वाराणसी से पीएम मोदी आगे तो अमेठी से राहुल गांधी पीछे, जानें 12 वीआईपी सीटों के रुझान
Connect with us
leaderboard image

TRENDING

वाराणसी से पीएम मोदी आगे तो अमेठी से राहुल गांधी पीछे, जानें 12 वीआईपी सीटों के रुझान

Santosh Chaudhary

Published

on

लोकसभा चुनाव 2019 के सियासी जंग का आज निर्णायक दिन है। वोटों की गिनती जैसे-जैसे पूरी होती जाएगी, प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला भी भी होता चला जाएगा। देश की 542 लोकसभा सीटों में से यूपी की 80 सीटों पर सबकी ज्यादा नजर होगी। कारण कि यूपी के नतीजे केंद्र की सत्ता की तकदीर लिखते रहे हैं। यूपी की हर एक-एक सीट अपने आप में मायने रखती है। यूपी में कई ऐसी सीटें हैं जिन पर सबकी नजर है। यूपी में वीवीआईपी सीटों पर कई दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। पीएम नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह से लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, सोनिया गांधी, मुलायम सिंह यादव, सपा प्रमुख और पूर्व सीएम अखिलेश यादव, उनकी पत्नी डिंपल यादव की सीटें हैं, जिनके नतीजों पर सबकी निगाहें हैं। तो चलिए जानते हैं उत्तर प्रदेश की उन सभी वीआईपी सीटों के रुझानों के बारे में…

 

1. वाराणसी लोकसभा सीट: रुझान में पीएम मोदी आगे चल रहे हैं
उत्तर-प्रदेश की सबसे चर्चित वीआईपी सीट है वाराणसी। वाराणसी सीट से इस बार भी भारतीय जनता पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनावी मैदान में हैं। पिछली बार भी वाराणसी से पीएम मोदी ने ही जीत हासिल की थी। दरअसल, पीएम मोदी ने 2014 लोकसभा चुनाव में वाराणसी के अलावा गुजरात के वडोदरा से भी चुनाव लड़ा था और दोनों ही जगह से जीत हासिल की थी, लेकिन उन्होंने वाराणसी को अपने संसदीय क्षेत्र के रूप में चुना। इस बार वाराणसी से पीएम मोदी का मुकाबला कांग्रेस के अजय राय और सपा-बसपा गठबंधन की ओर से शालिनी यादव से है। वाराणसी सीट पर सातवें चरण में वोटिंग हुई थी। यह सीट बीएसएफ से बर्खास्त जवान तेजबहादुर यादव की उम्मीदवारी और पर्चा निरस्त होने की वजहों से भी सुर्खियों रहा।

2. रायबरेली लोकसभा सीट: सोनिया गांधी आगे चल रही हैं
उत्तर-प्रदेश की रायबरेली सीट कांग्रेस पार्टी की मजबूत गढ़ रही है और सोनिया गांधी पांचवीं बार चुनावी मैदान में हैं। इस बार भी कांग्रेस की ओर से सोनिया गांधी ही चुनाव लड़ रही हैं। बीजेपी ने सोनिया गांधी के खिलाफ दिनेश प्रताप सिंह को उतारा है। दिनेश प्रताप सिंह रायबरेली सीट से कांग्रेस एमएलसी थे और वह कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए थे। रायबरेली सीट पर पिछले चार बार से लगातार सोनिया गांधी चुनाव जीतती आ रही हैं। रायबरेली में पांचवें चरण में मतदान हुए हैं।

3. अमेठी लोकसभा सीट: राहुल गांधी पीछे चल रहे हैं, जबकि स्मृति ईरानी आगे
अमेठी कांग्रेस परिवार की परंपरागत सीट में शुमार है। अमेठी लोकसभा सीट से मौजूदा सांसद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी हैं। पिछली बार की तरह ही इस बार भी राहुल गांधी का मुकाबला केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से है। बीजेपी ने एक बार फिर से स्मृति ईरानी को राहुल गांधी के खिलाफ मैदान में उतारा है। हालांकि, पिछली बार स्मृति ईरानी को हार का सामना करना पड़ा था। राहुल गांधी इस बार अमेठी के साथ-साथ केरल की वायनाड सीट से भी चुनाव लड़ रहे हैं। अमेठी में भी पांचवें चरण में ही मतदान हुए।

