Connect with us

BIHAR

हाजीपुर में पुलिस-अ’पराधियों के बीच ए’नका’उंटर, बाल-बाल बचे थाना प्रभारी, एक अ’पराधी ढे’र

Santosh Chaudhary

Published

on

BREAKING NEWS MUZAFFARPUR

इस वक्त की बड़ी ख़बर वैशाली जिले के हाजीपुर से आ रही है जहां पुलिस-अ/पराधियों के बीच मु/ठभेड़ हुई है. लालगंज के तीनपुलवा चौक पर पुलिस और ब/दमाशों के बीच ए/नका/उंटर हुई है.

BREAKING NEWS MUZAFFARPUR

 

अपराधियों ने पुलिस की वैन पर फायरिंग की है. जिसमें लालगंज थाना प्रभारी सुनील कुमार बाल-बाल बचे हैं. पुलिस की जबावी कार्रवाई में एक अपराधी ढेर हो गया है.

बताया जा रहा है कि बदमाशों ने पुलिस की वैन पर ताबड़तोड़ फायरिंग करनी शुरू कर दी, जिसके बाद पुलिस ने जवाबी फायरिंग की. पुलिस की फायरिंग में बैजू महतो नाम का बदमाश ढेर हो गया है. वहीं पुलिस ने एक अपराधी को गिरफ्तार कर लिया है जबकि एक बदमाश मौके से फरार हो गया.

Input : First Bihar

BIHAR

बच जाएगा बेनीपुरी का घर, पूरा होगा रघुवंश बाबू का सपना

Muzaffarpur Now

Published

on

benipuri-house-will-be-saved-raghuvansh-babu-dream-will-be-fulfilled

अब औराई प्रखंड के बेनीपुर गांव में समाजवाद के पुरोधा, कलम के जादूगर रामबृक्ष बेनीपुरी द्वारा बनवाया गया उनका ऐतिहासिक मकान और उनकी समाधि बच जाएगी। पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं समाजवादी नेता रघुवंश प्रसाद सिंह के पत्र के आलोक में राज्य सरकार ने बेनीपुर गांव में उनके जमींदोज हो रहे मकान के चारों तरफ रिंग बांध बनाने की घोषणा की है। इस मकान की दीवारें जयप्रकाश नारायण, प्रभावती देवी, राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर, शिवपूजन सहाय, फिल्मकार पृथ्वीराज कूपर एवं सूरजनारायण सिंह समेत अनेक समाजवादी राजनेताओं और साहित्यकारों की मेजबानी की साक्षी हैं। बागमती तटबंध के निर्माण के बाद बेनीपुर गांव वीरान हो गया। सैकड़ों परिवार विस्थापित हो गए। बेनीपुरी का मकान और दरवाजे पर उनका समाधि स्थल बागमती की रेत में जमींदोज होने लगा। विरासत को बचाने व संजाने की मुख्यमंत्री की पहल से मुजफ्फरपुर और खासकर बेनीपुर गांव में खुशी की लहर दौड़ गई है। जल संसाधन विभाग के आदेश पर बागमती प्रमंडल के मुख्य अभियंता शांति रंजन प्रसाद ने बेनीपुरी जी के घर के चारों तरफ रिंग बांध बनाने का प्रस्ताव भेजा है।

रघुवंश बाबू ने संरक्षण का भरोसा दिया था

रघुवंश प्रसाद सिंह 23 दिसंबर 2016 को ऐतिहासिक मकान के सामने बेनीपुरी जयंती समारोह में शामिल हुए। बेनीपुरी चेतना समिति की ओर से डॉ. महेंद्र बेनीपुरी एवं महंथ राजीव रंजन दास ने बेनीपुरी स्मारक के विकास एवं मकान को सुरक्षित कराने की मांग की थी। रघुवंश प्रसाद सिंह ने विरासत के संरक्षण के लिए हर संभव प्रयास की घोषणा की थी। राज्य के जल संसाधन मंत्री संजय झा ने बताया कि रघुवंश प्रसाद सिंह ने अंतिम सांस लेने से पहले एक पत्र उनके विभाग को भी लिखा, जिसमें बेनीपुरी के मकान और समाधि को बचाने की मांग की गई है। मुख्यमंत्री ने रघुवंश बाबू के पार्थिव शरीर पर माल्यार्पण के शीघ्र बाद उनके पत्र के ऐसे कार्यों को पूरा करने का निर्देश दिया है, जो संभव हैं।

