Connect with us

BIHAR

शि’कंजे में अनंत: यूएपीए के’स में अनंत के खि’लाफ स्पीडी ट्रायल की तैयारी

Published

on

मोकामा विधायक अनंत सिंह के पैतृक गांव नदवां स्थित घर से बरामद एके-4’7, और दो हैं’ड ग्रे’नेड के द’र्ज मु’कदमे में 200 पन्नों की चार्ज’शीट दाखिल होने के बाद स्पीडी ट्रायल की तैयारी तेज कर दी गई है। बीते मंगलवार को ही केस की आईओ एएसपी लिपि सिंह ने कई अहम स’बूतों के साथ पटना जिला न्यायालय के मुख्य न्यायिक दं’डाधिकारी मनीष द्विवेदी की अदालत में आरो’पपत्र दाखिल किया था। यूएपीए के’स में विधायक अनंत सिंह और उनके केयरटेकर सुनील राम न्यायिक हिरा’सत में हैं।

बताया गया है कि यह रिपोर्ट बाढ़ एसपी लिपि सिंह के नेतृत्व में कई थानाध्यक्षों की मदद से तैयार की गई है। इसे फुलप्रूफ बनाने की पूरी तैयारी पुलिस ने की है। पुलिस ने दावा किया है विधायक और सुनील राम के खिलाफ कई ठोस साक्ष्य व गवाहों के बयान भी केस डायरी में अंकित हैं। सूत्रों का कहना है कि ज्यादातर गवाह पुलिस पदाधिकारी बनाए गए हैं।

16 अगस्त को की गई थी छापेमारी

इसी साल 16 अगस्त को पुलिस अधिकारियों ने गुप्त सूचना के बाद अनंत सिंह के पैतृक घर में छापा मारा था। इस दौरान एके 47 कार्बन पैकिंग में आलमारी में मिली थी। इसके बाद केयरटेकर सुनील राम को गिरफ्तार कर लिया गया था। एक्सपर्ट की सलाह पर इस मामले में यूएपीए की विभिन्न धारा लगाई गई थी। अनंत सिंह को साकेत बिहार कोर्ट में सरेंडर करने के बाद बाढ़ पुलिस ने रिमांड पर लेकर पूछताछ की थी। केस में पुलिस ने रिमांड के दौरान विधायक के बयान, कई जांच रिपोर्ट तथा उनके आपराधिक रिकॉर्ड को पुलिस ने अपना कानूनी हथियार बनाया है।

ऑडियो वायरल मामले में पहले हो चुकी है चार्जशीट 

पंडारक के भोला सिंह और उसके भाई मुकेश सिंह की हत्या की साजिश के मामले में वायरल हुए ऑडियो को भी पुलिस ने इस केस में सबूत के तौर पर अंकित किया है। इस मामले में पंडारक पुलिस पहले ही बाढ़ के अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी के न्यायालय में आरोपपत्र दायर कर चुकी है। जिस पर सुनवाई चल रही है। हालांकि अनंत सिंह के समर्थक लगातार पुलिस पर पक्षपात का आरोप लगाते रहे हैं। वहीं, अनंत सिंह भी अपने ऊपर लगे आरोप से इनकार कर रहे हैं। बाढ़ कोर्ट में भी अनंत सिंह के अधिवक्ता की तरफ से पुलिस जांच को लेकर अर्जी दी गई थी, जिसमें कई बिन्दुओं को उठाया गया था। बहरहाल, एके-47 बरामदगी मामले में पुलिस द्वारा स्पीडी ट्रायल शुरू करने को लेकर वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा विचार विमर्श किया जा रहा है। न्यायालय द्वारा संज्ञान लिए जाने के बाद मुकदमे का विचारण शुरू कराए जाने की संभावना है। उसके बाद केस डायरी में अंकित तमाम गवाहों के बयान कोर्ट में दर्ज कराए जाएंगे। लिहाजा अब अनंत सिंह की मुसीबत और बढ़ेगी।

