Connect with us

INDIA

सोनू सूद के शरण में गये भाजपा विधायक, सत्ता में बैठ कर सोनू सूद से मांग रहे मदद

Muzaffarpur Now

Published

on

एक कहावत बहुत प्रचलित है- कुर्सी है तुम्हारी, कोई जनाज़ा तो नहीं है कुछ कर नहीं सकते तो उतर क्यों नहीं जाते. ये बात बखूबी लागू होती है भाजपा के मध्यप्रदेश रीवा के भाजपा विधायक पर, विधायक जी मध्यप्रदेश के मामा जी के सरकार में भाजपा के टिकट पर विधायक है, केंद्र में बैठे हुक्मरान भी विधायक जी के ही बिरादर है, लेक़िन विधायक जी की बेशर्मी देखिये मदद मांगने के लिये उन्हें याद आये साधारण अभिनेता सोनू सूद. जो ना ही किसी पार्टी से जुड़ा है और ना ही कोई नेता है.

दरअसल रीवा के विधायक राजेंद्र शुक्ला ने ट्विटर पर मुंबई में फंसे रीवा के मजदूरों को घर भेजवाने की मदद मांगी है, विधयाक राजेन्द शुक्ला ने लिखा कि सोनू सूद आप रीवा के लोगो को घर भेजनें में मदद करे और दयावान सोनू सूद ने रिप्लाई भी दे दिया कि वो जल्द ही लोगो को रीवा भेज देंगे. सोनू सूद से मदद मांगते वक्त शायद विधायक जी भूल गये की वो दुनिया के सबसे बड़ी पार्टी के नेता है और सोनू सूद एक साधारण अभिनेता, विधायक जी को ये भी याद नही रहा कि महाराष्ट्र में भाजपा की सरकार विपक्ष की सबसे बड़ी दल है और कुछ दिन पहले तक सत्ता में भी थी, उन सबको छोड़ विधयाक जी ने मदद मांगी भी तो किससे एक साधारण अभिनेता से जो निःस्वार्थ लोगो की सेवा में लगा है.

ये रीवा के भाजपा विधायक के शायद मासूमियत ही कहेंगे कि अपने लोगो के लिये जब कुछ नहीं कर पाए तो सोनू सूद की शरण में चले गए और सोनू सूद ने विधायक जी के ट्वीट का जवाब भी दे दिया और लोगों को भेज भी देंगे, ठीक ही तो कहे ना- कुर्सी है तुम्हारी, जनाज़ा तो नही है, कुछ कर नहीं सकते तो उतर क्यों नहीं जाते.

Sonu Sood sends over 1000 migrant workers to Uttar Pradesh and ...

INDIA

लोकसभा में पास हुए किसानों से जुड़े बिल, 10 प्वाइंट में जानें क्या हैं विधेयक, क्यों हो रहा विरोध, किसने क्या कहा

Ravi Pratap

Published

on

कृषि से संबंधित अध्यादेश पर संसद में विधेयक लाने वाली केंद्र की मोदी सरकार को विपक्ष के साथ-साथ साथियों से भी झटका लगा। विधेयक को किसान विरोधी बताते हुए केंद्रीय मंत्री और शिरोमणि अकाली दल की सांसद हरसिमरत कौर बादल ने गुरुवार रात मोदी मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया। हालांकि, लोकसभा में कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य, संवर्द्धन और सुविधा विधेयक-2020; कृषक सशक्तिकरण एवं संरक्षण, कीमत आश्वासन समझौता और कृषि सेवा पर करार विधेयक-2020 साढ़े पांच घंटे की चर्चा के बाद पारित हो गया। इस दौरान विपक्ष ने वॉकआउट किया। वहीं, इससे संबंधित आवश्यक वस्तु (संशोधन) बिल मंगलवार को ही पास हो चुका है।

अध्यादेश के समय से ही विरोध: 
भाजपा की सहयोगी शिरोमणि अकाली दल अध्यादेश के समय से ही इसका विरोध कर रही है। गुरुवार को जब विधेयक लोकसभा में पेश किया गया तो अकाली दल के सांसद सुखबीर सिंह बादल ने विरोध करते हुए कहा कि हरसिमरत कौर बादल मंत्री पद से इस्तीफा देंगी। हरसिमरत केंद्रीय खाद्य एवं प्रसंस्करण उद्योग मंत्री है। अकाली दल भाजपा नीत एनडीए का हिस्सा है।