पुल और सड़क से जोड़ने का प्रस्ताव

बेनीपुरी की जयंती पर हर साल 23 सितंबर को सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ता और साहित्यकार नाव से बागमती नदी पार कर बेनीपुर गांव में समारोह आयोजित करते रहे हैं। गांव की सड़क, स्कूल, अधिकांश मकान एवं बिजली के खंभे भी जमींदोज हो चुके हैं। गांव पहुंचने में भारी परेशानी होती है और ऐतिहासिक धरोहर के विलुप्त होने का खतरा पैदा हो गया है। जल संसाधन विभाग ने रिंग बांध निर्माण कर उसके अंदर बेनीपुरी के मकान के चारों ओर दीवार बनाने और उस पर ग्रिल लगाने का प्रस्ताव भेजा है। प्रस्ताव में मकान तक पहुंचने के लिए बिहार राज्य पुल निर्माण निगम के माध्यम से पुल और संपर्क सड़क बनवाने का भी सुझाव दिया गया है। तत्काल पुल व संपर्क सड़क पर अंतिम निर्णय नहीं हुआ है।

यह घर नहीं, बेनीपुरी की समाधि

एक बार रामधारी सिंह दिनकर ने घर को देखते हुए बेनीपुरी जी से कहा था, अगर ऐसा घर शहर में बनवाते तो पर्याप्त किराया मिलता। बनेपुरी ने जवाब दिया था, यह घर नहीं मेरी समाधि है। यही बात उन्होंने दो जनवरी 1953 को जयप्रकाश नारायण के सामने तब दोहरायी, जब उन्होंने कहा था कि यह घर नहीं महल है। नाटककार बेनीपुरी इंग्लैंड यात्रा के दौरान 16 मई 1951 को शेक्सपीयर के गांव पहुंचे थे। एवन नदी के किनारे म्यूजियम और स्मारक की तरह सजाए गए शेक्सपीयर का घर देखकर बेनीपुरी भावुक हो गए। वे लिखते हैं-मैं भी एक छोटा सा नाटककार हूं। इस तरह शेक्सपीयर मेरे गोत्र के थे-यह भावना और भाव विभोर बना रही है….. क्या हम राजापुर में तुलसीदास की और बिस्फी में विद्यापति की स्मृति में कुछ ऐसा ही आयोजन नहीं कर सकते हैं?

Source : Hindustan

Continue Reading

BIHAR

रघुवंश बाबू के नाम होगी म्यूजियम की गैलरी, दस्तावेज हमेशा रखेंगे जीवंत

Muzaffarpur Now

Published

on

पूर्व केंद्रीय मंत्री व कद्दावर राजनेता रघुवंश प्रसाद सिंह (Raghuvansh Prasad Singh) का रविवार को इलाज के दौरान निधन हो गया। दिल्‍ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (Delhi AIIMS) में उन्होंने अंतिम सांस ली। सोमवार को वैशाली जिले के महनार हसनपुर घाट पर राजकीय सम्‍मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया। रघुवंश बाबू की यादों को सहेजने के लिए वैशाली नगवां म्यूजियम ने अपनी एक गैलरी उनके नाम कर दी है।

जीवंत बनाए रखने के लिए ‘डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह गैलरी’

म्यूजियम में एक गैलरी का नामकरण डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह गैलरी करने का ऐलान उनके निधन पर श्रद्धांजलि देते हुए सोमवार को किया गया। म्यूजियम के संस्थापक सचिव चितरंजन पटेल ने कहा कि डॉ. रघुवंश बाबू जैसे असाधारण व्यक्तित्व को वह हमेशा जीवंत बनाए रखने का काम करेंगे। चितरंजन ने कहा कि डॉक्टर रघुवंश के चहने वाले देश के हर कोने के लोग हैं।

राजनीतिक जीवन की गतिविधियां के साथ होगा बहुत कुछ

नगवां म्यूजियम में उनके नाम पर बनाई गयी गैलरी में डॉ रघुवंश बाबू के जीवन से जुड़ी तथ्यात्मक रिपोर्ट, उनके छायाचित्र, वक्तव्यों से संबंधित अखबारी कतरन, संसद में संबोधन से जुड़े दस्तावेज, राजनीतिक जीवन की गतिविधियां, केंद्रीय मंत्री रहते उनके द्वारा संचालित मनरेगा, पीएम ग्रामीण सड़क निर्माण योजना एवं अन्य योजनाओं से संबंधित उपलब्धि को संग्रहीत किया जाएगा। इससे आने वाली पीढ़ी के साथ म्यूजियम पहुंचने वाले पर्यटक भी उनकी जीवनी से रूबरू हो सकेंगे।

विधानसभा परिसर में दी श्रद्धां‍जलि

इसके पहले रघुवंश प्रसाद सिंह का पार्थिव शरीर रविवार की शाम में बिहार की राजधानी पटना पहुंचा, जिसके बाद विधानसभा परिसर ले जाया गया। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, स्पीकर विजय कुमार चौधरी, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव तथा बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी सहित कई लोगों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। उसके बाद आम लोगों के दर्शन के लिए पार्थिव शरीर को कौटिल्या नगर स्थित आवास में रखा गया।

Continue Reading

BIHAR

हाजीपुर-घोसवर-वैशाली के बीच दौड़ेगी ट्रेन, आज PM मोदी के उद्घाटन करते ही पूरी होगी 60 साल की मांग

Muzaffarpur Now

Published

on

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जनतंत्र कि जननी वैशाली से हाजीपुर तक चलने वाली ट्रेन का आज उद्घाटन करेंगे। इसी के साथ करीब 60 बर्षों से चली आ रही स्थानीय लोगों की मांग पूर्ण होगी। रेलवे द्वारा इसकी तैयारी शुरू हो गई है। रेलवे द्वारा जारी पत्र के अनुसार शुक्रवार 18 सितंबर को 11.45 मिनट पर वैशाली स्टेशन से पैसेंजर ट्रेन नंबर 05520/05519 सोनपुर के लिए प्रस्थान करेगी। लालगंज घटारो, हरौली फतेहपुर, घोसवर और हाजीपुर होते हुए सोनपुर तक ट्रेन जाएगी।

एक घंटे 45 मिनट में पूरा हो जाएगा सफल

वैशाली से सोनपुर तक का सफर एक घंटे 45 मिनट में पूरा होगा। वैशाली स्टेशन पर यात्रियों की सुविधा के लिए सभी आवश्यक कई व्यवस्थाएं की गई हैं। यात्री शेड, पीने के पानी की व्यवस्था, पर्यटकों की सुविधा के लिए तीन टिकट काउंटर के बगल में ही पर्यटन सूचना केंद्र बनाया गया है। साइबर कैफ़े, स्लीपर क्लास प्रतिक्षालय हैं। एक एयर कंडीशन विश्रामगृह, एक साधारण, महिलाओं और पुरुषों के लिए अलग-अलग शौचालय, क्लॉक रूम और पार्सल घर है।

Trains will run from Hajipur to Vaishali in the new year

वैशाली से वापसी का समय शाम का करने की मांग

इधर ट्रेन के समय को लेकर स्थानीय लोगों का कहना है कि आने वाले दिनों समस्या होगी। इसका वैशाली से वापसी का समय शाम का होना चाहिए। सुबह में वैशाली से जाने और शाम में वापसी होनी चाहिए। ट्रेन को पाटलिपुत्र तक बढाया जाना चाहिए, ताकि पटना से वैशाली सीधा जुड़ जाय। यहां से कोलकाता, बनारस, दिल्ली, अहमदाबाद, मुम्बई,चेन्नई जैसे शहरों के लिए भी पूरी ट्रेन नहीं तो एक बोगी की व्यवस्था होनी चाहिए।

वैशाली के समग्र विकास में मिलेगी सहायता

इधर उद्घाटन समारोह के लिए रेलवे के द्वारा किसी भी स्थानीय जनप्रतिनिधि को सूचना नहीं दी गई है। वैशाली के विधायक राजकिशोर सिंह ने बताया कि उन्हें विभाग के द्वारा कोई सूचना नहीं दी गई है। उन्होंने कहा कि विकास पुरुष नीतीश कुमार जब रेल मंत्री थे, उस समय तात्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा इस रेल लाइन का शिलान्यास हुआ था। आज उनके मुख्यमंत्री रहते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा उद्घाटन होगा, इससे वैशाली के समग्र विकास में सहायता मिलेगी। यह एक बड़ी उपलब्धि है।

