शपथ ग्रहण के बाद हिचकाेला खाते मंत्री ने जिस रूट पर राेड शाे किया था, वहां गड्ढे आज भी जस के तस
Connect with us
leaderboard image

Uncategorized

शपथ ग्रहण के बाद हिचकाेला खाते मंत्री ने जिस रूट पर राेड शाे किया था, वहां गड्ढे आज भी जस के तस

Santosh Chaudhary

Published

on

नगर विधायक सुरेश शर्मा ने जब सूबे के नगर विकास एवं आवास मंत्री पद की शपथ ली थी, ताे शहरवासियाें की उम्मीदें काफी बढ़ गई थी। शपथग्रहण के बाद पहली बार 2 अगस्त 2017 काे शहर में राेड शाे के दाैरान उन्हाेंने स्वयं भी स्मार्ट सिटी का सपना पूरा कराने का वादा किया था। जर्जर सड़काें व जलजमाव जैसी समस्याओं से निजात दिलाने की बात कही थी। उस दिन उनका स्वागत फकुली से ही शुरू हाे गया था। जिस मार्ग से उनका काफिला गुजरा, लाेगाें का अपार समर्थन मिला था। मंत्री खुली जिप्सी से हाथ जाेड़ कर लाेगाें का अभिवादन स्वीकार कर रहे थे। उस दिन मधाैल से रामदयालुनगर की ओर  आगे  बढ़ते ही मंत्री की जिप्सी गड्ढाें में हिचकाेले खाने लगी थी।

उसके 2 वर्ष 3 महीने और  25 दिन गुजर गए। आज  भी मधाैल से रामदयालुनगर तक 1.9 किलाेमीटर की दूरी में सड़क व गड्ढे में फर्क करना मुश्किल है। शहर की अधिकतर सड़काें की स्थिति जस की तस बनी हुई है। बल्कि,और  जर्जर हाे गई हैं। मधाैल-रामदयालुनगर समेत जवाहरलाल राेड, क्लब राेड, बेला राेड, मिठनपुरा- पक्कीसराय राेड समेत अधिकतर प्रमुख सड़काें में भी इतने गड्ढे बन गए हैं कि उन्हें गिनना मुश्किल है। कफेन से रामदयालुनगर तक की सड़क की स्थिति बेहद जर्जर है। जहां कई स्थानों पर 15 से 24 सेंटीमीटर तक गड्‌ढे हैं।

यह तस्वीर 2 अगस्त 2017 की है। नगर विकास मंत्री बनने के बाद पहली बार सुरेश शर्मा अपने शहर आए थे और  रोड शो किया था।

 

NHAI का तर्क- वैसा संवेदक नहीं मिल रहा जाे 2 किमी रोड बनाए

NHAI का तर्क है कि उस स्टैंडर्ड का संवेदक नहीं मिल रहा है, जाे महज दाे किलाेमीटर सड़क बनाने में दिलचस्पी दिखाए। पांच बार पहले भी टेंडर निकाला गया। मानक के अनुसार किसी ठेकेदार ने टेंडर नहीं डाला। अब साढ़े 14 कराेड़ की लागत से 1.9 किलाे मीटर सड़क चाैड़ीकरण व मजबूतीकरण के साथ एक ब्रिज का टेंडर निकालने की प्रक्रिया चल रही है।

इधर, पूर्व विधायक विजेंद्र ने उठाए सवाल, कहा- 9 वर्षों में सुरेश शर्मा ने कुछ नहीं किया

पूर्व विधायक विजेंद्र चाैधरी का कहना है कि 2 साल क्या, सुरेश शर्मा ने ताे 9 वर्षाें में कुछ नहीं किया। नगर विधायक हाेने के साथ शहर के हाेकर वे शहर का विकास नहीं कर सके। उनके विधायक व मंत्री रहते किसी राेड का गड्ढा नहीं भरा गया। रामदयालुनगर-मधाैल राेड की दुर्दशा से मुजफ्फरपुर ही नहीं पूरे प्रदेश की छवि खराब हाे रही है। नेपाल से पटना जानेवाले जब रामदयालुनगर एनएच पर पहुंचते हैं ताे बिहार की काफी बुरी छवि बनती है।

