Connect with us

INDIA

विपक्ष की बैठक पर BJP का वार, कहा- CAA के खिलाफ विपक्ष के प्रस्ताव ने पाकिस्तान को खुश कर दिया होगा

Muzaffarpur Now

Published

on

नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने सोमवार को कहा कि संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खि’लाफ विपक्ष के प्रस्ताव से पाकिस्तान को जरूर खुशी हुई होगी. उन्होंने कहा कि इस कानून का मकसद अल्पसंख्यकों के खिलाफ ‘बर्बर सलूक’ करने के लिए पाकिस्तान को बेनकाब करना है. उन्होंने कहा कि विपक्ष ने ‘‘अनावश्यक रूप से’’ इस प्रक्रिया में मोदी सरकार पर ह’मला किया है.

विपक्ष की बैठक पर BJP का वार, कहा- CAA के खिलाफ विपक्ष के प्रस्ताव ने पाकिस्तान को खुश कर दिया होगा

विपक्षी दलों पर कटाक्ष करते हुए केंद्रीय कानून मंत्री प्रसाद ने कहा कि उनकी ‘एकजुटता’ उजागर हो गयी है.

विपक्ष की एकजुटता का पर्दाफाश

प्रसाद ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘विपक्ष की एकजुटता का पर्दाफाश हो गया है क्योंकि सपा, बसपा, तृणमूल कांग्रस और आप जैसे प्रमुख दल (कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी द्वारा बुलायी गयी बैठक से) दूर रहे. यह प्रस्ताव ना तो देश हित में, ना ही रक्षा हित में हैं. यह उन अल्पसंख्यकों के हितों के भी अनुकूल नहीं है जो कि उत्पीड़न के चलते पड़ोसी देशों से भाग कर आए हैं.’’

बता दें कांग्रेस समेत देश के 20 विपक्षी दलों ने सोमवार को संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को वापस लेने एवं राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) पर रोक लगाने की मांग करते हुए कहा कि सभी मुख्यमंत्री राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) की प्रक्रिया को निलंबित करें जिन्होंने अपने राज्यों में एनआरसी लागू नहीं करने की घोषणा की थी.

विपक्षी दलों ने कहा, ‘‘सीएए, एनपीआर और एनआरसी एक पैकेज है, जो असंवैधानिक है तथा गरीब, दबे-कुचले लोग, अनुसूचित जाति-जनजाति और भाषायी एवं धार्मिक अल्पसंख्यक इसके मुख्य निशाने पर हैं.’’

बैठक में पारित हुआ प्रस्ताव कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा बुलाई गई विपक्षी दलों की बैठक में प्रस्ताव पारित किया गया जिसमें अर्थव्यवस्था, रोजगार एवं किसानों की स्थिति तथा सीएए विरोधी प्रदर्शनों के दौरान प्रदर्शनकारियों पर पुलिस की कार्रवाई तथा जेएनयू एवं कुछ अन्य विश्वविद्यालयों में छात्रों पर हमले को लेकर चिंता प्रकट की गई.

इन पार्टियों ने प्रस्ताव में कहा, ‘‘हम नरेंद्र मोदी सरकार की ओर से अर्थव्यवस्था का पूरी तरह कुप्रबंधन किए जाने के कारण बड़ी संख्या में लोगों के सामने पैदा हुई जीविका की खतरनाक स्थिति को लेकर अपनी चिंता प्रकट करते हैं.’’

उन्होंने आरोप लगाया कि अर्थव्यवस्था की स्थिति में सुधार करने की बजाय सांप्रदायिक ध्रुवीकरण की राजनीति कर रही है.

Input : News18

 

INDIA

बड़ा फैसला: दिल्ली की सभी यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं रद्द, जानिए अब क्या होगा

Muzaffarpur Now

Published

on

दिल्ली के सभी विश्वविद्यालयों के छात्रों के लिए कोई परीक्षा नहीं होगी. डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा, “राज्य भर के सभी विश्वविद्यालयों में छात्रों के लिए कोई परीक्षा आयोजित नहीं की जाएगी. छात्रों का मूल्यांकन पिछली परीक्षाओं के आधार पर किया जाएगा. यह निर्णय तीसरे वर्ष के छात्रों पर भी लागू होता है.”

डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने ये जानकारी, बयान देकर जारी की. इससे पहले दिल्ली उच्च न्यायालय ने गुरुवार को दिल्ली विश्वविद्यालय को एक हलफनामा दाखिल करने का निर्देश दिया था. जिसमें फाईनल ईयर अंडरग्रेजुएट एग्जाम का शेड्यूल दिया गया हो. फाईनल एग्जाम्स को 10 जुलाई से 15 अगस्त तक के लिए स्थगित कर दिया गया था. उच्च न्यायालय ने हलफनामे में यह भी बताने के लिए कहा था कि वे परीक्षाओं को कैसे आयोजित करेंगे. ऑनलाइन, ऑफ-लाइन या दोनों मोड. इसके अलावा पूरी डेटशीट और छात्रों को स्पष्टता प्रदान करने के लिए भी पूछा था.

अदालत ने दिल्ली विश्वविद्यालय का प्रतिनिधित्व करने वाले वरिष्ठ अधिवक्ता सचिन दत्ता की प्रार्थना को कुछ समय के लिए मंजूरी दे दी थी. क्योंकि उन्हें विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) के नवीनतम दिशानिर्देशों के अनुसार परीक्षा आयोजित करने की नई योजना तैयार करनी थी. अदालत ने 13 जुलाई तक हलफनामा दायर करने का आदेश दिया और मामले को 14 जुलाई को आगे की सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया.

दिल्ली विश्वविद्यालय ने फाइनल ईयर की परीक्षाएं अगस्त तक के लिए स्थगित कर दी थी, जो 10 जुलाई से शुरू होने वाली थी. एग्जाम टालने का डीयू का निर्णय यूजीसी के दिशा-निर्देशों के एक दिन बाद आया था. जिसमें कहा गया था विश्वविद्यालय अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं ऑनलाइन या नियमित मोड में आयोजित कर सकते हैं, या मिश्रित प्रारूप (blended format) का विकल्प चुन सकते हैं.

Input : News18

Continue Reading

INDIA

सूरत के जूलरी शॉप में बिक रहा है हीरे का बना मास्क, कीमत लाखों में

Ravi Pratap

Published

on

कोरोना वायरस के चलते देशभर में हर किसी के लिए अब फेस मास्क पहनना अनिवार्य हो गए है, ऐसे में सूरत के एक जूलरी शॉप मालिक को हीरे लगे हुए मास्क बेचने का आइडिया आया। वह अपनी शॉप में ऐसे मास्क बेच रहे हैं, जिसकी कीमत डेढ़ लाख से लेकर चार लाख तक की है। जूलरी शॉप के मालिक दीपक चोकसी का कहना है कि उन्हें यह आइडिया उस ग्राहक से मिला, जिसके घर पर शादी थी। वह हमारी दुकान पर आया और दूल्हा-दुल्हन के लिए यूनिक मास्क की मांग की।

चोकसी ने न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया कि जैसे ही लॉकडाउन हटा तो उनके एक ग्राहक जिनके घर पर शादी थी, हमारी दुकान में आएं और उन्होंने दूल्हे और दूल्हे के लिए अलग तरह के मास्क की मांग की। इसके बाद हमने अपने डिजाइनरों को मुखौटे बनाने का काम दिया, जिसे ग्राहकों ने बाद में खरीदा। इसके बाद हमने अलग-अलग कीमतों के मास्क बनाए। उन्होंने कहा कि इन मास्क को बनाने के लिए हमने सोने के साथ प्योर डायमंड और अमेरिकन डायमंड का इस्तेमाल किया है।

उन्होंने कहा कि मास्क बनाने के लिए अमेरिकी हीरे के साथ पीले सोने का इस्तेमाल किया गया है और इसकी कीमत 1.5 लाख है। एक अन्य मास्क जो सफेद सोने और रियल हीरे से बना है और इसकी कीमत 4 लाख रुपये है। दुकान के मालिक ने कहा कि इन मास्क को बनाने के लिए सरकार के दिशा निर्देश के अनुसार कपड़े का इस्तेमाल किया जाता है।

