Connect with us

INDIA

सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, पति के किसी भी रिश्तेदार के घर में पत्नी को रहने का हक

Ravi Pratap

Published

on

बेटियों को सम्पत्ति में जन्म से ही अधिकार देने के फैसले बाद सुप्रीम कोर्ट ने महिलाओं के पक्ष में एक और ऐतिहासिक फैसला दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि घरेलू हिंसा की शिकार महिला के लिए घर का मतलब पति के किसी भी रिश्तेदार का आवास भी है। उसे उनके घर में रहने का अधिकार दिया जा सकता है। सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस अशोक भूषण की अध्यक्षता वाली तीन जजों की पीठ ने यह टिप्पणी करते हुए घरेलू हिंसा कानून, 2005 की धारा 2 (एस) का दायरा विस्तारित कर दिया। इस धारा में पति के साझाघर की परिभाषा है। इसके अनुसार हिंसा के बाद घर से निकाली महिला को साझाघर में रहने का अधिकार है। अब तक ये साझा घर पति का घर, चाहे ये किराए पर हो या संयुक्त परिवार का घर, जिसका पति सदस्य हो, माना जाता था। इसमें ससुरालियों के घर शामिल नहीं थे।

वर्ष 2007 (एसआर बत्रा बनाम तरुणा बत्रा) में सुप्रीम कोर्ट ने यह कहा था कि साझा घर में इनलाज (ससुरालियों/रिश्तेदारों) के घर शामिल नहीं होंगे। लेकिन अब शीर्ष कोर्ट ने अपने दो जजों की पीठ के इस फैसले को पलट दिया और गुरुवार को दिए फैसले में कहा कि धारा 2(एस) में साझा घर की परिभाषा को पति की रिहायश और उसके संयुक्त परिवार की संपत्ति तक ही सीमित नहीं किया जा सकता, बल्कि इसमें पति के किसी भी रिश्तेदार का घर भी शामिल होगा।

महिला को वहां आवास के लिए भेजा जा सकता है। कोर्ट ने कहा कि इस कानून का मकसद महिलाओं को उच्चतर अधिकार देना है। इसका ये भी इरादा है कि परिवार में घरेलू हिंसा की पीड़ित महिला को अधिकारों का अधिक प्रभावी संरक्षण मुहैया करवाया जाए। ऐसे में कानून को उसके उद्देश्य के हिसाब से व्याख्यायित करना पड़ेगा।

पीठ दिल्ली हाईकोर्ट के एक फैसले के खिलाफ अपील पर सुनवाई कर रही थी। इस मामले में पति ने कहा था कि उसका कोई घर नहीं है और वह अपने पिता के घर में रहता है जो पुश्तैनी नहीं है। इस घर को धारा 2 के अनुसार शेयर्ड हाउसहोल्ड यानी साझा घर नहीं कहा जा सकता। ट्रायल कोर्ट ने पति कि याचिका को स्वीकार कर लिया और पत्नी को आदेश दिया था कि वह 15 दिन में घर खाली कर दे। इस आदेश के खिलाफ पत्नी हाईकोर्ट गई और हाईकोर्ट ने मामला फिर से विचार करने के लिए ट्रायल कोर्ट को भेज दिया। इस आदेश के खिलाफ उसके ससुर सुप्रीम कोर्ट में अपील करने आए थे।

बेटियों को सम्पत्ति में जन्म से ही अधिकार देने के फैसले बाद सुप्रीम कोर्ट ने महिलाओं के पक्ष में एक और ऐतिहासिक फैसला दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि घरेलू हिंसा की शिकार महिला के लिए घर का मतलब पति के किसी भी रिश्तेदार का आवास भी है। उसे उनके घर में रहने का अधिकार दिया जा सकता है। सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस अशोक भूषण की अध्यक्षता वाली तीन जजों की पीठ ने यह टिप्पणी करते हुए घरेलू हिंसा कानून, 2005 की धारा 2 (एस) का दायरा विस्तारित कर दिया। इस धारा में पति के साझाघर की परिभाषा है। इसके अनुसार हिंसा के बाद घर से निकाली महिला को साझाघर में रहने का अधिकार है। अब तक ये साझा घर पति का घर, चाहे ये किराए पर हो या संयुक्त परिवार का घर, जिसका पति सदस्य हो, माना जाता था। इसमें ससुरालियों के घर शामिल नहीं थे।

