Connect with us

INDIA

वैज्ञानिकों ने कहा- देश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के लिए तब्लीगी जमात को जिम्मेदार ठहराने का आधार नहीं

Muzaffarpur Now

Published

on

नई दिल्ली. भारतीय वैज्ञानिकों के एक समूह ने कहा है कि उपलब्ध आंकड़े उन दावों का समर्थन करते नहीं दिख रहे जिसमें कहा जा रहा है कि देश में कोरोना वायरस रोग (कोविड-19) के फैलाव के लिए प्राथमिक तौर पर तबलीगी जमात के लोग जिम्मेदार हैं. महामारी के बारे में प्रामाणिक जानकारी प्रदान करने और मिथकों का पर्दाफाश करने वाले एक समूह Indian Scientists’ Response to Covid-19 (ISRC) के वैज्ञानिकों ने चिंता जताई है कि कुछ मीडिया आउटलेट्स और राजनेताओं ने जमात के मामले में शुरुआती तौर पर झूठ बोला. भारत और अन्य देशों के 2,300 से अधिक लोग कई सरकारी एजेंसियों से मिली अनुमति के चलते बीते महीने दिल्ली में तब्लीगी जमात कार्यक्रम के लिए इकट्ठे हुए थे.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस महीने की शुरुआत में संकेत दिया था कि भारत के एक तिहाई कोरोना मामलों को जमात घटना से जोड़ा जा सकता है. कुल संख्या के बीच जमात घटना से जुड़े मामलों को उजागर करने वाले सरकार के बयानों ने सोशल मीडिया पर हैशटैग ‘कोरोनाजेहद’ सहित मुस्लिम विरोधी टिप्पणी शुरू कर दी थी. एक वेबसाइट ने पोस्ट किया था कि तब्लीगी जमात की घटना ‘कोरोनोवायरस बम’ में बदल गई है.

ISRC ने नस्लीय, धार्मिक या जातीय रेखाओं पर कोरोना वायरस के मामलों की प्रोफाइलिंग नहीं करने को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन के बयान का हवाला देते हुए कहा, ‘हम महामारी के सांप्रदायिकरण के किसी भी प्रयास की कड़ी निंदा करते हैं.’

केंद्र और राज्य सरकारों को प्रशासनिक कदम उठाने चाहिए

ISRC ने स्वास्थ्य मंत्रालय के दस्तावेज़ का भी हवाला दिया है, जिसमें कहा गया है कि ‘कोविड -19 के प्रसार के लिए किसी समुदाय या क्षेत्र को जिम्मेदार ना ठहराएं.’ कोरोना वायरस के संकट के बीच तब्लीगी जमात ने इस आयोजन को रद्द नहीं किया था, जिस पर ISRC ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकारों को प्रशासनिक कदम उठाने चाहिए थे.

ISRC ने साथ ही कहा कि सरकार ने इस कार्यक्रम के उपस्थित लोगों और उनके संपर्कों के बीच कितने टेस्ट किए थे, इस बारे में डेटा जारी नहीं किया है. ऐसे में हम नहीं जानते कि इस मामले में पॉजिटिव पाए जाने वाले टेस्ट्स का असर सामान्य आबादी पर टेस्ट की तुलना में कैसे होता है,’ ISRC ने मांग की है कि सरकार इस बाबत डेटा जारी करे.’

‘इस प्रकार काफी कम हो सकता है’ असर
ISRC ने कहा कि देश भर में कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की संख्या अब तक पुष्टि की गई संख्या से कहीं अधिक बड़ी है. आईएसआरसी ने कहा कि अखिल भारतीय स्तर पर संख्या की वृद्धि दर पर दिल्ली की घटना का प्रभाव स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा बताई गई संख्या की तुलना में ‘इस प्रकार काफी कम हो सकता है’.

