स्टूडेंट नहीं होंगे. इसके साथ ही धार्मिक स्थल भी खुल जाएंगे

fight-against-covid-19-by-muzaffarpur-now

Continue Reading

MUZAFFARPUR

भगवान श्रीराम के खिलाफ अमर्यादित वीडियो वायरल करने वाला गिरफ्तार; समाज ने ही किया बहिष्कृत

Santosh Chaudhary

Published

on

भगवान श्रीराम के खिलाफ अमर्यादित वीडियो वायरल करने वाले मनियारी थाने के आगानगर निवासी माे. नाजुद्दीन काे गिरफ्तार कर लिया गया है। उसके पाेस्ट के कारण गांव में भारी तनाव था। उसे पकड़ने के लिए रविवार देर रात छापेमारी की गई थी, लेकिन वह फरार हाे गया था। दूर के एक रिश्तेदार के यहां छिपे हाेने की सूचना पर नाजुद्दीन के समाज के ही कई लाेग पहुंच गए। उसे घर से खींच कर मनियारी लाया गया। वहां डीएसपी पश्चिमी कृष्ण मुरारी प्रसाद के सामने पुलिस काे साैंप गया।

इधर, समाज के लाेगाें ने निर्णय लिया है कि एक साल तक गांव में उसके परिवार से भात कटा रहेगा। यानी उसके परिवार में किसी तरह के शादी-विवाह जैसे आयाेजनाें अथवा मरनी पर भी गांव के लाेग शरीक नहीं हाेंगे। नाजुद्दीन ने पुलिस काे बताया कि उसने भगवान श्रीराम पर अभद्र टिप्पणी करने वाला यह वीडियो एक साल पहले बनाया था। पुलिस ने उसका मोबाइल फाेन भी जब्त कर लिया है। उसने फेसबुक अकाउंट पर वीडियो अपलोड किया था, जिसे दाे दिन पहले डाउनलोड कर गांव के दूसरे युवक ने वाॅट्सअप ग्रुप पर वायरल कर दिया।

वीडियो काे फेसबुक पर 90 हजार लाेग शेयर कर चुके थे। अब मामला पुलिस के संज्ञान में आया । पुलिस जब तक नाजुद्दीन काे पकड़ने के लिए छापेमारी करती, तब तक एक सामाजिक संगठन के लाेग गांव पहुंच कर हंगामा करने लगे। हंगामा बढ़ते देख पुलिस ने त्वरित कार्रवाई की और  नाजुद्दीन के पिता निजामुद्दीन काे तत्काल हिरासत में ले लिया। इसके बाद समाज के लाेगाें ने आरोपी युवक काे पकड़ कर पुलिस के हवाले किया।

Input : Dainik Bhaskar

fight-against-covid-19-by-muzaffarpur-now

Continue Reading

BIHAR

बाहर फंसे अप्रवासी बिहारियों के खाते में भेजे 10.35 करोड़

Santosh Chaudhary

Published

on

लॉकडाउन की वजह से बिहार के बाहर फंसे अप्रवासी बिहारी कामगारों के बैंक खाते में एक हजार रुपये की विशेष सहायता दिए जाने की योजना सोमवार को आरंभ हो गई। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने माउस क्लिक कर इस योजना की शुरुआत की। इसके साथ ही बिहार देश का पहला राज्य बन गया है, जिसने बाहर फंसे अपने अप्रवासी कामगारों के खाते में नगद राशि भेजी है।

