शि'कंजे में अनंत: यूएपीए के'स में अनंत के खि'लाफ स्पीडी ट्रायल की तैयारी
Connect with us
leaderboard image

BIHAR

शि’कंजे में अनंत: यूएपीए के’स में अनंत के खि’लाफ स्पीडी ट्रायल की तैयारी

Santosh Chaudhary

Published

on

मोकामा विधायक अनंत सिंह के पैतृक गांव नदवां स्थित घर से बरामद एके-4’7, और दो हैं’ड ग्रे’नेड के द’र्ज मु’कदमे में 200 पन्नों की चार्ज’शीट दाखिल होने के बाद स्पीडी ट्रायल की तैयारी तेज कर दी गई है। बीते मंगलवार को ही केस की आईओ एएसपी लिपि सिंह ने कई अहम स’बूतों के साथ पटना जिला न्यायालय के मुख्य न्यायिक दं’डाधिकारी मनीष द्विवेदी की अदालत में आरो’पपत्र दाखिल किया था। यूएपीए के’स में विधायक अनंत सिंह और उनके केयरटेकर सुनील राम न्यायिक हिरा’सत में हैं।

बताया गया है कि यह रिपोर्ट बाढ़ एसपी लिपि सिंह के नेतृत्व में कई थानाध्यक्षों की मदद से तैयार की गई है। इसे फुलप्रूफ बनाने की पूरी तैयारी पुलिस ने की है। पुलिस ने दावा किया है विधायक और सुनील राम के खिलाफ कई ठोस साक्ष्य व गवाहों के बयान भी केस डायरी में अंकित हैं। सूत्रों का कहना है कि ज्यादातर गवाह पुलिस पदाधिकारी बनाए गए हैं।

16 अगस्त को की गई थी छापेमारी

इसी साल 16 अगस्त को पुलिस अधिकारियों ने गुप्त सूचना के बाद अनंत सिंह के पैतृक घर में छापा मारा था। इस दौरान एके 47 कार्बन पैकिंग में आलमारी में मिली थी। इसके बाद केयरटेकर सुनील राम को गिरफ्तार कर लिया गया था। एक्सपर्ट की सलाह पर इस मामले में यूएपीए की विभिन्न धारा लगाई गई थी। अनंत सिंह को साकेत बिहार कोर्ट में सरेंडर करने के बाद बाढ़ पुलिस ने रिमांड पर लेकर पूछताछ की थी। केस में पुलिस ने रिमांड के दौरान विधायक के बयान, कई जांच रिपोर्ट तथा उनके आपराधिक रिकॉर्ड को पुलिस ने अपना कानूनी हथियार बनाया है।

ऑडियो वायरल मामले में पहले हो चुकी है चार्जशीट 

पंडारक के भोला सिंह और उसके भाई मुकेश सिंह की हत्या की साजिश के मामले में वायरल हुए ऑडियो को भी पुलिस ने इस केस में सबूत के तौर पर अंकित किया है। इस मामले में पंडारक पुलिस पहले ही बाढ़ के अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी के न्यायालय में आरोपपत्र दायर कर चुकी है। जिस पर सुनवाई चल रही है। हालांकि अनंत सिंह के समर्थक लगातार पुलिस पर पक्षपात का आरोप लगाते रहे हैं। वहीं, अनंत सिंह भी अपने ऊपर लगे आरोप से इनकार कर रहे हैं। बाढ़ कोर्ट में भी अनंत सिंह के अधिवक्ता की तरफ से पुलिस जांच को लेकर अर्जी दी गई थी, जिसमें कई बिन्दुओं को उठाया गया था। बहरहाल, एके-47 बरामदगी मामले में पुलिस द्वारा स्पीडी ट्रायल शुरू करने को लेकर वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा विचार विमर्श किया जा रहा है। न्यायालय द्वारा संज्ञान लिए जाने के बाद मुकदमे का विचारण शुरू कराए जाने की संभावना है। उसके बाद केस डायरी में अंकित तमाम गवाहों के बयान कोर्ट में दर्ज कराए जाएंगे। लिहाजा अब अनंत सिंह की मुसीबत और बढ़ेगी।

जमानत अर्जी वापस

अनंत सिंह की नियमित जमानत के लिए दी गई अर्जी बुधवार को वापस ले ली गई, क्योंकि पुलिस ने केस डायरी के साथ चार्जशीट पटना सीजेएम कोर्ट में दाखिल किया है। विधायक के वकील सुनील कुमार ने बताया कि अनंत सिंह की जमानत अर्जी पर सुनवाई के बाद प्रथम जिला एवं सत्र न्यायाधीश बाढ़ ने संबंधित कांड के अनुसंधानकर्ता से केस डायरी की मांग की थी, लेकिन पुलिस ने केस डायरी दाखिल नहीं की।