Input : News18

 

INDIA

रिया चक्रवर्ती ने CBI जांच का विरोध किया, सुप्रीम कोर्ट में दिया हलफनामा

Muzaffarpur Now

Published

on

मुंबई. सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस (Sushant Singh Rajput Suicide Case) में रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में हलफनामा दाखिल किया है. इस हलफनामे में कहा गया है कि मीडिया उनकी छवि खराब कर रही है. रिया ने यह भी कहा है कि उनका मीडिया ट्रायल हो रहा है. रिया ने आगे कहा कि इससे पहले भी कुछ कलाकारों ने आत्महत्या की थी लेकिन उनके बारे में कुछ भी नहीं दिखाया गया. लेकिन इस मामले में उन्हें टारगेट किया जा रहा है. बता दें रिया के ट्रांसफर पेटिशन पर कल सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है. रिया चक्रवर्ती ने सुप्रीम कोर्ट से सुशांत सिंह मौत के मामले में चल रहे मीडिया ट्रायल पर सुप्रीम कोर्ट से रोक लगाने की मांग की है. रिया चक्रवर्ती ने अपने हलफनामे में यह भी कहा कि अभी इस मामले में जांच चल रही है लेकिन मीडिया के द्वारा उन्हें इस मामले में दोषी बताया जा रहा है.

सुशांत सिंह सुसाइड केस में दाखिल किये गए हलफनामे में रिया ने आरोप लगाया है कि पटना (Patna) में दर्ज एफआईआर राजनीति से प्रेरित है. उनका कहना है कि बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) की वजह से इस मामले में राजनीति हो रही है. रिया ने हलफनामे में कहा है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Bihar’s CM Nitish Kumar) की इस मामले में दिलचस्पी कि वजह से पटना में एफआईआर दर्ज हुई है. इतना ही नहीं रिया चक्रवर्ती ने हलफनमे में कहा है कि मामले को सीबीआई को ट्रांसफर करना भी राजनीति का हिस्सा है. उन्होंने कहा कि इस मामले में बिहार पुलिस या सीबीआई को जांच करने का अधिकार ही नहीं है.

img class=”alignnone size-large wp-image-54387″ src=”https://muzaffarpurnow.in/wp-content/uploads/2020/07/WhatsApp-Image-2020-07-22-at-9.21.07-PM-724×1024.jpeg” alt=”” width=”724″ height=”1024″ />

Continue Reading

INDIA

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी कोरोना पॉजीटिव, ट्वीट कर दी जानकारी

Muzaffarpur Now

Published

on

देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। प्रणब मुखर्जी ने ट्विटर पर खुद इसकी जानकारी साझा की है। मुखर्जी ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

मुखर्जी ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि पिछले एक हफ्ते के अंदर जो लोग भी मेरे संपर्क में आए हैं मैं उनसे अपील करता हूं कि वह भी अपना कोरोना टेस्ट जरूर कराएं और आइसोलेट हो जाएं। प्रणब मुखर्जी के इस ट्वीट के बाद उनके संपर्क में आए लोगों की पहचान का काम भी शुरू हो गया है।

How Pranab Mukherjee used his Presidential campaign for the UPA's ...

प्रणव मुखर्जी के रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पूर्व राष्ट्रपति की उम्र 84 साल है और डॉक्टर उनकी सेहत पर लगातार नजर बनाए हुए हैं।

Continue Reading

INDIA

Chinese Troops ने पाकिस्तानी सैनिकों को जमकर पीटा, जानें आपस में क्यों भिड़े ‘जिगरी यार’

Ravi Pratap

Published

on

पाकिस्तान और चीनी सेना (Pak and Chinese Army) के बीच विवाद को लेकर एक ख़बर सामने आई है. जानकारी के मुताबिक चीनी सैनिकों (Chinese Troops) ने पाकिस्तानी सैनिकों को बुरी तरीके से पीटा है.पाकिस्तानी सैनिकों का आरोप है कि उनके कमांडिंग ऑफिसर लेफ्टिनेंट कर्नल इमरान कासिम चीनी सेना के साथ मिले हुए हैं. यह विवाद चीन और पाकिस्तान के बीच वर्कर्स की पोजीशन को लेकर हुआ है. हाल ही में 500 चीनी सैनिक कराची CPEC प्रोजेक्ट को लेकर पहुंचे हैं.

