Connect with us

TRENDING

22 साल के शख्स की तीन बीवियां, तीनों मिलकर खोज रहीं चौथी पत्नी

Muzaffarpur Now

Published

on

एक शख्स ने तीन शादियां की. तीनों पत्नियां उसके साथ रहती हैं. अब तीनो बीवियां मिलकर उसके लिए चौथी बीवी खोज रही हैं. ये कहानी है पाकिस्तान के सियालकोट की. इस समय सियालकोट समेत पूरे पाकिस्तान में इस मामले पर चर्चा हो रही है. हालांकि, मुस्लिम समुदाय में एक से अधिक शादियां नई बात नहीं है लेकिन तीन पत्नियों द्वारा चौथी की खोज करना हैरान करता है.

Three Wives of Pakistani Man Searching For Fourth Wife

हैरानी की बात ये है कि जिस शख्स ने अब तक तीन शादियां की हैं. उनका नाम है अदनान और वो सिर्फ 22 साल के हैं. इतनी कम उम्र में उनकी तीन बीवियां हैं. अदनान की पहली शादी 16 साल की उम्र में हुई थी. दूसरी 20 की उम्र में और तीसरी पिछले साल हुई यानी 21 साल की उम्र में हुई थी.

Three Wives of Pakistani Man Searching For Fourth Wife

अदनान की बीवियों का नाम है शुंभाल, शुबाना और शाहिदा. अब तीनों बीवियां मिलकर जौ चौथी बीवी की तलाश कर रही हैं उसका नाम भी S अल्फाबेट से शुरू होना चाहिए. इनका मानना है कि इससे घर में खुशियां रहती हैं. अदनान के दो पत्नियों से बच्चे हैं.

Three Wives of Pakistani Man Searching For Fourth Wife

अदनान की पहली बीवी शुंभाल से तीन और दूसरी शुबाना से दो बच्चे हैं. शुबाना के एक बच्चे को तीसरी बीवी शाहिदा ने गोद ले लिया है. आज के महंगाई के जमाने में एक शादी निभाना ही मुश्किल है. अदनान तो तीन-तीन संभाल रहे हैं और चौथी की तैयारी कर रहे हैं. अदनान की तीनों पत्नियां यह आरोप जरूर लगाती है कि अदनान तीनों को पूरा समय नहीं दे पाते.

Three Wives of Pakistani Man Searching For Fourth Wife

हालांकि, तीनों पत्नियां अदनान और उनके बच्चों का ख्याल रखती है. कोई उनका खाना बनाती है. कोई कपड़े धुलती है तो कोई साफ-सफाई का ध्यान रखती है. अदनान तीनों पत्नियों से प्रेम करते हैं. अदनान के घर में हर महीने करीब डेढ़ लाख पाकिस्तानी रुपए का खर्च आता है.

Source : Aaj Tak

Three Wives of Pakistani Man Searching For Fourth Wife

TRENDING

ठंड से ठिठुर रहा था भिखारी, DSP ने गाड़ी रोकी तो निकला उन्हीं के बैच का ऑफिसर

Muzaffarpur Now

Published

on

कई बार ऐसा होता है कि देखने से तो सामने वाला इंसान भिखारी लगता है लेकिन असलियत कुछ और होती है. मध्य प्रदेश के ग्वालियर से एक ऐसा ही मामला सामने आया है जहां डीएसपी सड़क किनारे जब एक भिखारी के पास गए तो दंग रह गए. वो भिखारी उनके ही बैच का ऑफिसर निकला.

भिखारी निकला पुलिस ऑफिसर

दरअसल, ग्वालियर में उपचुनाव की मतगणना के बाद डीएसपी रत्नेश सिंह तोमर और विजय सिह भदौरिया झांसी रोड से निकल रहे थे. जैसे ही दोनों बंधन वाटिका के फुटपाथ से होकर गुजरे तो उन्हें वहां एक अधेड़ उम्र का भिखारी ठंड से ठिठुरता दिखाई पड़ा. उसे देखकर अफसरों ने गाड़ी रोकी और उससे बात करने पहुंच गए.

