Connect with us

BIHAR

सोकर उठे लोग तो सड़कों पर बिखरी पड़ी थी चांदी, लोगों में मची बटोरने की होड़, जानिए- पूरा मामला

Published

on

बिहार (Bihar) के सीतमढ़ी (Sitamarhi) जिले के सुरसंड प्रखंड में आसमान से चांदी की ‘बारिश’ (Silver Rain) से लोग हैरान हैं. बुधवार की सुबह जब लोग नींद से जगे तो हैरान रह गए. लोगों ने सुरसंड के टॉवर चौक से बाराही गांव तक जाने वाली सड़क पर चांदी बिखरी पाई गई. सुबह-सुबह चांदी की ‘बारिश’ से इलाके के लोग हैरत में पड़ गए.

Image result for चांदी का बारिश"

लोग सड़कों पर बिखरी चांदी की छोटी-छोटी बूंदों को चुन कर घर ले जाने लगे हैं. सभी एक दूसरे से पूछ रहे हैं कि इतनी भारी मात्रा में सुरसंड की सड़कों पर शुद्ध चांदी कहां से आई. बता दें कि नेपाल बॉर्डर पास में ही इसलिए आशंका जताई जा रही है कि कोई तस्कर किसी बोरी में चांदी ले जा रहा होगा और बोरी फट जाने से चांदी रास्ते भर गिरती चली गई होगी.

Image result for चांदी का बारिश"

आसमान में चांदी की बारिश को लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं. लोगों को लग रहा है कि कोई चोर या तस्कर बोरियों में भर कर चांदी की बुंदकियां इस रास्ते से लेकर जा रहा हो और उसका बोरा फट गया हो. हालांकि नेपाल बॉर्डर नजदीक होने के कारण तस्करी के मामले से इनकार नहीं किया जा सकता है. सूचना पाकर सुरसंड पुलिस तहकीकात में जुट गई है.

Image result for चांदी का बारिश"

BIHAR

दरभंगा में बम विस्फोट से मचा हड़कंप, पांच लोग गंभीर रूप से जख्मी

Published

on

दरभंगा शुक्रवार की दोपहर जोरदार बम विस्फोट से दहल गया। जिला अंतर्गत विश्वविद्यालय थाना क्षेत्र के आजमनगर दुर्गा मंदिर स्थित हुई घटना। बताया जा रहा है कि बम बनाने के दौरान हुए विस्फोट से मोहम्मद नजीर का पूरा घर धराशाई हो गया।

घटना में मोहम्मद नजीर के परिवार के 5 लोगों की स्थिति नाजुक बताई जा रही है। सभी को डीएमसीएच में भर्ती कराया गया है। जबरदस्त धमाके के साथ हुए विस्फोट में घटनास्थल के आसपास लगभग एक दर्जन घर क्षतिग्रस्त हो गए। घटना की जांच में नगर एसपी योगेंद्र कुमार सदर एसडीपीओ मनोज कुमार सहित कई थाने के पुलिस जांच में जुटी है।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading

BIHAR

प्रवासी मजदूरों को अपराधी बताकर फंसी नीतीश सरकार का नया पत्र, कहा- गलती से जारी हो गयी थी पहली चिट्ठी

Published

on

PATNA : कोरोना संकट के बीच बिहार लौटने वाले मजदूरों को लेकर बेहद आपत्तिजनक पत्र लिखने वाले बिहार पुलिस मुख्यालय ने फजीहत के बाद यू-टर्न मारा है. FIRST BIHAR की खबर के बाद आनन फानन में पुलिस मुख्यालय ने नया पत्र जारी किया है. एक लाइन के इस पत्र में कहा गया है कि पहले वाला पत्र भूलवश जारी हो गया था.

एडीजी लॉ एंड आर्डर की नयी चिट्ठी
बिहार के एडीजी लॉ एंड आर्डर ने आज आनन फानन में नया पत्र जारी किया. इस पत्र में कहा गया है कि 29 मई को जारी किया गया पत्र भूलवश जारी किया गया था, इसे वापस लिया जा रहा है.

