Connect with us

JOBS

है दुनिया की अनोखी Job, जहां डिग्री नहीं ‘कॉफी मग’ डिसाइड करता है कि नौकरी मिलेगी या नहीं

Published

on

ऐसे बहुत ही कम लोग होते हैं जो इस टेस्ट को पास कर पाते हैं, क्योंकि अक्सर लोग मग को जहां खड़े या बैठे होते हैं वहीं रख देते हैं. ट्रेंट के मुताबिक यह टेस्ट व्यक्ति का व्यवहार और उसके तौर-तरीके देखने के लिए लिया जाता है.

दुनिया भर में हर जहां कहीं भी लोग नौकरी के लिए जाते हैं, उन्हें अलग-अलग तरह के टेस्ट से गुजरना पड़ता है. जहां कभी केंडिडेट्स से अलग-अलग तरह के प्रश्न पूछे जाते हैं तो कभी उनके बात करने और दिमागी स्तर का परीक्षण किया जाता है. लेकिन, हाल ही में सोशल मीडिया पर एक कंपनी का अलग ही तरह का टेस्ट काफी तेजी से वायरल हो रहा है. जिसमें किसी भी केंडिडेट की नौकरी एक कप कॉफी पर डिपेंड करती है. जी हां, सही सुन रहे हैं आप. सोशल मीडिया पर इन दिनों ‘कॉफी कप टेस्ट’ काफी तेजी से वायरल हो रहा है. हर तरफ लोग इसी अजीबो-गरीब टेस्ट की बात कर रहे हैं.

Advertisement

दरअसल, जेरो ऑस्ट्रेलिया नाम की कंपनी के बॉस ट्रेंट इन्नेस ने नई हायरिंग्स के लिए एक नया कॉन्सेप्ट निकाला है. जहां वह केंडिडेट्स को इंटरव्यू के दौरान अपने साथ किचेन की तरफ ले जाते हैं, जहां वह उन्हें कॉफी मग देते हैं और फिर बात करते हुए किचेन से बाहर निकल आते हैं. ऐसे में इंटरव्यू खत्म होने पर वह यह देखते हैं कि उसने खाली मग किचेन में वापस रखा या नहीं. अगर केंडिडेट खाली मग को किचेन में वापस रख देता है तो वह इस टेस्ट को पास कर लेता है और अगर वह मग को जहां खड़ा या बैठा होता है वहीं रखकर छोड़ देता है तो वह टेस्ट में फेल माना जाता है.

ये है दुनिया की अनोखी Job, जहां डिग्री नहीं 'कॉफी मग' डिसाइड करता है कि नौकरी मिलेगी या नहीं

ट्रेंट के मुताबिक, ऐसे बहुत ही कम लोग होते हैं जो इस टेस्ट को पास कर पाते हैं, क्योंकि अक्सर लोग मग को जहां खड़े या बैठे होते हैं वहीं रख देते हैं. ट्रेंट के मुताबिक यह टेस्ट व्यक्ति का व्यवहार और उसके तौर-तरीके देखने के लिए लिया जाता है. क्योंकि आप किसी व्यक्ति को नौकरी देकर उसके स्किल में तो सुधार कर सकते हैं, लेकिन व्यवहार और तौर-तरीकों में नहीं. बता दें इन दिनों तमाम कंपनियां नौकरी देते वक्त आपके सोशल मीडिया एकाउंट पर भी खासी नजर रखती हैं, ताकि वह आपके व्यवहार और तौर-तरीकों को समझ सकें. आज के समय में ऐसी कई कंपनियां हैं जो आपको आपके सोशल मीडिया एकाउंट को परख कर नौकरी दे रही हैं.

Advertisement

Input : Zee News

 

Advertisement
Advertisement

JOBS

IAF ने जारी की ‘अग्निपथ योजना’ की डिटेल- साल में 30 दिन छुट्टी, बीमा कवर, कैंटीन सुविधा समेत बहुत कुछ

Published

on

केंद्र सरकार की ओर से सशस्त्र बलों में भर्ती के लिए लाई गई नई योजना ‘अग्निपथ’ को लेकर जारी विरोध के बीच भारतीय वायुसेना ने इस स्कीम से जुड़ी जानकारियां साझा कर दी हैं. अग्निपथ योजना के तहत इंडियन एयरफोर्स में 4 साल के लिए भर्ती होने वाले अग्निवीरों को वर्ष में 30 दिन की छुट्टी मिलेगी. इसके अलावा कैंटीन की सुविधा भी रहेगी. एयरफोर्स की ओर से उन्हें यूनिफॉर्म के ​अलावा इंश्योरेंस कवर भी मुहैया कराया जाएगा.