वीडियो कॉन्फ्रेसिंग से हो सकती है पेशी

अनंत सिंह के खिलाफ दायर चार्जशीट की धारा के तहत संज्ञान लेने के बाद सीजेएम इस मामले को ट्रायल के लिए एमपी-एमएलए कोर्ट के सेशन कोर्ट या मजिस्ट्रेट कोर्ट में भेज सकते हैं। इससे पूर्व मामले में दौरा-सुपुर्दगी के लिए भागलपुर जेल में बंद विधायक की पेशी होगी। इसके लिए भागलपुर जेल प्रशासन की ओर से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए पेशी कराने की तैयारी की जा रही है।

आर्म्स एक्ट में आजीवन कारावास का प्रावधान

आईओ एएसपी लिपि सिंह ने पटना सीजेएम कोर्ट में चार्जशीट दायर करने के लिए दारोगा रविरंजन सिंह को भेजा था। रविरंजन सिंह के साथ पंडारक के थानेदार और सह इस कांड के सूचक संजीत कुमार के साथ चार्जशीट दाखिल करने आए थे। विधायक अनंत सिंह और उनके नौकर सुनील राम के खिलाफ की गई चार्जशीट में आईपीसी की धारा 414, 120 बी, आर्म्स एक्ट 25 (1-ए), 25 (1-एए), 25 (1-बी)ए, 25 (1-बी)सी, 26, 35, विस्फोटक अधिनियिम और 13 यूएपीए एक्ट के तहत चार्जशीट दायर की है। विधि जानकारों के मुताबिक इनमें 25 (1-ए) में दोष सिद्ध होने पर 5 से 10 की सजा, 25 (1-एए) में 7 साल से लेकर आजीवन कारावास का प्रावधान है।

Input : Hindustan

BIHAR

वशिष्ठ नारायण सिंह के पार्थिव शरीर को एम्बुलेंस नहीं मिला, मुख्यमंत्री आने को हुए तो अधिकारियों ने रेड कारपेट बिछा दी

Ravi Pratap

Published

on

महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह के निधन के बाद पहले सिस्टम का शर्मनाक चेहरा उजागर हुआ और अब पटना जिला प्रशासन की तरफ से वीवीआइपी के लिए रेड कारपेट बिछाया गया। जी हां, वशिष्ठ नारायण सिंह को श्रद्धांजलि देने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पहुंचे थे। जहां वशिष्ठ नारायण सिंह का पार्थिव शरीर कुल्हड़िया कांप्लेक्स के पास रखा गया।

शर्मनाक : ये हैं PMCH कैंपस में महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का पार्थिव शरीर है, जिनके परिजनों को एम्बुलेंस तक मुहैया…

Posted by Muzaffarpur Now on Wednesday, November 13, 2019

मुख्यमंत्री के आने की सूचना के साथ पटना जिला प्रशासन एक्शन में दिखा। मुख्यमंत्री के आने के पहले आनन-फानन में कुल्हड़िया काम्प्लेक्स परिसर में रेड कारपेट बिछाया गया। उसके बाद पहुंचे मुख्यमंत्री ने महान गणितज्ञ को श्रद्धा सुमन अर्पित किया।

वशिष्ठ नारायण सिंह को श्रद्धांजलि देने के बाद सीएम नीतीश कुमार ने कहा है कि महान गणितज्ञ के सम्मान में बिहार सरकार कुछ बड़ा फैसला लेगी। वशिष्ठ नारायण सिंह का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा।

आपको बता दें कि देश-दुनिया में गणित के फॉर्मूले का लोहा मनवाने वाले महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का आज निधन हो गया है। वशिष्ठ नारायण सिंह के निधन की खबर मिलते ही देश भर में शोक की लहर छा गई है। देशभर के तमाम दिग्गजों ने उनके निधन पर शोक जताया है।

Input : First Bihar Jh

Continue Reading

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम कांड की सुनवाई टली, वकीलों के स्ट्राइक के कारण महापापियों को आज नहीं मिली सजा

Santosh Chaudhary

Published

on

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में दिल्ली का साकेत कोर्ट आज फैसला सुनाने वाला था। लेकिन, अब कोर्ट ने फिलहाल यह फैसला टाल दिया है, अब कोर्ट ने इसकी अगली तारीख 12 दिसंबर रखी गई है। साकेत कोर्ट ने पहले बताया था कि बाल दिवस के अवसर पर पी’ड़ित बच्चियों को इंसाफ मिलेगा, लेकिन साकेत कोर्ट के वकीलों के प्रदर्शन के कारण 14 नवंबर को आने वाला फैसला दो दिनों के लिए टल गया है।