क्या है पूरा मामला
दरअसल बिहार पुलिस के ADG (लॉ एंड आर्डर) अमित कुमार ने सूबे के सारे सभी डीएम-एसपी को एक पत्र 29 मई को भेजा था. बिहार सरकार के एडीजी ने पत्र में कहा था कि बिहार में प्रवासी मजदूरों की भारी आमद होने क बाद विधि व्यवस्था को लेकर गंभीर समस्या उत्पन्न हो सकती है. इस पत्र की कॉपी बिहार के सारे आलाधिकारियों को भेजी गयी है. साफ है पूरी बिहार सरकार को इस पत्र की जानकारी थी. किसी अधिकारी ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी लिहाजा ये माना जा रहा था कि सारे अधिकारी इससे सहमत थे.

क्या था बिहार पुलिस के लेटर का मजमून
एडीजी लॉ एंड आर्डर अपने पत्र में लिखा था…“पिछले दो महीने में बिहार राज्य में भारी संख्या में लोग आये हैं जो दूसरे राज्यों में श्रमिक के रूप में काम कर रहे थे. गंभीर आर्थिक चुनौतियों के कारण वे सभी परेशान और तनावग्रस्त हैं. सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद उन सबों को बिहार में रोजगार मिल पाने की संभावना कम है. इस कारण वे अपना खर्च जुटाने के लिए अनैतिक और विधि विरूद्ध काम में शामिल हो सकते हैं. इससे अपराध में वृद्धि हो सकती है और विधि व्यवस्था पर इसका प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है. ये समस्या व्यापक पैमाने पर उत्पन्न हो सकती है.”

बिहार पुलिस मुख्यालय ने सारे जिलाधिकारियों और एसपी को कहा था कि  वे प्रवासी मजदूरों से उत्पन्न होने वाली समस्या से निपटने के लिए रणनीति तैयार कर लें. ताकि समय पड़ने पर तत्काल एक्शन में आया जा सके.

नीतीश सरकार के इरादों की खुली पोल
दो दिन पहले नीतीश कुमार जनता के नाम संदेश दे रहे थे. वे कह रहे थे कि बिहार के लोगों को प्रवासी मजदूर क्यों कहा जा रहा है. पिछले एक महीने से नीतीश कुमार ये लगातार दावे कर रहे हैं कि बिहार आने वाले हर मजदूर को यहीं काम दिया जायेगा. लेकिन बिहार पुलिस मुख्यालय के एक पत्र ने उनके सारे दावों की पोल खोल दी. बिहार सरकार मान रही है कि वो सारे मजदूरों को काम नहीं दे सकती है. सबसे बड़ी बात ये कि अपने ही घऱ में बिहार के प्रवासी मजदूरों को खतरा माना जा रहा है. बिहार पुलिस के मुख्यालय का ये पत्र नीतीश सरकार के लिए भारी परेशानी का सबब बन गया.

FIRST BIHAR की खबर के बाद आनन फानन में हरकत में आयी सरकार
आज FIRST BIHAR ने बिहार के एडीजी मुख्यालय के 29 मई के शर्मनाक पत्र को दिखाना शुरू किया. इसके बाद बिहार सरकार हरकत में आयी. पुलिस मुख्यालय में उपर से फोन कॉल्स आने लगे. इसके बाद भूल वाली लेटर जारी की गयी.

Input : First Bihar

Continue Reading

BIHAR

बिहार में रोजगार के लिए 10 लाख रुपये देगी नीतीश सरकार, जानें नियम व शर्त

Published

on

पटना. दूसरे राज्यों में रहने वाले लोगों का बिहार लौटने क्रम अब भी जारी है. आपदा प्रबंधन विभाग (Disaster Management Department) के आंकड़ों के अनुसार अब तक 30 लाख से अधिक प्रवासी आ चुके हैं. जाहिर है रोजगार को लेकर जहां आम लोगों को चिंता सता रही है. वहीं इस मामले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) की सरकार भी सक्रिय हो गई है. मनरेगा (MGNREGA) जैसी योजनाओं के तहत जहां ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार दिए जा रहे हैं, वहीं उद्योग विभाग (Industry department) भी एक्टिव हो गया है. कुशल श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने को अब मुख्यमंत्री कामगार उद्यमी सह रोजगार सृजन योजना शुरू कर रहा है.

