Connect with us

EDUCATION

सैनिक स्कूल में पहली बार 12 लड़कियां, प्रिंसिपल बोले- प्रदर्शन में लड़कों से आगे

Himanshu Raj

Published

on

दो साल पहले तक सैनिक स्कूलों में सिर्फ लड़कों को दाखिला मिलता था, लेकिन 2017 में बने मिजोरम के छिंगछिप सैनिक स्कूल में पहली बार लड़कियों के लिए 10% सीटें रिजर्व की गईं। 2018 में 6 लड़कियों को दाखिला मिला था। 2019 में आंकड़ा दोगुना हो गया। इन 12 बच्चियों में एक सैन्य अधिकारी की बेटी भी है।

दरअसल, सैनिक स्कूल में लड़कियों को दाखिला देना रक्षा मंत्रालय का एक पायलट प्रोजेक्ट था, यह समझने के लिए कि लड़कों के गढ़ में उनका प्रदर्शन कैसा रहता है। यह प्रयोग कामयाब रहा, जिसे देखते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पिछले माह ही ऐलान किया था कि 2021-22 से देश के हर सैनिक स्कूल में लड़कियां भी पढ़ सकेंगी।

तीन अलग-अलग राज्यों से हैं लड़कियां 

छिंगछिप के सैनिक स्कूल में इस साल (2019-20) जिन छह लड़कियों का दाखिला हुआ, उनमें तीन (साइथांग्कुई, वनलालॉमपुई, रेशल लालहुनबाईसाई) मिजोरम से हैं। दो (मुस्कान और खुशबू) बिहार से हैं और एक (नेहा आरएस) केरल से है। 2018 से यहां पढ़ रही जोनुनपुई कहती है- ‘अब हमारी फुटबॉल टीम पूरी है। अब हम लड़कों की टीम से मुकाबला कर सकती हैं।’

वहीं, 11 साल की मुस्कान और खुशबू कहती हैं- हमें सेना में जाना है। देश की रक्षा करनी है और दुश्मनों को मारना है।  लड़कियों को दाखिला देने के पायलट प्रोजेक्ट के नतीजों के बारे में  स्कूल के प्रिंसिपल लेफ्टिनेंट कर्नल यूपीएस राठौर बताते हैं- कैडेट के तौर पर इन लड़कियों का प्रदर्शन लड़कों से बेहतर रहा है। ट्रेनिंग लड़कों के समान होती है। आगे चलकर ये सभी सेना में जाएंगी।  यह स्कूल 212 एकड़ में है। लड़कियों के लिए अलग हॉस्टल और वार्डन हैं। सीसीटीवी से कैंपस की निगरानी की जाती है।

Input: Danik Bhaskar

EDUCATION

मोदी सरकार की नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 की ये हैं प्रमुख विशेषताएं

Muzaffarpur Now

Published

on

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 (New National Education Policy 2020) को मंजूरी दे दी है. नई शिक्षा नीति की औपचारिक घोषणा केंद्रीय मंत्रियों प्रकाश जावड़ेकर (Union Minister Prakash Javadekar) और डॉ रमेश पोखरियाल निंशक ने संयुक्त रूप से की. घोषणा के दौरान केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की अध्यक्षता आज कैबिनेट की बैठक में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को मंजूरी दी गई है. नया अकादमिक सत्र सितंबर-अक्टूबर में शुरू होने जा रहा है और सरकार का प्रयास पॉलिसी को इससे पहले लागू करने का है.

New Delhi: Ramesh Pokhriyal Nishank meets Prakash Javadekar ...

प्रेस ब्रीफिंग के दौरान हायर एजुकेशन सेक्रेटरी अमित खरे ने कहा, शिक्षा में कुल जीडीपी का अभी करी 4.4% खर्च हो रहा है, लेकिन उसे 6% करने की दिशा में हम आगे बढ़ रहे हैं. केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बहुप्रतीक्षित नई शिक्षा नीति को बुधवार को आखिरकार मंजूरी दे दी.