भिखारी निकला पुलिस ऑफिसर

इसके बाद दोनों अधिकारियों ने उसकी मदद की. रत्नेश ने अपने जूते और डीएसपी विजय सिंह भदौरिया ने अपनी जैकेट दे दी. इसके बाद जब दोनों ने बातचीत शुरू की तो हतप्रभ रह गए. वह भिखारी डीएसपी के बैच का ही ऑफिसर निकला.

भिखारी निकला पुलिस ऑफिसर

वह भिखारी के रूप में पिछले 10 सालों से लावारिस हालात में घूम रहा है. वह पुलिस अफसर रहा है. उसका नाम मनीष मिश्रा है. इतना ही नहीं 1999 बैच का वह पुलिस अधिकारी अचूक निशानेबाज था. जानकारी के मुताबिक मनीष मिश्रा एमपी के विभिन्न थानों में थानेदार के रूप में पदस्थ रहे हैं.

(मनीष की फाइल फोटो)

भिखारी निकला पुलिस ऑफिसर

मनीष मिश्रा ने 2005 तक पुलिस की नौकरी की और वह अंतिम समय में दतिया में पोस्टेड थे. धीरे-धीरे अचानक उनकी मानसिक स्थिति खराब हो गई. घर वाले भी परेशान होने लगे. इलाज के लिए उनको जहां-जहां ले जाया गया वो वहां से भाग गए.

(मनीष की फाइल फोटो)

भिखारी निकला पुलिस ऑफिसर

कुछ दिन बाद परिवार को भी नहीं पता चल पाया कि मनीष कहां चले गए. उनकी पत्नी भी उन्हें छोड़कर चली गई. बाद में उनकी पत्नी ने तलाक ले लिया. धीरे-धीरे वह भीख मांगने लगे. और भीख मांगते-मांगते करीब दस साल गुजर गए.

भिखारी निकला पुलिस ऑफिसर

मनीष के इन दोनों साथियों ने सोचा नहीं था कि ऐसा भी हो सकता है. मनीष दोनों अफसरों के साथ सन 1999 में पुलिस सब इंस्पेक्टर की पोस्ट पर भर्ती हुए थे. इसके बाद दोनों ने काफी देर तक मनीष मिश्रा से पुराने दिनों की बात करने की कोशिश की और अपने साथ ले जाने की जिद भी की. लेकिन वह साथ जाने को राजी नहीं हुए.

भिखारी निकला पुलिस ऑफिसर

इसके बाद दोनों अधिकारियों ने मनीष को एक समाजसेवी संस्था में भिजवाया. वहां मनीष की देखभाल शुरू हो गई है. इतना ही नहीं मनीष के भाई भी थानेदार हैं और पिता और चाचा एसएसपी के पद से रिटायर हुए हैं.

भिखारी निकला पुलिस ऑफिसर

जानकारी में पता चला कि उनकी एक बहन किसी दूतावास में अच्छे पद पर हैं. मनीष की पत्नी, जिसका उनसे तलाक हो गया, वह भी न्यायिक विभाग में पदस्थ हैं.

भिखारी निकला पुलिस ऑफिसर

फिलहाल मनीष के इन दोनों दोस्तों ने उसका इलाज फिर से शुरू करा दिया है. मनीष की यह दर्दभरी कहानी जो भी सुनता है वह हैरान रह जाता है. (फोटो में डीएसपी रत्नेश सिंह तोमर)

Source : Aaj Tak (रिपोर्ट- सर्वेश पुरोहित)

khusiyon-ki-rangoli-contest-muzaffarpur-now

Continue Reading

TRENDING

शादी में रोड़ा अटकाने पर गुस्साया युवक, पड़ोसी की दुकान को जेसीबी से उखाड़ फेंका

Muzaffarpur Now

Published

on

केरल में एक हैरान करने वाला मामला सामना आया है. यहां एक शख्स ने अपने पड़ोसी की दुकान को जेसीबी से ध्वस्त कर दिया. वहीं जांच में पता चला कि आरोपी शख्स कथित तौर पर शादी के प्रस्तावों को रोके जाने के कारण नाराज था. जिसके कारण ये कदम उठाया.

