Connect with us

TRENDING

विदेशी शख्स ने गाया हिंदी गाना ‘कलियों का चमन’, देखने वाले नहीं रोक पा रहे हंसी, वीडियो वायरल

Muzaffarpur Now

Published

on

आपको सर हिलाती हुई बिल्ली के साथ बैठे गाना गाते शख्स का वीडियो तो याद ही होगा. दुनियो को अपने उस वीडियो से हंसाने वाला ये शख्स अब एक और नया वीडियो लेकर आया है, जो उसके पहले वीडियो से भी ज्यादा फनी है. वीडियो बनाने वाले इस शख्स का नाम बिलाल गोरगेन है और ये तुर्की के रहने वाले हैं. ये खुद को एक इंडिपेंडेंट म्यूजिशियन बताते हैं.

सोशल मीडिया पर वायरल हुए इस नए वीडियो में बिलाल बांगो बजाते हुए नजर आ रहे हैं और जोर-जोर से हिंदी सॉन्ग ‘कलियों का चमन’ (Kaliyon ka chaman) गा रहे हैं. बांगो से बीट्स देते हुए वह अपने फॉरेन ऐक्सेंट में इस गाने को बहुत ही बेहतरीन तरीके से गाते हुए नजर आ रहे हैं. लेकिन लोग इस वीडियो में उनकी सिंगिंग की सराहना उतनी नहीं कर रहे हैं, जितना कि वो उन्हें इस फनी ढंग से गाना गाते हुए देख हंस रहे हैं. बिलाल का ये परफॉर्मेंस भी सोशल मीडिया पर हिट साबित हुआ है.

बिलाल पेशे से एक स्ट्रीट परफॉर्मर हैं. वो बांगों बजाते हुए तुर्की की सड़कों पर घूम-घूमकर लोगों को एंटरटेन करते हैं. उन्हें सोशल मीडिया पर पॉपुलेरिटी तब मिली थी जब उन्होंने लोइटूमा (Loituma) का इवान पोलका (Ievan Polkka) सॉन्ग गाया था. उनके इस वीडियो को सोशल मीडिया की दुनिया पर एक मीम की तरह यूज किया गया था. वीडियो में वो एक तरफ बांगो बजाते हुए गाना गा रहे थे और दूसरी तरफ एक सफेद रंग की बिल्ली अपना सर हिलाते हुए म्यूजिक एन्जॉय करते हुए नजर आ रही थी.

इस वीडियो को बिलाल ने अपने यूट्यूब पेज पर 24 नवंबर को पोस्ट किया था. पोस्ट होने से अबतक इस वीडियो को 4 लाख 82 हजार से ज्यादा लोग देख चुके हैं. साथ ही इसे 107 हजार लोगों ने लाइक भी किया है. बता दें कि बिलाल को अनके यूट्यूब चैनल पर 8 लाख 90 हजार से ज्यादा लोगों ने सब्सक्राइब किया हुआ है.

Source : TV9Hindi

TRENDING

गूगल पर ‘घर में वैक्सीन कैसे बनाएं?’ ट्रेंड करने पर आईपीएस ने कहाँ, इतना भी आत्मनिर्भर नहीं बनना

Ravi Pratap

Published

on

कोरोना वायरस की महामारी ऐसी फैली है कि दुनिया त्राहि-त्राहि कर रही है। हेल्‍थ से जुड़े जितने भी रिसर्च सेंटर्स हैं, अधिकतर कोरोना की दवा या वैक्‍सीन डेवलप करने में लगे हुए हैं। बीमारों की संख्‍या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। ऐसे में लोग कोरोना वायरस की वैक्‍सीन और दवा को लेकर हर जानकारी चाहते हैं। वे इंटरनेट पर इस बारे में सर्च करते हैं। मगर एक बड़ी संख्‍या ऐसे यूजर्स की है जो ये खोज रही है कि घर पर कोरोना वैक्‍सीन कैसे बनाई जा सकती है। कोरोना का घर में इलाज ढूंढने वाले भी बहुत हैं।

घर पर कैसे ठीक हो कोरोना? गूगल से पूछ रहे लोग

गूगल ट्रेंड्स के मुताबिक, भारत में ऐसी सर्च में पिछले एक-दो महीने में भारी उछाल देखा गया है। मसलन how to treat covid at home पर अप्रैल-मई भी सर्च हो रहे थे मगर जून खत्‍म होते-होते इसपर यूजर्स की संख्‍या तेजी से बढ़ी। भारत में पिछले तीन महीने में कोरोना से जुड़े टॉप सर्चेज में से एक यह भी है। घर पर कोरोना वैक्‍सीन बनाने को लेकर भी लोगों की दिलचस्‍पी पिछले एक महीने में बढ़ी है।