मेहनत बर्बाद कर देगा: 
सुखबीर ने चर्चा के दौरान कहा कि हमने सरकार को किसानों की भावना बता दी है। हमने प्रयास किया कि किसानों की आशंकाएं दूर हों लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। उन्होंने कहा कि पंजाब में लगातार सरकारों ने कृषि आधारभूत ढांचा तैयार करने के लिए कठिन काम किया लेकिन यह अध्यादेश उनकी 50 साल की मेहनत को बर्बाद कर देगा।

निजीकरण को बढ़ावा मिलेगा: 
चर्चा के दौरान कांग्रेस व अन्य विपक्षी दलों ने विधेयक का विरोध किया। उनका तर्क है कि यह काननू एमएसपी प्रणाली द्वारा किसानों को प्रदान किए गए सुरक्षा कवच को कमजोर करेगा। बड़ी कंपनियों को किसानों के शोषण का मौका देगा।

बिल क्रांतिकारी : 
कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने विपक्ष के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि किसानों से जुड़े तीनों विधेयक क्रांतिकारी साबित होंगे। इससे किसानों को उपज के लिए लाभकारी मूल्य दिलाना तय होगा। इस विधेयक से राज्य के कानूनों का अधिग्रहण नहीं होता।

क्या हैं ये बिल

किसान उपज व्‍यापार एवं वाणिज्‍य (संवर्धन एवं सुविधा) विधेयक, 2020 में एक पारिस्थितिकी तंत्र के निर्माण का प्रावधान किया गया है। इसमें किसान और व्‍यापारी विभिन्‍न राज्‍य कृषि उपज विपणन विधानों के तहत अधिसूचित बाजारों के भौतिक परिसरों या सम-बाजारों से बाहर पारदर्शी और बाधारहित प्रतिस्‍पर्धी वैकल्पिक व्‍यापार चैनलों के माध्‍यम से किसानों की उपज की खरीद और बिक्री लाभदायक मूल्‍यों पर करने से संबंधित चयन की सुविधा का लाभ उठा सकेंगे।

वहीं, किसान (सशक्तिकरण एवं संरक्षण) का मूल्‍य आश्‍वासन अनुबंध एवं कृषि सेवाएं विधेयक, 2020 में कृषि समझौतों पर राष्‍ट्रीय ढांचे के लिए प्रावधान है, जो किसानों को कृषि व्‍यापार फर्मों, प्रोसेसरों, थोक विक्रेताओं, निर्यातकों या बड़े खुदरा विक्रेताओं के साथ कृषि सेवाओं और एक उचित तथा पारदर्शी तरीके से आपसी सहमति वाला लाभदायक मूल्‍य ढांचा उपलब्ध कराता है।

विधेयक में क्या-क्या है

1. कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) विधेयक: 
उपज कहीं भी बेच सकेंगे। बेहतर दाम मिलेंगे। ऑनलाइन बिक्री होगी।
2. मूल्य आश्वासन तथा कृषि सेवाओं पर किसान (सशक्तिकरण और संरक्षण) समझौता: किसानों की आय बढ़ेगी। बिचौलिए खत्म होंगे। आपूर्ति चेन तैयार होगा।
3. आवश्यक वस्तु (संशोधन) : अनाज, दलहन, खाद्य तेल, आलू-प्याज अनिवार्य वस्तु नहीं रहेगी। इनका भंडारण होगा। कृषि में विदेशी निवेश आकर्षित होगा।

क्यों हो रहा है इस बिल का विरोध

1. मंडियां खत्म हो गईं तो किसानों को एमएसपी यानी न्यूनतम समर्थन मूल्य नहीं मिलेगा। वन नेशन वन एमएसपी होना चाहिए।
2. कीमतें तय करने का कोई मैकेनिज्म नहीं है। डर है कि इससे निजी कंपनियों को किसानों के शोषण का जरिया मिल जाएगा। किसान मजदूर बन जाएगा।
3. कारोबारी जमाखोरी करेंगे। इससे कीमतों में अस्थिरता आएगी। खाद्य सुरक्षा खत्म हो जाएगी। इससे आवश्यक वस्तुओं की कालाबाजारी बढ़ सकती है।

Continue Reading

INDIA

जया बच्चन पर गरजे ‘शक्तिमान’ बोले- ‘इंडस्ट्री किसी के बाप की नहीं है’

Muzaffarpur Now

Published

on

बॉलीवुड (Bollywood) एक्ट्रेस और समाजवादी पार्टी से राज्यसभा सांसद जया बच्चन (Jaya Bachchan) ने संसद में जो ‘थाली’ वाला बयान दिया, उस बयान के बाद बॉलीवुड के कुछ लोग उनकी इस बात से सहमत हैं तो कुछ उनकी इस बात का विरोध कर रहे हैं. भोजपुरी कलाकार और भाजपा सांसद रवि किशन के ड्रग्स को लेकर दिए बयान पर उन्होंने कहा था, ‘ये शर्म की बात है, लोग जिस थाली में खाते हैं उसी में छेद करते हैं.’ हाल ही में टीवी के ‘शक्तिमान’ और ‘महाभारत’ के भीष्म पितामाह यानी मुकेश खन्ना (Mukesh Khanna) ने जया के इस बयान का विरोध किया है.