मंत्री शर्मा बाेले- 15 दिसंबर तक मधाैल से रामदयालु तक जर्जर सड़क हाेगी माेटरेबल

नगर विकास एवं आवास  मंत्री सुरेश शर्मा ने कहा कि मधाैल से रामदयालुनगर तक जर्जर सड़क बनाने के लिए NHAI के प्राेजेक्ट डायरेक्टर से बात हुई है। उन्हाेंने टेंडर में किसी के शामिल नहीं हाेने के कारण फिर टेंडर निकालने की बात कही है। लेकिन, हमने उस प्रक्रिया में अधिक समय लगने के कारण तत्काल सड़क काे माेटरेबल करने के लिए बाेला है। हमारी केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी जी से भी बात हुई है। विस का सत्र खत्म हाेने के बाद इस पर विशेष रूप से लगूंगा। 15 दिसंबर तक माेटरेबल कराने के प्रयास में जुटे हैं।

इनपुट : दैनिक भास्कर 

Uncategorized

बिहार के सुमंत फोर्ब्स की सूची में टॉप पर

Santosh Chaudhary

Published

on

एक बार फिर बिहार की प्रतिभा ने देश और प्रदेश का नाम दुनिया में रोशन किया है। पटना के सुमंत परिमल प्रतिष्ठित पत्रिका फोर्ब्स द्वारा आईटी प्रोफेशनल और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) विशेषज्ञों की ऑनलाइन कराई गई प्रतियोगिता में शीर्ष पर रहे हैं। वह इस प्रतियोगिता में बाजी मारने वाले एकमात्र भारतीय हैं।

Image result for sumant parimal

करीब दो महीने तक चली ऑनलाइन प्रतियोगिता में उन्होंने अमेरिका, यूरोप, एशिया व ऑस्ट्रेलिया के विख्यात आईटी और एआई विशेषज्ञों को पीछे छोड़ा है। सुमंत की रेटिंग सबसे ऊंची रही, जिससे उन्हें फोर्ब्स ने वैश्विक विशेषज्ञों के पैनल में टॉप पर रखा है। यहां के राजा बाजार के रहने वाले सुमंत ने मैसूर विवि से एमटेक और जेवियर लेबर रिसर्च इंस्टीट्यूट स्कूल ऑफ मैनेजमेंट, जमशेदपुर से एमबीए किया है। वह कई वर्षों तक बोकारो स्टील प्लांट में अधिकारी रहे। इसके बाद उन्होंने पांच वर्षों तक अमेरिका में रिसर्च किया।

 

रोबोटिक्स टेक्नोलॉजी पर कर रहे हैं काम : सुमंत परिमल ने ‘5 ज्वेल्स रिसर्च’ नाम की अपनी आईटी कंपनी बनाई है, जो भारत में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और रोबोटिक्स टेक्नोलॉजी के विकास पर काम कर रही है। हाल ही में ग्रेटर नोएडा में रोबोटिक टेक्नोलॉजी पार्क की स्थापना के लिए उत्तर प्रदेश की सरकार के साथ सुमंत परिमल ने करार किया है।

क्या है आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मानव और अन्य जन्तुओं द्वारा प्रदर्शित प्राकृतिक बुद्धि के विपरीत मशीनों द्वारा प्रदर्शित बुद्धि है। कृत्रिम बुद्धि कोई भी ऐसा संयंत्र हो सकता है जो अपने पर्यावरण को देखकर, अपने लक्ष्य को प्राप्त करने की कोशिश करता है। यानी मशीन इंसानों के कार्यों की नकल करती है।

एआई विशेषज्ञ

प्रतिष्ठित पत्रिका की ऑन लाइन प्रतियोगिता में रहे अव्वल

प्रतियोगिता के बाद तैयार पैनल में सुमंत एकमात्र भारतीय

5 वर्षों तक अमेरिका के विभिन्न शहरों में किया है रिसर्च

Input : Hindustan

 

Continue Reading

Uncategorized

सूर्य ग्रहण 2019: सूर्य ग्रहण पर खाने की होती है मनाही, मजबूरी में इस तरह खाएं ये खास चीजें