पाक सैनिकों का मनोबल हुआ डाउन

पाकिस्तानी सैनिकों (Pakistan Soldiers) का इस विवाद से मनोबल डाउन हुआ है. लेफ्टिनेंट कर्नल इमरान कासिम जो कि बहावलपुर स्पेशल सिक्योरिटी डिवीज़न की विंग 27 के कमांडिंग ऑफिसर ने 341 लाइट कमांडो ब्रिगेड हेडक्वार्टर को इस विवाद की जानकारी दी है. उन्होंने कहा है कि पाकिस्तानी और चीनी सैनिकों के बीच वर्कर्स की पोजीशन को लेकर विवाद हुआ है.

भले ही सैनिकों को पीटा गया, लेकिन कैंप कमांडेंट मेजर शहजाद ने अपने लोगों से डिसएंगेजमेंट के लिए कहा. सूत्रों के मुताबिक इस घटना ने पाकिस्तानी सेना के हौसलों को पस्त कर दिया है.

Input : Tv9

Continue Reading
BIHAR22 mins ago

गंडक नदी पर बंगरा घाट पुल बन कर तैयार 12 काे सीएम नीतीश करेंगे ऑनलाइन उद्धाटन

MUZAFFARPUR31 mins ago

मुजफ्फरपुर : शहीद खुदीराम बोस को इस बार सादे समारोह में दी जाएगी श्रद्धांजलि

INDIA2 hours ago

रिया चक्रवर्ती ने CBI जांच का विरोध किया, सुप्रीम कोर्ट में दिया हलफनामा

BIHAR4 hours ago

बिहारी परिवारों को उल्टा- सीधा और नीच सोच का कहने वाली ज्योति यादव जैसी पत्रकार को हम कब जवाब देंगे

MUZAFFARPUR5 hours ago

मुजफ्फरपुर : दो साल से सैंकड़ो ग़रीब बच्चों को मुफ़्त में पढ़ा रहे- अभिषेक रंजन और उज्जवल कुमार

BIHAR5 hours ago

सुशांत के भाई संजय राउत पर करेंगे मानहानि का केस, पिता पर दूसरी शादी करने का लगाया था आरोप

INDIA5 hours ago

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी कोरोना पॉजीटिव, ट्वीट कर दी जानकारी

INDIA5 hours ago

Chinese Troops ने पाकिस्तानी सैनिकों को जमकर पीटा, जानें आपस में क्यों भिड़े ‘जिगरी यार’

INDIA6 hours ago

रिया चक्रवर्ती फिर से पहुंची ईडी दफ्तर, नए सवालों का जवाब देने में छूटेगा पसीना

BIHAR7 hours ago

IPS विनय तिवारी को CBI में भेजने वाले अटकलों को उन्होंने खुद बताया गलत, निराश हुए लोग-

BIHAR3 days ago

भोजपुरी एक्ट्रेस अनुपमा पाठक ने की खुदकुशी, मरने से पहले किया फेसबुक लाइव

INDIA4 weeks ago

सलमान खान ने शेयर की किसानी करने की ऐसी तस्वीर, लोगों ने जमकर सुनाई खरीखोटी

INDIA4 weeks ago

एक दूल्हे के संग दो दुल्हनों ने लिए फेरे : एक गर्लफ्रेंड, दूसरी मम्मी-पापा की पसंद, Video देखें

INDIA3 weeks ago

वाहनों में अतिरिक्त टायर या स्टेपनी रखने की जरूरत नहीं: सरकार

BIHAR6 days ago

UPSC में छाए बिहार के लाल, जानिए कितने बच्चों का हुआ चयन

BIHAR4 weeks ago

बिहार लॉकडाउन: इमरजेंसी हो तभी निकलें घर से बाहर, नहीं तो जब्त हो जाएगी गाड़ी

MUZAFFARPUR5 days ago

उत्तर बिहार में भीषण बिजली संकट, कांटी थर्मल पावर ठप्प

BIHAR1 week ago

पप्पू यादव का खतरनाक स्टंट: नियमों की धज्जियां उड़ा रेल पुल पर ट्रैक के बीच चलाई बुलेट, देखें VIDEO

MUZAFFARPUR2 days ago

बिहार के प्रमुख शक्तिपीठों में प्रशिद्ध राज-राजेश्वरी देवी मंदिर की स्थापना 1941 में हुई थी

BIHAR23 hours ago

IPS विनय तिवारी शामिल हो सकते है, सुशांत केस की CBI जांच टीम में…

Trending