भाषा का विकल्प बढ़ा

नई शिक्षा नीति में बड़ा बदलाव करते हुए भाषा के विकल्प को बढ़ा दिया गया है. स्टूडेंट्स 2 से 8 साल की उम्र में जल्दी भाषाएं सीख जाते हैं. इसलिए उन्हें शुरुआत से ही स्थानीय भाषा के साथ तीन अलग-अलग भाषाओं में शिक्षा देने का प्रावधान रखा गया है. नई शिक्षा नीति में छात्रों को कक्षा छठी से आठवीं के बीच कम से कम दो साल का लैंग्वेज कोर्स भी प्रस्तावित है.

फिजिकल एजुकेशन को बनाया गया जरूरी

इसके साथ ही छात्रों का शारीरिक और मानसिक विकास भी हो सके इसके लिए पढ़ाई के साथ फिजिकल एजुकेशन को जरूरी बनाने का नियम रखा गया है. सभी छात्रों को स्कूल के हर स्तर पर खेल, मार्शल आर्ट्स, डांस, गार्डनिंक और योगा जैसी एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज भी सुनिश्चित की जाएंगी.

खास प्रोग्राम को किया गया है तय

नई शिक्षा नीति में सरकार ने छात्रों के लिए नया पाठ्यक्रम तैयार करने का भी प्रस्ताव रखा है. इसके लिए 3 से 18 साल के छात्रों के लिए 5+3+3+4 का डिजाइन तय किया गया है. इसके तहत छात्रों की शुरुआती स्टेज की पढ़ाई के लिए 5 साल का प्रोग्राम तय किया गया है. इनमें 3 साल प्री-प्राइमरी और क्लास-1 और 2 को जोड़ा गया है. इसके बाद क्लास-3, 4 और 5 को अगले स्टेज में रखा गया है.

इसके अलावा क्लास-6, 7, 8 को तीन साल के प्रोग्राम में बांटा गया है. आखिर क्लास-9, 10, 11, 12 को हाई स्टेज में रखा गया है.

प्रकाश जावड़ेकर और रमेश पोखरियाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस की खास बातें

– प्रेस कॉन्फ्रेंस की शुरुआत करते हुए, जावड़ेकर ने उम्मीद जताई कि नई शिक्षा नीति का समाज के सभी वर्गों द्वारा स्वीकार किया जाएगा.

– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के तहत कैबिनेट ने 21वीं सदी के लिए एक नई शिक्षा नीति को मंजूरी दी है. यह महत्वपूर्ण है, क्योंकि 34 साल से शिक्षा नीति में कोई बदलाव नहीं हुआ था.

– यहां नई शिक्षा नीति का मुख्य उद्देश्य सुधार लाना है.

– उच्च शिक्षा में प्रमुख सुधारों में 2035 तक 50 प्रतिशत सकल नामांकन अनुपात का लक्ष्य और एकाधिक प्रवेश / निकास का प्रावधान शामिल है.

नई शिक्षा नीति के लिए बड़े स्तर पर सलाह

नई शिक्षा नीति के बारे में जानकारी देते हुए प्रकाश जावड़ेकर ने कहा  कि नई शिक्षा नीति के लिए बड़े स्तर पर सलाह ली गई. 2.5 लाख ग्राम पंचायतों, 6600 ब्लॉक्स, 676 जिलों से सलाह ली गई. उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति के तहत कोई छात्र एक कोर्स के बीच में अगर कोई दूसरा कोर्स करना चाहे तो पहले कोर्स से सीमित समय के लिए ब्रेक लेकर कर सकता है.

बदला गया HRD का नाम

मानव संसाधन और विकास मंत्रालय ने सिफारिश की थी कि उसका नाम बदल कर शिक्षा मंत्रालय (Ministry Of Education) कर दिया जाए. जिसे बुधवार को हुई कैबिनेट बैठक में स्वीकार कर लिया गया है.

1986 में बनाई थी राष्ट्रीय शिक्षा नीति

इससे पहले मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने कहा था कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 1986 में बनाई गई थी और 1992 में संशोधित की गई थी. पिछली नीति तैयार होने में तीन दशक से अधिक समय बीत चुका था.

