वह मप्र में जन्मे और भोपाल में रह रहे
Connect with us
leaderboard image

Uncategorized

वह मप्र में जन्मे और भोपाल में रह रहे

Santosh Chaudhary

Published

on

जिले के गाडरवारा के साईखेड़ा में जन्मे आदित्य विक्रम पेठिया के पिता सिविल सर्विस में थे। 26 जनवरी 1973 को युद्ध में अदम्य वीरता के लिए उन्हें वीरता चक्र से सम्मानित किया गया है। वे 1983 में विंग कमांडर बने। 1971 युद्ध में हिस्सा लेने वाले रिटायर्ड एयर मार्शल आदित्य विक्रम पेठिया को पाकिस्तानी जेलों में पांच महीने गुजारने पड़े थे। पेठिया रिटायरमेंट के बाद से भोपाल में रह रहे हैं। भास्कर की ऋतु शर्मा ने उनसे बातचीत की।

”मुझे आज भी 5 दिसंबर 1971 का वो दिन याद है। मैं तब फ्लाइट लेफ्टिनेंट के रूप में पश्चिमी सेक्टर में तैनात था। मुझे पाकिस्तान की चिश्तिया मंडी इलाके में टैंकों को ध्वस्त करने का आदेश मिला था। फ्लाइट के दौरान ही पता चला कि बहावलपुर में 15 टैंकों को लेकर एक ट्रेन गुजर रही है। मैंने दो बार उड़ान भर कर टारगेट हिट किया और ट्रेन के साथ ही वहां मौजूद गोला-बारूद का एक डिपो भी उड़ा दिया। हमारे लड़ाकू विमानों पर हमला कर रही एंटी-एयरक्राफ्ट गन को टारगेट करने के लिए मैंने फिर उड़ान भरी, लेकिन एक गन ने मेरे ही विमान को पीछे से हिट कर दिया। जलते विमान से मैंने अपने आप को इजेक्ट किया और पैराशूट से जहां उतरा, वह पाकिस्तान की सीमा थी। बस यही गड़बड़ हो गई और युद्धबंदी बना लिया गया। इसके बाद पाकिस्तानी आर्मी ने मेरे साथ बेइंतेहा यातना का दौर शुरू किया। मुझे अगर यह पहले पता होता तो मैं हवा में ही जलतेे हुए फाइटर प्लेन को किसी पाकिस्तान टारगेट पर गिरा देता और जान दे देता। युद्धबंदी के तौर पर मुझे रावलपिंडी जेल में रखा गया। पाकिस्तानी जेलें नर्क से भी बदतर हैं। जहां ठंड में पत्थर के प्लेटफाॅर्म पर नंगे बदन सोना पड़ता था। हाथ-पैर रस्सी से बंधे रहते थे। खाने में एक दो रोटी मिल जाए तो बहुत था। जेल का कोई भी अफसर या कर्मचारी कभी भी आकर सिगरेट दाग देता था तो कभी बंदूक के बट से या फिर लाठियों से लगातार पिटाई की जाती थी। एक समय तो ऐसा भी आया जब हथेलियों पर चारपाई रखकर जेल कर्मचारी चारपाई पर खड़े होकर कूदने लगते थे। इतने टार्चर के बाद तो दर्द का अहसास ही खत्म हो गया था, लेकिन हमारी ट्रेनिंग ऐसी थी कि पाकिस्तान हमसे कुछ भी उगलवा नहीं पाया। जब वे टार्चर करते थे तो मैं अपना माइंड लॉक कर लेता था। जिससे एक शब्द भी बाहर न निकले। इस बीच सरकार लगातार पाकिस्तान के साथ बातचीत कर रही थी। अंतत: पाकिस्तान से समझौते के बाद 8 मई 1972 काे मुझे रेडक्राॅस के सुपुर्द किया गया। उस समय मेरी रिब्स टूटी हुई थीं, मल्टीपल फ्रैक्चर थे और लंग्स में इंफेक्शन था।”