मुख्यमंत्री विशेष सहायता योजना के तहत भेजी गई यह राशि सोमवार को एक लाख से अधिक लोगों के खाते में भेजी गई। इस क्रम में 10.35 करोड़, 79 हजार रुपये भेजे गए। अब तक दो लाख, 84 हजार, 674 लोगों ने विशेष सहायता के लिए आवेदन दिए हैं। आवेदन आने का सिलसिला जारी है। मुख्यमंत्री ने मौके पर निर्देश दिया कि जांच के बाद राशि जल्द से जल्द खाते में अंतरित की जाए। यह सहायता मुख्यमंत्री राहत कोष से दी जा रही है। लॉकडाउन में बाहर फंसे अप्रवासी बिहारी कामगारों ने राज्य सरकार के विभिन्न हेल्पलाइन नंबरों पर फोन किया था। उनके नंबर पर उनसे फीडबैक लिया गया तो यह बात सामने आई कि वे संकट में हैं। इसी फीडबैक के आधार मुख्यमंत्री ने उनके खाते में एक-एक हजार रुपये की विशेष सहायता भेजे जाने का निर्देश दिया था। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर कहा कि लोग लगातार फोन कर रहे हैं। उन्हें समझाया गया है कि वे अभी जहां हैं, वहीं रहें। उनकी समस्या के समाधान की दिशा में लगातार सरकार प्रयास कर रही है। उनका डिटेल्स मांगा गया है।

fight-against-covid-19-by-muzaffarpur-now

Continue Reading
BIHAR41 mins ago

क्या लॉकडाउन खोलने का बन गया प्लान? जान लीजिए इन 4 स्टेज में खुल सकता हैं लॉकडाउन

INDIA2 hours ago

देशभर में संक्रमित मरीजों की संख्या 4281 हुई, अब तक 111 लोगों की मौत

INDIA2 hours ago

कोरोना: समस्याओं से अधिक चुनौतियां

MUZAFFARPUR3 hours ago

भगवान श्रीराम के खिलाफ अमर्यादित वीडियो वायरल करने वाला गिरफ्तार; समाज ने ही किया बहिष्कृत

BIHAR3 hours ago

बाहर फंसे अप्रवासी बिहारियों के खाते में भेजे 10.35 करोड़

BIHAR3 hours ago

लॉकडाउन : अब तक 9000 से अधिक वाहन जब्त, 445 लोग हुए गिरफ्तार

BIHAR5 hours ago

बिहार: सात साल से था जेल में बंद, परिवार ने सोचा मर गया है बेटा, Corona ने ऐसे मिलवाया

BIHAR5 hours ago

गांवों की चहल-पहल पर भारी पड़ा लॉकडाउन, लेकिन अनुशासन देखने लायक

WORLD5 hours ago

UK PM बोरिस जॉनसन की हालत बिगड़ी, सांस लेने में दिक्‍कत के बाद आईसीयू में किया गया शिफ्ट

BIHAR6 hours ago

कोरोना से जिंदगी की जंग जीतकर NMCH से डिस्चार्ज हुए सिवान के चार मरीज, बिहार में कोई नया केस भी नहीं

INDIA3 days ago

गृह मंत्रालय का बड़ा फैसला, अब लॉकडाउन के दौरान मिलेगी ये छूट, देखें लिस्ट

BIHAR2 weeks ago

स्पाइसजेट का सरकार को प्रस्ताव, दिल्ली-मुंबई से बिहार के मजदूरों को ‘घर’ पहुंचाने के लिए हम तैयार

INDIA2 weeks ago

PM मोदी को पटना के बेटे ने दिए 100 करोड़ रुपये, कहा – और देंगे, थाली भी बजाई

INDIA2 weeks ago

पूरी हुई जनता की डिमांड, कल से दोबारा देख सकेंगे रामानंद सागर की ‘रामायण’

BIHAR2 days ago

बिहार में शुरू हुआ कोरोना का चेन ब्रेक, थर्ड स्टेज का खतरा भी कमा

BIHAR3 weeks ago

जूली को लाने सात समंदर पार पहुंचे लवगुरु मटुकनाथ, बोले- जल्द ही होंगे साथ

BIHAR3 weeks ago

बिहार में 81 एक्सप्रेस और 32 पैसेंजर ट्रेनें दो सप्ताह के लिए रद्द, देखें लिस्ट

INDIA1 week ago

Lockdown के दौरान युवक ने फोन करके कहा 4 समोसे भिजवा दो, डीएम ने भिजवाए 4 समोसे और साफ कराई नाली

BIHAR2 weeks ago

अब नहीं सचेत हुए बिहार वाले तो, अपनों की लाशें उठाने को रहें तैयार

INDIA1 week ago

COVID-19 के बीच सलमान खान के भतीजे की मौत, परिवार में शोक की लहर

Trending