डॉक्टर गैंगरे'प: पुलिस ने बताई उस रात की है'वानियत की कहानी
Connect with us
leaderboard image

INDIA

डॉक्टर गैंगरे’प: पुलिस ने बताई उस रात की है’वानियत की कहानी

Santosh Chaudhary

Published

on

हैदराबाद में एक महिला वेटनरी डॉक्टर के साथ हुई द’रिंदगी की वार’दात ने सात साल पुराने निर्भया कांड की खौ’फनाक यादों को ताजा कर दिया. तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में एक महिला डॉक्टर के साथ गैंगरे’प कर उसकी ह’त्या कर दी गई. पुलिस ने इस मा’मले में चारों आ’रोपियों को गि’रफ्तार कर लिया है.

Image result for priyanka reddy"

पुलिस ने पूरे मामले का खुलासा करते हुए बताया कि दरिंदों ने कैसे इस घटना को अंजाम दिया. शुक्रवार देर शाम प्रेस कॉन्फेंस में साइबराबाद पुलिस ने पुष्टि की है कि महिला डॉक्टर की हत्या से पहले गैंगरेप किया गया था.

पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने युवती के साथ गैंगरेप किया और बाद में गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी और शव को जला दिया. हैदराबाद के बाहरी इलाके शमशाबाद में टोंडुपल्ली टोल प्लाजा के पास युवती के साथ गैंगरेप किया गया. उसके शव को 25 किलोमीटर दूर ले जाकर रंगा रेड्डी जिले के चटनपल्ली पुल पर पेट्रोल छिड़ककर जला दिया.

Image result for priyanka reddy"

पुलिस के मुताबिक आरोपियों की पहचान मोहम्मद आरिफ, नवीन, चिंताकुंता केशावुलु और शिवा के रूप में हुई है. पुलिस ने इस बात की भी पुष्टि की है कि आरोपियों ने अपराध को अंजाम देने के दौरान शराब पी रखी थी. इस घटना का मुख्य आरोपी आरिफ है.

पार्किंग के पास देख बनाया प्लान

पुलिस ने बताया कि चारों लड़के टोल प्लाजा पर खड़े थे. उसी दौरान दरिंदों ने डॉक्टर को पार्किंग के पास देखा था और फिर शराब पीते हुए गैंगरेप का प्लान बनाया. नवीन नाम के लड़के ने महिला डॉक्टर की स्कूटी को पंक्चर कर दिया था. रात 9.18 बजे के करीब महिला डॉक्टर अपनी स्कूटी लेने पहुंचीं. लेकिन गाड़ी पंक्चर थी तो आरिफ ने मदद करने के लिए हाथ बढ़ाया. शिवा नाम का लड़का स्कूटी लेकर गया और बताया कि दुकान बंद हो चुकी है.

Image result for priyanka reddy"

मुंह-नाक दबाकर मारा, पेट्रोल से जलाया

इसके बाद इन दरिंदों ने महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप किया. पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने घटना को अंजाम देते हुए लड़की के मुंह और नाक को कसकर दबा रखा ताकि बाहर आवाज न जा सके और इसकी वजह से दम घूटने से लड़की की मौत हो गई. पुलिस ने बताया कि गैंगरेप और लड़की हत्या के बाद आरोपियों ने पेट्रोल खरीदा और फिर जला दिया.

बता दें कि हैदराबाद-बेंगलुरु हाइवे पर एक सरकारी महिला डॉक्‍टर की अधजली लाश मिली थी. लाश मिलने के बाद माना जा रहा था कि 26 साल की महिला डॉक्‍टर के साथ रेप के बाद उसकी हत्‍या कर दी गई. हैवानियत की इंतहा यह थी कि आरोपियों ने डॉक्‍टर की लाश को जलाकर एक फ्लाईओवर के नीचे फेंक दिया था. असल में महिला डॉक्‍टर रात में अपने घर लौट रही थीं, इसी दौरान रास्‍ते में उनकी बाइक पंक्चर हो गई थी.

