20 लाख बिजली बिल देख उद्यमियों की बढ़ी धड़कन

0
75
Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

एस्सेल के हर रोज के कारनामों से उद्यमियों के पसीने छूट रहे हैं। बेला औद्योगिक क्षेत्र फेज-वन में जोया प्लास्टिक को 20 लाख और एएस इंडस्ट्रीज को 13 लाख रुपये का बिल आया है। पता चला है कि जोया के मालिक प्रति माह 75 से 80 हजार तथा एएस के संजय कुमार 45 से 50 हजार प्रति माह बिजली बिल जमा करते हैं, बावजूद इसके गलत बिल भेजा जा रहा। इसे लेकर उद्यमियों में भारी रोष है। शुक्रवार को लघु उद्योग भारती के प्रदेश अध्यक्ष श्याम भीमसरया ने इसे लेकर उद्यमियों के साथ बैठक की और एस्सेल के इस रवैये पर असंतोष जताया। कहा कि अगर इस तरह से हर महीने बिजली बिल भरने लगे तो उद्योग, व्यापार बंद हो जाएगा।

कनेक्शन एक, बिल आया दो

मीनापुर के हरकामानशाही गांव के मुकेश शाही और उनके पिता राजेश्वर शाही, दोनों व्यक्ति के नाम से बिजली बिल आ रहा है। दैनिक जागरण में उन्होंने फोन कर इस बात की जानकारी दी। बताया कि उनके पिता के नाम से कनेक्शन है और पुत्र मुकेश के नाम से कई बिल एक साथ भेज दिया गया है। इसकी शिकायत की गई, लेकिन अभी तक दूसरा कनेक्शन काटा नहीं गया।

इन्होंने भी की शिकायत

मीनापुर के डभैच्छ निवासी प्रमोद महतो को छह महीने में 14 हजार का बिल, साहेबगंज खेमकरना के मो. रमजान और कटरा पसहौल के अरविन्द कुमार का कनेक्शन की रसीद कटवाने के बाद मीटर नहीं लगा, मीनापुर के मदारीपुरकर्ण निवासी मुखिया किशोरी राम ने 100 घरों में मीटर नहीं लगने की शिकायत की, पुरानी घरारी के मो. मुतुर्जा ने बिल अधिक आने, हरका गांव के देवेन्द्र राय ने 200 महादलित टोला में बिजली नहीं होने, खरिका के विक्रम कुमार ने मीटर, कनेक्शन नहीं मिलने, गोलाबांध रोड के संजय कुमार ने मीटर खराब होने, अहियापुर आदम छपरा गांव के निवासी मो. शमीम ने मीटर बंद होने, कांटी धमौली के प्रभु साहनी ने 200 घरों में बिजली नहीं होने, गायघाट शिवदाहां पंचायत में कई मीटर खराब होने, हथौड़ी के बरहेथा गांव के गंगा राम ने टूटे पोल, तार से बिजली की सप्लाई होने, डीएवी मालीघाट मोहल्ले के एक गली में 12 घरों में बांस से बिजली सप्लाई होने की जानकारी रमण रौशन ने दी।

Source : Dainik Jagran


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •