Connect with us

BIHAR

सावधान! अब खुला खाद्य तेल की बिक्री पर होगी सख्ती, बेचे तो हो सकती है उम्र कैद और जुर्माना भी

Muzaffarpur Now

Published

on

खुला खाद्य तेल बेचे तो जेल हो सकती है। छह महीने से लेकर उम्र कैद तक की सजा हो सकती है। साथ में एक से दस लाख तक का जुर्माना भी। केन्द्र सरकार ने खुले खाद्य तेल की बिक्री पर रोक लगा दी है। साथ ही इसका कड़ाई से पालन करने का निर्देश दिया है। खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने यह निर्देश सभी राज्यों के खाद्य सचिवों को भेजा है।

careful now sale of open edible oil will be strictly prohibited in all state including bihar if sol

कोरोना महामारी के फैलने के बाद केन्द्रीय खाद्य मंत्रालय इसको लेकर ज्यादा सतर्क हो गया है। सरकार का मानना है कि खुला तेल बेचने में मिलावट की आशंका बनी रहती है, जिसका स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव होता है। केन्द्रीय खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने कहा है कि वर्ष 2011 में बने कानून में ही खुले तेल की बिक्री पर रोक है। लेकिन, कई राज्यों से अब भी शिकायतें मिल रही हैं कि खुला तेल धड़ल्ले से बिक रहा है। राज्य सरकार को इस पर सख्त कराई करनी चाहिए और हर हाल में खुला तेल की बिक्री पर रोक लगनी चाहिए।

Mustard oil, once king of the kitchen, sees fewer buyers

राज्य में चार हजार करोड़ का व्यापार

राज्य में खाद्य तेल के रूप में ज्यादा सरसों तेल औ रिफाइंड की बिक्री होती है। ब्रांडेड कंपनियां तो पैक तेल ही बेचती हैं, लेकिन इसे खरीद कर खुदरा बेचने वाले व्यापारी खोलकर बेचते हैं। यहां लगभग आठ कंपनियों के तेल की बिक्री होती है। इसके लिए लगभग 250 वितरक राज्यभर में विभिन्न कंपनियों का तेल बेचते हैं।

लोकल कंपनियों का भी है व्यापार

राज्य में ऐसी कई कंपनियां व्यापार करती हैं जो हल्दिया और राजस्थान के साथ मध्य प्रदेश के कुछ इलाकों से टैंकर में तेल मंगाती हैं। ऐसे व्यापारी टैंकर के तेल को लोकल ब्रांड के नाम से स्थानीय डब्बे में पैक करते हैं। चूकि पैकिंग स्थानीय स्तर पर ही व्यापारी करते हैं, लिहाजा वहां भी मिलावट का खतरा रहता है।

छोटे ग्राहकों को होगी परेशानी

खुले तेल की बिक्री बंद होने से ऐसे लोगों को परेशानी होगी, जो रोज कमाते-खाते हैं। बड़ी कंपनियों का छोटा पैक बाजार में नहीं दिखता है। लेकिन मजदूर तबके के कई ऐसे परिवार हैं जो रोज सौ ग्राम तेल ही खरीदते हैं। इसके अलावा कुछ ऐसे व्यापारी हैं जो मिल चलाते हैं और सरसों आदि की पेराई कर तेल बेचते हैं। उनके पास कोई ब्रांड नहीं होता है, लेकिन ग्राहक उसे अधिक शुद्ध मानते हैं।

अब तक केन्द्र सरकार का निर्देश वाला पत्र नहीं मिला है। पत्र आने में थोड़ा वक्त लगता है। पत्र मिलने पर उसके अनुसार कार्रवाई होगी। – विनय कुमार, सचिव, खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग

Input : Hindustan

BIHAR

नीतीश पर हमलावर चिराग ने कहा – लोजपा अकेले बिहार विधानसभा की सभी 243 सीटों पर लड़ने को तैयार