4. कन्नौज लोकसभा सीट:
उत्तर-प्रदेश की कन्नौज लोकसभा सीट मुलायम परिवार का मजबूत गढ़ है। कन्नौज सीट से कई चुनावों से मुलायम परिवार के ही सदस्य जीतते आ रहे हैं। पिछले दो चुनाव से अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव चुनाव जीत रही हैं। इस बार भी सपा की ओर से डिंपल यादव चुनावी मैदान में हैं, वहीं बीजेपी ने सुब्रत पाठक मैदान में है। 2014 में भी डिंपल यादव ने बीजेपी के सुब्रत पाठक को हराया था। चौथे चरण में कन्नौज लोकसभा सीट पर वोटिंग हुई थी।

5. आजमगढ़ लोकसभा सीट: अखिलेश यादव आगे, निरहुआ पीछे
यूपी की आजमगढ़ लोकसभा सीट से मौजूदा सांसद हैं मुलायम सिंह यादव। मगर इस बार सपा की ओर से खुद अखिलेश यादव चुनावी मैदान में हैं। अखिलेश यादव के खिलाफ बीजेपी ने दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ को उतारा है। अखिलेश यादव के खिलाफ भोजपुरी सुपरस्टार दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ को उतार कर बीजेपी ने सबको चौंका दिया। आजमगढ़ सीट पर छठे चरण में मतदान हुए। बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनाव में मुलायम सिंह यादव ने बीजेपी के रमाकांत त्रिपाठी को हराया था।

6. गाजीपुर लोकसभा सीट: मनोज सिन्हा पीछे चल रहे हैं
पूर्वांचल की गाजीपुर लोकसभा सीट पर सातवें चरण में मतदान हुए। इस सीट पर भाजपा के मनोज सिन्हा और बसपा के अफजल अंसारी के बीच में कड़ी टक्कर है। केंद्रीय रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा इस सीट से मौजूदा सांसद हैं और पिछली बार उन्होंने सपा के शिवका को हराया था।

7. सुल्तानपुर लोकसभा सीट: मेनका गांधी पीछे चल रही हैं

सुल्तानपुर लोकसभा सीट पर इस बार बीजेपी ने अपने उम्मीदवार बदले हैं। इस सीट पर भाजपा की मेनका गांधी और बसपा की चंद्रभद्र सिंह के बीच कड़ा मुकाबला है। कांग्रेस ने यहां से डॉ संजय सिंह को उतारा है। 2014 के लोकसभा चुनाव में सुल्तानपुर से मेनका गांधी के बेटे वरुण गांधी ने जीत हासिल की थी। मगर इस बार वरुण गांधी पीलीभीत से चुनाव लड़ रहे हैं। सुल्तानपुर सीट पर 6ठे चरण में मतदान हुए।

8. लखनऊ लोकसभा सीट: राजनाथ सिंह चल रहे हैं
लखनऊ लोकसभा सीट पर इस बार त्रिकोणीय मुकाबला है। केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह के खिलाफ कांग्रेस ने जहां आचार्य प्रमोद कृष्णम को उतारा है, वहीं महागठबंधन की ओर से शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा मैदान में हैं। 2014 में इस सीट से राजनाथ सिंह ने कांग्रेस की प्रोफेसर रीता को हराया था। बता दें कि इस सीट से पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहावी वाजपेयी कई बार चुनाव जीत चुके हैं। इस सीट पर छठे चरण में मतदान हुए।

8. मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट:
यूपी की मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट पर महागठंबधन को ओर से रालोद प्रत्याशी अजित सिंह चुनावी मैदान में हैं। यहां अजित सिंह और भाजपा प्रत्याशी संजीव बाल्यान के बीच सीधी लड़ाई है। मुजफ्फरनगर सीट पर पहले चरण में चुनाव हुए थे। यहां से मौजूदा सांसद हैं संजीव बालियान हैं। पिछली बार इस सीट पर संजीव बालियान ने बसपा के कादिर राणा को हराया था।

9. बागपत लोकसभा सीट: जयंत चौधरी पीछे, सत्यपाल सिंह आगे चल रहे हैं
उत्तर प्रदेश की बागपत लोकसभा सीट पर रालोद के जयंत चौधरी और भाजपा के सत्यपाल सिंह के बीच लड़ाई है। 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के सत्यपाल सिंह ने सपा के गुलाम मोह को हराया था। वहीं, 2009 में आरएलडी के अजित सिंह यहां से जीते थे। यहां पहले चरण में ही वोटिंग हुई थी।