1971 के युद्ध में पाकिस्तान में थे वॉर प्रिजनर

”पांच महीने की इस यातना से पाकिस्तान के प्रति इतनी नफरत हो गई थी कि विमान में वापस आते समय रेडक्रास की टीम ने पीने के लिए कोकाकोला दिया, मैंने पूछा- क्या पाकिस्तान में बना हुआ है। उन्होंने कहा ‘नहीं, स्विस मेड है’। उसके बाद ही मैंने उसे हाथ लगाया। मेरे पिता सिविल सर्विस में थे और चाहते थे कि हम भी वही करें। लेकिन मैं जब फौज में गया, तब बहुत कुछ सोचा नहीं था। एयरफोर्स की ट्रेनिंग ने यह सिखाया कि दिल, दिमाग, ईमान, जाति, धर्म, आत्मा सब कुछ देश के लिए है। इसी कारण हमें किसी भी देशद्रोही को कहीं भी बर्दाश्त नहीं करना चाहिए। फौजी होने के बावजूद मुझे लगता है, युद्ध अंतिम विकल्प होना चाहिए। सबसे पहले पाक को आर्थिक रूप से कमजोर किया जाए। दूसरा- डिप्लोमेसी, जैसा अभी किया गया है। इसका संदेश बिलकुल साफ है कि हम आतंकवाद के खिलाफ हैं और जो भी आतंकवाद का साथ देगा, उसे मुंहतोड़ जवाब देंगे।”

Input : Dainik Bhaskar

Digita Media, Social Media, Advertisement, Bihar, Muzaffarpur

Uncategorized

फर्जीवाड़ा : चीफ टीटीआई ने एक ही पास पर 99 बार कराया रिजर्वेशन

Ravi Pratap

Published

on

सोनपुर रेल मंडल में रिजर्वेशन में एक बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है। मुजफ्फरपुर जंक्शन पर तैनात चीफ टीटी (सीटीटीआई) रंजीत कुमार सिंह ने अपने व्यक्तिगत पास पर 99 बार टिकट कटवाया है। सीसीटीआई के इस कारगुजारी का खुलासा हो गया है। उसने 1,24,275 रुपये का टिकट अपने पास पर कटाया है।

 

पूर्व-मध्य रेल मुख्यालय हाजीपुर ने जांचकर मुजफ्फरपुर के सीटीटीआई के कारनामे का पूरा दस्तावेज सोनपुर रेल मंडल के डीआरएम, सीनियर डीसीएम, डीसीएम और सभी वरीय अधिकारी को सौंप दिया है। जीएम कार्यालय हाजीपुर ने अपनी आंतरिक जांच में सीटीटीआई के पास संख्या 670729 की पूरी कुंडली सोनपुर डीसीएम को सौंपी है।

आंतरिक जांच रिपोर्ट में इस पास से जितनी बार रिजर्वेशन कराया गया है उसकी तिथि, कहां से टिकट निर्गत किया गया है, किस टिकट क्लर्क ने टिकट काटा, उसकी विस्तृत रिपोर्ट है।

रिजर्वेशन के फर्जीवाड़े के खुलासे के बाद सोनपुर रेल मंडल में खलबली मची हुई है। मंडल ने इस फर्जीवाड़े को गंभीरता से लेते हुए जांच बैठा दिया है। डीसीएम सीएस आजाद स्नेही ने सेक्शन डीसीआई से 11 बिंदुओं पर फर्जीवाड़े की रिपोर्ट मांगी है।

जीएम कार्यालय से मामले की जांच कर सोनपुर मंडल को रिपोर्ट सौंपी गई है। इसमें सभी तथ्यों की जानकारी दी गई है कि सीटीटीआई ने अपने पास पर कहां से, कहां तक और कब-कब टिकट कटाया। मामला गंभीर है। मुख्यालय के आदेश पर जांच की जा रही है। इस फर्जीवाड़े के सिंडिकेट में जो भी शामिल होंगे उनपर कार्रवाई की जाएगी। -सीएस आजाद स्नेही, डीसीएम, सोनपुर मंडल