Ravi Pratap

Published

on

बिहार में कोरोना संकट के बीच विधानसभा चुनाव को लेकर हो रहे सुगबुगाहट के बीच लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के चिराग ने बड़ा सियासी बयान दिया है। बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट का नारा देने वाले चिराग ने कहा कि उनकी पार्टी आगामी विधान सभा चुनाव में प्रदेश के सभी 243 विधानसभा सीटों पर लड़ने के लिए 100 फीसदी तैयार है।

प्रदेश में कोरोना संकट और बाढ़ के कहर के बीच बिहार विधानसभा चुनाव के सवाल पर चिराग पासवान ने फिर कहा कि अभी बिहार में चुनाव कराने का वक्त नहीं है, लिहाजा चुनाव टाल देना चाहिए। हालांकि उन्होंने दोहराया कि चुनाव कराने का फैसला चुनाव आयोग को लेना है, लेकिन मौजूदा परिस्थिति ऐसी नहीं है कि बिहार में चुनाव कराए जा सकें। कहा कि इस संबंध में उन्होंने बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से भी मुलाकात की है और उन्हें स्पष्ट रूप से बता दिया है  कि बिहार अभी चुनाव के लिए तैयार नहीं है। वर्चुअल रैली के सवाल पर चिराग पासवान ने कहा कि बिहार के सभी समाज के बीच वर्चुअल रैली के जरिए नहीं पहुंचा जा सकता है। खासकर समाज का पिछड़ा वर्ग अभी तकनीक से दूर है।

एनडीए को कॉमन मिनिमम प्रोग्राम बनाना चाहिए
लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि एनडीए की तीन पार्टियां अगर एक साथ चुनाव लड़ने जा रही हैं तो एजेंडा भी तीनों का होगा। बिहार में अब किसी एक व्यक्ति का एजेंडा नहीं चलने वाला है। एनडीए को मिल बैठकर एक कॉमन मिनिमम प्रोग्राम बनाना होगा। वह भी चुनाव से पहले। उन्होंने कहा कि अभी ये तय नहीं हुआ तो चुनाव के बाद तो तय ही नहीं होगा। उन्होंने कहा कि बिहार में एनडीए या ऐसे किसी गठबंधन की सरकार बनेगी जिसमें लोजपा शामिल होगी तो कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के आधार पर बनेगी और चलेगी।

बाढ़ और कोरोना संकट पर नीतीश सरकार पर हमलावर, उठाए सवाल
वहीं चिराग पासवान एक बार फिर कोरोना संकट और बाढ़ को लेकर नीतीश सरकार को कटघड़े में खड़ा किया। उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि नीतीश कुमार कोरोना संक्रमण और बाढ़ के मामले से निपटने में फेल रहे हैं। कहा कि कोरोना मामले में टेस्टिंग के बाद कुछ नहीं किया गया है। क्वारंटीन सेंटर से भयावह रिपोर्ट्स आ रही हैं। एक दिन भी ऐसा नहीं होता जिस दिन बिहार के अस्पतालों की खराब तस्वीरें सामने न आएं। वहीं उन्होंने बिहार में बाढ़ को लेकर कहा कि हम हर साल ऐसी ही तस्वीर देखते हैं। नीतीश कुमार 15 साल से सत्ता पर हैं उन्हें अच्छा खासा अनुभव भी है। इसके बावजूद क्या बदलाव आया? मैंने बार-बार बिहार की नदियों को आपस में जोड़ने के लिए पत्र लिखा है, जिसे अमल में लाना चाहिए था। अगले साल भी बाढ़ के ऐसे ही हालात रहेंगे।

Input : Live Hindustan

Continue Reading

BIHAR

लालू ने बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था पर कसा तंज, कहा- अस्पताल में रुई भी मिले तो भगवान को शुक्रिया कहना रे भाई

Ravi Pratap

Published

on

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था पर तंज कसा है। उधर, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया है कि समस्याओं से घिरी राज्य की जनता तबाह है और सरकार सो रही है। 15 साल की सरकार को जनता की कोई चिंता नहीं है।

राजद प्रमुख ने ट्वीट कर व्यंग्य किया है कि अगर राज्य के अस्पतालों में सूई की कौन कहना न कहे रूई भी मिल जाए तो भगवान को धन्यवाद कहना चाहिए। उन्होंने इसे अपने अंदाज में बयां करते हुए कहा है कि अस्पताल में रुई भी मिले तो भगवान को शुक्रिया अदा कर देना रे भाई।

तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया है कि 75 लाख बिहारवासी बाढ़ से प्रभावित हैं। उनके बीच राहत का वितरण ठीक से नहीं किया जा रहा है। प्रवासी श्रमिक बिना काम-धंधे भूखे घर बैठे हैं। रोजगार देने के दावे विफल साबित हो रहे हैं। कई लोग अब फिर से पलायन करने को विवश हैं। साथ ही राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था मृत प्राय:है। इस कारण लाखों लोग कोरोना पीड़ित होकर भगवान भरोसे है। व्यवसायी वर्ग अलग त्रस्त है। बढ़ते अपराध का कहर भी उन्हें झेलना पड़ रहा है।

रिम्स निदेशक के बंगले पर लालू प्रसाद का नाम दर्ज कर दें: जदयू
वरिष्ठ जदयू नेता व सरकार के सूचना जनसम्पर्क मंत्री नीरज कुमार ने झारखंड सरकार को निशाने पर लिया है। कहा कि बिहार और झारखंड के चारा घोटाला के सजायाफ्ता कैदी लालू प्रसाद को अघोषित राजकीय अतिथि मानकर निदेशक रिम्स, रांची का बंगला दिया गया है।

सवाल स्वाभाविक है। कोरोना संक्रमण की स्थिति में झारखंड सरकार ने यह फैसला लिया, लेकिन रिम्स रांची के कैदी वार्ड में 13 कैदी इलाजरत हैं तो अन्य कैदियों को यह विशेष सुविधा क्यों नहीं दी गयी? नीरज कुमार ने मीडिया को तस्वीर जारी कर दावा किया है कि निदेशक रिम्स के बंगला के नामपट्टिका को मिटा दिया गया। तो क्यों नहीं झारखंड सरकार निदेशक के बंगला के नामपट्टिका पर कैदी नं०- 3351, लालू प्रसाद का नाम दर्ज करवाती है, जिससे आम लोग यह देख सकें कि भ्रष्टाचार के पुरोधा यहां वास करते हैं।

Input : Live Hindustan

Continue Reading

BIHAR

सुशांत केस की CBI जांच पर संजय राउत का बिहार सरकार पर तंज- ‘मेरे आंगन में तुम्हारा क्या काम है’

Muzaffarpur Now

Published

on

मुंबई. एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant singh Rajput) केस की जांच सीबीआई (CBI) को सौंपे जाने के बाद शिवसेना (Shiv Sena) नेता संजय राउत (Sanjay raut) ने बिहार सरकार (Bihar govt) पर भी तंज कसा है. संजय राउत ने सोमवार को कहा, ‘CBI ने FIR दर्ज की ये उनकी मजबूरी है. CBI केंद्र सरकार की एजेंसी है. केंद्र सरकार की ऐसे मामले में अपनी मजबूरी होती है. बिहार सरकार ने सिफारिश कर दी. बिहार सरकार का कोई संबंध नहीं है. ये ‘मेरे आंगन में तुम्हारा क्या काम है’ जैसा है.’

उन्होंने कहा, ‘एफआईआर मुंबई में दर्ज है और मुंबई पुलिस (Mumbai Police) द्वारा जांच की जा रही है. बिहार में भी अचानक एफआईआर दर्ज की गई. इसकी क्या जरूरत है? पुलिस पर कुछ तो भरोसा रखें. हर पुलिस अपने राज्य में एक प्रतिष्ठा रखती है, अगर आप इसमें हस्तक्षेप करते हैं तो मामला और बिगड़ जाता है.’

इससे पहले रविवार को राउत ने शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में अपने साप्ताहिक स्तंभ रोखठोक में कहा कि अभिनेता की दुर्भाग्यपूर्ण आत्महत्या को राजनीतिक दृष्टिकोण से देखना गलत है. सुशांत का शव 14 जून को उपनगरीय बांद्रा स्थित उनके अपार्टमेंट में फंदे से लटका हुआ मिला था.