10. रामपुर लोकसभा सीट:
यूपी में इस बार रामुपर लोकसभा सीट के नतीजे पर भी सबकी नजर होगी। यहां पर आजम खान और जया प्रदा के बीच सीधा मुकाबला है। इस बार जयाप्रदा भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ा है। जयाप्रदा पर विवादित टिप्पणी के लिए आजम खान को प्रचार के दौरान चुनाव आयोग की ओर से 72 घंटे का बैन झेलना पड़ा था। 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी की ओर से नेपाल सिंह ने जीत हासिल की थी। हालांकि, इस सीट से जयाप्रदा सपा की टिकट पर पहले भी चुनाव जीत चुकी हैं। रामपुर में लोकसभा चुनाव 2019 के तीसरे चरण में वोटिंग हुई।

11. गौतमबुद्ध नगर लोकसभा सीट:
लोकसभा चुनाव 2019 के रण में यूपी की गौतमबुद्ध नगर सीट से केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा पर सबकी नजरें हैं। इस सीट से पिछली बार भी महेश शर्मा ने जीत हासिल की थी। मगर इस बार केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा के सामने SP-BSP-RLD गठबंधन के साझा प्रत्याशी के रूप में BSP के सतवीर नागर हैं और इस सीट पर BSP का खासा वोट बैंक माना जाता है। यही वजह है कि यहां पर कड़ी टक्कर देखने को मिली।

12. गाजियाबाद लोकसभा सीट:
गाजियाबाद लोकसभा सीट के नतीजे इसलिए भी मायने रखती हैं, क्योंकि इस सीट पर केंद्रीय मंत्री वीके सिंह चुनाव लड़ रहे हैं। पिछली बार भी केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने चुनाव जीता था। इस सीट से कांग्रेस ने डॉली शर्मा को उतारा है, वहीं महागठबंधन की ओर से सुरेश बंसल चुनावी मैदान में हैं। बता दें कि पहले चरण में ही इस सीट पर मतदान हुए थे।

TRENDING

लाइव शो में कुर्सी से गिरा पाक पैनललिस्ट, लोग बोले- पैरों तले खिसक गई जमीन, VIDEO Viral

Santosh Chaudhary

Published

on

जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान में कश्मीर मुद्दा काफी गर्माया हुआ है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पीएम इमरान खान हो या उनके मंत्री या उनका न्यूज चैनल वे भारत सरकार के इस फैसले से ऐसा बौखलाए हैं कि दिनरात बस कश्मीर की रट लगा रहे हैं। पाकिस्तानी न्यूज चैनल में कश्मीर पर लगातार बहस हो रही है। इसी दौरान गुरुवार को कुछ ऐसा हुआ, जिसका वीडियो काफी वायरल हो रहा है और लोग पाकिस्तान का लगातार मजाक बना रहे हैं।

दरअसल, एक पाकिस्तानी टीवी चैनल पर कश्मीर और अनुच्छेद 370 पर लाइव डिबेट चल रहा था, इसी दौरान एक विश्लेषक ने अपनी बात रखना शुरू किया और कुर्सी से गिर पड़ा। ये देखकर शो का एंकर भी जीभ निकालकर पैनललिस्ट की ओर देखने लगा। ये पूरा वाक्या लाइव शो में हुआ और अब यह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। लोग जमकर इस वीडियो का मजाक उडा रहे हैं और कमेंट कर रहे हैं। इस वीडियो को पाकिस्तानी पत्रकार नायला इनायत ने शेयर की है।

यूजर्स के रिएक्शन

इसे लेकर एक यूजर ने कमेंट किया कि पाकिस्तान में कुछ भी हो सकता है। एक अन्य यूजर ने लिखा कि एंकर का रिएक्शन रोज होता है। वहीं एक यूजर ने लिखा कि पैरों तले जमीन खिसक गई। एक अन्य यूजर ने लिखा चाइनीज चेयर होगा चला तो चांद तक नहीं तो शाम तक।

पहले भी हुआ ऐसा

यह पहला ऐसा अवसर नहीं है जब पाकिस्तान में कुछ ऐसा हुआ हो और लोगों ने जमकर इसकी खिल्ली उड़ाई हो। इससे दो महीने पहले पाकिस्तानी न्यूज चैनल की एक महिला एंकर ने लाइव शो के दौरान कन्फ्यूज होकर Apple कंपनी को सेब फल समझ बैठी थी से वो ट्विटर पर ट्रोल हो गई। इस शो के दौरान पाकिस्तानी महिला एंकर पैनलिस्ट से देश की आर्थिक स्थिति के बारे में बातचीत कर रही थी। तभी पैनलिस्ट ने कहा कि अकेले Apple का बिजनेस पाक के सालाना बजट से ज्यादा है। इसके जवाब में एंकर कहा, ‘हां मैंने सुना है सेब का व्यापार काफी बड़ा है।’ ये सुनने के बाद पैनलिस्ट एंकर को इस गलती के बारे में बताता है। नायला इनायत ने ही इस वीडियो के शेयर किया था।