Continue Reading

EDUCATION

CBSE 10th result 2020 : स्टूडेंट्स परेशान, नहीं चेक कर पा रहे रिजल्ट

Ravi Pratap

Published

on

सीबीएसई 10वीं रिजल्ट जारी हो गया है। लेकिन स्टूडेंट्स cbse.nic.in , cbseresults.nic.in और results.nic.in पर अपना रिजल्ट चेक नहीं कर पा रहे हैं। या तो साइट खुल नहीं रही या फिर डिटेल्स डालने पर सब्मिट का बटन दबाने पर एरर मैसेज आ रहा है।

 

10वीं के करीब 18 लाख बच्चे बेसब्री से अपने नतीजों का इंतजार कर रहे थे। छात्र-छात्राएं अपना रिजल्ट सीबीएसई की वेबसाइट के अलावा UMANG ऐप और DigiResults ऐप से भी चेक कर सकते हैं। इसके अलावा IVRS सिस्टम और SMS भेजकर भी अपना रिजल्ट चेक कर सकते हैं। सीबीएसई ने सोमवार को बिना सूचना दिए 12वीं कक्षा का परीक्षा परिणाम जारी कर सबको चौंका दिया था। 12वीं में 88.78% बच्चे पास हुए हैं। लड़कियों का पास प्रतिशत लड़कों की तुलना में 5.96 प्रतिशत बेहतर रहा।

Input : Live Hindustan

Continue Reading

EDUCATION

इन वेबसाइट्स औऱ प्लेटफॉर्म पर चेक करें सीबीएसई कक्षा 10वीं रिजल्ट 2020

Ravi Pratap

Published

on

सीबीएसई बोर्ड कक्षा 10वीं रिजल्ट 2020 जारी होने का इंतजार कर रहे छात्रों के लिए खुशखबरी है. दरअसल केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने सीबीएस कक्षा 10वीं रिजल्ट 2020 घोषित कर दिया है. परीक्षा में शामिल हो चुके सीबीएसई की आधिकारिक वेबसाइट cbse.nic.in के अलावा इन वेबसाइट Indiaresults.com पर भी अपना रिजल्ट चेक कर सकते हैं.

DigiLocker से देखें रिजल्ट

CBSE डिजिलॉकर ऐप्लिकेशन के जरिए मार्कशीट, माइग्रेशन सर्टिफिकेट और ‘परिनम मंजुशा’ के जरिए पास सर्टिफिकेट जैसे डिजिटल शैक्षणिक दस्तावेज उपलब्ध कराएगा. डिजिलॉकर खाते की डिटेल छात्रों को सीबीएसई के साथ पंजीकृत उनके मोबाइल नंबर पर SMS के जरिये भेजी जाएगी.

UMANG ऐप का उपयोग करके परिणाम देखें

ये मोबाइल एप्लिकेशन Android और iOS दोनों पर उपलब्ध है. इसके जरिये छात्र मार्कशीट टैब पर क्लिक करके और फिर अपना रोल नंबर और जन्म का तीरीख भरके अपना रिजल्ट देख सकेंगे.

Microsoft SMS ऑर्गनाइजर ऐप का उपयोग करके परिणाम देखें

छात्र Microsoft एसएमएस ऐप डाउनलोड करके खुद का रजिस्ट्रेशन कर लें. इस ऐप के साथ, छात्र एसएमएस के माध्यम से भी अपना रिजल्ट देख सकेंगे.

IVRS के माध्यम से देख पाएंगे रिजल्ट

सीबीएसई इंटरैक्टिव वॉयस रिस्पांस सिस्टम (IVRS) के माध्यम से छात्र रिजल्ट हासिल कर सकेंगे. रिजल्ट देखने के लिए परिणाम के दिन नंबर दिए जाएंगे. अपडेट के लिए छात्रों को आधिकारिक वेबसाइट cbse.nic.in पर जाना चाहिए.

CBSE 10th Result 2020 ऐसे करें डाउनलोड

सीबीएसई कक्षा 10वीं रिजल्ट 2020 डाउनलोड करने के लिए सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट cbseresults.nic.in या cbse.nic.in पर जाएं.