मील का पत्थर साबित होगा निर्णय

इस रेल लाइन के लिए वर्ष 2003 से संघर्ष कर रहे पूर्व जिला पार्षद अवधेश कुमार सिंह ने बताया कि उद्घाटन समारोह की कोई जानकारी नहीं है, फिर भी वह वैशाली में उपस्थित रहेंगे। वैशाली के विकास में शुक्रवार का दिन मील का पत्थर साबित होगा। स्थानीय हरेन्द्र राय ने कहा कि हजारों की संख्या में लोग उपस्थित होंगे नवनियुक्त स्टेशन मास्टर धर्मेन्द्र शर्मा ने बताया कि समारोह की तैयारी चल रही है।

Continue Reading
benipuri-house-will-be-saved-raghuvansh-babu-dream-will-be-fulfilled
BIHAR1 hour ago

बच जाएगा बेनीपुरी का घर, पूरा होगा रघुवंश बाबू का सपना

BIHAR2 hours ago

रघुवंश बाबू के नाम होगी म्यूजियम की गैलरी, दस्तावेज हमेशा रखेंगे जीवंत

BIHAR2 hours ago

हाजीपुर-घोसवर-वैशाली के बीच दौड़ेगी ट्रेन, आज PM मोदी के उद्घाटन करते ही पूरी होगी 60 साल की मांग

BIHAR2 hours ago

बिहार पर मोदी सरकार मेहरबान, 21 सितंबर से 20 जोड़ी और ट्रेन चलेंगी, 12 बिहार से

BIHAR11 hours ago

‘रघुवंश बाबू के साथ आरजेडी ने बहुत बुरा बर्ताव किया, उन्हें शर्मिंदा होना चाहिए’

INDIA11 hours ago

इस मंत्री ने मां दुर्गा को लिख डाली ‘चिट्ठी’, मांगा डिप्टी CM बनने का आशीर्वाद

WORLD11 hours ago

दुनिया में पहली बार ‘Living Coffin’ में किया गया अंतिम संस्‍कार, अनूठी चीज से बना है ये ताबूत

BOLLYWOOD12 hours ago

जया बच्चन पर भड़कीं जया प्रदा, पूछा- जब आजम खां ने मुझ पर टिप्पणी की, तब क्यों चुप थीं

MUZAFFARPUR12 hours ago

मुजफ्फरपुर में बड़े व्यवसायी एवं वार्ड पार्षद के घर समेत वित्तीय ठिकानों पर आयकर की रेड

BIHAR12 hours ago

भाजपा विधायक को लोगों ने खदेड़ा, धक्का मारकर गांव से निकाला, MLA के साथ हाथापाई की नौबत

BIHAR5 days ago

KBC जीत करोड़पति बने थे सुशील कुमार, सेलेब्रिटी बनने के बाद देखा सबसे बुरा समय

BIHAR5 days ago

जाते जाते भी लोगो के लिए मांग रखकर, रुला गए ब्रह्म बाबा..

JOBS2 weeks ago

Amazon दे रहा पैसा कमाने का मौका! सिर्फ 4 घंटे में कमा सकते हैं 60000-70000 रु

BIHAR1 week ago

बारिश में भीगकर ट्रैफिक कंट्रोल कर रहा था कांस्टेबल, रास्ते से गुजर रहे DIG ने गाड़ी रोक किया सम्मानित

BOLLYWOOD22 hours ago

कंगना रनौत का जया बच्चन को जवाब- हीरो के साथ सोने के बाद मिलता था 2 मिनट का रोल

MUZAFFARPUR6 days ago

पिता जदयू में और मां लोजपा में, बेटी कोमल सिंह लड़ेगी मुजफ्फरपुर के गायघाट से चुनाव!

BIHAR4 weeks ago

क्या बिहार के डीजीपी ने दे दिया इस्तीफा? जानिए खुद गुप्तेश्वर पांडेय ने ट्वीट कर क्या कहा?

BIHAR4 weeks ago

सुशांत सिंह की संपत्ति पर पिता ने जताया दावा, बोले- इस पर केवल मेरा हक

BIHAR3 weeks ago

बिहार में बड़ी संख्या में निकलने वाली है कंप्यूटर ऑपरेटर्स की भर्ती, कर लें तैयारी

INDIA3 weeks ago

एलपीजी सिलिंडर बुकिंग पर मिल रहा है 500 रुपये तक का कैशबैक, करें बस यह छोटा सा काम

Trending