Connect with us

INDIA

श’हीद कांस्टेबल कमलेश कुमारी, अगर उस दिन ये संसद में ना होतीं तो शायद बच नहीं पाते कई नेता

Himanshu Raj

Published

on

दिसंबर 2001 को भारतीय संसद पर आ’तंकी ह’मला हुआ था। ह’म इस दिन को ससंद ह’मले के नाम से भी जानते हैं। लश्कर-ए-तायबा और जैर-ए-मोह’म्मद नामक आ’तंकवादी संगठनों ने इस ह’मले की जिम्मेदारी ली थी। इस ह’मले में पांच आ’तंकवादियों को मा’र गिराया गया।

साथ ही, दिल्ली पुलिस के छह अफ़सर, संसद में तैनात दो सुरक्षा अधिकारी और एक माली (जो संसद के बगीचे में काम करता था) भी शहीद हुए। इन श’हीद हुए लोगों में एक महिला कॉन्सटेबल कमलेश कुमारी भी थीं जिन्होंने देश के प्रति अपना कर्तव्य निभाते हुए अपनी जान दे दी।

जब आ’तंकवादियों ने संसद पर ह’मला किया तब सीआरपीएफ के 88 (महिला) बटालियन से कॉन्स्टेबल कमलेश कुमारी की पोस्टिंग संसद के बिल्डिंग गेट नंबर 11 के बगल में आयरन गेट नंबर 1 पर थी। सभी राजनेताओं और अधिकारियों के लिए संसद में प्रवेश करने के लिए इसी गेट 11 का इस्तेमाल किया जाता था। उस वक़्त वे सभी आने-जाने वालों की चेकिंग करने के लिए स्टाफ के साथ तैनात थीं। 13 दिसंबर को सुबह के लगभग 11:40 बजे, कमलेश ने गोलि’याँ चलने व ब’म विस्फोट की आवाज सुनी। उनके पास उस वक़्त सिर्फ़ उनका वायरलेस था। बदकिस्मती से उस समय संसद में किसी भी महिला कॉन्सटेबल को कोई हथियार नहीं दिया जाता था। एक वरिष्ठ सीआरपीएफ अधिकारी ने बताया,

जब सभी लोग गो’लियों की आवाज से परेशान होकर तितर-बितर हो रहे थे ऐसे समय में भी कमलेश ने पूरी सूझ-बुझ से काम लिया। उसी ने सबसे पहले उस मानव ब’म को देखा जो बिल्डिंग गेट नंबर 11 की तरफ बढ़ रहा था। कमलेश ने तुरंत अपने वायरलेस पर अपने ड्यूटी ऑफिसर (डीओ) और गार्ड कमांडर को इस ‘मानव ब’म’ के बारे में सूचित किया। लेकिन उनके आने तक शायद वह मानव ब’म गेट नंबर 11 तक पहुंच जाता, जहाँ से संसद भवन में जाना बहुत आसान था। तभी कमलेश ने कुछ सीआरपीएफ जवानों को आ’तंकवादियों से लड़ते देखा।

बिना अपनी जान की परवाह किये कमलेश तुरंत अपने सुरक्षा स्थान से बाहर निकली और चिल्लाकर दुसरे कॉन्सटेबल सुखविंदर सिंह को मानव ब’म के लिए चेताया। कमलेश की आवाज सुन जवानों का ध्यान इस मानव ब’म पर गया। लेकिन कमलेश बिना किसी हथियार और सुरक्षा के थीं और उनकी आवाज आ’तंकवादियों ने भी सुनी थी। उन्हें चुप कराने के लिए एक आ’तंकवा’दी ने उन पर भी गो’लियां बरसा दी।

म’रने से पहले कमलेश ने अलार्म भी बजा दिया जिससे कि संसद में सब चौकन्ने हो गये और साथ ही, सुखविंदर सिंह ने इस मानव ब’म को गेट तक पहुंचने से रोक लिया और उससे पहले ही उसे ढेर कर दिया। तुरंत संसद के अंदर जाने वाले सभी दरवाजे बंद किये गये।

सुखविंदर ने बताया, ‘उस बहादुर महिला की वजह से ही एक बहुत बड़ी दुर्घटना टल गयी।’ भारतीय सुरक्षा बल के इतिहास में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) कांस्टेबल कमलेश कुमारी इकलौती महिला पुलिस कांस्टेबल हैं जिन्हें मरणोंपरांत अशोक चक्र से नवाजा गया है।

कमलेश कुमारी उत्तर-प्रदेश के कन्नौज में सिकंदरपुर से ताल्लुक रखती थीं। उन्होंने साल 1994 में पुलिस फाॅर्स ज्वाइन की थी। आज उनके परिवार में उनके पति और दो बेटियाँ हैं। उनके पति अवदेश सिंह कहते हैं कि उनकी दोनों बेटियाँ बहुत छोटी थीं जब कमलेश शहीद हुईं। उनकी बेटियों को तब शहादत का मतलब भी नहीं पता था।