किन राज्‍यों से हो रहे ऐसे सर्च?
How to treat covid at home पर अधिकतर सर्च पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, महाराष्‍ट्र, तमिलनाडु और उत्‍तर प्रदेश से हैं। वहीं घर पर कोरोना वैक्‍सीन बनाने का तरीका लगभग सभी राज्‍यों के यूजर्स ने खोजा है। आंध्र प्रदेश, छत्‍तीसगढ़, असम, गुजरात, जम्‍मू कश्‍मीर में इसके सर्च ज्‍यादा हैं। वैक्‍सीन को लेकर भी भारतीयों की दिलचस्‍पी इस बात से जाहिर होती है कि वह मई, जून और जुलाई (अब तक) के टॉप कीवर्ड्स में से एक रहा है।

ऐसे सर्च करने की क्‍या है वजह
कोरोना वायरस एक ऐसी बीमारी के रूप में उभरा है जिसके मरीजों को हीनता की नजर से देखा गया है। भारत में ऐसे कई मामले हैं जहां मरीजों को समाज में दुत्‍कारा गया। उन्‍हें चिढ़ाया गया। आसपास सावधानी के बजाय डर का माहौल बन गया। कई मनोचिकित्‍सक मानते हैं कि कई मरीज इन्‍फेक्‍ट होने के बावजूद इसलिए सामने नहीं आते क्‍योंकि उन्‍हें सोशल बायकॉट का डर है। इसलिए घर पर ही कोरोना के इलाज, दवा और वैक्‍सीन बनाने को लेकर लोग सर्च कर रहे हैं।

ऐसे सर्च करने की क्‍या है वजह

कोरोना वायरस एक ऐसी बीमारी के रूप में उभरा है जिसके मरीजों को हीनता की नजर से देखा गया है। भारत में ऐसे कई मामले हैं जहां मरीजों को समाज में दुत्‍कारा गया। उन्‍हें चिढ़ाया गया। आसपास सावधानी के बजाय डर का माहौल बन गया। कई मनोचिकित्‍सक मानते हैं कि कई मरीज इन्‍फेक्‍ट होने के बावजूद इसलिए सामने नहीं आते क्‍योंकि उन्‍हें सोशल बायकॉट का डर है। इसलिए घर पर ही कोरोना के इलाज, दवा और वैक्‍सीन बनाने को लेकर लोग सर्च कर रहे हैं।

Input: NBT Hindi

rama-hardware-muzaffarpur

Continue Reading

TRENDING

WagonR का Limousine अवतार! तस्वीरों में देखिए एक मैकेनिक का शाहकार

Muzaffarpur Now

Published

on

अगर आपके पास कोई खास आइडिया हो और कुछ नया करना चाहें तो कुछ भी कर सकते हैं. इस बात को पाकिस्तान के एक मोटर मैकेनिक ने सही साबित कर दिखाया है. मोहम्मद इरफान उस्मान नाम के इस मोटर मैकेनिक ने सुजुकी की कार वैगनआर (Suzuki WagonR) कार को मिनी लिमोजिन (Mini-Limousine) कार में तब्दील कर दिया. यह कार काफी सुर्खियां बटोर रही है. उस्मान के मन में काफी सालों से यह आइडिया चल रहा था और आखिरकार उन्होंने अपने आइडिया पर काम किया और मिनी लिमोजिन बना ही डाली.

14.5 फीट लंबी है यह कार 

लिमोजिन की तरह दिखने वाली यह नई कार 14.5 फीट लंबी है. वैगनआर की 2015 मॉडल को रीडिजाइन किया गया है. कार के अगले और पिछले हिस्से में कोई बदलाव किया गया है.बीच का हिस्सा जोड़ा गया है. इस कार में 6 दरवाजे हैं. कार को रिडिजाइन करने में वही पार्ट्स और बाकी चीजें लगा गई हैं जो सुजुकी अपनी गाड़ियों में करती है. इसमें बीच के दरवाजे, रूफ, पिलर और सीट को जोड़ा गया. मोडिफिकेशन इस तरह से किया गया है मानो नई कार हो. इसकी फिनिशिंग फैक्टरी लेवल की है.