INDIA

SBI का करोड़ों ग्राहकों को झटका! बैंक ने FD के बाद अब इस खाते पर घटाई ब्याज दरें, यहां चेक करें

Md Sameer Hussain

Published

on

 देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई (SBI-State Bank of India) ने एक हफ्ते में ही एफडी (Fixed Deposit) के बाद अब आरडी यानी रिकरिंग डिपॉजिट (Recurring Deposit) की ब्याज दरें घटाने का फैसला किया है. SBI आरडी खाताधारकों को अब 0.15 फीसदी कम ब्याज मिलेगा. बैंक ने नई दरें लागू कर दी है. 1 से 10 साल की अवधि वाले आरडी खाते पर ब्याज दरें 6.25 फीसदी से घटकर 6.10 फीसदी पर आ गई हैं. आपको बता दें कि इससे पहले 10 जनवरी को SBI ने 1 साल से लेकर 10 साल में मैच्योर होने वाले लॉन्ग टर्म डिपॉजिट्स पर FD की दरों में भी 0.15 की कटौती करने का ऐलान किया.

SBI के आरडी रिकरिंग डिपॉजिट (Recurring Deposit) की नई दरें

1 साल से 2 तक के लिए ब्याज दरें 6.10 फीसदी है.
2-3 साल के लिए ब्याज दरें 6.10 फीसदी है.

3-5 साल के लिए ब्याज दरें 6.10 फीसदी है.

5-10 साल के लिए ब्याज दरें 6.10 फीसदी है.

आपको बता दें कि SBI आरडी खाताधारकों को हर महीने कम से 100 रुपये जमा करना जरूरी होता है. हालांकि, बैंकों के तुलना में पोस्ट ऑफिस में RD पर अधिक ब्याज मिल रहा है. वर्तमान में, भारतीय स्टेट बैंक (SBI) RD पर 6.10 फीसदी की दर से ब्याज दे रहा. वहीं, पोस्ट ऑफिस में ​RD पर 7.20 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है.

एसबीआई कै कैसे खोलें आरडी खाता (How to open SBI RD-Recurring Deposit account)

(1) एसबीआई नेट-बैंकिंग में लॉग-इन करने के बाद फिक्स्ड डिपॉजिट के तहत ‘ई-आरडी (आरडी) / ई-एसबीआई फ्लेक्सी डिपॉजिट’ पर क्लिक करें.

(2) बैंक में अगर एक से ज्यादा खाते हैं तो सभी दिखेंगे. यानी सभी बचत और चालू खाते दिखेदा. उस खाते को चुनें जिससे आरडी अकाउंट को लिंक करना है. मासिक किस्त और अवधि चुनें. अवधि से ब्याज दर तय होगी.

(3) यह अक्सर फिक्स्ड डिपॉजिट दर जितनी होती है. वरिष्ठ नागरिकों को अतिरिक्त ब्याज मिल सकता है. यदि पात्र हैं तो सीनियर सिटीजन ऑप्शन पर क्लिक करें.

(4) मैच्योरिटी की रकम को सेविंग अकाउंट में पाने के लिए विकल्प को चुनें या मैच्योरिटी की रकम को फिक्स्ड डिपॉजिट में तब्दील करें. तमाम शर्तों को पढ़ने के बाद ‘टर्म्स एंड कंडीशंस’ सेक्शन पर क्लिक करें.

(5) अगले पेज पर नाम, होल्डिंग का तरीका और नॉमिनेशन के बारे में फील्ड दिखेंगी. कन्फर्म बटन पर क्लिक करने पर ई-आरडी बन जाएगा. रेफरेंस नंबर और आरडी खाता नंबर आपको मिलेंगे.

(6) आप चाहें तो ई-आरडी ब्योरे को देख, प्रिंट और डाउनलोड कर सकते हैं. इसके अलावा यदि आप कोई स्टैंडिंग इंस्ट्रक्शन (एसआर्इ) देना चाहते हैं तो इसे ऑनलाइन कर सकते हैं.

SBI RD के फायदें- 

जब किसी के पास छोटी अवधि के लक्ष्यों की खातिर बचत करने के लिए एकमुश्त रकम नहीं होती है, तो आरडी मददगार साबित होता है.