कमलेश ने उस समय अपनी ममता से पहले देश के प्रति अपने कर्तव्य को रखा। उन्होंने अपनी ड्यूटी के दौरान एक बार भी नहीं सोचा कि अगर उन्हें कुछ हुआ तो उनकी दो मासूम बेटियों का क्या होगा। अवदेश सिंह के लिए एक माँ के बिना अपनी दोनों बेटियों को पालना आसान नहीं रहा। लेकिन इस परिवार को कमलेश पर गर्व है।

Input:Live Bihar

 

 

 


INDIA

गैंगरेप के आरोपियों को मिली फांसी की सजा, दुल्हन की तरह सजा पुलिस स्टेशन

Ravi Pratap

Published

on

महाराष्ट्र के बुलढाणा में नौ साल की बच्‍ची से दुष्‍कर्म के मामले में दोषी दोनों अभियुक्‍तों को फांसी की सजा सुनायी गयी है। अदालत का फैसला आते ही बुलढाणा के चिखली पुलिस स्‍टेशन को दुल्‍हन की तरह सजाकर जश्‍न मनाया गया। स्टेशन हाउस अधिकारी का कहना था कि इस फैसले से हम बहुत खुश हैं, इन दोनों आरोपियों ने बेहद क्रूरता के साथ बच्‍ची के साथ दुष्‍कर्म की घटना को अंजाम दिया था।

महाराष्ट्र के बुलढाणा के चिखली शहर में 26 अप्रैल 2019 की रात को दो युवकों ने एक 9 साल की नाबालिग बच्‍ची के साथ दुष्‍कर्म की घटना का अंजाम दिया था। घटना रात के समय हुई थी जब बच्‍ची अपने माता-पिता के पास सोयी हुई थी और दो युवक आये और सोती हुई बच्‍ची को उठाकर ले गये। युवक उसे सुनसान जगह पर ले गये और इस हैवानियंत को अंजाम दिया।

इस घटना के बाद से ही पूरे जिले में गुस्‍से का माहौल था और स्‍थानीय लोग आरोपियों को गिरफ्तार कर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की मांग कर रहे थे। घटना के बाद बच्‍ची की मेडिकल जांच करवायी गयी थी ओर उसके दो बड़े ऑपरेशन भी हुए थे। चिखली पुलिस ने भी परिवार की मदद की हर संभव मदद की। घटना की शिकार हुई पीड़ित बच्‍ची के पिता की शिकायत पर आरोपी सागर विश्‍वनाथ और निखिल शिवाली के खिलाफ दुष्‍कर्म, पॉक्‍सो व एट्रोसिटी एक्‍ट के तहत मामले दर्ज किये गये। केस दर्ज होने के बाद आरोपियों के खिलाफ अदालत में केस चला और एक साल के बाद दोनों अभियुक्‍तों को फांसी की सजा सुनाई गयी।

वीरवार का जैसे ही न्‍यायालय ने अपना फैसला सुनाया पूरे जिले में चारों तरफ खुशी फैल गयी, पुलिस स्‍टेशन को रोशनी से दुल्‍हन की तरह सजाया गया और पटाखे फोड़ कर खुशी का इजहार किया गया। चिखली पुलिस स्‍टेशन शायद देश का पहला ऐसा थाना होगा जिसमें किसी सुखद फैसले के बाद इस तरह से जश्‍न मनाया गया।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading

INDIA

अमित शाह की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट आई नेगेटिव, कहा- कुछ और दिनों तक होम आइसोलेशन में रहूंगा

Ravi Pratap

Published

on

होम मिनिस्टर अमित शाह ने ट्वीट करके शुक्रवार को बताया कि आज मेरी कोरोना टेस्ट रिपोर्ट नेगेटिव आई है। मैं ईश्वर का धन्यवाद करता हूं और इस समय जिन लोगों ने मेरे स्वास्थ्यलाभ के लिए शुभकामनाएं देकर मेरा और मेरे परिजनों को ढांढस बंधाया उन सभी का ह्रदय से आभार व्यक्त करता हूं। डॉक्टर्स की सलाह पर अभी कुछ और दिनों तक होम आइसोलेशन में रहूंगा।

उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से लड़ने में मेरी मदद करने वाले और मेरा उपचार करने वाले मेदांता अस्पताल के सभी डॉक्टर्स व पैरामेडिकल स्टाफ का भी आभार व्यक्त करता हूं।

Continue Reading

INDIA

जम्मू-कश्मीर: स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले पुलिस पार्टी पर जैश के आतंकियों ने किया हमला, 2 जवान शहीद

Ravi Pratap

Published

on

स्वतंत्रता दिवस से ठीक एक दिन पहले जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी हमला हुआ है। आतंकवादियों ने शुक्रवार को श्रीनगर शहर के बाहरी इलाके नागम में एक पुलिस पार्टी पर हमला किया। आतंकियों की ओर से की गई अंधाधुंध गोलीबारी में दो जवान शहीद हो गए। वहीं, इस आतंकी हमले में एक जवान घायल भी हुआ है।समाचार एजेंसी एएनआई ने यह जानकारी दी है। पुलिस के आईजीपी ने बताया है कि इस हमले के पीछे जैश का हाथ है।