जमानत अर्जी वापस

अनंत सिंह की नियमित जमानत के लिए दी गई अर्जी बुधवार को वापस ले ली गई, क्योंकि पुलिस ने केस डायरी के साथ चार्जशीट पटना सीजेएम कोर्ट में दाखिल किया है। विधायक के वकील सुनील कुमार ने बताया कि अनंत सिंह की जमानत अर्जी पर सुनवाई के बाद प्रथम जिला एवं सत्र न्यायाधीश बाढ़ ने संबंधित कांड के अनुसंधानकर्ता से केस डायरी की मांग की थी, लेकिन पुलिस ने केस डायरी दाखिल नहीं की।

वीडियो कॉन्फ्रेसिंग से हो सकती है पेशी

अनंत सिंह के खिलाफ दायर चार्जशीट की धारा के तहत संज्ञान लेने के बाद सीजेएम इस मामले को ट्रायल के लिए एमपी-एमएलए कोर्ट के सेशन कोर्ट या मजिस्ट्रेट कोर्ट में भेज सकते हैं। इससे पूर्व मामले में दौरा-सुपुर्दगी के लिए भागलपुर जेल में बंद विधायक की पेशी होगी। इसके लिए भागलपुर जेल प्रशासन की ओर से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए पेशी कराने की तैयारी की जा रही है।

आर्म्स एक्ट में आजीवन कारावास का प्रावधान

आईओ एएसपी लिपि सिंह ने पटना सीजेएम कोर्ट में चार्जशीट दायर करने के लिए दारोगा रविरंजन सिंह को भेजा था। रविरंजन सिंह के साथ पंडारक के थानेदार और सह इस कांड के सूचक संजीत कुमार के साथ चार्जशीट दाखिल करने आए थे। विधायक अनंत सिंह और उनके नौकर सुनील राम के खिलाफ की गई चार्जशीट में आईपीसी की धारा 414, 120 बी, आर्म्स एक्ट 25 (1-ए), 25 (1-एए), 25 (1-बी)ए, 25 (1-बी)सी, 26, 35, विस्फोटक अधिनियिम और 13 यूएपीए एक्ट के तहत चार्जशीट दायर की है। विधि जानकारों के मुताबिक इनमें 25 (1-ए) में दोष सिद्ध होने पर 5 से 10 की सजा, 25 (1-एए) में 7 साल से लेकर आजीवन कारावास का प्रावधान है।

Input : Hindustan

BIHAR

गार्ड ने फर्जी SI बनकर रिटायर्ड दारोगा की बेटी से की शादी, दहेज में लिया 12 लाख रुपए

Published

on

KAIMUR: एक प्राइवेट गार्ड ने शादी के लिए बड़ा फर्जीवाड़ा कर डाला. उसने वर्दी खरीदकर फोटो खिंचाकर सीआईएसएफ का सब इंस्पेक्टर बन गया. उसके बाद रिटायर्ड दारोगा की बेटी से शादी कर ली. शादी में 12 लाख रुपए दहेज भी लिया. यह फर्जीवाड़ा बिहार के कैमूर में हुआ है.

गार्ड ने फर्जी SI बनकर रिटायर्ड दारोगा की बेटी से की शादी, दहेज में लिया 12 लाख रुपए

पत्नी के शिकायत पर गिरफ्तार

सीआइएसएफ का फर्जी सब इंस्पेक्टर बनकर शादी करने वाला शख्स भगवानपुर थाना क्षेत्र के ओरगांव का रहने वाला है. जब पत्नी को उसकी हकीकत के बारे में पता चला तो उसने महिला थाना में पति के खिलाफ केस दर्ज किया. पुलिस ने गिरफ्तार कर उससे जेल भेज दिया है. उसके पास से पुलिस ने वर्दी, आईकार्ड, बेल्ट और टोपी बरामद किया है. पीड़िता ने बताया कि शादी की बात चल रही थी. इसी दौरान जब उसके पिता द्वारा सीआइएसफ के ड्रेस में फोटो दिखायी गयी थी.

टेलर मास्टर को बताया अधिकारी

11 जून 2019 को शातिर गार्ड ने शादी कर ली. शादी के कई दिनों के बाद वह जब ड्यूटी पर नहीं जाने लगा तो पत्नी ने पूछा कि क्यों वह ड्यूटी करने नहीं जा रहे हैं. उसके बाद शातिर ने कहा कि एक अधिकारी से सेटिंग कर लिया है. बिना ड्यूटी के भी पैसा बन जाएगा. पत्नी को विश्वास नहीं हुआ तो उसने टेलर मास्टर को अधिकारी बनाकर बात भी करा दी. लेकिन बाद में उसका भेद खुल गया. इस शातिर पति को पत्नी ने जेल भिजवा दिया है.

Input : First Bihar

Continue Reading

MUZAFFARPUR

प्रधानमंत्री समेत अन्य गण्यमान्यों को लीची भेजने की परेशानी खत्म, उद्यान रत्न किसान ने की व्यवस्था

Published

on

प्रधानमंत्री समेत अन्य गण्यमान्यों को भेजने के लिए शाही लीची भेजने की परेशानी कुछ हद तक कम हो गई है। शाही लीची की तलाश में जुटे प्रशासनिक तंत्र की परेशानी को समाप्त किया है उद्यान रत्न से सम्मानित इलाके के चर्चित किसान भोलानाथ झा ने। भोलानाथ झा ने अच्छी गुणवत्ता वाली शाही लीची प्रशासन को उपलब्ध कराई है।

Litchi business in the red in Lucknow after Bihar government ...

किसान श्री झा के बाग से पूर्व में भी पीएम समेत गण्यमान्यों को शाही लीची भेजी जा चुकी है। एसकेएमसीएच के पास स्थित लीची बगान में गुरुवार को आयोजित प्रेस वार्ता ने उद्यान रत्न ने इसकी जानकारी दी। हालांकि, इस दौरान उन्होंने प्रशासनिक व्यवस्था पर सवाल भी उठाए। अनुसंधान केंद्र, कृषि विभाग, उद्यान विभाग और प्रशासन को घेरा। उन्होंने कहा कि इस बार बेमौसम बारिश और लॉकडाउन के चलते लीची किसानों और कारोबारियों को भारी नुकसान उठाना पड़ा है। वैज्ञानिकों ने भी सही मार्गदर्शन नही दिया। इसके चलते देश-विदेश में मुजफ्फरपुर की पहचान बनी शाही लीची की गुणवत्ता प्रभावित हुई।

इस बार आकार छोटा और मिठास कम रही। लीची में मौजूद ग्लुकोज सूुक्रोज में नही बदल सका। इस पर शोध करने की जरूरत है। शाही लीची इस बार समय के पहले ही बिक गई। हालांकि, इसका दाम नही मिल सका। कहा कि किसानों को हुई इस क्षति का अध्ययन करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि वे पहले भी लीची टास्क फोर्स की बैठक में क्षति का सर्वे कराने की मांग कर चुके हैं।

Shahi litchi grown in Bihar's Muzaffarpur areas gets GI tag ...

उन्होंने केंद्र और बिहार सरकार से आपदा मद से किसानों की क्षति की भरपाई व बीमा की व्यवस्था कराने की भी मांग की। कहा कि किसान सालोभर लीची की देखभाल करते हैं। इस पर मोटी रकम खर्च होती है। उन्होंने कहा कि वैज्ञानिक लीची को खट्टा बताने के तीन दिन बाद ही पूरी तरह तैयार बताते है। और एक दिन में ही लीची का जीवन समाप्त हो जाता है। यह कैसा शोध है। उन्होंने वैज्ञानिकों से जलवायु परिवर्तन के मद्देनजर फसल को बचाने के लिए उपाय बताने की मांग की तो केंद्र व राज्य सरकार से एक्शन लेने की अपील की।

उन्होंने पीएम समेत अन्य गण्यमान्योंं को लीची नही भेजे जाने को लेकर प्रशासन और विभाग पर सवाल खड़े किए। कहा कि जब सारे बागों की लीची टूट गई तो सरकारी स्तर पर शाही लीची की तलाश शुरू हुई। जबकि, 28 मई को ही जब शाही लीची भेज दी जानी चाहिए थी।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading

BIHAR

World Environment Day 2020: पश्चिम चंपारण के इस विद्यालय में नामांकन के समय पौधा लगाते छात्र, जानें कैसे हुई शुरुआत

Published

on

इस स्कूल में हर ओर हरियाली। पर्यावरण के प्रति प्रेम की झलक। ऐसा हुआ है पिछले पांच साल में। पर्यावरण के प्रति जागरूक प्रधान शिक्षक की पहल पर। पर्यावरण संरक्षण के लिए उन्होंने नियम बना दिया कि प्रवेश लेने वाले हर छात्र और नए शिक्षक को एक पौधा लगाना होगा। फिर क्या था एक-एक कर तकरीबन एक हजार पौधे लग गए।

World Environment Day 2020: पश्चिम चंपारण के इस विद्यालय में नामांकन के समय पौधा लगाते छात्र, जानें कैसे हुई शुरुआत

पर्यावरण संरक्षण के इस अनूठे प्रयास वाले बगहा अनुमंडल के मधुबनी प्रखंड के हरदेव प्रसाद उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में लगभग चार सौ छात्र हैं। 12वीं तक के इस विद्यालय में छात्रों ने आम, अमरूद और शीशम सहित अन्य पौधे लगाए हैं। वे इसकी देखभाल भी करते हैं। कोरोना के चलते स्कूल बंद है तो एक शिक्षक और चतुर्थवर्गीय कर्मी की ड्यूटी पौधों की देखभाल के लिए लगाई गई है।

इस तरह हुई अभियान की शुरुआत

पर्यावरण प्रदूषण को देखते हुए विद्यालय के पूर्व प्रधान शिक्षक पंडित भरत उपाध्याय ने वर्ष 2015 में नामांकन के साथ पौधारोपण की शुरुआत की थी। इसमें शिक्षकों का साथ मिला। 31 जनवरी 2020 को सेवानिवृत्त हुए तो नए प्रधान शिक्षक संतोष कुमार त्रिपाठी उनके नक्शे कदम पर चल पड़े। विद्यालय के प्रांगण व इसकी भूमि में पौधे लगाए जाते हैं।

प्रवेश लेने वाले छात्र पौधे घर से लाते हैं। इस विद्यालय में पर्यावरण को लेकर अलग से कक्षा भी चलती है। इसमें पेड़-पौधों की जानकारी देने के साथ पर्यावरण सुरक्षित रखने और उसकी महत्ता के बारे में बताया जाता है। जो छात्र पढ़ाई में कमजोर एवं पिछड़े होते हैं, उनको अलग से मुफ्त में कोचिंग कराई जाती है। छात्र चंदन कुमार, विपिन कुमार यादव व रंजीत कुमार ने बताया कि पढ़ाई के दौरान पर्यावरण संरक्षण की अनूठी मुहिम में शामिल होने का मौका मिला। आजीवन पेड़-पौधों की सुरक्षा करते रहेंगे।

मैटिक और इंटर में प्रथम श्रेणी में पास छात्र करेंगे विद्यालय में पौधारोपण

प्रधान शिक्षक संतोष कुमार त्रिपाठी कहते हैं कि कोरोना के चलते नए सत्र में नामांकन नहीं होने से पौधारोपण नहीं हो पाया है। लेकिन, जिन छात्रों ने मैटिक व इंटर की परीक्षा प्रथम श्रेणी में पास की है, वे पौधारोपण करेंगे। इसमें इंटर के 47 और मैटिक के 37 छात्र हैं। स्कूल खुलने पर जब छात्रों का नामांकन होगा, तो पौधारोपण कराया जाएगा।

पर्यावरण को सुरक्षित रखने के लिए विद्यालय को वाल्मीकिनगर सांसद सतीश चंद्र दुबे व विधायक धीरेंद्र प्रताप सिंह उर्फ रिंकू कई बार सम्मानित कर चुके हैं। प्रभारी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी मधुबनी, दशरथ पोद्दार का कहना है कि इस विद्यालय ने पर्यावरण संरक्षण की दिशा में काफी काम किया है। इसकी जानकारी वरीय पदाधिकारियों को दी जाएगी, ताकि इसे आदर्श विद्यालय का दर्जा दिलवाया जाए। इस विद्यालय के शिक्षकों को सम्मानित करने के लिए भी लिखा जाएगा।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading
BIHAR25 seconds ago

गार्ड ने फर्जी SI बनकर रिटायर्ड दारोगा की बेटी से की शादी, दहेज में लिया 12 लाख रुपए

MUZAFFARPUR4 mins ago

प्रधानमंत्री समेत अन्य गण्यमान्यों को लीची भेजने की परेशानी खत्म, उद्यान रत्न किसान ने की व्यवस्था

BIHAR10 mins ago

World Environment Day 2020: पश्चिम चंपारण के इस विद्यालय में नामांकन के समय पौधा लगाते छात्र, जानें कैसे हुई शुरुआत

MUZAFFARPUR25 mins ago

चमकी बुखार से पीड़ित दो बच्चों की मौत, एक एईएस मरीज भर्ती

MUZAFFARPUR2 hours ago

मुजफ्फरपुर के जय अलानी देशभर से भगा रहे ‘भूत-प्रेत’

MUZAFFARPUR2 hours ago

मीनापुर से फिर मजदूरों को लेकर पंजाब गई बस

BIHAR2 hours ago

मुजफ्फरपुर : टिड्डी दलों से लड़ेगी फायर ब्रिगेड टीम

BIHAR2 hours ago

लालू प्रसाद की कार बरामद, 6 साल पहले हुई थी चोरी

BIHAR2 hours ago

इंडिया नेपाल बॉर्डर पर नए विवाद की आशंका, सीमा से गायब हो रहे पिलर; नो मेंस लैंड पर अवैध कब्‍जा

INDIA3 hours ago

नाराज होकर मायके जा रही थी पत्नी, पति ने एयरपोर्ट पर फोन कर कहा- महिला को रोको उसके बैग में बम है

BIHAR3 weeks ago

जानिए- बिहार के एक मजदूर ने ऐसा क्या कहा कि दिल्ली के अफसर की आंखों में आ गए आंसू

WORLD4 weeks ago

इंडोनेशिया में घर के साथ पत्नी मुफ्त, एड ऑनलाइन हुआ वायरल

BIHAR4 weeks ago

बिहार के लिए हरियाणा से खुलेंगी 11 ट्रेनें, यहां देखिये गाड़ियों की पूरी लिस्ट

BIHAR3 weeks ago

बिहार के 4 जिलों के लिए मौसम विभाग का अलर्ट,वर्षा-वज्रपात और ओलावृष्टि की चेतावनी

TECH4 weeks ago

ज़बरदस्त ऑफर! सिर्फ 22,999 रुपये का हुआ सैमसंग का 63 हज़ार वाला धांसू स्मार्टफोन

MUZAFFARPUR1 week ago

मुजफ्फरपुर आ रहें हैं सोनू सूद, कहा साइकिल से घूमेंगे पुरा मुजफ्फरपुर

BIHAR3 weeks ago

बिहार में 33916 शिक्षकों की होगी बहाली, मैथ और साइंस के होंगे 11 हजार टीचर, यहां देखिये सभी विषयों की लिस्ट

INDIA3 weeks ago

घरेलू उड़ानों के लिए बुकिंग शुरू, पर शर्तें लागू; जानें आपको फायदा मिलेगा या नहीं

TECH7 days ago

आ रहा नोकिया का 43 इंच का TV, जानें कितनी होगी कीमत

INDIA3 weeks ago

भारत के 700 स्टेशनों के लिए चलेगी ट्रेन, रेल मंत्रालय ने कहा- रोज चलेंगी 300 ट्रेनें

Trending