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड में दिल्ली की साकेत अदालत ने गुरुवार को अपना फैसला सुनाने की संभावना जताई थी। इसे गुरुवार के लिए सूचीबद्ध किया गया था, लेकिन पुलिस और अधिवक्ताओं के बीच हाल ही में हुई झड़पों के बाद यहां सभी छह जिला अदालतों में वकीलों की हड़ताल अभी तक समाप्त नहीं हुई है। ऐसे में फैसले की तिथि टल गई है।

अदालत ने 30 सितंबर को सीबीआई के वकील और 11 आरोपियों के मामले में अंतिम बहस के बाद आदेश सुरक्षित रख लिया था। बालिका गृह में कई लड़कियों के साथ यौन और शारीरिक हमले का आरोप है। इस मामले में ब्रजेश ठाकुर मुख्य आरोपी है। फैसले पर हाेने वाली सुनवाई के लिए शहर के कई अधिवक्ता और ब्रजेश ठाकुर समेत अन्य आराेपियाें के परिजन दिल्ली पहुंच चुके हैं।

यह मामला 7 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर मुजफ्फरपुर की स्थानीय अदालत से दिल्ली के साकेत जिला अदालत परिसर में पॉक्सो कोर्ट में स्थानांतरित किया गया था। इसमें बिहार की पूर्व समाज कल्याण मंत्री और तत्कालीन जदयू नेता मंजू वर्मा को भी आरोपों का सामना करना पड़ा था। इसमें आरोप था कि ब्रजेश ठाकुर का मंत्री के पति पति के साथ नजदीकी थी।

सीबीआई ने विशेष अदालत को बताया था कि मामले के सभी 21 आरोपियों के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं। मामले की सुनवाई में काेर्ट में पीड़ित किशाेरियाें का बयान दर्ज कराया जा चुका है। कई किशाेरियां आराेपियाें काे देखकर चिह्नित भी कर चुकी हैं।

Continue Reading

BIHAR

वशिष्ठ नारायण सिंह को CM नीतीश ने दी श्रद्धांजलि, लेकिन PMCH नहीं दे सका एंबुलेंस

Ravi Pratap

Published

on

महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का गुरुवार को लंबी बीमारी के बाद पटना में निधनहो गया. वशिष्ठ नारायण सिंह की मौत के बाद पटना के पीएमसीएच (PMCH) प्रशासन की बड़ी लापरवाही सामने आई है.

शर्मनाक : ये हैं PMCH कैंपस में महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का पार्थिव शरीर है, जिनके परिजनों को एम्बुलेंस तक मुहैया…

Posted by Muzaffarpur Now on Wednesday, November 13, 2019

वशिष्ठ बाबू के निधन के बाद अस्पताल प्रबंधन द्वारा उनके परिजनों को शव ले जाने के लिए एंबुलेंस तक नहीं मुहैया कराया गया. इस महान विभूति के निधन के बाद उनके छोटे भाई ब्लड बैंक के बाहर शव के साथ खड़े रहे.

निधन के बाद पीएमसीएच प्रशासन द्वारा केवल डेथ सर्टिफिकेट (मृत्यु प्रमाणपत्र) देकर पल्ला झाड़ लिया गया. इस दौरान जब वशिष्ठ नारायण सिंह के छोटे भाई से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि हम अपने पैसे से अपने भाई का शव गांव ले जाएंगे. उन्होंने कहा कि मेरे भाई के निधन की खबर के बाद से न तो कोई अधिकारी आया है और न ही कोई राजनेता. वशिष्ठ नारायण सिंह के छोटे भाई ने कैमरे के सामने रोते हुए कहा कि अंधे के सामने रोना, अपने दिल का खोना. उन्होंने कहा कि मेरे भाई के साथ लगातार अनदेखी हुई है. जब एक मंत्री के कुत्ते का पीएमसीएच में इलाज हो सकता है तो फिर मेरे भाई का क्यों नहीं.