कश्मीर जोन की पुलिस ने ट्वीट कर कहा कि आतंकवादियों ने नागम बाइपास के पास पुलिस पार्टी पर अंधाधुंध गोलीबारी की। इस हमले में 3 पुलिस कर्मी घायल हो गए। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल भेज दिया गया, जहां दो लोगों की शहादत हुई। बता दें कि इस हमले के बाद इलाके को पूरी तरह से घेर लिया गया है और सुरक्षाबल आतंकियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं।

कश्मीर के आईडीपी विजय कुमार ने कहा कि शुक्रवार को कश्मीर में पुलिस पार्टी पर हुए आतंकी हमले में जैश-ए-मोहम्मद का हाथ है। उन्होंने कहा कि दो आतंकी आए और उन्होंने पुलिस पार्टी पर अंधाधुंध गोलियां चलानी शुरू कर दीं, जिसमें दो जवान शहीद हो गए। हमने पूरे इलाके को घेर लिया है। उन्होंने आगे कहा कि हमने आतंकियों की पहचान कर ली है।  वे जैश के ग्रुप के हैं। हम जल्द ही उन्हें मार गिराएंगे। वहां क्योंकि लोगों की आवाजही थी, इसलिए पुलिस ने फायरिंग नहीं ताकि नागरिकों को नुकसान न हो।

इससे पहले गुरुवार को सुरक्षा बलों ने जम्मू-कश्मीर पुलिस, सेना के 50 राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर) और सीआरपीएफ की 130 बटालियन के साथ की गई छापेमारी के दौरान दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के अवंतीपोरा में आतंकवादियों के तीन ठिकानों का भंडाफोड़ किया था।

Input : Live Hindustan

Continue Reading
INDIA3 mins ago

गैंगरेप के आरोपियों को मिली फांसी की सजा, दुल्हन की तरह सजा पुलिस स्टेशन

BIHAR16 mins ago

बिहार में सामने आए कोरोना के 3911 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 98 हजार के पार

BOLLYWOOD27 mins ago

‘बिग बॉस 14’ के सेट से सामने आई सलमान खान की पहली तस्वीर, हो रही है वायरल

HEALTH53 mins ago

चीन से आई चौंकाने वाली खबर, चिकन में भी कोरोना वायरस!

INDIA1 hour ago

अमित शाह की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट आई नेगेटिव, कहा- कुछ और दिनों तक होम आइसोलेशन में रहूंगा

BOLLYWOOD1 hour ago

सुशांत सिंह राजपूत के बीमार होने पर भी पार्टी करती थीं रिया चक्रवर्ती, ड्राइवर ने खोले कई राज?

BIHAR2 hours ago

रामविलास पासवान का चुनावी दांव: नीतीश को बताया बीता हुआ कल, बोले- चिराग में है CM बनने का दम

INDIA2 hours ago

जम्मू-कश्मीर: स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले पुलिस पार्टी पर जैश के आतंकियों ने किया हमला, 2 जवान शहीद

BIHAR3 hours ago

बिहार: पब्‍जी खेलने के लिए नहीं था माेबाइल तो रची खुद के अपहरण की साजिश, मां को कॉल कर मांगे तीन लाख

MUZAFFARPUR4 hours ago

मुज़फ़्फ़रपुर : हार्ट अटैक से उत्पाद निरीक्षक अभय सिंह की हुई मौत

BIHAR1 week ago

भोजपुरी एक्ट्रेस अनुपमा पाठक ने की खुदकुशी, मरने से पहले किया फेसबुक लाइव

INDIA3 days ago

बाइक पर पत्नी के अलावा अन्य को बैठाया तो कार्रवाई: हाई कोर्ट

INDIA3 weeks ago

वाहनों में अतिरिक्त टायर या स्टेपनी रखने की जरूरत नहीं: सरकार

INDIA3 days ago

सुप्रीम कोर्ट का फैसला – पिता की प्रॉपर्टी में बेटी का हर हाल में आधा हिस्सा होगा

BIHAR1 week ago

UPSC में छाए बिहार के लाल, जानिए कितने बच्चों का हुआ चयन

BIHAR4 weeks ago

बिहार लॉकडाउन: इमरजेंसी हो तभी निकलें घर से बाहर, नहीं तो जब्त हो जाएगी गाड़ी

MUZAFFARPUR1 week ago

उत्तर बिहार में भीषण बिजली संकट, कांटी थर्मल पावर ठप्प

BIHAR2 weeks ago

पप्पू यादव का खतरनाक स्टंट: नियमों की धज्जियां उड़ा रेल पुल पर ट्रैक के बीच चलाई बुलेट, देखें VIDEO

BIHAR5 days ago

IPS विनय तिवारी शामिल हो सकते है, सुशांत केस की CBI जांच टीम में…

MUZAFFARPUR6 days ago

बिहार के प्रमुख शक्तिपीठों में प्रशिद्ध राज-राजेश्वरी देवी मंदिर की स्थापना 1941 में हुई थी

Trending