CAR

तीन महीने में बनकर तैयार हुई कार

मोहम्मद इरफान उस्मान ने इस कार प्रोजेक्ट को उन्होंने तीन महीने में पूरा किया. डेली पाकिस्तान की खबर के मुताबिक, पाकिस्तानी रुपये में इस पर कुल लागत पांच लाख रुपये (भारतीय 2.27 लाख रुपये) आई. खबर के मुताबिक, बीच का हिस्सा जिसे जोड़ा गया है वह करीब 3.7 फीट है. इसमें छह लोग बैठकर सफर कर सकते हैं और यह 500 किलोग्राम तक का वजन कैरी कर सकती है. इस कार में 660 सीसी की ऑटोमेटिक ट्रांसमिशन इंजन है. उस्मान इस नई मिनी लिमोजिन को पिछले छह महीने से इस्तेमाल कर रहे हैं और इसमें अब तक कोई परेशानी नहीं आई है.

स्पीड और माइलेज

इस मोडिफाइड कार की स्पीड भी शानदार है. उस्मान ने इसे 120 किलोमीटर प्रतिघंटे तक की स्पीड पर भी चलाई है और यह कार हाइवे पर 20 किलोमीटर और शहर में 14-15 किलोमीटर प्रति लीटर के हिसाब से माइलेज भी देती है. खबर के मुताबिक, कार के मालिक यानी उस्मान इस कार को बेचने की चाहत भी रखते हैं. उन्होंने कार की कीमत पाकिस्तानी रुपये में 26 लाख रुपये (भारतीय रुपये में करीब 12 लाख) रखी है.

Source : Zee News (फोटो साभार- dailypakistan)

rama-hardware-muzaffarpur

Continue Reading

TRENDING

शादी के कार्ड पर छपवा डाला QR Code, गेस्ट को न गिफ्ट ढूंढना पड़ा न लिफाफा

Muzaffarpur Now

Published

on

आपके मन में आइडिया कभी भी और कहीं से भी आ सकते हैं. इस बार एक आइडिया ऐसा आया है कि आप हैरान रह जाएंगे. शायद आपको पसंद भी आ जाए. अब शादी में कैश पैसे देने के लिए लिफाफा खोजने या गिफ्ट भी खोजने की जरूरत नहीं है. बस अब कोई भी गूगल पे (Google Pay) या फोनपे (PhonePe) का इस्तेमाल करके सीधे दूल्हा-दुल्हन के बैंक अकाउंट्स में पैसा ट्रांसफर कर सकता है. मदुरै में एक परिवार ने शादी के निमंत्रण कार्ड पर गूगल पे और फोन पे के क्यूआर कोड छापकर एक नए आइडिया को आगे बढ़ाया है. IANS की खबर के मुताबिक, इस परिवार ने अपनी बेटी की शादी में आए मेहमानों और जो महामारी के कारण शादी में शामिल नहीं हो सके, उन लोगों को तोहफा देने का एक आसान ऑप्शन दिया है.

रविवार को ही शादी हुई और कार्ड हो गया वायरल 

खबर के मुताबिक, दुल्हन की मां टी.जे. जयंती ने बताया कि करीब 30 लोगों ने इस ऑप्शन का इस्तेमाल कर शादी का गिफ्ट दिया. जयंती मदुरै में जननी ब्यूटी पार्लर चलाती हैं. उन्होंने कहा कि यह पहली बार है, जब हमारे परिवार में इस तरह का प्रयोग किया गया. यह शादी रविवार को हुई है और निमंत्रण कार्ड (Wedding Card) वायरल हो गया है. जयंती ने कहा कि मेरे पास इसे लेकर बहुत सारे फोन आ रहे हैं. इसकी तरह मेरे भाई और परिवार के दूसरे लोगों के पास भी सोमवार सुबह से बहुत सारे फोन आ रहे हैं.

ऑनलाइन शादी देखने वालों को खाना डिलीवर कराया 

बीत साल कोरोना वायरस महामारी के चलते शादी या किसी फंक्शन को ऑनलाइन करने से लेकर टेक्नॉलॉजी की मदद से कई नए-नए आइडिया लोग अपना रहे हैं. पिछले महीने एक नवविवाहित जोड़े ने अपने उन रिश्तेदारों और दोस्तों के घर पर शादी की दावत का खाना डिलीवर कराया था, जिन्होंने उनकी शादी को ऑनलाइन देखा था.