बिहार सरकार ने की थी CBI जांच की सिफारिश
सीबीआई ने पटना पुलिस की प्राथमिकी के आधार पर हाल ही में इस मामले की जांच अपने हाथ में ले ली है. जानकारी के लिए बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत केस में बिहार सरकार ने मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश की थी. इस प्राथमिकी में सुशांत की महिला मित्र एवं अदाकारा रिया चक्रवर्ती पर कथित आपराधिक साजिश रचने और अभिनेता को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया गया है.

Input : News18

Continue Reading
BIHAR2 mins ago

नीतीश पर हमलावर चिराग ने कहा – लोजपा अकेले बिहार विधानसभा की सभी 243 सीटों पर लड़ने को तैयार

BIHAR9 mins ago

लालू ने बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था पर कसा तंज, कहा- अस्पताल में रुई भी मिले तो भगवान को शुक्रिया कहना रे भाई

INDIA41 mins ago

आगामी 30 सितंबर तक रद्द रहेंगी रेलगाड़ियां? रेलवे बोर्ड ने लगाया अफवाहों पर विराम

BIHAR48 mins ago

सुशांत केस की CBI जांच पर संजय राउत का बिहार सरकार पर तंज- ‘मेरे आंगन में तुम्हारा क्या काम है’

BIHAR2 hours ago

गंडक नदी पर बंगरा घाट पुल बन कर तैयार 12 काे सीएम नीतीश करेंगे ऑनलाइन उद्धाटन

MUZAFFARPUR2 hours ago

मुजफ्फरपुर : शहीद खुदीराम बोस को इस बार सादे समारोह में दी जाएगी श्रद्धांजलि

INDIA3 hours ago

रिया चक्रवर्ती ने CBI जांच का विरोध किया, सुप्रीम कोर्ट में दिया हलफनामा

BIHAR5 hours ago

बिहारी परिवारों को उल्टा- सीधा और नीच सोच का कहने वाली ज्योति यादव जैसी पत्रकार को हम कब जवाब देंगे

MUZAFFARPUR6 hours ago

मुजफ्फरपुर : दो साल से सैंकड़ो ग़रीब बच्चों को मुफ़्त में पढ़ा रहे- अभिषेक रंजन और उज्जवल कुमार

BIHAR6 hours ago

सुशांत के भाई संजय राउत पर करेंगे मानहानि का केस, पिता पर दूसरी शादी करने का लगाया था आरोप

BIHAR4 days ago

भोजपुरी एक्ट्रेस अनुपमा पाठक ने की खुदकुशी, मरने से पहले किया फेसबुक लाइव

INDIA4 weeks ago

सलमान खान ने शेयर की किसानी करने की ऐसी तस्वीर, लोगों ने जमकर सुनाई खरीखोटी

INDIA4 weeks ago

एक दूल्हे के संग दो दुल्हनों ने लिए फेरे : एक गर्लफ्रेंड, दूसरी मम्मी-पापा की पसंद, Video देखें

INDIA3 weeks ago

वाहनों में अतिरिक्त टायर या स्टेपनी रखने की जरूरत नहीं: सरकार

BIHAR6 days ago

UPSC में छाए बिहार के लाल, जानिए कितने बच्चों का हुआ चयन

BIHAR4 weeks ago

बिहार लॉकडाउन: इमरजेंसी हो तभी निकलें घर से बाहर, नहीं तो जब्त हो जाएगी गाड़ी

MUZAFFARPUR5 days ago

उत्तर बिहार में भीषण बिजली संकट, कांटी थर्मल पावर ठप्प

BIHAR1 week ago

पप्पू यादव का खतरनाक स्टंट: नियमों की धज्जियां उड़ा रेल पुल पर ट्रैक के बीच चलाई बुलेट, देखें VIDEO

MUZAFFARPUR3 days ago

बिहार के प्रमुख शक्तिपीठों में प्रशिद्ध राज-राजेश्वरी देवी मंदिर की स्थापना 1941 में हुई थी

BIHAR1 day ago

IPS विनय तिवारी शामिल हो सकते है, सुशांत केस की CBI जांच टीम में…

Trending