Input : Live Hindustan

Continue Reading

Uncategorized

राज्यसभा के मार्शल दिखे नये यूनिफार्म में, 250वें सत्र से मार्शल की ड्रेस में हुआ बदलाव

Ravi Pratap

Published

on

राज्यसभा के 250वें सत्र के प्रारंभ होने पर सोमवार को आसन का नजारा कुछ बदला सा लग रहा था। यह बदलाव आसन की सहायता के लिए मौजूद रहने वाले मार्शलों की एकदम नयी वेषभूषा के कारण महसूस हुआ।

आम तौर पर उच्च सदन की बैठक आसन की मदद करने वाले कलगीदार पगड़ी पहने किसी मार्शल के सदन में आकर यह पुकार लगाने से शुरू होती है कि ‘‘माननीय सदस्यों, माननीय सभापति जी।’’ किंतु सोमवार को इन मार्शलों के सिर पर पगड़ी की बजाय नीले रंग की ‘‘पी-कैप’’ थी। साथ ही उन्होंने नीले रंग की आधुनिक सुरक्षाकर्मियों वाली वर्दी धारण कर रखी थी।

राज्यसभा सचिवालय के सूत्रों ने बताया कि इस बारे में किए गए उच्चस्तरीय फैसले के बाद मार्शल के लिये जारी ड्रेस कोड के तहत सदन में तैनात मार्शलों को कलगी वाली सफेद पगड़ी और पारंपरिक औपनिवेशिक परिधान की जगह अब गहरे नीले रंग की वर्दी और कैप पहननी होगी। राज्यसभा सचिवालय के सूत्रों के अनुसार पिछले कई दशकों से चल रहे इस ड्रेस कोड में बदलाव की मांग मार्शलों ने ही की थी।

उल्लेखनीय है कि सभापति सहित अन्य पीठासीन अधिकारियों की सहायता के लिये लगभग आधा दर्जन मार्शल तैनात होते हैं। एक अधिकारी ने बताया कि मार्शलों ने उनके ड्रेस कोड में बदलाव कर ऐसा परिधान शामिल करने की मांग की थी जो पहनने में सुगम और आधुनिक ‘लुक’ वाली हो। इनकी मांग पर को स्वीकार कर राज्य सचिवालय और सुरक्षा अधिकारियों ने नयी ड्रेस को डिजायन करने के लिये कई दौर बैठकें कर नये परिधान को अंतिम रूप दिया।

Input : Republic

Continue Reading

Uncategorized

चार्ज लेते एक्शन में दिखे एसएसपी जयंतकांत; क्रा’इम कंट्रोल को लेकर थानाध्यक्षों को चेताया

Abhay Raj

Published

on

sssp-jayant-kant

मुज़फ्फरपुर एसएसपी जयंतकांत चार्ज लेते एक्शन में दिखे। एसएसपी कार्यालय में आयोजित क्रा’इम मीटिंग में एसएसपी ने जिले के थानाध्यक्षों को हि’दायत दी है कि जिसके इलाके में लू’ट व छि’नतई की घ’टना होगी,वहाँ के थानाध्यक्ष नपेंगे।

sssp-jayant-kant

sssp-jayant-kant

एसएसपी ने अपने कार्यालय में क्राइम मीटिंग के दौरान थानाध्यक्षों को बढ़ते क्राइम को लेकर फटकार लगाई।उन्होंने साफ साफ थानाध्यक्षों को कहा है कि जिस थाना क्षेत्र में क्राइम होगा वहाँ के थानाध्यक्ष पर गाज गिरेगी। इसके अलावा एसएसपी ने शहरी व ग्रामीणों थानाध्यक्ष को गस्ती और वाहन चेकिंग अभियान में तेजी लाने का निर्देश दिया।

 

एसएसपी ने क्राइम मीटिंग में सभी थानाध्यक्षों को क्राइम कंट्रोल को लेकर टास्क दिया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि जल्द ही क्राइम कण्ट्रोल में सुधार दिखेगा।

