Connect with us

INDIA

वाहनों में अतिरिक्त टायर या स्टेपनी रखने की जरूरत नहीं: सरकार

Ravi Pratap

Published

on

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालयन (MORTH) ने वाहनों में टायरों में हवा के दवाब की निगरानी प्रणाली (TPMS) से संबंधी दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं। मंत्रालयन ने एक बयान में कहा है कि सेंट्रल मोटर व्हीकल रूल्स नियमों में संशोधन किया है। इसके तहत अधिकतम 3.5 टन वजन तक के वाहनों के लिए टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम का सुझाव दिया गया है। यह गतिमान वाहनों में टायर में हवा के दबाव की निगरानी करता है और चालक को सूचना पहुंचाता रहता है। इससे सड़क सुरक्षा में बढ़ोतरी होती है।

मंत्रालयन ने टायर मरम्मत किट की भी अनुशंसा की है। इसमें टायर पंक्चर होने की स्थिति में रिपेयर किट का प्रावधान किया गया है। ऐसे में जिन वाहनों में रिपेयर किट उपलब्ध होगा, उनके लिए वाहनों में अतिरिक्त टायर या स्टेपनी रखने की जरूरत खत्म हो गई है। भले ही नया नियम सभी प्रकार के वाहनों पर लागू होता है, लेकिन इलेक्ट्रिक कारों को अधिक बैटरी देने और ड्राइविंग रेंज को बढ़ाने के लिए अधिक स्थान देने के लिए इस नियम को लाया गया है।

नए संशोधन के अनुसार, ट्यूबलेस टायर्स वाली कोई भी कार जो अधिकतम 8 लोगों को सीट दे सकती है और टायर प्रेशर मॉनिटरिंग या टायर रिपेयर किट स्पेयर से सुसज्जित है, उनमें स्पेयर टायर (स्टेपनी) नहीं दिया जाएगा। सरकार के इस नए कदम से भविष्य में इलेक्ट्रिक कारों की श्रेणी में वृद्धि देखी जाएगी। भारत सरकार पिछले कुछ वर्षों में इलेक्ट्रिक कारों की बिक्री को आगे बढ़ाने की कोशिश कर रही है। इसमें ई-कारों की रेंज को लेकर चिंता सभी इलेक्ट्रिक कार खरीदारों में सबसे आम रहती है और इस नए कानून के तहत कारों में रेंज बढ़ने की संभावना है।

बता दें, भारतीय बाजार में फैक्ट्री-फिटेड टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम (TPMS) की पेशकश करने वाली कारों की संख्या काफी ज्यादा है। यह फीचर कुछ साल पहले तक सिर्फ महंगी लग्जरी कारों में देखने को मिलती थी, लेकिन अब यह छोटी कारों में भी स्टैंर्ड सेफ्टी फीचर्स के तौर पर देखने को मिल रहा है। ऐसा संभव हो सकता है कि कई कार निर्माता कंपनियां भविष्य में किसी भी अतिरिक्त टायर की पेशकश नहीं करेंगे और एक साधारण टायर पंचर रिपेयर किट प्रदान करेंगे। हालांकि, इसमें यह साफ नहीं हो पाया है कि क्या कार निर्माता कंपनियां एक कंप्रेसर भी प्रदान करेगा, जिसका इस्तेमाल टायर में हवा भरने के लिए किया जाता है।

Input : Dainik Jagran

INDIA

सुशांत का कैश, रिया की ऐश : शॉपिंग से लेकर टिकट तक के पैसे सुशांत के अकाउंट से

Muzaffarpur Now

Published

on

सुशांत के पैसों से कई बार रिया चक्रवर्ती विदेश की यात्रा कर चुकी हैं। आस्ट्रेलिया, यूएई, स्विटजरलैंड जैसे तमाम देशों का दौरा रिया ने पूर्व में किया था। यहां तक कि विदेशों में होने वाली शॉपिंग से लेकर टिकट तक के पैसे रिया सुशांत के एकाउंट से देती थीं। छह महीने मेंरिया ने कई बार विदेश का दौरा किया। सूत्रों की मानें तो केंद्रीय जांच एजेंसियां सुशांत के कई खातों की जांच कर रही हैं। गौरतलब है कि सुशांत के परिवारवालों ने भी यह आरोप लगाया था कि उनके खाते से ऐसे लोगों के एकाउंट में पैसे डाले गये जिन्हें सुशांत जानते तक नहीं थे। अब उन लोगों को लेकर भी जांच की जायेगी कि आखिर वे कौन हैं।