 

बता दें कि 74 वर्षीय महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह ने अपनी जिंदगी के 44 साल मानसिक बीमारी सिजेफ्रेनिया में गुजारा. आज भी कहा जाता है कि इस बीमारी के शुरुआती वर्षों में अगर उनकी सरकारी उपेक्षा नहीं हुई होती तो आज वशिष्ठ नारायण सिंह का नाम दुनिया के महानतम गणितज्ञों में सबसे ऊपर होता. उनके बारे में मशहूर किस्सा है कि अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा में अपोलो की लॉन्चिंग से पहले जब 31 कंप्यूटर कुछ समय के लिए बंद हो गए तो कंप्यूटर ठीक होने पर उनका और कंप्यूटर्स का कैलकुलेशन एक था.

कई संस्थानों में दी थी सेवा

वर्ष 1969 में वशिष्ठ नारायण सिंह ने कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी से पीएचडी की और वॉशिंगटन विश्वविद्यालय में एसोसिएट प्रोफेसर बन गए. नासा में भी उन्होंने काम किया. भारत लौटने के बाद उन्होंने आईआईटी कानपुर, आईआईटी बॉम्बे और आईएसआई कोलकाता में अपनी सेवा दी.

Input : News

Continue Reading
Advertisement
BIHAR6 mins ago

वशिष्ठ नारायण सिंह के पार्थिव शरीर को एम्बुलेंस नहीं मिला, मुख्यमंत्री आने को हुए तो अधिकारियों ने रेड कारपेट बिछा दी

INDIA18 mins ago

तेज प्रताप यादव ने BMW कार की आटो से ट’क्कर के बाद मांगा 1,80,00 ह’र्जा’ना, चालक को पी’टा

MUZAFFARPUR27 mins ago

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम कांड की सुनवाई टली, वकीलों के स्ट्राइक के कारण महापापियों को आज नहीं मिली सजा

INDIA45 mins ago

Children’s Day: गुरुग्राम की दिव्यांशी सिंघल को इस तस्वीर के लिए Google देगा 7 लाख की स्कॉलरशिप

BIHAR1 hour ago

वशिष्ठ नारायण सिंह को CM नीतीश ने दी श्रद्धांजलि, लेकिन PMCH नहीं दे सका एंबुलेंस

BIHAR2 hours ago

नि’धन के बाद PMCH में वसिष्ठ ना. सिंह का हुआ अपमान, सड़क पर लावारिस पड़ा रहा श’व, नहीं मिला एम्बुलेंस

BIHAR3 hours ago

शिक्षा दिवस पर मौलाना अबुल कलाम आजाद की जगह पर डॉ एपीजे अब्दुल कलाम की मनाई जयंती

BIHAR3 hours ago

BSEB Bihar Inter Exam 2019-20: रजिस्‍ट्रेशन प्रक्रिया शुरू, इन तीन बातों का जरूर रखें ध्‍यान वरना नहीं बैठ पाएंगे परीक्षा में

BIHAR3 hours ago

आइंस्टीन को चुनौती देने वाले गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का निधन, पटना में तोड़ा दम

MUZAFFARPUR4 hours ago

सावधान, 24 घंटे में ही खतरनाक स्तर पर पहुंचा वायु प्रदूषण

INDIA4 weeks ago

तेजस एक्सप्रेस की रेल होस्टेस को कैसे परेशान कर रहे लोग?

BIHAR3 weeks ago

27 अक्टूबर से पटना से पहली बार 57 फ्लाइट, दिल्ली के लिए 25, ट्रेनों की संख्या से भी दाेगुनी

BIHAR2 weeks ago

पंकज त्रिपाठी ने माता पिता के साथ मनाई प्री दिवाली, एक ही दिन में वापस शूटिंग पर लौटे

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर के नदीम का भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम में चयन, जश्न का माहौल

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर के लाल शाहबाज नदीम का क्रिकेट देखेगा पूरा विश्‍व, भारतीय टीम में शामिल होने पर पिता ने कही बड़ी बात

BIHAR2 weeks ago

मदीना पर आस्‍था तो छठी मइया पर भी यकीन, 20 साल से व्रत कर रही ये मुस्लिम महिला

BIHAR2 weeks ago

प्रत्यक्ष देवता की अनूठी अराधना का पर्व है छठ व्रत, जानें अनूठी परंपरा के बारे में कुछ खास बातें

MUZAFFARPUR3 weeks ago

धौनी ने नदीम से मिलकर कहा, गेंदबाजी एक्शन ही तुम्हारी पहचान

BIHAR4 weeks ago

अगले 10 दिनों तक भगवानपुर – घोसवर रेल मार्ग रहेगी बाधित, जाने कौन कौन सी ट्रेनें रहेंगी रद्द

RELIGION4 weeks ago

कब से शुरू हुई छठ महापर्व मनाने की परंपरा, जानिए पौराणिक बातें

Trending