युवा इस योजना का विरोध कर रहे हैं. केंद्र सरकार और तीनों सेनाएं लगातार उनको ‘अग्निपथ योजना’ के प्रति जागरूक करने का काम कर रही हैं. इस योजना के बारे में सही जानकारी युवाओं तक पहुंचाने की कोशिश में लगी हुई हैं. इसी क्रम में भारतीय वायुसेना ने अपनी वेबसाइट पर अग्निपथ योजना से जुड़ी तमाम जानकारियां साझा की हैं. भारतीय वायुसेना के मुताबिक अग्निवीरों को वही सारी सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी, जो नियमित सेवा वाले सैनिकों को मिलती हैं.

Advertisement

भारतीय वायुसेना के अग्निवीरों को मिलेंगी निम्न सुविधाएं

Advertisement

भारतीय वायुसेना की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक अग्निवीरों को मासिक वेतन के साथ हार्डशिप अलाउंस, यूनिफॉर्म अलाउंस, कैंटीन और मेडिकल सुविधा भी प्रदान की जाएगी, जैसा कि एयरफोर्स के एक नियमित सैनिक को मिलती है. अग्निवीरों को ट्रैवल अलाउंस भी मिलेगा. साल में 30 दिन छुट्टी मिलेगी, साथ में मेडिकल लीव अलग से मिलेगा. हालांकि, यह मेडिकल चेकअप पर निर्भर करेगा. भारतीय वायुसेना में अग्निपथ योजना के तहत अग्निवीरों की भर्ती होने की उम्र 17.5 से 21 वर्ष होगी.

Advertisement

सर्विस (चार साल) के दौरान अगर अग्निवीर की मृत्यु होती है तो बीमा कवर मिलेगा, जिसके तहत उसके परिवार को करीब 1 करोड़ की आर्थिक सहायता ​दी जाएगी. ड्यूटी के दौरान विकलांग होने पर एक्स-ग्रेशिया 44 लाख रुपये मिलेंगे. साथ ही जितनी नौकरी बची है, उसकी पूरी सैलरी मिलेगी और सेवा निधि पैकेज भी मिलेगा. अग्निवीरों का कुल 48 लाख का इंश्योरेंस होगा. ड्यूटी में रहते वीरगति को प्राप्त होते हैं, तो एकमुश्त सरकार की तरफ से 44 लाख दिए जाएंगे और सेवा निधि पैकेज अलग रहेगा. इसके अलावा जितनी नौकरी बची है उसकी पूरी सैलरी मिलेगी.

Genius-Classes

इंडियन एयरफोर्स में 24 जून से शुरू होगी ​अग्निवीरों की भर्ती

Advertisement

आपको बता दें कि भारतीय वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वी.आर चौधरी पहले ही कह चुके हैं कि अग्निपथ योजना के तहत चयन प्रक्रिया 24 जून से शुरू हो जाएगी. उन्होंने यह भी कहा है कि 2022 के लिए अग्निपथ योजना के तहत इंडियन एयरफोर्स में भर्ती किए जाने वालों की उम्र सीमा बढ़ा कर 23 वर्ष कर दी गई है, जिससे कोरोना महामारी काल में भर्ती नहीं निकलने के कारण उम्र गंवाने वाले युवाओं के एक बड़े हिस्से को इसमें शामिल किया जा सकेगा. नई योजना के तहत 4 साल के सेवाकाल के दौरान करीब 2.5 महीने से 6 महीने तक के प्रशिक्षण की अवधि होगी.