क्या है क्यूआर कोड

क्यूआर कोड यानी Quick Response Code. यह वर्गाकार बारकोड की तरह होता है. इसमें ज्यादा इन्फोर्मेशन जमा किया जा सकता है. क्यूआर कोड एक तरह से मशीन रिडेबल लेबल होता है. जिसे कंप्यूटर आसानी से रीड कर लेता है. क्यूआर कोड का इस्तेमाल किसी प्रॉडक्ट को ट्रैक करने या उसे पहचानने में किया जाता है. इसकी मदद से पैसे पेमेंट भी किए जाते हैं.

Source : Zee News

rama-hardware-muzaffarpur

Continue Reading
MUZAFFARPUR5 hours ago

मुजफ्फरपुर में रोनोजीत के हत्यारे को फांसी देने की मांग लेकर नगर विधायक व हजारों की संख्या में निकाला गया कैंडल मार्च

BIHAR6 hours ago

शिक्षक अभ्यर्थियों से मिले तेजस्वी, पुलिस लाठीचार्ज की बात सुन सीधे डीजीपी को लगा दिया फोन

BIHAR11 hours ago

बिहार में पंचायत चुनाव से पहले मुखिया सरपंच को आयोग का झटका! जानें राज्य आयोग का फैसला

INDIA11 hours ago

सर्दी से बचने को कमरे में जलाई थी अंगीठी, मौत की नींद सोया पूरा परिवार

BIHAR11 hours ago

मिलिए अजय कुमार से इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ गांव के बच्चों को दे रहे निशुल्क शिक्षा

BIHAR12 hours ago

दशमेश पिता गुरु गोविंद सिंह जी के जयंती पर पटना साहिब पहुंचे CM नीतीश, गुरुद्वारे में टेका मत्था

MUZAFFARPUR12 hours ago

जाप सुप्रीमो पप्पू यादव का सीएम नीतीश पर तंज, सूबे में नमक महंगा व खून सस्ता

BIHAR12 hours ago

CM नीतीश पर चिराग का नया हमला, कहा- गृह मंत्रालय अपने पास रखकर भी अपराध नहीं रोक पा रहे मुख्‍यमंत्री

INDIA12 hours ago

अगर 1 घंटे में निपटा दी इस रेस्टोरेंट की ‘बुलेट थाली’ तो ईनाम में मिलेगी रॉयल एनफील्ड

BIHAR12 hours ago

बिहार बोर्ड मैट्रिक इंटर परीक्षा 2021 : एडमिट कार्ड खोने पर भी दे सकेंगे परीक्षा

INDIA2 weeks ago

लड़कियों के लिए मिसाल हैं ये महिला IAS, अपनी हाइट को नहीं बनने दिया बाधा

TRENDING2 days ago

WagonR का Limousine अवतार! तस्वीरों में देखिए एक मैकेनिक का शाहकार

INDIA5 days ago

इंग्लिश मीडियम बहू और हिंदी मीडियम सास के रिश्‍तेे में यूं आ रही दरार, पहुंच रहे थाने तक

TRENDING2 weeks ago

12 लीटर सोडा, 40 बोतल बीयर रोज: 412 किलो के शख्स ने दुनिया को कहा अलविदा

JOBS3 weeks ago

डाक विभाग ने निकाली है बंपर भर्तियां, 10वीं पास करें आवेदन, जानें फॉर्म भरने का तरीका

BIHAR3 weeks ago

29 IAS, 38 IPS की ट्रांसफर-पोस्टिंग: 12 DM बदले, चंद्रशेखर सिंह पटना के नए DM बने; 13 SP बदले, लिपि सिंह को सहरसा SP बनाया गया

TRENDING5 days ago

‘दोस्त’ ने किया बेइज्जत: ‘कंगाल’ पाकिस्तान का यात्री विमान मलेशिया ने किया जब्त, उतारे गये यात्री

MUZAFFARPUR3 weeks ago

निगम में शामिल होंगे शहर से सटे 32 गांव, 49 से बढ़ कर हाे सकते हैं अब 76 वार्ड

BIHAR5 days ago

बिहार: अब सभी जिलों में चलेगी BSRTC की बस, पटना से काठमांडू, जनकपुर व भूटान सीमा तक मिलेगी सर्विस

BIHAR3 weeks ago

तो इसलिए हैं पंजाब के किसान सड़कों पर, बिहार के किसानों के मुकाबले कमाते हैं पांच गुना ज्यादा

Trending