घटना सोमवार को कन्नूर जिले के चेरुपुझा क्षेत्र में हुई. जहां एक 30 वर्षीय शख्स ने अपने पड़ोसी की दुकान को खुदाई मशीन के जरिए उखाड़ दिया. दुकान को उखाड़ने वाले शख्स ने आरोप लगाया कि शादी के प्रस्तावों को रोकने से नाराज होकर अपने पड़ोसी की दुकान को जेसीबी से ध्वस्त कर दिया.

बुलडोजर से गिराई दुकान

हालांकि इस मामले में पुलिस ने 30 वर्षीय एल्बिन को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं आरोपी ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी अपलोड किया था. जिसमें एल्बिन की ओर से दावा किया गया था कि दुकान का इस्तेमाल कई गैरकानूनी गतिविधियों के लिए किया गया था.

आरोपी ने कहा था, ‘दुकान का इस्तेमाल अवैध जुआ और शराब के धंधे के लिए किया जाता है. इस इलाके के नौजवान इससे परेशान हैं. हमें पुलिस या गांव के अधिकारियों से सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं मिल रही है, इसलिए मैं इस दुकान को ध्वस्त करने जा रहा हूं.’ इसके बाद अपने कहे मुताबिक आरोपी पूरी तरह से दुकान को उखाड़ फेंकता है.

पुलिस ने क्या कहा

इस मामले में पुलिस का कहना है कि एल्बिन के जरिए किया गया काम एक अपराध है और इसलिए उस पर संबंधित धाराओं के तहत आरोप लगाए गए हैं. वहीं पुलिस ने बताया कि अपना बयान दर्ज करते हुए उसने कहा कि दुकान चलाने वाले व्यक्ति ने एल्बिन के लिए आए कई शादी के प्रस्तावों को रोक दिया था. फिलहाल इस पूरे मामले में आगे की जांच की जा रही है.

Continue Reading

TRENDING

मंदिर के गर्भगृह में घुसा मगरमच्छ, पुजारी के साथ दिखा अनोखा कनेक्शन, तस्वीरें Viral

Muzaffarpur Now

Published

on

भारत के तीर्थस्थल अपनी परंपरा के साथ कई ऐसे रहस्यों को अपने अंदर समेटे हुए हैं. कुछ रहस्यों पर से पर्दा उठ चुका, लेकिन कुछ अनसुलझे ही हैं. शायद यही रहस्य हैं जो देश ही नहीं बल्कि विदेशी श्रद्धालुओं को भी अपनी ओर खींचते हैं. एक ऐसा ही रहस्या छिपा हुआ है केरल (Kerala) के कासरगोज स्थित अनंतपुर नाम के मंदिर में. कई सालों से इस मंदिर की रखवाली एक मगरमच्छ (Crocodile babiya) कर रहा है. इस मगरमच्छ का नाम बाबिया है. ये बात जानकार आपको हैरानी होगी कि इसे मंदिर का पुजारी भी कहा जाता है. मंगलवार को यह मगरमच्छ अचानक मंदिर में प्रवेश कर गया. मंदिर परिसर में मगरमच्छ का इस तरह से घुसना सबके लिए हैरान करने वाला था. मंदिर परिसर में प्रवेश करने के बाद मगरमच्छ ने कुछ वक्त वहां पर बिताया और मुख्य पुजारी चंद्रप्रकाश नंबिसन के कहने पर वह मंदिर के तालाब में वापस चला गया.

फोटो साभारः ट्विटर

मगरमच्छ के मंदिर में प्रवेश करने की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं. रिपोर्ट्स की मानें तो ये मगरमच्छ शाकाहारी है और किसी को नुकसान नहीं पहुंचाता है. कुछ रिपोर्ट्स में भी यह भी कहा गया है कि मगरमच्छ ने मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश किया जो कि ठीक नहीं है.

Image

रहस्य है तालाब में मगरमच्छ का आना

बाबिया काफी समय में मंदिर के तालाब में रह रहा है. हालांकि अभी तक ये बात सामने नहीं आई है कि बाबिया मंदिर के तालाब में कैसे आया और यह नाम इसे किसने दिया. ऐसा कहा जा रहा है कि बाबिया मंदिर के तालाब में पिछले 70 सालों से है, लेकिन आज तक उसने किसी के साथ हिंसक व्यवहार नहीं किया है और न ही किसी को नुकसान पहुंचाया है.