वेबसाइट के होमपेज पर दिख रहे CBSE 10th Result 2020 लिंक पर क्लिक करें,

CBSE 10th Result 2020 लिंक पर क्लिक करते ही नया पेज ओपन होगा.

नये पेज पर मांगी गई सारी जानकारी भरकर सबमिट बटन पर क्लिक करें.

सबमिट बटन पर क्लिक करते ही रिजल्ट स्क्रीन पर दिखने लगेगा.

आगे की जरूरत के लिए उम्मीदवार रिजल्ट का प्रिंटआउट अपने पास रख सकते हैं.

Continue Reading
MUZAFFARPUR5 hours ago

DM-SSP ने स्वतंत्रता दिवस को लेकर की जा रही तैयारियों का जायजा लिया

MUZAFFARPUR5 hours ago

अखाड़ाघाट पुल से युवती ने लगाई छलांग ; आक्रोशित लोगों ने पुल को किया जाम

BIHAR5 hours ago

जल्द शुरू हो सकता है बस का परिचालन, परिवहन सचिव ने कहा- एक दो दिन में लिया जायेगा डिसीजन

INDIA5 hours ago

सुशांत का कैश, रिया की ऐश : शॉपिंग से लेकर टिकट तक के पैसे सुशांत के अकाउंट से

INDIA6 hours ago

विदेश से मुंबई आने वाले लोगों को अब क्वारंटाइन नियमों दी गई छूट, जानें क्यों

INDIA6 hours ago

रेपुटेशन को लेकर काफी संजीदा थे सुशांत, रिया चक्रवर्ती को अपनी जिंदगी से निकालने की थी पूरी प्लानिंग

INDIA7 hours ago

सुशांत केस: सुप्रीम कोर्ट में CBI का जवाब- केस को मुंबई ट्रांसफर करने का सवाल ही नहीं

MUZAFFARPUR8 hours ago

विभा कुमारी की जांच से ही ब्रजेश सहित 19 को मिली थी सजा

Uncategorized9 hours ago

होटल से लेकर प्राइवेट जेट तक खरीदना चाहती रिया चक्रवर्ती, फ्लॉप एक्ट्रेस के सपने कैसे होंगे पूरे

INDIA10 hours ago

सुप्रीम कोर्ट में बिहार सरकार ने कहा..पटना में केस हैं दर्ज, इसलिए CBI जांच का है अधिकार, रिया के वकील ने कहा- FIR गैरकानूनी

BIHAR7 days ago

भोजपुरी एक्ट्रेस अनुपमा पाठक ने की खुदकुशी, मरने से पहले किया फेसबुक लाइव

INDIA2 days ago

बाइक पर पत्नी के अलावा अन्य को बैठाया तो कार्रवाई: हाई कोर्ट

INDIA3 weeks ago

वाहनों में अतिरिक्त टायर या स्टेपनी रखने की जरूरत नहीं: सरकार

INDIA3 days ago

सुप्रीम कोर्ट का फैसला – पिता की प्रॉपर्टी में बेटी का हर हाल में आधा हिस्सा होगा

BIHAR1 week ago

UPSC में छाए बिहार के लाल, जानिए कितने बच्चों का हुआ चयन

BIHAR4 weeks ago

बिहार लॉकडाउन: इमरजेंसी हो तभी निकलें घर से बाहर, नहीं तो जब्त हो जाएगी गाड़ी

MUZAFFARPUR1 week ago

उत्तर बिहार में भीषण बिजली संकट, कांटी थर्मल पावर ठप्प

BIHAR2 weeks ago

पप्पू यादव का खतरनाक स्टंट: नियमों की धज्जियां उड़ा रेल पुल पर ट्रैक के बीच चलाई बुलेट, देखें VIDEO

BIHAR4 days ago

IPS विनय तिवारी शामिल हो सकते है, सुशांत केस की CBI जांच टीम में…

MUZAFFARPUR6 days ago

बिहार के प्रमुख शक्तिपीठों में प्रशिद्ध राज-राजेश्वरी देवी मंदिर की स्थापना 1941 में हुई थी

Trending