मंत्री को झेलनी पड़ी शर्मिंदगी

इससे पहले कैट फिल्टर के साथ खैबर पख्तुनख्वा प्रांत के सूचना मंत्री शौकत युसूफजई और उनके मंत्रियों के बिल्ली के कान और मूंछ लगी तस्वीरें और वीडियो वायरल होने से उन्हें शर्मिंदगी झेलनी पड़ी थी।

Input : Dainik Jagran

 

Continue Reading

INDIA

मोदी सरकार का ऐलान- कैंप लगाकर 200 जिलों में बांटे जाएंगे लोन, गवाह बनेंगे सांसद

Santosh Chaudhary

Published

on

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को कहा कि 31 मार्च 2020 तक संकटग्रस्त किसी भी एमएसएमई को एनपीए घोषित नहीं किया जाएगा. उन्होंने बैंकों के साथ नकदी की स्थिति की समीक्षा की.

NBFC की स्थिति में सुधार

प्रेस कॉन्फेंस में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि कुछ गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFC) की पहचान की गई है, जिन्हें बैंक कर्ज दे सकते हैं. बैंक लेंडिंग के लिए नए ग्राहक जोड़े जाएंगे. वित्त मंत्री की मानें तो NBFC की स्थिति सुधर रही है.

200 जिलों में लगेंगे कैंप

वित्त मंत्री ने कहा कि बैंक कर्ज देने के इरादे से 3 से 7 अक्टूबर के बीच 200 जिलों में एनबीएफसी और खुदरा कर्जदारों के लिए कैंप लगाएंगे. सरकार ने इस मुहिम को बैंक लोन मेला नाम दिया है. वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि 11 अक्टूबर के बाद भी लोन मेले का आयोजन किया जाएगा.

सबसे खास बात यह है कि जिन जिलों में इस लोन मेले का आयोजन किय़ा जाएगा, वहां के सांसद भी इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए इस मुहिम में हिस्सा लेंगे. इसके अलावा बैंकों के विलय के सवाल पर सीतारमण ने कहा कि नियम के मुताबिक काम तेजी चल रहा है और बैंक रिफॉर्म्स के बेहतर परिणाम आएंगे.

गौरतलब है कि मंदी की आहट के बीच मोदी सरकार की ओर से लगातार बड़ी घोषणाएं की जा रही हैं. खुद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अर्थव्यवस्था में आई सुस्ती को दूर करने के लिए कई बड़ी घोषणाएं कर चुकी हैं.

अर्थव्यवस्था में सुधार की लगातार कोशिश

इससे पहले शनिवार को वित्त मंत्री ने 60 फीसदी तक पूरे हो चुके निर्माणाधीन आवासीय परियोजनाओं का काम पूरा करने के लिए 10 हजार करोड़ रुपये की विशेष सुविधा देने की घोषणा की थी. साथ ही इतनी ही राशि निजी क्षेत्र से जुटाई जाएगी, इसकी भी जानकारी दी थी.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का कहना है कि सरकार अर्थव्यवस्था में आई सुस्ती को दूर करने के लिए लगातार कोशिश कर रही है. सरकार इस बात को लेकर गंभीर है कि आने वाले दिनों में अगर और जरूरत पड़ी तो घोषणाएं की जाएंगी.

Input : Aaj Tak

 

Continue Reading

TRENDING

40 फीसदी युवतियां नहीं पहन रहीं हेलमेट

Himanshu Raj

Published

on

यातायता नियमों के उल्लंघन पर पुलिस की सख्ती के बाद भी शहर में 40 फीसदी युवतियां हेलमेट नहीं पहन रही हैं। यातायात विभाग ने शहर के दो प्रमुख चौराहों पर सर्वे किया तो यह बात सामने आई। एसपी ट्रैफिक ने मंगलवार को युवक और युवतियों पर एक सामान कार्रवाई का आदेश दिया है।

इसमें सितंबर के दूसरे सप्ताह की 9 से 11 तारीख तीन दिनों तक रोजाना दो सौ स्कूटी सवार महिलाओं को देखा किया। दोनों चौराहों पर सर्वे में सामने आया कि औसतन 40 फीसदी युवतियां हेलमेट नहीं पहन रही हैं। इसमें सबसे ज्यादा छात्राएं शामिल हैं, जो हेलमेट डिग्गी में रखकर चलती हैं। अधिकतर कामकाजी महिलाएं हेलमेट पहनकर चलती मिलीं।