Input: Live Hindustan

INDIA

महंगी प्याज पर लगाम लगाने को सरकार ने उठाया बड़ा कदम, अब बाजार में ऐसे बिकेगी प्याज

Muzaffarpur Now

Published

on

देश में बढ़ती प्याज की कीमतों (Onion Price) को लेकर केंद्र सरकार ने सख्त कदम उठाया है. प्याज की बढ़ती कीमतों को देखते हुए केंद्र सरकार ने प्याज पर स्टॉक लिमिट नियम लागू कर दिया है. थोक विक्रेता अब सिर्फ 25 मिट्रिक टन प्याज स्टॉक रख सकेगा. जबकि खुदरा व्यापारी मात्र दो मिट्रिक टन प्याज का स्टॉक कर सकेंगे. यहीं नहीं बाज़ारों में प्याज की आवक बढ़ाने के लिए एमएमटीसी 10,000 मिट्रिक टन प्याज आयात के लिए टेंडर जारी करेगा. निजी कंपनियों के अलावा एमएमटीसी रेड प्याज का आयात करेगा.

कीमतें काबू करने को विदेश से मंगाई जाएगी प्याज़

देश के कई शहरों में प्याज की कीमतें 100 रुपये प्रति किलो के पार पहुंच गई हैं. बढ़ती कीमतों को काबू करने के लिए प्याज की स्टॉक लिमिट तय की गई है. स्टॉक लिमिट से अधिक प्याज रखने पर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. नैफेड ने अभी तक 42 हज़ार टन प्याज बेचा है. जबकि नेफेड के पास 20 से 25 हज़ार टन का स्टॉक बचा हुआ है. नैफेड ने इस साल 98 हज़ार टन का स्टॉक बनाया था. एमएमटीसी कल प्याज आयात के लिए टेंडर जारी करेगा.

बारिश के चलते 6 लाख मीट्रिक टन प्याज का उत्पादन प्रभावित हुआ है. यह जानकारी प्याज उत्पादक राज्यों ने दी है. जमाखोरों ने प्याज़ की कितनी जमाखोरी की है यह आंकड़े सरकार के पास नहीं हैं.

प्याज के दाम अभी और बढ़ने के आसार

बता दें कि कुछ इलाकों में सब्जी मंडी से निकलकर प्याज 150 रुपये किलो तक बिक रही है. वहीं टमाटर भी महंगाई के चलते सुर्ख हो रहा है. टमाटर का भाव 90 रुपये किलो तक पहुंच गया है. लेकिन यह भाव यहीं रुकने वाला नहीं है. सब्जी बेच रहे दुकानदारों का यह कहना है. प्याज-टमाटर पर अभी 10 से 20 रुपये प्रति किलो तक और बढ़ सकते हैं. दुकानदारों के मुताबिक, इसके पीछे सबसे बड़ी वजह जमाखोरी है. हालांकि थोक मंडी और ठेल पर बिकने वाले टमाटर-प्याज के रेट में खासा अंतर है. लेकिन रिटेल दुकानदार का इसके पीछे अपना तर्क है. वजह जो भी हो, लेकिन बजट तो आम आदमी की रसोई का बिगड़ रहा है.