यह हर महीने कुछ राशि बचत करने में मदद करता है. सुनिश्चित रिटर्न की चाहत रखने वाले जो निवेशक बिल्कुल भी जोखिम नहीं ले सकते हैं, उनके लिए RD अच्छा विकल्प है.

इसमें एक साल के लक्ष्यों को पूरा करने के लिए निवेश किया जा सकता है.अवधि खत्म होने पर मैच्योरिटी की रकम व्यक्ति को वापस दी जाती है.

इसमें निवेश की मूल रकम और उस पर कमाया गया ब्याज शामिल होता है. इस तरह के भी रेकरिंग डिपॉजिट हैं जिनमें अलग-अलग राशि जमा की जा सकती है. लेकिन, ज्यादातर मामलों में हर महीने एक निश्चित राशि जमा की जाती है.

Input : News18

Continue Reading

INDIA

UPSC सिविल सेवा परीक्षा 2020 के उम्मीदवारों के लिए बुरी खबर, वैकेंसी हो सकती है कम

Santosh Chaudhary

Published

on

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी कर रहे लाखों युवाओं के लिए बुरी खबर। इस बार यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा नोटिफिकेशन ( UPSC Civil Services Notification 2020 ) में वैकेंसी की संख्या कम हो सकती है। इस बात की काफी संभावना है कि करीब 100 वैकेंसी कम हो जाए। इसकी वजह यह है कि रेलवे ने यूपीएससी से अपने ग्रुप ए अफसरों की भर्ती का अनुरोध वापस ले लिया है। रेलवे भर्ती बोर्ड ( RRB ) ने संघ लोक सेवा आयोग ( यूपीएससी ) को विभिन्न कैडरों में ग्रुप ए अफसरों ( Group A officers ) की भर्ती का अनुरोध पत्र भेजा था। लेकिन अब अनुरोध पत्र रेलवे से वापस ले लिया है। अधिकारियों ने बुधवार को ये जानकारी दी।

Image result for upsc

सिविल सेवा कैडर के अधिकारियों ने अपनी वरिष्ठता खोने और करियर की संभावनाओं के मद्देनजर चिंता जाहिर करते हुए विरोध जताया था।

9 जनवरी को लिखे पत्र में रेलवे बोर्ड ने कहा है कि कैबिनेट ने कैडर ( 9 सेवाओं – IRSE, IRSME, IRSEE, IRSS, IRTS, IRAS, IRPS RPF ) को मर्ज करने का फैसला लिया है। इस फैसले के बाद अब यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा और यूपीएससी इंजीनियरिंग सर्विसेज एग्जामिनेशन के जरिए रेलवे सेवाओं से जुड़ी ये रिक्तियां नहीं निकाली जाएंगी। इन्हें वापस ले लिया गया है।

कैबिनेट ने आठ सेवाओं का विलय कर उन्हें भारतीय रेलवे प्रबंधन सेवा (आईआरएमएस) बना दिया है। इसके बाद रेल मंत्रालय ने यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा और यूपीएससी इंजीनियरिंग सर्विसेज एग्जाम के जरिए इंडियन रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स सर्विसेज (आईआरपीएफएस, पहले आरपीएफ के तौर पर जाना जाता था) को छोड़कर अन्य सेवाओं के लिए रिक्तियों का अनुरोध वापस ले लिया है।

पत्र में UPSC और DoPT (कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग) से इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई के लिए कहा गया है।

वर्तमान में मैकेनिकल, सिविल और अन्य इंजीनियरिंग सेवाओं के टेक्निकल कर्मियों की भर्ती इंजीनियरिंग सर्विसेज परीक्षा से होती है जबकि नॉन टेक्निकल पदों पर भर्तियां सिविल सेवा परीक्षा के जरिए होती है।