Santosh Chaudhary

Published

on

र्य ग्रहण 2019: 26 दिसंबर को साल का सबसे बड़ा और आखिरी सूर्य ग्रहण लगने वाला है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सूर्य ग्रहण का विशेष महत्व होता है। ग्रहण कोई भी हो इसका अच्छा या बुरा प्रभाव हर राशि के जातक पर पड़ता है। साल के इस आखिरी सूर्य ग्रहण को भारत, एशिया, अफ्रीका और आस्ट्रेलिया में देखा जा सकेगा।

ज्योतिषशास्त्रियों के मुताबिक, यह अदभुत खगोलीय घटना सालों बाद घट रही है। इससे पहले 296 साल पहले ऐसा सूर्य ग्रहण देखा गया था। हिंदू धर्म में ग्रहण के कुछ खास नियमों के साथ कुछ इस दौरान कुछ कार्य करना भी वर्जित बताया गया है जिसमें भोजन भी एक कार्य है।

माना जाता है कि ग्रहण के दौरान व्यक्ति को भोजन नहीं करना चाहिए। लेकिन अगर आपके घर में कोई गर्भवती स्त्री, बच्चा या बुजुर्ग हो तो वो ग्रहण के दौरान इन कुछ खास चीजों का सेवन कर सकते हैं। आइए जानते हैं आखिर क्या हैं ये चीजें और ग्रहण के दौरान कैसे करें इनका सेवन।

 

दूध-
ग्रहण के दौरान जरूरत पड़ने पर व्यक्ति दूध का सेवन कर सकता है। लेकिन ऐसा करते समय ध्यान रखें कि दूध में तुलसी के पत्ते डालने के बाद ही उसका सेवन करें।

इन फलों का करें सेवन-
ग्रहण के दौरान ऐसे फलों का सेवन करना चाहिए जिनके ऊपर छिलका लगा हुआ होता है जैसे-केला, अनार, नारियल।

सूखे मेवे-
ग्रहण के दौरान खुद को ऊर्जा से भरपूर रखने के लिए सूखे मेवे खाएं। कहा जाता है कि सूखे मेवों पर हानिकारक किरणों का असर नहीं होता है।

बने हुए भोजन को करने से बचे-
माना जाता है कि ग्रहण के दौरान कॉस्मिक किरणों की वजह वातावरण में बैक्टीरिया खत्म करने वाली पराबैंगनी किरणें कम हो जाती है। जिसकी वजह से पहले से बना हुआ भोजन करने से सेहत को नुकसान पहुंच सकता है।

Continue Reading

Uncategorized

शिवराज सिंह बोले- झारखंड चुनावों का CAA से कोई लेना-देना नहीं, पीएम मोदी भगवान की तरह

Muzaffarpur Now

Published

on

भाजपा नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान से CAA( नागरिकता संशोधन कानून) को लेकर झारखंड विधानसभा चुनावों के नतीजों पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, ‘ऐसा कोई सवाल ही नहीं उठता। राज्य के चुनाव राज्य के मुद्दों पर लड़े जाते हैं।’ झारखंड के चुनाव से राष्ट्रीय मुद्दों को नहीं जोड़ सकते हैं।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि झारखंड चुनाव का प्रभाव दूसरे राज्यों में नहीं पड़ेगा क्योंकि राज्यों के स्थानीय मुद्दे होते हैं। शिवराज सिंह जयपुर में एक कार्यक्रम को संबोधित करने पहुंचे थे। उनके द्वारा इस दौरान CAA पर वार्ता की जानी थी। इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेस पर भी ह’मला बोला। कहा कि संवैधानिक पद पर बैठे अशोक गहलोत जी जैसे लोग विरोध(CAA के खि’लाफ) में मार्च निकालें तो मैं कहता हूं कि आप मुख्यमंत्री बनने के लायक नहीं।

पीएम मोदी भगवान से कम नहीं

इस दौरान उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी को भगवान की तरह बताया। उनका कहना है कि पीएम मोदी भगवान से कम नहीं हैं। शिवराज सिंह द्वारा नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर जयपुर में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा गया, ‘नरेंद्र मोदी इनके (शरणार्थियों) लिए भगवान बनकर आए हैं, जो प्र’ताड़ित और नरक की जिंदगी जी रहे थे। भगवान ने जीवन दिया, मां ने जन्म दिया, लेकिन नरेंद्र मोदी जी ने फिर से जिंदगी दी है।’