View this post on Instagram

🤘💵💶💸 #SushantSinghRajput #Sushant #RipSushant #Ripsushantsingh #Sushantsingh #Ripsushantsingh #ripsushantsinghrajput #prachidesai #kanganaranaut #bollywood #nepotism #nepotisminbollywood #karanjohar #salmankhan #aliabhatt #shraddhakapoor #rheachakraborty #ankitalokhande #rohitshetty #yrf #kiaraadvani #maheshbhatt #msdhoni #ektakapoor #balajitelefilms #memes #indianmemes

A post shared by V I R A L T E L E V I S I O N (@viraltelevisionofficial) on

मुंबई पुलिस की हर जांच पर उठ रहे सवाल
दिशा और सुशांत को लेकर मुंबई पुलिस द्वारा किये ये हर जांच पर सवाल उठ रहे हैं। परिवारवालों का आरोप है कि मुंबई पुलिस जानबूझकर ऐसे दावे कर रही है ताकि यह मामला रफा-दफा हो सके। मुंबई पुलिस ने कहा था कि दिशा सुशांत की मैनेजर नहीं थीं। मुंबई पुलिस के मुताबिक़ दिशा केवल 23 दिनों के लिए सुशांत के संपर्क में काम के सिलसिले में आई थीं। दिशा कॉर्नर स्टोन नाम की एक कंपनी में बतौर सेलिब्रिटी मैनेजर काम करती थीं और कंपनी द्वारा दिए गए काम के सिलसिले में सुशांत से एक अप्रैल 2020 से लेकर 23 अप्रैल 2020 तक सुशांत के साथ थीं। जबकि मुंबई पुलिस की यह जांच सवालों के घेरे में है। सुशांत और दिशा का चैट भी सामने आया है। हालांक हिन्दुस्तान इसकी पुष्टी नहीं करता।

दिशा की मौत से नाम जोड़े जाने से परेशान थे सुशांत 
दिशा की मौत के बाद सुशांत परेशान थे। उन्हें लग रहा था कि दिशा की इस केस में उन्हें कुछ लोग फंसाने की कोशिश करेंगे। सुशांत ने अपने कुछ जानने वालों से इस बात का जिक्र किया था कि उनका नाम दिशा की मौत से जोड़ा जाएगा। सुशांत इस बात से बेहद परेशान थे कि दिशा की मौत को लेकर साजिश के तहत उनके बारे में तरह तरह बातें की जाएंगी और वो वायरल भी होंगी।

Input : Hindustan

Continue Reading

INDIA

विदेश से मुंबई आने वाले लोगों को अब क्वारंटाइन नियमों दी गई छूट, जानें क्यों

Muzaffarpur Now

Published

on

मुंबई. नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने मुंबई एयरपोर्ट पर विदेशों से आने वाले यात्रियों (International Passengers) को क्वारंटाइन नियमों में छूट दी है. अब इन यात्रियों को अनिवार्य तौर पर इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन (Institutional Quarantine) में नहीं रहना होगा. दरअसल ये छूट इसलिए दी गई है कि इस वक्त ज्यादातर यात्री इमरजेंसी कारणों (Emergency Reasons) से यात्रा कर रहे हैं. ऐसे में अनिवार्य क्वारंटाइन नियमों (Quarantine Rules) की वजह से उन्हें दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. इसलिए अब ऐसे यात्रियों को छूट दी जाएगी जिन्होंने 96 घंटों के भीतर अपना कोविड टेस्ट करवाया हुआ हो.

अब विदेश आने वाले किसी भी यात्री को यात्रा से 72 के भीतर का कोविड टेस्ट दिखाना होगा. ऐसे यात्रियों को महाराष्ट्र सरकार द्वारा लगाए गए इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन नियमों से छूट मिल जाएगी. गौरतलब है कि महाराष्ट्र सरकार के नियमों के मुताबिक विदेशों से आने वाले सभी यात्रियों को दो चरणों में क्वारंटाइन रहना पड़ता है. इसके तहत सात दिन का इंस्टीट्यूशन क्वारंटाइन होता है और फिर सात दिनों तक होम क्वारंटाइन का नियम है. अब नए नियम के मुताबिक कोई यात्री कोविड टेस्ट दिखाकर इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन से बच सकता है.

हाल में बनाए गए डोमेस्टिक फ्लाइट्स के लिए नए नियम

करीब एक हफ्ते पहले कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए बृहन्मुंबई महानगरपालिका ने बड़ा फैसला लिया है. BMC ने मुंबई आने वाले लोगों के लिए होम आइसोलेशन और क्वारंटाइन के नियमों में बदलाव किया है. BMC की ओर से कहा गया है कि घरेलू विमान से मुंबई आने वाले सभी यात्रियों को अनिवार्य रूप से 14 दिनों तक होम आइसोलेशन में रहना होगा.