Source : News18

Advertisement

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

nps-builders

Continue Reading

JOBS

गृहमंत्री अमित शाह का बड़ा ऐलान, कार्यकाल के बाद अग्निवीरों को केंद्रीय बलों की भर्ती में मिलेगी प्राथमिकता

Published

on

‘अग्निपथ योजना’ को लेकर युवाओं में भ्रम की स्थिति है. इस योजना का विरोध करने के लिए देश के कई शहरों में विरोध प्रदर्शन चल रहे हैं. ऐसे में देश के गृहमंत्री अमित शाह ने साफ कर दिया है कि अग्निपथ योजना के तहत सेना के तीनों अंगों में सेवा देने के चार साल बाद अग्निवीरों के लिए रास्ते बंद नहीं होंगे. अमित शाह ने कहा कि गृह मंत्रालय ने निर्णय लिया है कि अग्निवीर योजना में चार साल पूरा करने वाले अग्निवीरों को केंद्रीय बलों और असम राइफल्स में भर्ती में प्राथमिकता दी जाएगी.

Genius-Classes

गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर कहा कि गृह मंत्रालय के इस निर्णय से अग्निपथ योजना से प्रशिक्षित युवा आगे भी देश की सेवा और सुरक्षा में अपना योगदान दे पाएंगे. उन्होंने कहा कि इस निर्णय पर विस्तृत योजना बनाने का काम शुरू हो गया है.

Advertisement

अग्निवीरों के पास होंगे कई अवसर

गृह मंत्रालय का यह फैसला बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि सेना में 4 साल सेवा देने के बाद अग्निवीरों के लिए केंद्रीय बलों और असम राइफल्स में भर्ती के दरवाजे खुल जाएंगे. साथ ही इस फैसले से केंद्रीय बलों जैसे सीआरपीएफ, बीएसएफ, सीआईएसफ, आइटीबीपी, एसएसबी और असम राइफल्स में करीब मौजूदा 73,000 रिक्त पदों को भरने में सहायता मिलेगी. वहीं केंद्रीय बलों और असम राइफल को प्रशिक्षित युवाओं की सेवा मिल पाएगी, जो पहले से ही ट्रेनिंग पा चुके होंगे.

Advertisement

असम राइफल्स में 73 हजार से अधिक पद रिक्त हैं

16 मार्च को राज्यसभा में एक लिखित जवाब में गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने कहा था कि केंद्रीय बलों और असम राइफल्स में कुल 73,219 पद रिक्त है, जिसमें गज़ेटेड अधिकारियों के 1969, सबॉर्डिनेट अधिकारियों के 23,129 और अन्य रैंक के 48,121 पद रिक्त पड़े हैं. लिखित जवाब में यह भी कहा गया कि 2017 और 2021 के बीच करीब एक लाख कर्मियों की नियुक्तियां केंद्रीय बलों में हुईं.

Advertisement

रिक्तियों को संबंधित भर्ती नियमों के प्रावधानों के अनुसार सीधी भर्ती, पदोन्नति, प्रतिनियुक्ति आदि जैसे भर्ती के विभिन्न माध्यमों से किया जाता है. जब कभी रिक्तियां पैदा होती है तब उन्हें भर्ती रैलियां चलाने, विभागीय परीक्षाएं आयोजित करने आदि के साथ-साथ विभिन्न एजेंसियों जैसे यूपीएससी और एसएससी के माध्यम से भरने के लिए उपाय किए जा रहे हैं. रिक्तियों को भरना एक निरंतर चलने वाली प्रक्रिया है और रिक्तियों को भर्ती की संबंधित विधियों के माध्यम से जल्द भरने के लिए प्रयास किए जाते हैं.

Source : News18

Advertisement

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

nps-builders

Continue Reading

JOBS

आर्मी चीफ जनरल मनोज पांडे की घोषणा- 2 दिन में जारी हो जाएगा ‘अग्निपथ सेना भर्ती’ का नोटिफिकेशन

Published

on

देशभर में ‘अग्निपथ योजना’ को लेकर जारी विरोध प्रदर्शनों के बीच थल सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने शुक्रवार को न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया कि 2022 के भर्ती चक्र के लिए प्रवेश आयु को बढ़ाकर 23 वर्ष करने के लिए एकमुश्त छूट देने का सरकार का निर्णय प्राप्त हुआ है. यह निर्णय हमारे ऊर्जावान और देशभक्त युवाओं के लिए एक अवसर प्रदान करेगा, जो COVID महामारी के बावजूद भर्ती रैलियों में शामिल होने की तैयारी कर रहे थे, जो पिछले दो वर्षों में COVID प्रतिबंधों के कारण पूरी नहीं हो सकीं.