बता दें कि झारखंड विधानसभा चुनावों की मतगणना जारी है और रुझान से नतीजों की झलक दिखाई देने लगी है। मिल रही जानकारी के मुताबिक अभी तक भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। भाजपा को 29 सीटों पर आगे है। जबकि, कांग्रेस 12 सीटों पर आगे चल रही है। जेएमएम 24 सीटों पर आगे चल रही है। राजद 5 सीटों पर आगे है। अन्य 11 सीटों पर आगे है। हालांकि, यहां कांग्रेस गठबंधन में है। चुनाव आयोग के ताजा रुझानों के मुताबिक कांग्रेस+ 41 सीटों पर आगे। भाजपा 29 सीटों पर आगे। अन्य को 11 सीटों पर बढ़त।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading
Advertisement
BIHAR5 hours ago

पीएम ने दिया छात्रों को गुरुमंत्र, बिहार के छात्रों ने कहा-वाह मोदी जी

MUZAFFARPUR6 hours ago

शानू हत्या’कांड में पुलिस ने खंगाले संदिग्ध ठिकाने, कई से की गई पूछताछ

SPORTS8 hours ago

175 KM की रफ्तार से गेंद फेंक इस गेंदबाज ने मचाई सनसनी!

BIHAR8 hours ago

प्रशांत व पवन को JDU का झटका, नहीं बनाए गए स्‍टार प्रचारक

INDIA8 hours ago

दुबई में 25 लाख रुपए का सैलरी पैकेज छोड़ सरपंच चुनाव लड़ने पहुंचीं गांव ‘बहू’

INDIA9 hours ago

महज 3.80 लाख रुपये में मिल रही है Maruti Suzuki की 7 सीटर कार

MUZAFFARPUR9 hours ago

किसी फिल्मी पटकथा से कम नहीं मुजफ्फरपुर बालिका गृहकांड, ध्‍वस्‍त हो गया ब्रजेश का साम्राज्‍य

INDIA9 hours ago

तीनों सेना प्रमुखों ने साथ में देखी ‘तानाजी’, अजय देवगन बोले- आपका साथ मिलना मेरे लिए बड़ा सम्मान

BIHAR9 hours ago

सीएम नीतीश को है आनंद मोहन की चिंता, बाहुबली को बताया अपना पुराना साथी

shame-on-citi-bank
INDIA11 hours ago

सीटी बैंक के भारतीय सेना विरोधी मंसूबे उजागर, मुजफ्फरपुर के बेटे स्वेताभ ने किया पर्दाफाश

MUZAFFARPUR3 days ago

मुजफ्फरपुर में युवक की गो’ली मा’रकर ह’त्या, फेसबुक लाइव होकर बिहार पु’लिस से मांगी थी सु’र’क्षा

BIHAR2 weeks ago

लंबे समय बाद नए लुक में नजर आए तेज प्रताप, पत्‍नी ऐश्‍वर्या के मायके जाने के बाद कटवाए बाल

INDIA1 week ago

बिहार के लोगों ने दीपिका पादुकोन को नकारा, पटना में छपाक देखने पहुंचे मात्र तीन लोग

INDIA2 weeks ago

निर्भया के चारों दो’षियों को 22 जनवरी की सुबह दी जाएगी फां’सी, डे’थ वा’रंट जारी

MUZAFFARPUR2 weeks ago

मुजफ्फरपुर के एक साधारण किसान का पुत्र बना Air Force में Flying Officer, ग्रामीण युवाओं के सपनों को लगे पंख

MUZAFFARPUR2 weeks ago

गाय ने दो मुंह व चार आंख वाली बछिया को जन्म दिया

BIHAR2 weeks ago

BPSC Civil Services की परीक्षा देनी है तो ध्‍यान दें, अब पहले से कठिन हो जाएगा पाठ्यक्रम

BIHAR2 weeks ago

दुखद : वर्ष 2019 की इंटर स्टेट टाॅपर रोहिणी की दिल्ली में ट्रेन से क’ट कर मौ’त

MUZAFFARPUR1 week ago

मुजफ्फरपुर में दम्पति की ह’त्या मामला, साहेबगंज थाना इलाके से पकड़ा गया ह’त्यारा

INDIA2 weeks ago

बेटे की जा’न की भीख मांगती रही दो’षी की मां, पी’ड़िता की मां बोलीं- मेरी भी बेटी थी

Trending

0Shares