बिहार में रोजगार के लिए 10 लाख रुपये देगी नीतीश सरकार, जानें नियम व शर्त

उद्योग विभाग ने दी ये जानकारी

बिहार उद्योग विभाग की इस योजना के तहत स्किल्ड लेबर ग्रुप्स को भवन और कार्यशील पूंजी के लिए राज्य सरकार 10 लाख तक की राशि उपलब्ध करवाने जा रही है. इसके लिए प्रत्येक ग्रुप में कम से कम 10 कुशल श्रमिक शामिल होना आवश्यक होगा. उद्योग विभाग से मिली जानकारी के अनुसार यह योजना कुशल श्रमिकों के एक स्वयं सहायता समूह के रूप में होगी. इसमें हर समूह में कम से कम 10 लोग शामिल होंगे. ये वे लोग होंगे जो एक ही तरह के उत्पादन या दूसरे काम से जुड़े होंगे.

स्किल्ड लेबर ग्रुप्स उठा सकेंगे इस योजना का लाभ

इसमें उन्हीं श्रमिकों को शामिल किया जाएगा जिन्हें किसी कार्य विशेष में ट्रेंड होंगे और उस काम को करने का कम से कम एक साल का अनुभव हो. उद्योग विभाग ऐसे समूह को भविष्य में विभाग किसी पीएसयू कंपनी या एंकर उद्यमी से जोड़ने की कोशिश करेगा ताकि उनको दीर्घकालीन सहायता प्रदान की जा सके.

उद्योग मंत्री श्याम रजक ने सभी महाप्रबंधकों को निर्देश दिए हैं कि विस्तृत कार्ययोजना प्रतिवेदन तैयार करें. उसमें भवन या शेड का सुदृढ़ीकरण, मशीनरी एवं कार्यशील पूंजी का पूरा विवरण शामिल होगा. हर जिले में ऐसे दो-दो केंद्र स्थापित करने के निर्देश दिए गए हैं. इसके लिए चार करोड़ का बजट भी उपलब्ध करा दिया गया है.हालांकि जिलों को यह राशि किश्तों में भेजी जाएगी.

हर स्तर पर सहायता को तैयार है बिहार सरकार

उद्योग मंत्री ने बताया कि राज्य के सभी जिलों में ऐसे दो-दो सामान्य सुविधा केंद्र स्थापित किए जाएंगे. योजना की स्वीकृति, संचालन और पर्यवेक्षण जिला पदाधिकारी की अध्यक्षता वाली समिति करेगी. उद्योग विभाग ने पहले मुख्यमंत्री क्लस्टर विकास योजना शुरू की थी. इसके तहत हर जिले में दो या उससे अधिक क्लस्टर बनाए जाने थे. अब इस योजना को बदलकर मुख्यमंत्री कामगार उद्यमी सह रोजगार सृजन योजना कर दिया गया है.

24 बड़े उद्योगपतियों को किया था आमंत्रित

गौरतलब है कि बिहार में उद्योग विभाग लगातार रोजगार सृजन के नये उपायों पर जोर दे रहा है और इसी क्रम में प्रदेश के उद्योग मंत्री श्याम रजक ने एक हफ्ते पहले ही देश के 24 उद्योगपतियों को पत्र लिखकर बिहार में निवेश करने, अपनी यूनिट्स लगाने की अपील की है. उद्योगपतियों को लिखे अपने पत्र में श्याम रजक ने कहा है कि बिहार में निवेश की असीम संभावनाएं हैं.