UPSC Civil Services Exam 2020

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) सिविल सेवा परीक्षा का नोटिफिकेशन 12 फरवरी को जारी होगा। सिविल सेवा परीक्षा 2020 के लिए 3 मार्च तक आवेदन स्वीकार किए जाएंगे।  सिविल सेवा की प्रारंभिक परीक्षा 31 मई को होगी। मेंस का आयोजन 18 सितंबर से होगी।

हर वर्ष यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा तीन चरणों — प्रारंभिक, मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार– में आयोजित की जाती है। इसके जरिए इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विसेज (आईएएस), भारतीय पुलिस सर्विसेज (आईपीएस) और भारतीय फॉरेन सर्विसेज (आईएफएस), रेलवे ग्रुप ए (इंडियन रेलवे अकाउंट्स सर्विस), इंडियन पोस्टल सर्विसेज, भारतीय डाक सेवा, इंडियन ट्रेड सर्विसेज सहित अन्य सेवाओं के लिए चयन किया जाता है।

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा के जरिए भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस), भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) और भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) सहित अन्य सेवाओं के लिए चयन किया जाता है। इंडियन फॉरेस्ट सर्विसेज का सेलेक्शन भी सिविल सर्विस एग्जाम के साथ साथ होता है। आईएफएस मेन एग्जाम के लिए सेलेक्शन यूपीएससी सिविल सर्विस प्रीलिम्स ( UPSC Civil Services prelims ) के जरिए ही होता है।

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा के सभी आवेदकों को सबसे पहले प्रीलिम्स एग्जाम में बैठना होता है। इसमें पास होने वाले उम्मीदवारों को मेन्स एग्जाम में बैठने के लिए बुलाया जाता है। मेन्स में जो पास होता है वह इंटरव्यू (पर्सनैलिटी टेस्ट) तक पहुंचता है। फाइनल मेरिट लिस्ट इंटरव्यू और मेन्स एग्जाम में प्रदर्शन के आधार पर बनती है। मेन्स एग्जाम 1750 मार्क्स और इंटरव्यू 275 मार्क्स का होता है।

(इनपुट न्यूज एजेंसी PTI से)

Continue Reading

INDIA

दीपिका पादुकोण की जेएनयू विजिट पर कंगना रनौत का जवाब, ‘मैं टुकड़े टुकड़े गैंग का सपोर्ट नहीं करती’

Santosh Chaudhary

Published

on

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत को उनकी फिल्म और फैशन के साथ साथ अपनी बेबाक राय के लिए भी जाना जाता है। अक्सर कंगना रनौत बॉलीवुड से लेकर सामाजिक मुद्दों पर अपनी राय रखती हैं। हाल ही में कंगना रनौत ने एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण की जेएनयू विजिट पर बात की, जो कुछ दिन पहले टीवी चैनलों पर चर्चा का विषय बन गया था।

स्पॉटब्वॉय को दिए एक इंटरव्यू में दीपिका पादुकोण को लेकर कंगना रनौत ने कहा कि दीपिका जानती हैं कि वो क्या कर रही हैं और वो किन लोगों के साथ खड़ी हैं। साथ ही उन्होंने कहा, ‘दीपिका अपने लोकतांत्रिक अधिकार का इस्तेमाल कर रही हैं और कंगना का ये अधिकार नहीं है कि वो दीपिका के इस कदम पर अपनी राय ना दे।’

हालांकि, कंगना ने कहा कि वो ‘टुकड़े टुकड़े गैंग’ के पीछे नहीं खड़ी हैं। साथ ही कंगना ने कहा, ‘मैं उस किसी भी गैंग का समर्थन नहीं करती, जो देश को टुकड़ों में बांटते हैं। मैं उन लोगों को शक्ति नहीं देती हूं, जो जवानों के शहीद होने पर जश्न मनाते हैं। मैं उन लोगों का साथ नहीं देना चाहती। इसलिए मैं वो कह सकती हूं, जो मैं चाहती हूं, लेकिन किसी और पर कमेंट नहीं करना चाहती।’