उन्होंने कहा कि इन मास्क से हीरे और सोने को ग्राहकों की इच्छा के अनुसार निकाला जा सकता है और इसका उपयोग अन्य आभूषणों को बनाने में किया जा सकता है।

जूलरी में आए एक ग्राहक देवांशी ने कहा कि मैं आभूषण खरीदने के लिए दुकान पर आई थी, क्योंकि परिवार में शादी है। फिर मैंने हीरे के मास्क देखे, जो मुझे ज्वैलरी की तुलना में ज्यादा अच्छे लगे। इसलिए, मैंने मास्क खरीदने का फैसला किया। मेरी मैचिंग ड्रेस के अनुसार।

हाल ही में, पुणे में शंकर कुराडे नाम के एक व्यक्ति ने खुद को कोविड-19 महामारी के बचानो के लिए 2.89 लाख रुपये के सोने का एक मास्क बनाया था।

Input : Live Hindustan

Continue Reading

INDIA

कमाल का घोटाला, लाहौर तक आटा पहुंचाने के लिए बिछाई रेल लाइन गायब

Muzaffarpur Now

Published

on

अंबाला : हरियाणा मेें रेलवे का कमाल का घोटाला हुआ है। बरसाें पहले बिछाई गई पूरी रेल लाइन ही गायब हो गई है और किसी को इसके बारे में कुछ नहीं पता। यह रेल लाइन एक समय लाहौर तक आटा पहुंचाने के लिए फैक्‍टरी से अंबाला छावनी स्‍टेशन तक बिछाई गई थी।

अंबाला छावनी की बीडी फ्लोर मिल से लाहौर तक आटा पहुंचाने के लिए बिछाई गई स्पेशल रेल लाइन कहां और कैसे गायब हो गई, यह‍ बड़ा रहस्‍य बन गया है। रेलवे प्रशासन को इस मामले में ध्‍यान देने को जहमत नहीं उठाना चाहता। यह रेललाइन बीडी फ्लोर मिल से अंबाला छावनी स्टेशन तक जुड़ी थी। मिल से मालगाड़ी में आटा लोड होकर लाहौर के लिए रवाना होता था। यह मिल एशिया की बड़ी मिलों में शुमार थी। मिल बंद होने के बाद रेलपटरी गायब हो गई। इस पटरी का मालिकाना हक किसका है, इस बारे में आज तक कोई दस्तावेज रेलवे के रिकॉर्ड में आज तक नहीं मिला।

बनारसी दास (बीडी) फ्लोर मिल से रेलवे स्टेशन तक बिछी थी रेल लाइन

पटरी गायब होने में रेल अधिकारी संदेह के घेरे में हैं, जिन्होंने पटरी उखाडऩे के लिए एनओसी जारी की थी। हैरानी यह है कि अंबाला रेल मंडल ने फाइलों में पटरी का मालिकाना हक मिल संचालकों को देने पर आपत्ति उठाई थी, लेकिन दिल्ली के आला अधिकारियों ने मेहरबानी की थी। बुधवार को ओल्ड ग्रांट के नियमों का उल्लंघन होने पर प्रशासन ने करीब साढ़े छह एकड़ जमीन कब्जे में ले ली है। जमीन कब्जे में लेने के बाद भी अब पटरी को लेकर भी मामला उठा है।

बडा़ सवाल- मिल तक बिछी लाइन का मालिकाना हक किसका, नहीं मिला कोई दस्तावेज

सूत्रों के मुताबिक मिल के बाहर का हिस्सा नगर परिषद से लीज पर लिया गया था। इस लीज की जमीन पर मिल से होकर छावनी रेलवे स्टेशन तक पटरी बिछाई गई थी। मिल बंद होने के बाद करीब चार दशक तक रेल पटरी बिछी रही, लेकिन कोई भी पटरी के मालिकाना हक के लिए सामने नहीं आया। करीब 20 साल पहले पटरी के मालिकाना हक के लिए रेलवे में कागजी कार्रवाई शुरू हुई।