क्यों लिया गया फैसला

मुंबई आने वाले यात्रियों को अनिवार्य रूप से 14 दिन के क्वारंटाइन में भेजने के पीछे महाराष्ट्र सरकार का तर्क है कि इससे कोरोना वायरस के अधिक तेजी से फैलने पर रोक लगेगी. लेकिन BMC के इस फैसले को लोग सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले की सीबीआई (CBI) जांच से भी जोड़कर देख रहे हैं. उनका कहना है कि CBI जांच को लटकाने के लिए महाराष्ट्र सरकार की तरफ से BMC ने 14 दिनों के क्वारंटाइन को अनिवार्य किया है.

Input : News18

Continue Reading

INDIA

रेपुटेशन को लेकर काफी संजीदा थे सुशांत, रिया चक्रवर्ती को अपनी जिंदगी से निकालने की थी पूरी प्लानिंग

Muzaffarpur Now

Published

on

सुशांत सिंह राजपूत ने काफी कम समय में फिल्म जगत में अपना एक खास मुकाम बनाया था। उनके पास बेशक बहुत पैसा नहीं था लेकिन अपनी फिल्मों को लेकर वह खूब शोहरत बटोर चुके थे। यही कारण है कि सुशांत अपनी इस अमानत को बचाकर रखना चाहते थे। इसीलिए वह अपनी शोहरत, पैसे, मानसिक शांति और परिवार के बीच रोड़ा बन रही लिव-इन पार्टनर रिया चक्रवर्ती से फौरी तौर पर छुटकारा पाना चाहते थे और इसके लिए उन्होंने पूरी प्लानिंग कर ली थी।

इसके लिए सुशांत चरणबद्ध तरीके से चल रहे थे। सबसे पहले उन्होंने 2020 के लिए जो प्लानिंग तैयार की, उसमें रिया को कहीं शामिल नहीं किया। इसका कारण यह था कि यह प्लानिंग उन्होंने पूरी तरह अपने लिए की थी। इस प्लानिंग में कई नाम शामिल हैं, जिनमें से एक फिल्म अभिनेत्री और सुशांत की अच्छी दोस्त श्रद्धा कपूर शामिल हो सकती हैं और साथ ही इस प्लानिंग में सुशांत की बड़ी बहन प्रियंका भी शामिल हो सकती हैं, जो उनके सबसे करीब थीं।

सुशांत की निजी डायरी के छह पन्ने आईएएनएस के पास हैं। यह वही डायरी है, जिसके चार पन्ने गायब हैं या फिर गायब कर दिए हैं लेकिन बाकी के जो पन्ने हैं, उनमें एक पन्ना बेहद खास है, जिसमें सुशांत ने रेपुटेशन बिल्डिंग और ब्रांड बिल्डिंग का पूरा प्लान बना रखा था। इसके अलावा भी सुशांत कई चीजों पर काम करना चाहते थे, जिसमें इनकम जेनरेट के साधन जुटाना, मनी मैनेजमेंट, लीगल पक्ष, प्लानिंग एवं रणनीति शामिल थी और इन सबके लिए एक कोर टीम बनाना चाहते थे।

उनका विजन बिल्कुल साफ था। इस कोर टीम के माध्यम से वह 2020 में ही हालीवुड में अपना कदम रखना चाहते। इसके अलावा वह अपने रेपुटेशन पर काम करना चाहते थे। इसका कारण यह था कि रिया के उनकी जिदगी में आने के बाद उन्हें लगने लगा था कि वह अपने परिवार से दूर जा रहे हैं और रिश्तेदारों तथा इंडस्ट्री में उनका रेपुटेशन खराब हो रहा है।

सुशांत रिया से छुटकारा पाना चाहते थे और वह भी जितनी जल्द हो सके। यही कारण है कि सुशांत ने अपनी पूरी प्लानिंग में रिया को कहीं शामिल नहीं किया था। रुमी जाफरी की आगामी फिल्म में रिया और सुशांत के साथ आने की बातें सामने आ रही हैं लेकिन इसमें सुशांत की इच्छा शामिल नहीं थी।

सुशांत के करीबी दोस्त महेश शेट्टी ने आईएएनएस के साथ संक्षिप्त टेलीफोनिक वार्ता में इस बात की पुष्टि की। शेट्टी ने कहा कि सुशांत अपनी रेपुटेशन को लेकर काफी संजीदा था। वह रिया जैसी अननोन अभिनेत्री के साथ कभी काम नहीं करता। वह तो जल्द से जल्द रिया से छुटकारा पाना चाहता था।