प्रदेश में फूड प्रॉसेसिंग, कृषि यंत्र के उत्पादन, ऊर्जा, कैमिकल, टेक्सटाइल, चमड़ा, सूचना एवं टेक्नोलॉजी और हेल्थ केयर में निवेश की काफी संभावना है. जिन उद्योगपतियों को बिहार में निवेश करने के लिए आमंत्रित किया है, उनमें नेस्ले इंडिया लिमिटेड, फिनोलेक्स इंडस्ट्रीज लिमिटेड, खादिम्स इंडिया लिमिटेड, जीआरएम ओवरसीज लिमिटेड, हिंदुस्तान फूड्स लिमिटेड, रिलैक्सो फुटवियर लिमिटेड और बाटा इंडिया लिमिटेड के नाम प्रमुख हैं.

(इनपुट- आनंद अमृतराज)

Continue Reading
BIHAR55 mins ago

दरभंगा में बम विस्फोट से मचा हड़कंप, पांच लोग गंभीर रूप से जख्मी

BIHAR1 hour ago

प्रवासी मजदूरों को अपराधी बताकर फंसी नीतीश सरकार का नया पत्र, कहा- गलती से जारी हो गयी थी पहली चिट्ठी

BIHAR1 hour ago

बिहार में रोजगार के लिए 10 लाख रुपये देगी नीतीश सरकार, जानें नियम व शर्त

WORLD1 hour ago

अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम निकला कोरोना पॉजिटिव, कराची के मिलिट्री अस्पताल में भर्ती

MUZAFFARPUR2 hours ago

मुजफ्फरपुर नगर निगम के वार्ड 20 के पार्षद संजय केजरीवाल जदयू छोड़कर बने युवा राजद के प्रदेश महासचिव

MUZAFFARPUR2 hours ago

बिहार में गिरती हुई कानून व्यवस्था एवं STET परीक्षा रद्द होने के विरोध में CM का पुतला फूंका

BIHAR2 hours ago

पुष्पम प्रिया चौधरी पहुंची अणे मार्ग, नीतीश को बताया जेपी का नकली चेला

INDIA2 hours ago

लॉकडाउन में तंगी से गुजर रहे हैं मशहूर अभिनेता, घर का सामान बेच कर चला रहे काम

BIHAR4 hours ago

बिहार के DGP गुप्तेश्वर पांडेय हुए हाईटेक, यूट्यूब चैनल के बाद अब वेबसाइट भी बनाया

INDIA6 hours ago

AAP में शामिल हो सकते हैं नवजोत सिंह सिद्धू, केजरीवाल बोले उनका स्वागत है

BIHAR3 weeks ago

जानिए- बिहार के एक मजदूर ने ऐसा क्या कहा कि दिल्ली के अफसर की आंखों में आ गए आंसू

BIHAR4 weeks ago

बिहार के लिए हरियाणा से खुलेंगी 11 ट्रेनें, यहां देखिये गाड़ियों की पूरी लिस्ट

BIHAR3 weeks ago

बिहार के 4 जिलों के लिए मौसम विभाग का अलर्ट,वर्षा-वज्रपात और ओलावृष्टि की चेतावनी

TECH4 weeks ago

ज़बरदस्त ऑफर! सिर्फ 22,999 रुपये का हुआ सैमसंग का 63 हज़ार वाला धांसू स्मार्टफोन

MUZAFFARPUR1 week ago

मुजफ्फरपुर आ रहें हैं सोनू सूद, कहा साइकिल से घूमेंगे पुरा मुजफ्फरपुर

BIHAR3 weeks ago

बिहार में 33916 शिक्षकों की होगी बहाली, मैथ और साइंस के होंगे 11 हजार टीचर, यहां देखिये सभी विषयों की लिस्ट

INDIA3 weeks ago

घरेलू उड़ानों के लिए बुकिंग शुरू, पर शर्तें लागू; जानें आपको फायदा मिलेगा या नहीं

TECH7 days ago

आ रहा नोकिया का 43 इंच का TV, जानें कितनी होगी कीमत

INDIA3 weeks ago

भारत के 700 स्टेशनों के लिए चलेगी ट्रेन, रेल मंत्रालय ने कहा- रोज चलेंगी 300 ट्रेनें

INDIA4 weeks ago

महाराष्ट्र: औरंगाबाद में मालगाड़ी ने 19 मजदूरों को कुचला, 16 की मौत, सभी पटरी पर सो रहे थे

Trending