Source : News18

Continue Reading

INDIA

यूपी में एक करोड़ 9 लाख उपभोक्ताओं ने कभी जमा नहीं किया बिजली बिल, देखें हर जोन का आंकड़ा

Santosh Chaudhary

Published

on

पावर कॉरपोरेशन में एक करोड़ नौ लाख उपभोक्ताओं ने कभी बिजली बिल जमा नहीं किया। विभाग ने ऐसे उपभोक्ताओं को काली सूची में डाला है। यह काली सूची पावर कारपोरेशन के रिकॉर्ड में नेवर पेमेंट (कभी भुगतान न करने वाले) कहलाती है।

पावर कॉरपोरेशन के अध्यक्ष अरविंद कुमार ने सभी डिस्कॉम के प्रबंध निदेशकों से चेकिंग अभियान चलाकर राजस्व वसूली का निर्देश दिया है। विभागीय आंकड़ों के मुताबिक पूर्वांचल डिस्कॉम में 43 लाख उपभोक्ता, मध्यांचल निगम में 33 लाख उपभोक्ता है, जिन्होंने कभी बिजली बिल जमा नहीं किया है।

वहीं लखनऊ में एक लाख उपभोक्ता है। जिन्होंने कनेक्शन लेने के बाद कभी बिजली बिल जमा नहीं किया है। इसमें सिस गोमती के 88 हजार और ट्रांसगोमती क्षेत्र के 22 हजार उपभोक्ता है।

यूपी के डिस्कॉम में कभी बिल जमा नहीं किया

पूर्वांचल निगम 43,03,712

मध्यांचल निगम 33,45,354

दक्षिणांचल निगम 22,02,133

पश्चिमांचल निगम 10,94,474

जोन उपभोक्ता जिन्होंने कभी बिल जमा नहीं किया

आगरा-1 3,20,854

आगरा-2 2,00,553

अलीगढ़ 3,72,665

बांदा 4,10,220

झांसी 3,14,481

कानपुर 5,83,360

अयोध्या 8,10,691

बरेली 6,24,961

देवीपाटन 6,99,475

लेसा (ट्रांसगोमती) 22,356

लेसा (सिस गोमती) 88,023

लखनऊ जोन  10,99,848

Source : Hindustan

Continue Reading

INDIA

सहवाग का धोनी की टीम पर तंज- ये जीतने वाली टीम नहीं बुजुर्ग कल्याण केंद्र है

Muzaffarpur Now

Published

on

महेद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की टीम यानी चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के लिए आज आईपीएल में करो या मरो की लड़ाई है. मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) के खिलाफ होने वाले इस मैच में धोनी की टीम को हर हाल में जीत की जरूरत है. हार का मतलब होगा आईपीएल के मौजूदा सीज़न से लगभग बाहर का रास्ता. करो या मरो के इस मुकाबले से पहले भारत के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज़ वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) ने धोनी की टीम कर तंज कसा है. उन्होंने कहा है कि चेन्नई सुपर किंग्स एक बुजुर्ग कल्याण केंद्र है.

सहवाग का तंज

सहवाग इन दिनों हर मैच के बाद सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर एक खास कार्यक्रम करते हैं, जहां वो अपनी बेबाक राय रखते हैं. उन्होंने कहा, ‘चेन्नई सुपर किंग्स एक बुजुर्ग कल्याण केंद्र है. इस टीम से ड्वेन ब्रावो पहले ही वीआरएस लेकर जा चुके हैं.’

मुश्किल में धोनी

इस बार धोनी की टीम मुश्किल में फंस गई है. इस बार फिलहाल चेन्नई की टीम पॉइंट्स टेबल में आखिरी पायदान पर है. साथ ही नेट रनरेट भी माइनस (-0.463) में है. चेन्नई सुपर किंग्स को अभी चार मैच और खेलने हैं. ये मैच हैं- मुंबई इंडियंस, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ. चेन्नई सुपर किंग्स को बाक़ी बचे चारों मैच में जीत दर्ज करनी होगी. तभी वो अंतिम चार में पहुंच सकते हैं.