शेट्टी, सुशांत के परिवार के भी काफी करीब है, लिहाजा उसकी बात पर यकीन करना बनता है। इसका सबूत सुशांत की प्लानिंग में भी मिलता है क्योंकि चाहें वो कोर टीम हो या फिर इमेज बिल्डिंग टीम, कहीं भी रिया या फिर उसके किसी परिजन को शामिल नहीं किया है। हां, सुशांत ने एक लीगल टीम बनाने की बात जरूर की है, जो शायद रिया से छुटकारा पाने के साथ-साथ उनके बाकी के प्रोजेक्टस को लीगल मैटर को सम्भालने के लिए बनाई जाने वाली थी।

सुशांत की डायरी में इस बात का भी जिक्र है कि वह अपनी ऐक्टिंग स्किल को भी अपग्रेड करना चाहते थे और इसके लिए वह कई भाषाएं सीखना चाहते थे। साथ ही साथ वह दूसरे देशों की संस्कृति के बारे मे भी अधिक से अधिक जानना चाहते थे। अपनी डायरी के एक पन्ने में सुशांत ने इसका भी जिक्र किया है कि वह पर्यावरण तथा शिक्षा को लेकर काफी संजीदा हैं और इसे लेकर काफी काम करना चाहते हैं। यही कारण है कि सुशांत केरल में आर्गेनिक फामिर्ंग करना चाहते थे।

India TV

Continue Reading
MUZAFFARPUR3 hours ago

DM-SSP ने स्वतंत्रता दिवस को लेकर की जा रही तैयारियों का जायजा लिया

MUZAFFARPUR3 hours ago

अखाड़ाघाट पुल से युवती ने लगाई छलांग ; आक्रोशित लोगों ने पुल को किया जाम

BIHAR3 hours ago

जल्द शुरू हो सकता है बस का परिचालन, परिवहन सचिव ने कहा- एक दो दिन में लिया जायेगा डिसीजन

INDIA3 hours ago

सुशांत का कैश, रिया की ऐश : शॉपिंग से लेकर टिकट तक के पैसे सुशांत के अकाउंट से

INDIA4 hours ago

विदेश से मुंबई आने वाले लोगों को अब क्वारंटाइन नियमों दी गई छूट, जानें क्यों

INDIA4 hours ago

रेपुटेशन को लेकर काफी संजीदा थे सुशांत, रिया चक्रवर्ती को अपनी जिंदगी से निकालने की थी पूरी प्लानिंग

INDIA5 hours ago

सुशांत केस: सुप्रीम कोर्ट में CBI का जवाब- केस को मुंबई ट्रांसफर करने का सवाल ही नहीं

MUZAFFARPUR6 hours ago

विभा कुमारी की जांच से ही ब्रजेश सहित 19 को मिली थी सजा

Uncategorized7 hours ago

होटल से लेकर प्राइवेट जेट तक खरीदना चाहती रिया चक्रवर्ती, फ्लॉप एक्ट्रेस के सपने कैसे होंगे पूरे

INDIA8 hours ago

सुप्रीम कोर्ट में बिहार सरकार ने कहा..पटना में केस हैं दर्ज, इसलिए CBI जांच का है अधिकार, रिया के वकील ने कहा- FIR गैरकानूनी

BIHAR7 days ago

भोजपुरी एक्ट्रेस अनुपमा पाठक ने की खुदकुशी, मरने से पहले किया फेसबुक लाइव

INDIA2 days ago

बाइक पर पत्नी के अलावा अन्य को बैठाया तो कार्रवाई: हाई कोर्ट

INDIA3 weeks ago

वाहनों में अतिरिक्त टायर या स्टेपनी रखने की जरूरत नहीं: सरकार

INDIA2 days ago

सुप्रीम कोर्ट का फैसला – पिता की प्रॉपर्टी में बेटी का हर हाल में आधा हिस्सा होगा

BIHAR1 week ago

UPSC में छाए बिहार के लाल, जानिए कितने बच्चों का हुआ चयन

BIHAR4 weeks ago

बिहार लॉकडाउन: इमरजेंसी हो तभी निकलें घर से बाहर, नहीं तो जब्त हो जाएगी गाड़ी

MUZAFFARPUR1 week ago

उत्तर बिहार में भीषण बिजली संकट, कांटी थर्मल पावर ठप्प

BIHAR2 weeks ago

पप्पू यादव का खतरनाक स्टंट: नियमों की धज्जियां उड़ा रेल पुल पर ट्रैक के बीच चलाई बुलेट, देखें VIDEO

BIHAR4 days ago

IPS विनय तिवारी शामिल हो सकते है, सुशांत केस की CBI जांच टीम में…

MUZAFFARPUR6 days ago

बिहार के प्रमुख शक्तिपीठों में प्रशिद्ध राज-राजेश्वरी देवी मंदिर की स्थापना 1941 में हुई थी

Trending