सामान्य तौर पर महिलाओं और छात्राओं को विनती करने पर चेकिंग के दौरान छोड़ दिया जाता है। अब सख्ती से चालान की कार्रवाई का आदेश दिया गया है।

अगर आप में हेलमेट और सीटबेल्ट लगाने की आदत नहीं है या फिर रसूखदार हैं तो आज से अपनी आदत में सुधार कर लीजिए। अब चौराहों पर जांच कर रही पुलिस सिर्फ हेलमेट और सीटबेल्ट नहीं लगाने वालों को ही रोककर जांच करेगी। इसके साथ ही बाइक की तरह कार सवारों और एसयूवी गाड़ियों की चेकिंग होगी।

यातायात निदेशालय से मंगलवार को एक आदेश जारी किया है। इसमें साफ तौर पर लिखा है कि केवल वाहनों का कागज चेक करने के लिए नहीं रोका जाएगा। प्रथम दृष्टया हेलमेट और सीटबेल्ट के साथ यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों को ही रोका जाएगा। इसके बाद यातायात नियमों या ट्रैफिक सिग्नल तोड़ने वालों के कागज जांचे जाएंगे। दो पहिया वाहनों की तरह चार पहिया और एसयूवी वाहनों की भी जांच की जाएगी।

 

Input:Live Hindustan

Continue Reading
Advertisement
BIHAR19 mins ago

तेजस्वी का CM नीतीश से सवाल-नहीं आता था क,ख, ग, घ तो डिप्टी सीएम क्यों बनाया

BIHAR1 hour ago

पंकज त्रिपाठी ने चुराई थी मनोज वाजपेयी की चप्पल, भावुक होकर बताई वजह

TRENDING2 hours ago

लाइव शो में कुर्सी से गिरा पाक पैनललिस्ट, लोग बोले- पैरों तले खिसक गई जमीन, VIDEO Viral

MUZAFFARPUR4 hours ago

मुज़फ़्फ़रपुर में फिनांसकर्मी से पि’स्टल के ब’ल पर लू’ट

MUZAFFARPUR5 hours ago

संतान की दीर्घायु, आरोग्यता व कल्याण के लिए माताएं करेंगी जीवित्पुत्रिका व्रत

MUZAFFARPUR5 hours ago

मुजफ्फरपुर के लाल साहिल बनें अमेरिकन टीवी शो ‘वर्ल्ड ऑफ डांस’ के उपविजेता

INDIA6 hours ago

तेलुगु स्टार नागार्जुन ने पी वी सिंधु को गिफ्ट की 73 लाख की BMW X5 SUV

BIHAR6 hours ago

जिस तेजस विमान से रक्षा मंत्री ने रचा इतिहास उसे उड़ा रहा था बिहार का लाल

INDIA6 hours ago

आयुष्मान भारत योजना के तहत अब रेलवे अस्पताल में भी इलाज

BIHAR7 hours ago

समस्तीपुर की बेटी अंजलि की नई उड़ान, विदेश में यूं बढ़ाया देश और बिहार का नाम

INDIA2 weeks ago

New MV Act के भारी चालान से बचा सकता है आपका स्मार्ट फोन, जानिए- कैसे

BIHAR2 weeks ago

ट्रैफिक फाइन-DL व RC नहीं दिखाने पर तत्काल नहीं कट सकता चालान, जानिए नियम

BIHAR1 week ago

UP-दिल्ली-बिहार समेत देश भर के लोगों को DL-RC में अपडेट करनी होगी ये जानकारी

Uncategorized2 weeks ago

Jio Fiber Plans हुए लॉन्च, जानें कैसे आपकी जिंदगी और घर खर्च पर पड़ेगा इसका असर

BIHAR1 week ago

KBC सीजन 11 का पहला करोड़पति बना बिहार का लाल, जहानाबाद के सनोज राज ने रचा इतिहास

BIHAR2 weeks ago

बिहार पु’लिस का आदेश – चप्पल पहनकर बाइक चलाई तो एक हजार जु’र्माना

OMG1 week ago

दिल्ली में कटा ‘भगवान राम’ का 1.41 लाख का चालान, कोर्ट में जाकर भरा

MUZAFFARPUR2 weeks ago

मुजफ्फरपुर में पु’लिस पर ह’मला: ASI समेत 3 पुलिसकर्मी हुए ज’ख्मी

BIHAR3 weeks ago

370 इफ़ेक्ट: बिहारी लड़कों ने कश्मीरी लड़कियों से रचाई शादी, सुपौल लाते ही लग गया थाने का चक्कर

BIHAR2 weeks ago

10 दिन पहले 56 हजार में खरीदी थी स्कूटी, 42 हजार का आया चा’लान

Trending