अंबाला मंडल के इंजीनियरिंग विभाग ने फाइलों पर आपत्ति लगा दी। इसके बावजूद दिल्ली से सीधा एनओसी जारी कर दी गई कि यह पटरी मिल संचालक उखाड़ लें, जिसे लेकर रेलवे को कोई आपत्ति नहीं है। आज भी रेलवे के रिकॉर्ड में कहीं भी यह जिक्र नहीं है कि इस पटरी का मालिकाना हक किसका था। करीब तीन किलोमीटर रेललाइन पर रेल अधिकारियों की कार्यप्रणाली संदेह में हैं। अपर रेल मंडल प्रबंधक कर्ण ङ्क्षसह ने कहा कि वे चेक करके ही इस बारे में बता सकते हैं।

लोग चूमते थे रेल पटरी को

पिछले दिनों जब जिला प्रशासन मिल का कब्जा ले रहा था, तो लोगों ने कई खुलासा किया। लोगों ने कहा कि उन्हें याद है कि जब भी ऐतिहासिक हाथीखाना कैलाश मंदिर जाते थे तो रेलपटरी का हिस्सा मंदिर के बीच आता था, जिसे चूमकर लोग मंदिर में प्रवेश करते थे।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading
BIHAR46 mins ago

रक्षाबंधन का त्योहार 3 को, कोरोना संकट में इस बार कई देशों में भाइयों की कलाई रह जाएंगी सूनीं

BIHAR52 mins ago

पटना: साली से शादी करने के लिए करा दी गर्भवती पत्नी की हत्या, कॉन्ट्रैक्ट किलर को लोन लेकर दिये पैसे

BIHAR57 mins ago

कोरोना काल में लंबे अरसे बाद सामने आए गिरिराज, बोले.. जनसंख्या नियंत्रण के लिए सख्त कानून जरूरी है

INDIA1 hour ago

बड़ा फैसला: दिल्ली की सभी यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं रद्द, जानिए अब क्या होगा

INDIA3 hours ago

सूरत के जूलरी शॉप में बिक रहा है हीरे का बना मास्क, कीमत लाखों में

BOLLYWOOD3 hours ago

विकास दुबे पर बनी फिल्म तो काम करेंगे मनोज बाजपेयी? एक्टर ने दिया जवाब

INDIA4 hours ago

कमाल का घोटाला, लाहौर तक आटा पहुंचाने के लिए बिछाई रेल लाइन गायब

INDIA5 hours ago

गलत Bank Account में ट्रांसफर हो गए हैं पैसे, घबराएं नहीं तत्काल उठाएं ये कदम

INDIA6 hours ago

पीपीई किट पहनकर पान बेच रहा है ये दुकानदार, सुर्खियों में हैं ये पान वाला

BIHAR7 hours ago

अगले महीने हो सकता है मोदी कैबिनेट का विस्तार, जेडीयू को भी जगह मिलने की चर्चायें तेज

BIHAR4 weeks ago

सुशांत के परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़, सदमा नहीं झेल पाईं भाभी, तोड़ा दम

ENTERTAINMENT2 weeks ago

सामने आया चंद्रचूड़ सिंह के फिल्म इंडस्ट्री छोड़ने का असली रीजन

BIHAR4 weeks ago

प्रिय सुशांत – एक ख़त तुम्हारे नाम, पढ़ना और सहेज कर रखना

INDIA4 weeks ago

सुशांत स‍िंह राजपूत की सुसाइड पर बोले मुकेश भट्ट, ‘मुझे पता था ऐसा होने वाला है…’

MUZAFFARPUR1 week ago

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत खुदकुशी मामले में सलमान के अधिवक्ता मुजफ्फरपुर कोर्ट में हुए हाजिर

INDIA6 days ago

महिला सब इंस्पेक्टर गिरफ्तार, रेप के आरोपी को बचाने के लिए 35 लाख रुपए लिया रिश्वत

BIHAR2 weeks ago

बिहार में नहीं चलेंगी सलमान खान, आलिया भट्ट, करण जौहर की फिल्में

BIHAR4 weeks ago

लालू के बेटे तेजस्वी यादव की कप्तानी में खेलते हुए बदली विराट कोहली की किस्मत!

MUZAFFARPUR3 weeks ago

सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर एकता कपूर ने तोड़ी चुप्पी, कहा- मेरे खिलाफ मुकदमा करने के लिए शुक्रिया

INDIA3 weeks ago

सुशांत के व्हॉट्सऐप चैट आये सामने, उनको फिल्म करने में हो रही थी परेशानी

Trending