साथ ही कंगना ने दीपिका की फिल्म छपाक का सोशल मीडिया पर बहिष्कार करने को लेकर कहा कि इससे फिल्म पर असर नहीं पड़ता और फिल्म अच्छी होती है तो जरूर चलती है। बता दें कंगना रनौत इससे पहले भी जेएनयू को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी थी और जेएनयू के खिलाफ आवाज उठाई थी। याद दिला दें कि दीपिका पादुकोण जेएनयू में हुई हिंसा के बाद विरोध कर रहे छात्रों का समर्थन करने गई थीं।

Continue Reading
Advertisement
BIHAR6 mins ago

मानव श्रृंखला पर लालू के लाल कूदे नीतीश के खिलाफ, कहा- पलटूआ बिहार के लिए अभिशाप है

BIHAR8 mins ago

जीतन राम मांझी मानव श्रृंखला में नहीं होंगे शामिल, बोले- नीतीश केवल अपना चेहरा चमका रहे

RELIGION10 mins ago

मथुरा से उज्जैन तक, भगवान शनि के 5 मंदिर जहां सबसे ज्यादा है भक्तों की आस्था

BIHAR1 hour ago

जिला प्रशासन ने जनवरी नहीं, 19 फरवरी को बताया मानव श्रृंखला की तारीख

BIHAR3 hours ago

स्मार्ट क्लास के पेन ड्राइव में मिला पोर्न साइट का फोल्डर, स्कूल में मचा हड़कंप

INDIA3 hours ago

SBI का करोड़ों ग्राहकों को झटका! बैंक ने FD के बाद अब इस खाते पर घटाई ब्याज दरें, यहां चेक करें

MUZAFFARPUR3 hours ago

मुजफ्फरपुर में युवक की गो’ली मा’रकर ह’त्या, फेसबुक लाइव होकर बिहार पु’लिस से मांगी थी सु’र’क्षा

MUZAFFARPUR5 hours ago

बच्चों ने मानव आकृति से बनाया बिहार का नक्शा

MUZAFFARPUR6 hours ago

अहियापुर में पेशकार के पुत्र की गोली मारकर हत्या, अपराधियों ने इस तरह दिया घटना को अंजाम

MUZAFFARPUR7 hours ago

मुजफ्फरपुर में जज को पत्र भेज मांगी 10 लाख की रंगदारी, लिखा- कोर्ट में घुसकर मार देंगे गोली

BIHAR2 weeks ago

लंबे समय बाद नए लुक में नजर आए तेज प्रताप, पत्‍नी ऐश्‍वर्या के मायके जाने के बाद कटवाए बाल

INDIA7 days ago

बिहार के लोगों ने दीपिका पादुकोन को नकारा, पटना में छपाक देखने पहुंचे मात्र तीन लोग

INDIA2 weeks ago

निर्भया के चारों दो’षियों को 22 जनवरी की सुबह दी जाएगी फां’सी, डे’थ वा’रंट जारी

MUZAFFARPUR2 weeks ago

मुजफ्फरपुर के एक साधारण किसान का पुत्र बना Air Force में Flying Officer, ग्रामीण युवाओं के सपनों को लगे पंख

MUZAFFARPUR2 weeks ago

गाय ने दो मुंह व चार आंख वाली बछिया को जन्म दिया

MUZAFFARPUR4 weeks ago

ठंड को लेकर मुजफ्फरपुर डीएम ने जिले के सभी स्कूल के लिए जारी किया आदेश

BIHAR1 week ago

BPSC Civil Services की परीक्षा देनी है तो ध्‍यान दें, अब पहले से कठिन हो जाएगा पाठ्यक्रम

BIHAR1 week ago

दुखद : वर्ष 2019 की इंटर स्टेट टाॅपर रोहिणी की दिल्ली में ट्रेन से क’ट कर मौ’त

MUZAFFARPUR5 days ago

मुजफ्फरपुर में दम्पति की ह’त्या मामला, साहेबगंज थाना इलाके से पकड़ा गया ह’त्यारा

BIHAR3 weeks ago

दरभंगा, मधुबनी, बेतिया के ऐसे नाम, जिन्होंने इस साल बड़ी उपलब्धि अपने नाम की

Trending

0Shares