पहले भी कसा है तंज

पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज़ वीरेंद्र सहवाग ने धोनी की बैटिंग पर पहले भी  तंज कसा है. उन्होंने कहा था कि 12वीं की परीक्षा में एक दिन पहले पढ़ने से लोग पास नहीं होते हैं. सहवाग लगातार अपने खास शो से चेन्नई की टीम पर निशाना साधते रहते हैं.

Source : News18

Continue Reading
MUZAFFARPUR1 hour ago

शारदीय नवरात्र महाष्टमी आज:मां के नेत्र पट खुले; न भव्य पंडाल, न ही बड़ी मूर्तियां, न मेला… पर आस्था परवान पर

BIHAR11 hours ago

राहुल गांधी का PM से सवाल- चीनी सैनिकों को हिंदुस्तान की जमीन से कब भगाया जाएगा?

INDIA13 hours ago

महंगी प्याज पर लगाम लगाने को सरकार ने उठाया बड़ा कदम, अब बाजार में ऐसे बिकेगी प्याज

MUZAFFARPUR13 hours ago

मुजफ्फरपुर को सर्वश्रेष्ठ नगरी बनाना जीवन का एकमात्र उद्देश्य : सुरेश शर्मा

INDIA14 hours ago

यूपी में एक करोड़ 9 लाख उपभोक्ताओं ने कभी जमा नहीं किया बिजली बिल, देखें हर जोन का आंकड़ा

BIHAR15 hours ago

बिहार में नीतीश को रिटायर कर अपना CM चाहती है BJP, RSS की योजना पर हो रहा काम: ओवैसी

INDIA15 hours ago

सहवाग का धोनी की टीम पर तंज- ये जीतने वाली टीम नहीं बुजुर्ग कल्याण केंद्र है

BIHAR15 hours ago

पीएम मोदी की अपील- त्‍योहारों पर अधिक से अधिक लोकल खरीदें

BIHAR16 hours ago

‘बिहार में का बा’ पर पीएम मोदी ने दिया जवाब, जानिए क्या बोले

INDIA17 hours ago

महान क्रिकेटर कपिल देव को आया हार्ट अटैक, दिल्ली के अस्पताल में भर्ती

BIHAR4 weeks ago

गुप्तेश्वर पांडेय के वीडियो पर मचा बवाल, इंडियन पुलिस फाउंडेशन ने की कार्रवाई की मांग

TRENDING4 weeks ago

गर्लफ्रेंड को घुटने पर बैठकर कर रहा था प्रपोज, एक सेकंड में धुली रह गई सारी मेहनत

BIHAR4 weeks ago

पिता ने ‘लूडो’ में की चीटिंग तो बेटी पहुंची फैमिली कोर्ट, जानें पूरा मामला

BOLLYWOOD3 weeks ago

बॉलीवुड को झटका! अजय देवगन के छोटे भाई अनिल देवगन का निधन

INDIA1 week ago

PNB खोल रहा है महिलाओं के लिए खास खाता, मुफ्त में मिलेंगी ये 6 सुविधाएं

INDIA3 weeks ago

इस साल पड़ेगी कड़ाके की ठंड, सर्दी का मौसम होगा लंबा; जानें- कब से होगी जाड़े की शुरुआत

BIHAR2 weeks ago

अंतिम दर्शन को पहुंची पहली पत्नी राजकुमारी, थम नहीं आंसुओं की धार

INDIA4 weeks ago

1 अक्टूबर से होने वाले हैं ये बड़े बदलाव, आपकी जेब पर ऐसे पड़ेगा असर

BIHAR5 days ago

पति के सामने पत्नी ने ठोकी ताल, चुनावी मैदान में निर्दलीय उतरे

BIHAR3 weeks ago

MLA का टिकट लेने 74 लाख रुपए लेकर पटना आया था कारोबारी, पुलिस ने ड्राइवर समेत 2 को पकड़ा

Trending