Continue Reading
Advertisement
RELIGION3 hours ago

न्याय के देवता हैं शनिदेव, इन 5 उपायों से पा सकते हैं उनकी कृपा

BIHAR3 hours ago

BIHAR: दूल्हे का का’ला रंग देख भ’ड़की दुल्हन, शादी से किया इं’कार, ‘दोस्त’ के साथ लिये फेरे

HEALTH3 hours ago

तेजी से लोकप्रिय हो रही घी कॉफी, जानिए इसके फायदे

BIHAR3 hours ago

बिहार : श’राब के न’शे में मुर्गे को मा’र डाला, 7 ना’मजद, आ’रोपियों की तलाश में जुटी पु’लिस

INDIA4 hours ago

अयोध्या, मथुरा में चलेंगी लग्जरी बसें…धार्मिक स्थानों को जन्नत बनाएगी योगी सरकार

HEALTH4 hours ago

इलाहबाद हाईकोर्ट का फैसला: डेंगू से हुई मौ’त..पी’ड़ित परिवार को मिलेगा 25 लाख का मुआवजा

BIHAR4 hours ago

मेट्रो स्टेशन के लिए किये गए बदलाव, अब पटना जंक्शन पर मेट्रो के दोनों स्टेशन होंगे अंडरग्राउंड

MUZAFFARPUR4 hours ago

दिपावली के खास मौके पर मुजफ्फरपुर नाउ द्वारा आयोजित रंगोली प्रतियोगिता का परिणाम

tejashwi-and-tej-pratap
BIHAR4 hours ago

लालू के दाेनों लाल सदन में दिखे साथ-साथ, लेकिन राबड़ी आवास पर हुई बैठक से तेजप्रताप नदारद

INDIA6 hours ago

नहीं होगा रेलवे का निजीकरण, कुछ सेवाओं को किया गया आउटसोर्स : पीयूष गोयल

MUZAFFARPUR6 days ago

मुजफ्फरपुर का थानेदार नामी गुं’डा के साथ मनाता है जन्मदिन! केक काटते हुए सोशल मीडिया पर तस्वीर वायरल…खाक होगा क्रा’इम कंट्रोल?

INDIA6 days ago

आ गया ‘मिर्ज़ापुर 2’ का टीजर, पंकज त्रिपाठी ने इंस्टाग्राम पर किया शेयर

BIHAR2 days ago

18 प्रश्नों पर कैंडिडेट्स ने जताई थी आपत्ति, BPSC रद कर सकता है 10 प्रश्न, जानिए

BIHAR4 weeks ago

27 अक्टूबर से पटना से पहली बार 57 फ्लाइट, दिल्ली के लिए 25, ट्रेनों की संख्या से भी दाेगुनी

tharki-proffesor
MUZAFFARPUR1 week ago

खुलासा: कोचिंग आने वाली हर छात्रा को आजमाता था मुजफ्फरपुर का ‘पा’पी प्रोफेसर’, भेजा गया जे’ल

BIHAR4 weeks ago

पंकज त्रिपाठी ने माता पिता के साथ मनाई प्री दिवाली, एक ही दिन में वापस शूटिंग पर लौटे

JOBS5 days ago

भर्ती : 12वीं पास के लिए CISF में नौकरी, 300 जीडी हेड कांस्टेबल पदों के लिए करें आवेदन

BIHAR5 days ago

जिसकी मौ’त में 23 लोग जेल में, वह जिंदा लौटा

MUZAFFARPUR6 days ago

कुंवारी मां बनी कटरा की पी’ड़िता से दु’ष्क’र्म का आ’रोपी माैलवी गि’रफ्तार

BIHAR19 hours ago

बिहार में मुर्गे की ह’त्या के आ’रोप में 7 लोगों के खि’लाफ केस दर्ज, मा’मले की छा’नबीन में जुटी पुलिस

Trending

0Shares