Genius-Classes

थल सेना प्रमुख जनरल पांडे ने कहा, ‘जल्द ही भर्ती प्रक्रिया शुरू होने वाली है. अगले 2 दिनों के भीतर http://joinindianarmy.nic.in पर नोटिफिकेशन जारी कर दिया जाएगा. उसके बाद हमारे सेना भर्ती संगठन पंजीकरण और रैली का विस्तृत कार्यक्रम घोषित करेंगे. जहां तक ​​भर्ती प्रशिक्षण केंद्रों पर जाने वाले अग्निवीरों का सवाल है, तो केंद्रों पर इस दिसंबर (2022 में) से अग्निवीरों के पहले बैच का प्रशिक्षण शुरू होगा. हम अपने युवाओं का आह्वान करते हैं कि वे भारतीय सेना में अग्निवीर के रूप में शामिल होने के इस अवसर का लाभ उठाएं.’

Advertisement

इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी शुक्रवार सुबह न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में युवाओं से भर्ती की तैयारी करने और इस योजना का लाभ उठाने की अपील की. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा घोषित की गई अग्निपथ योजना भारत के नौजवानों को देश की रक्षा व्यवस्था से जुड़ने और देश की सेवा करने का एक सुनहरा अवसर देता है.

Advertisement

इससे पहले 14 जून को अग्निपथ योजना की घोषणा करते हुए बताया गया था कि इसके तहत आवेदन करने वालों की सीमा आयु 17.5 से 21 वर्ष निर्धारित की गई है. पिछले 2 वर्षों के दौरान कोरोना महामारी के कारण सशस्त्र बलों में भर्ती नहीं हुई है. अग्निपथ स्कीम के ​खिलाफ देशभर में हिंसक विरोध प्रदर्शन शुरू होने के कारण केंद्र सरकार ने निर्णय लिया कि साल 2022 के लिए आयु सीमा में छूट दी जाएगी जिसके तहत आवेदन करने वालों की ऊपरी आयु सीमा 21 से बढ़ाकर 23 वर्ष कर दी गई है.

क्या है अग्निपथ स्कीम?

Advertisement

केंद्र सरकार ने 14 जून को थल सेना, नौसेना और वायुसेना में सैनिकों की भर्ती के लिए ‘अग्निपथ योजना’ का ऐलान किया था. इसके तहत अल्पकाल के लिए सैनिकों की भर्ती की जएगी, जिन्हें ‘अग्निवीर’ कहा जाएगा. अग्निवीरों की भर्ती 4 साल के लिए होगी. इस योजना के तहत भर्ती होने वाले 75 प्रतिशत सैनिक 4 साल बाद रिलीज कर दिए जाएंगे. बाकी 25 प्रतिशत को तीनों सेनाएं रिटेन करेंगी. इसके लिए अग्निवीरों को आवेदन करना होगा और टेस्ट से गुजरना होगा.

चार साल के दौरान एक अग्नीवर को करीब 30,000 रुपए महीने की सैलरी मिलेगी, जो चौथे साल तक बढ़कर 40,000 हो जाएगी. सैलरी के अलावा रिस्क और हार्डशिप अलाउंस, राशन अलाउंस, ड्रेस और ट्रैवल अलाउंस मिलेगा. स्पेशलाइज्ड मैनपावर के लिए आईटीआई और दूसरे टेक्निकल इंस्टिट्यूट्स से युवाओं को लिया जाएगा. चार साल की सेवा पूरी करने के बाद बाद रिलीज होने वाले सैनिकों को सेवा निधि के तहत करीब 12 लाख रुपए मिलेंगे. इसमें हर महीने सैलरी से 30 पर्सेंट अमाउंट कटेगा और इतनी ही राशि सरकार देगी.