Mukesh Khanna Calls Jaya Bachchan's 'Thaali' Remark 'Ridiculous', 'The  Industry Needs Sanitization' - Filmibeat

मुकेश खन्ना (Mukesh Khanna) ने जया बच्चन (Jaya Bachchan) के बयान का विरोध किया और दो टूक कहा कि उन्होंने किसी को थाली में खाना नहीं परोसा है. इंडस्ट्री किसी के बाप की नहीं है, यहां काम करने वाला हर शख्स मेहनत करता है. टीवी के ‘शक्तिमान’ यानी मुकेश खन्ना ने हाल ही में टाइम्स नाउ से बात की और इस मामले पर अपनी प्रतिक्रिया दी.

एक्टर ने कहा कि इंडस्ट्री सालों से चली आ रही है. अब इसमें नेपोटिज़्म बढ़ गया है, ग्रुपिज़्म बढ़ गया है और अगर रवि किशन ड्रग का मामला उठाते हैं और आप (जया बच्चन) पलटकर ये कहती हैं, ‘जिस थाली में खाते हो उसमें छेद करते हो.’ ये बयान हास्यास्पद है.

मुकेश खन्ना ने आगे कहा कि हां, आप ये कह सकते हैं कि उनका बयान सही है या गलत है, बात खत्म. आपने हमें खाना नहीं दिया है, अगर मैं इस लाइन में आया तो ये मेरी मेहनत है, यहां दूसरों की भी मेहनत लगती है. एक टीम की मेहनत लगती है, किसी के बाप की इंडस्ट्री नहीं है.

बॉलीवुड में ड्रग्स को लेकर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा कि ये कोई छोटी परेशानी नहीं है. अगर यहां ड्रग्स चलता है और इस मुद्दे को उठाया जा रहा है तो आपको दिक्कत क्यों हो रही है, आप ये क्यों कह रहे हैं कि इंडस्ट्री को क्रिटिसाइज मत करिए.

आपको बता दें कि इससे पहले रणवीर शौरी, शेखर सुमन, कंगना रनौत, जयाप्रदा और भोजपुर इंडस्ट्री के कई स्टार्स जया के इस बयान के बाद उन पर निशाना साध चुके हैं.

Source : News18

Continue Reading

BIHAR

पटना के सिंघम IPS रहे शिवदीप लांडे के हाथ में अब Anti Terrorist Squad की कमान

Muzaffarpur Now

Published

on

ips-shivdeep-lande

बिहार कैडर के 2006 बैच के आईपीएस अधिकारी शिवदीप वामन राव लांडे (Shivdeep Vaman Rao Lande) को महाराष्ट्र में बड़ी जिम्मेवारी सौंपी गई है. उन्हें महाराष्ट्र सरकार ने एंटी टेरेरिस्ट स्क्वॉड (Anti Terrorist Squad ) का डीआईजी बनाया है. पटना के सिटी एसपी के रूप में अपराधियों और काले धंधे में शामिल लोगों के लिए सबसे बड़ा दुश्‍मन माने जाने वाले लांडे फिलहाल गृह राज्य महाराष्ट्र में प्रतिनियुक्ति पर तैनात हैं और वर्तमान में वह हैदराबाद में 1 महीने की ट्रेनिंग ले रहे हैं. 9 अक्टूबर को ट्रेनिंग खत्म होने के बाद वह नए पद पर योगदान देंगे .

ips-shivdeep-lande

महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र के अकोला जिले के निवासी शिवदीप वामन राव लांडे नारकोटिक्स डिपार्टमेंट में एसपी के पद पर तैनात थे और इस दौरान उन्होंने नशे के सौदागरों के खिलाफ मुहिम चलाकर कई सफल आपरेशन को अंजाम दिया था. इस दौरान करोड़ों का मादक पदार्थ पकड़कर एक रिकॉर्ड भी बनाया. अपनी नई पोस्टिंग को लेकर News18 से बात करते हुए शिवदीप लांडे ने कहा कि सरकार ने उन्हें महत्वपूर्ण चुनौती दी है और वह पूरी प्रतिबद्धता और ईमानदारी के साथ नए दायित्व का निर्वहन करेंगे.