दो बार मंदिर का प्रसाद खाता है मगरमच्छ

रिपोर्ट्स की मानें तो ये मगरमच्छ दिन में दो बार मंदिर में पूजा के बाद प्रसाद खाता है. प्रसाद लेकर मंदिर के पुजारी जैसे ही तालाब के पास जाते हैं बाबिया को आवाज देते हैं वो बाहर आ जाता है और शांति से प्रसाद खाता है. मंदिर के कर्मचारियों का कहना है कि बाबिया का पुजारी से अनोखा कनेक्शन है. उन्होंने कहा मंदिर के तालाब में ढेरों मछलियां हैं और हमें यकीन है कि बाबिया कभी उनका शिकार नहीं करता है. बाबिया पूरी तरह से शाकाहारी है.

Image

Continue Reading
BIHAR40 mins ago

सीएम आवास में नीतीश कुमार की बहन कर रही हैं छठ, की गई है खास तैयारी

TRENDING2 hours ago

22 साल के शख्स की तीन बीवियां, तीनों मिलकर खोज रहीं चौथी पत्नी

BIHAR2 hours ago

मेवालाल चौधरी के इस्तीफे पर तेज प्रताप का ट्वीट, जियो मेरे खिलाड़ी, पहली बॉल में ही मज़बूत विकेट

MUZAFFARPUR3 hours ago

छठ पर्व को लेकर दंडाधिकारी व पुलिस पदाधिकारियों ने संभाली कमान, 24 घंटे कंट्रोल रूम करेगा काम

BIHAR3 hours ago

बिहार में आने वाली है सरकारी नौकरियों की बहार, 2 लाख वैकेंसी भरने की तैयारी में नीतीश सरकार

BIHAR4 hours ago

कनाडा में 20 वर्ष से छठ कर रहीं बेतिया की गायत्री, पूरे विधि-विधान के साथ करतीं पूजा

BIHAR6 hours ago

बिहार में होने वाली हैं बंपर भर्तियां, नए साल में दो लाख नौकरियों के आसार, तैयारी में जुटी सरकार

BIHAR7 hours ago

आज शाम 5:21 बजे डूबते और कल सुबह 6:39 बजे उगते सूर्य को अर्घ्य देने का है मुहूर्त

BIHAR7 hours ago

भोज खाने के दौरान पहले उठने पर मारपीट 6 को किया जख्मी, घर में लगाई आग

FESTIVALS7 hours ago

छठ महापर्व पर्व का है इतना महत्व, अमेरिका में भी भारतीय-अमेरिकी लोग मनाते हैं छठ

WORLD5 days ago

संयुक्त राष्ट्र की शाखा ने चेताया- 2020 से भी ज्यादा खराब होगा साल 2021, दुनिया भर में पड़ेगा भीषण अकाल

BIHAR1 day ago

सात समंदर पार रूस से छठ करने पहुंची विदेशी बहू

INDIA3 weeks ago

JEE MAINS का टॉपर गिरफ्तार, परीक्षा में दूसरे को बैठाकर पाए थे 99.8 % अंक

INDIA4 weeks ago

हिमालय में आएगा बड़ा भूकंप, देश की राजधानी दिल्ली भी होगी जद में: रिसर्च

TRENDING7 days ago

ठंड से ठिठुर रहा था भिखारी, DSP ने गाड़ी रोकी तो निकला उन्हीं के बैच का ऑफिसर

BIHAR1 week ago

जीत की खुशी में पटाखा जलाने पर BJP नेता के बेटे की पीट-पीटकर हत्या, शव पेड़ पर लटकाया

BIHAR2 weeks ago

बड़ा ऐलान : नीतीश ने कर दिया राजनीति से संन्यास का एलान

BIHAR3 weeks ago

झूठा साबित हुआ लिपि सिंह का आरोप, भीड़ ने नहीं पुलिस ने की थी फायरिंग, CISF की रिपोर्ट से खुलासा

INDIA2 days ago

मिट्टी से भरी ट्रॉली खाली करते वक्त अचानक गिरने लगे सोने-चांदी के सिक्के, लूटकर भागे लोग

BIHAR1 week ago

बहुमत से महज 12 सीट दूर RJD ने नहीं छोड़ी सरकार बनाने की उम्मीद, सहनी-मांझी पर नजर

Trending