Advertisement

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

चार साल में यह रकम 11 लाख 70 हजार रुपये हो जाएगी. इसमें कोई इनकम टैक्स नहीं लगेगा. अग्निवीर का 48 लाख रुपये का लाइफ इंश्योरेंस कवर होगा. इसके लिए उन्हें अपनी सैलरी से कोई योगदान नहीं देना होगा. लाइफ इंश्योरेंस कवर के अलावा सर्विस के दौरान मौत हो जाने पर 44 लाख रुपये का एक्स ग्रेशिया भी मिलेगा, साथ ही जितनी सर्विस बची होगी उसकी सैलरी और उस बचे वक्त की सेवा निधि का हिस्सा भी मिलेगा. विकलांग होने पर सर्विस से बाहर हुए तो वन टाइम की आर्थिक मदद का प्रावधान होगा.

Source : News18

Advertisement

nps-builders

Continue Reading
BIHAR2 hours ago

बिहार विधानसभा में राजद फिर बनी सबसे बड़ी पार्टी, भाजपा दूसरे तो जदयू तीसरे नंबर पर

BOLLYWOOD2 hours ago

सिंगर लकी अली ने धर्म के नाम कन्हैयालाल की हत्या की आलोचना की कहां – मानवता की हत्या मिले इंसाफ

INDIA3 hours ago

लड़की प्रेमी के साथ भागी तो गलती मां-बाप की ; रामपुर के SP बोले- मेरा बस चले तो मैं लड़की के माता-पिता को भी जेल भेज दूं

BIHAR3 hours ago

असदुद्दीन ओवैसी की AIMIM के 5 में से चार विधायक आरजेडी में हुए शामिल

BIHAR4 hours ago

बिहार में टूटी असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी, पांच में से चार विधायक RJD में होंगे शामिल

BIHAR4 hours ago

जज्बे को सलाम: दोनों हाथ नहीं, फिर भी नहीं मानी हार, पैर से दिया BA का एग्जाम, IAS बनने का सपना

BIHAR5 hours ago

हाजीपुर : रेप में विफल होने वाले मामा ने दोस्त के साथ की थी भांजी की हत्या, आजीवन कारावास की सजा

INDIA5 hours ago

कन्हैया लाल के अंतिम संस्कार में उमड़ी भीड़; लगे ‘अमर रहे’ के नारे

SMART-CITY-MUZAFFARP
BIHAR6 hours ago

देश के 100 स्मार्ट शहरों की रैंकिंग में पटना फिर से फिसड्डी ; पटना से आगे निकला मुजफ्फरपुर

BIHAR6 hours ago

बिहार संपर्क क्रांति समेत चार ट्रेनों के रूट डायवर्ट

BIHAR4 weeks ago

यूपीएससी में बजा बिहार का डंका, मधेपुरा की अंकिता सेकेंड टॉपर

TECH1 week ago

अब केवल 19 रुपये में महीने भर एक्टिव रहेगा सिम

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर की बेटी ने यूपीएससी में 122वां रैंक लाकर किया गौरवान्वित

BIHAR3 weeks ago

गांधी सेतु का दूसरा लेन लोगों के लिए खुला, अब फर्राटा भर सकेंगे वाहन, नहीं लगेगा लंबा जाम

BIHAR3 days ago

बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद से मदद मांगना बिहार के बीमार शिक्षक को पड़ा महंगा

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर के लाल का यूपीएससी में जलवा, मीनापुर के अभिनव, विशाल ने लहराया परचम

BIHAR3 weeks ago

समस्तीपुर के आलोक कुमार चौधरी बने एसबीआई के एमडी, मुजफ्फरपुर से भी कनेक्शन

BIHAR2 weeks ago

बिहार : पिता की मृत्यु हुई तो बेटे ने श्राद्ध भोज के बजाय गांव के लिए बनवाया पुल

JOBS3 weeks ago

IBPS ने निकाली बंपर बहाली; क्लर्क, PO समेत अन्य पदों पर निकली वैकेंसी, आज से आवेदन शुरू

BIHAR7 days ago

बिहार का थानेदार नेपाल में गिरफ्तार; एसपी बोले- इंस्पेक्टर छुट्टी लेकर गया था

Trending