ips-shivdeep-lande

बता दें कि शिवदीप लांडे को (आईपीएस) के परीवीक्षाधीन अधिकारी के रूप में नक्सल प्रभावित जिले मुंगेर से 2010 में कैरियर की शुरुआत की. वह मुंगेर में ही अपर पुलिस अधीक्षक रहे. इसके बाद पटना के सिटी एसपी के रूप में उन्होंने राजधानी क्षेत्र में काम किया.

ips-shivdeep-lande

नवंबर 2011 में जब  शिवदीप लांडे को राजधानी पटना से हटाकर अररिया का पुलिस अधीक्षक बनाया गया तो पटना में लोगों ने तबादले का काफी विरोध किया था. युवाओं और छात्रों ने राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया था. युवाओं में विशेष लोकप्रिय लांडे के प्रशंसकों ने उनके नाम पर सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर अकाउंट खोल रखा है. फेसबुक पर उनके हजारों फॉलोवर हैं.

Continue Reading
INDIA2 mins ago

लोकसभा में पास हुए किसानों से जुड़े बिल, 10 प्वाइंट में जानें क्या हैं विधेयक, क्यों हो रहा विरोध, किसने क्या कहा

MUZAFFARPUR7 mins ago

जदयू शिक्षा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष कन्हैया सिंह पहुँचे मुजफ्फरपुर

JAYNAT-KANT-SSP-IPS
MUZAFFARPUR9 mins ago

बिहार चुनाव: मुजफ्फरपुर के SSP ने दिया निर्देश, पूर्ण शराबबंदी को हर हाल में लागू करें थानाध्यक्ष

INDIA24 mins ago

जया बच्चन पर गरजे ‘शक्तिमान’ बोले- ‘इंडस्ट्री किसी के बाप की नहीं है’

BIHAR33 mins ago

पीएम मोदी ने बिहार को दी 516 करोड़ की सौगात, कोसी महासेतु का किया उद्घाटन

BIHAR3 hours ago

बिहार में इस जगह मुस्लिमों ने भी किया सृजन के देवता भगवान विश्वकर्मा की पूजा

BIHAR3 hours ago

CM नीतीश आज करेंगे अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस ISBT का उद्घाटन, फेज-1 में बसों का परिचालन हो जाएगा शुरू

ips-shivdeep-lande
BIHAR3 hours ago

पटना के सिंघम IPS रहे शिवदीप लांडे के हाथ में अब Anti Terrorist Squad की कमान

BIHAR4 hours ago

बिहार में उद्घाटन से पहले बह गया करोड़ों में बना एक और पुल, तेजस्वी ने उठाए सवाल

BIHAR5 hours ago

पटना में 25 लाख में बिक रही थी एक छिपकली, इंटरनेशनल मार्केट में एक करोड़ है कीमत

BIHAR5 days ago

KBC जीत करोड़पति बने थे सुशील कुमार, सेलेब्रिटी बनने के बाद देखा सबसे बुरा समय

BIHAR5 days ago

जाते जाते भी लोगो के लिए मांग रखकर, रुला गए ब्रह्म बाबा..

BOLLYWOOD1 day ago

कंगना रनौत का जया बच्चन को जवाब- हीरो के साथ सोने के बाद मिलता था 2 मिनट का रोल

JOBS2 weeks ago

Amazon दे रहा पैसा कमाने का मौका! सिर्फ 4 घंटे में कमा सकते हैं 60000-70000 रु

BIHAR1 week ago

बारिश में भीगकर ट्रैफिक कंट्रोल कर रहा था कांस्टेबल, रास्ते से गुजर रहे DIG ने गाड़ी रोक किया सम्मानित

MUZAFFARPUR7 days ago

पिता जदयू में और मां लोजपा में, बेटी कोमल सिंह लड़ेगी मुजफ्फरपुर के गायघाट से चुनाव!

BIHAR4 weeks ago

क्या बिहार के डीजीपी ने दे दिया इस्तीफा? जानिए खुद गुप्तेश्वर पांडेय ने ट्वीट कर क्या कहा?

BIHAR4 weeks ago

सुशांत सिंह की संपत्ति पर पिता ने जताया दावा, बोले- इस पर केवल मेरा हक

BIHAR3 weeks ago

बिहार में बड़ी संख्या में निकलने वाली है कंप्यूटर ऑपरेटर्स की भर्ती, कर लें तैयारी

INDIA3 weeks ago

एलपीजी सिलिंडर बुकिंग पर मिल रहा है 500 रुपये तक का कैशबैक, करें बस यह छोटा सा काम

Trending